Sanjay
Sanjay Oct 24, 2020

+25 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 31 शेयर

कामेंट्स

S K Pandey 🌺🙏🏻🌺 Oct 24, 2020
🌹शुभ शनिवार,शुभ रात्रि वंदन!!🌹 🌹जय माता दी!🌻जय मां दुर्गा!🌹 🌹हम मिलकर बोले, जय माता दी🌹 🌹🌹प्रेम से बोले जय माता दी🌹🌹 🌹🌹सारे बोलो, जय माता दी!🌹🌹 🌹नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ🌹 🙏🏻जय माता महागौरी ,शुभरात्रि.!! 🙏🏻

. #ईश्वर_पर_श्रद्धा🙏 . ये मैसेज पूरा पढ़े, और अच्छा लगे तो सबको भेजें । एक भक्त था वह परमात्मा को बहुत मानता था, बड़े प्रेम और भाव से उनकी सेवा किया करता था। एक दिन भगवान से कहने लगा –मैं आपकी इतनी भक्ति करता हूँ पर आज तक मुझे आपकी अनुभूति नहीं हुई। मैं चाहता हूँ कि आप भले ही मुझे दर्शन ना दे पर ऐसा कुछ कीजिये की मुझे येअनुभव हो की आप हो। भगवान ने कहा ठीक है, तुम रोज सुबह समुद्र के किनारे सैर पर जाते हो, जब तुम रेत पर चलोगे तो तुम्हे दो पैरो की जगह चार पैर दिखाई देंगे। दो तुम्हारे पैर होंगे और दो पैरो के निशान मेरे होंगे। इस तरह तुम्हे मेरी अनुभूति होगी। अगले दिन वह सैर पर गया, जब वह रेत पर चलने लगा तो उसे अपने पैरों के साथ-साथ दो पैर और भी दिखाई दिये वह बड़ा खुश हुआ। अब रोज ऐसा होने लगा। एक बार उसे व्यापार में घाटा हुआ सब कुछ चला गया,वह सड़क पर आ गया उसके अपनो ने उसका साथ छोड दिया। देखो यही इस दुनिया की समस्या है, मुसीबत में सब साथ छोड़ देते है। अब वह सैर पर गया तो उसे चार पैरों की जगह दो पैर दिखाई दिये। उसे बड़ा आश्चर्य हुआ कि बुरे वक्त में भगवान ने भी साथ छोड दिया। धीरे-धीरे सब कुछ ठीक होने लगा फिर सब लोग उसकेपास वापस आने लगे। एक दिन जब वह सैर पर गया तो उसने देखा कि चार पैर वापस दिखाई देने लगे। उससे अब रहा नही गया, वह बोला- भगवान जब मेरा बुरा वक्त था तो सब ने मेरा साथ छोड़ दिया था पर मुझे, इस बात का गम नहीं था क्योकि इस दुनिया में ऐसा ही होता है, पर आप ने भी उस समय मेरा साथ छोड़ दिया था, ऐसा क्यों किया? भगवान ने कहा – तुमने ये कैसे सोच लिया कि मैं तुम्हारा साथ छोड़ दूँगा, तुम्हारे बुरे वक्त में जो रेत पर तुमने दो पैर के निशान देखे वे तुम्हारे पैरों के नहीं मेरे पैरों के थे, उस समय में तुम्हे अपनी गोद में उठाकर चलता था और आज जब तुम्हारा बुरा वक्त समाप्त हो गया तो मैंने तुम्हे नीचे उतार दिया है। इसलिए तुम्हे फिर से चार पैर दिखाई दे रहे। इसलिये ईश्वर पर सदैव श्रद्धा रक्खो, सदैव आपके साथ है। #हे_नाथ_में_कभी_आपको_भूलू_नहीं🙏🙏 जब भी बड़ो के साथ बैठो तो परमात्मा का धन्यवाद , क्योंकि कुछ लोग इन लम्हों को तरसते हैं। जब भी अपने काम पर जाओ तो परमात्मा का धन्यवाद , क्योंकि बहुत से लोग बेरोजगार हैं। परमात्मा का धन्यवाद कहो जब तुम तन्दुरुस्त हो , क्योंकि बीमार किसी भी कीमत पर सेहत खरीदने की इच्छा रखते हैं। परमात्मा का धन्यवाद कहो की तुम जिन्दा हो , मित्रों की ख़ुशी के लिए तो कई मैसेज भेजते हैं। देखते हैं परमात्मा के धन्यवाद का ये मैसेज कितने लोग शेयर करते हैं। किसी पर कोई दबाव नही है।

+19 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Radha Bansal Nov 25, 2020

+30 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Neeru Khanna Nov 23, 2020

+30 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 35 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Real love Nov 23, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB