निर्वाण षटकम् : चिदानन्द रूप: शिवोऽहम् शिवॊऽहम्

॥ निर्वाण षटकम्॥
मनो बुद्ध्यहंकारचित्तानि नाहम् न च श्रोत्र जिह्वे न च घ्राण नेत्रे
न च व्योम भूमिर् न तेजॊ न वायु: चिदानन्द रूप: शिवोऽहम् शिवॊऽहम् ॥

न च प्राण संज्ञो न वै पञ्चवायु: न वा सप्तधातुर् न वा पञ्चकोश:
न वाक्पाणिपादौ न चोपस्थपायू चिदानन्द रूप: शिवोऽहम् शिवॊऽहम् ॥

न मे द्वेष रागौ न मे लोभ मोहौ मदो नैव मे नैव मात्सर्य भाव:
न धर्मो न चार्थो न कामो ना मोक्ष: चिदानन्द रूप: शिवोऽहम् शिवॊऽहम् ॥

न पुण्यं न पापं न सौख्यं न दु:खम् न मन्त्रो न तीर्थं न वेदा: न यज्ञा:
अहं भोजनं नैव भोज्यं न भोक्ता चिदानन्द रूप: शिवोऽहम् शिवॊऽहम् ॥

न मृत्युर् न शंका न मे जातिभेद: पिता नैव मे नैव माता न जन्म
न बन्धुर् न मित्रं गुरुर्नैव शिष्य: चिदानन्द रूप: शिवोऽहम् शिवॊऽहम् ॥

अहं निर्विकल्पॊ निराकार रूपॊ विभुत्वाच्च सर्वत्र सर्वेन्द्रियाणाम्
न चासंगतं नैव मुक्तिर् न मेय: चिदानन्द रूप: शिवोऽहम् शिवॊऽहम् ॥

+160 प्रतिक्रिया 26 कॉमेंट्स • 85 शेयर

कामेंट्स

Shankaranand Hakare Anekal Sep 9, 2017
Mruthyunjayay Rudraya Nilakantaya Shambhave Amrutheshaya Sharvaya Mahadevayathe Namaha 🚩🇮🇳🚩🇮🇳

शिव चरण दास शर्मा Jan 31, 2018
ॐ नमः शिवाय। सुना है कि एक बार आदिशंकराचार्य जी अपने शिष्यों सहित बनारस की सँकरी गली में से गुज़र रहे थे कि सामने से एक मोटा भंगी गन्दगी की टोकरी लिए सामने से आ गया । स्वामी जी ने उंगली के इशारे से उसे पीछे लौटने कक कहा क्योंकि बिना छुए गुज़रना असम्भव था । शिष्यों ने भी उसे पीछे हटने को कहा ,पर वह कहां हटने वाला था। उस ने स्वामी जी से कहा कि सुना है कि आप ही ने रचना की है, कहा है " चदानंद रूपह शिवोहम" , आप तो चिदानन्द रूप हो गए तो बताओ मैं क्या हूँ ,कौन हूँ। स्वामी जी निरुत्तर हो गए और भूमि पर साष्टांग हो गए। जय श्री राम।

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Dheeraj Shukla Feb 27, 2020

+11 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 47 शेयर
Vandana Singh Feb 27, 2020

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 34 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Man Singh Feb 28, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
sadhna Gupta Feb 28, 2020

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 8 शेयर
SATISH Feb 28, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB