Sanjeev Bunty Midha
Sanjeev Bunty Midha Aug 27, 2017

भगवान एक है

#ज्ञानवर्षा
एक बच्चे ने बाबा जी से एक सवाल पूछा

बच्चा:- बाबाजी हम यहॉ सभी "राधास्वामी" करते हैं बाहर लोग हरिओम रामराम वाहेगुरु आदि कई तरह के नाम लेते हैं इनमें और राधास्वामी में क्या फर्क है?

बाबाजी:- देखो बेटा परमात्मा एक है पर उसके नाम अनेक है.
ये प्रेम का मार्ग है. कोई मां अपने बच्चे को कई अलग अलग नामों से पुकारती है तो उस बच्चे का नाम नहीं बदलता और बच्चा भी समझता है कि मां उसे ही बुला रही है. वो तो प्यार की बात है.

गुरु ग्रंथ में गुरु साहिबान ने परमात्मा के हजारों नाम लिखे हैं और अंत में लिख दिया "अनामी".

तो बेटा ये तो भावना की बात है आपकी भावना, आपका प्यार होना चाहिये नाम में कुछ नहीं.

हमें किसी का अभिवादन करना हो तो जरुरी नहीं कि किसी खास नाम से ही करें.
हमारी भावना हो तो हम आखों से ही किसीका अभिवादन कर सकते हैं, सिर्फ झुक कर लोगों नहीं दिखाना.
झुकाना है तो मन को झुकाओ शरीर तो नाश हो जाना है.

तो प्यार से आप जो भी नाम लोगे कोई फर्क नहीं सभी नाम उस एक कुल मालिक के ही हैं.

+53 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 34 शेयर
Deepika Bhansali Feb 27, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
siva siva Feb 27, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Mamta Chauhan Feb 27, 2020

+76 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 16 शेयर
Parmanand Ahuja Feb 27, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 9 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
siva siva Feb 27, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sanjay Singh Feb 27, 2020

+13 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 3 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
sandip Feb 27, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB