💎💎💎 ⚜🕉⚜ 💎💎💎 *🙏ॐ श्रीगणेशाय नम:🙏* *🙏शुभप्रभातम् जी🙏* *इतिहास की मुख्य घटनाओं सहित पञ्चांग-मुख्यांश ..* *📝आज दिनांक 👉* *📜 27 मार्च 2020* *शुक्रवार* *🏚नई दिल्ली अनुसार🏚* *🇮🇳शक सम्वत-* 1941 *🇮🇳विक्रम सम्वत-* 2077 *🇮🇳मास-* चैत्र *🌓पक्ष-* शुक्लपक्ष *🗒तिथि-* तृतीया-22:14 तक *🗒पश्चात्-* चतुर्थी *🌠नक्षत्र-* अश्विनी-10:10 तक *🌠पश्चात्-* भरणी *💫करण-* तैतिल-09:06 तक *💫पश्चात्-* गर *✨योग-* वैधृति-17:15 तक *✨पश्चात्-* विश्कुम्भ *🌅सूर्योदय-* 06:16 *🌄सूर्यास्त-* 18:36 *🌙चन्द्रोदय-* 08:01 *🌛चन्द्रराशि-* मेष-दिनरात *🌞सूर्यायण-* उत्तरायन *🌞गोल-* उत्तरगोल *💡अभिजित-* 12:01 से 12:51 *🤖राहुकाल-* 10:54 से 12:26 *🎑ऋतु-* वसन्त *⏳दिशाशूल-* पश्चिम *✍विशेष👉* *_🔅आज शुक्रवार को 👉 चैत्र सुदी तृतीया 22:14 तक पश्चात् चतुर्थी शुरु , मनोरथ तृतीया व्रत , अरुन्धती व्रत पूजन , गणगौरी तीज , गणगौर व्रत पूजन (राज.) , सौभाग्य शयन तृतीया , सरहुल ( बिहार ) , माँ चंद्रघंटा व्रत , पूजन , साँय दोलारूढ शिवगौरी पूजन , मन्वादि 3 , वैधृति पुण्यं , सर्वार्थसिद्धियोग / कार्यसिद्धियोग 10:09 तक , सर्वदोषनाशक रवि योग 10:09 से , मूल संज्ञक नक्षत्र 10:10 तक , दसलक्षण (1/3) प्रारम्भ (जैन , चैत्र शुक्ल 3 से 12 तक ) , मेवाड़ उत्सव प्रारम्भ 3 दिन , श्री मतस्य जयन्ती , छत्रपति शिवाजी महाराज जयन्ती (तिथि अनुसार , कन्फर्म नहीं ) , पंडित कांशीराम स्मृति दिवस , सर सैयद अहमद खान स्मृति दिवस व विश्व रंगमंच / नाटक (स्टेज कलाकार ) / विश्व थियेटर दिवस।_* *_🔅कल शनिवार को 👉 चैत्र सुदी चतुर्थी 24:19 तक पश्चात् पंचमी शुरु , वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत ( मासिक ) , दमनक / वरद चतुर्थी व्रत , माँ कुष्मांडा व्रत / पूजन , शुक्र वृष राशि में 15:39 पर , सर्वदोषनाशक रवि योग 12:52 तक , विघ्नकारक भद्रा 11:18 से 24:18 तक , मेला गणगौर ( दूसरा दिन ) , गुरु अंगद देव ज्योति ज्योत / स्मृति दिवस (परम्परानुसार ) , श्री गोरखप्रसाद गणितज्ञ जयन्ती , चौ. बंसीलाल स्मृति दिवस व राष्ट्रीय नौवहन दिवस।_* *🎯आज की वाणी👉* 🌹 *पिण्डजप्रवरारूढा* *चण्डकोपास्त्रकैर्युता।* *प्रसादं तनुते मह्यं* *चन्द्रघण्टेति विश्रुता ॥* *भावार्थ👉* _पिंडज प्राणियों में श्रेष्ठ अर्थात् सिंह पर सवार, भयानक व शत्रुओं के संहार के लिए सन्नद्ध अस्त्रों से सुसज्जित विख्यात चंद्रघंटा देवी की कृपा मुझ पर छाई रहे ।_ 🌹 *27 मार्च की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ👉* 1668 – इंग्लैंड के शासक चार्ल्स द्वितीय ने बंबई को ईस्ट इंडिया कंपनी को सौंपा। 1721 – फ्रांस और स्पेन ने मैड्रिड समझौते पर हस्ताक्षर किये। 1794 – अमेरिकी कांग्रेस ने देश में नौसेना की स्थापना की स्वीकृति दी। 1841 – पहले स्टीम फायर इंजन का सफल परीक्षण न्यूयार्क में किया गया। 1855 – अब्राहम गेस्नर ने केरोसिन (मिट्टी के तेल) का पेटेंट कराया। 1871 – पहला अंतरराष्ट्रीय रग्बी मैच स्कॉटलैंड और इंग्लैंड के बीच खेला गया, जिसे स्काॅटलैंड ने जीता। 1884 – बोस्टन से न्यूयार्क के बीच पहली बार फोन पर लंबी दूरी की बातचीत हुयी। 1899 – इंग्लैंड और फ्रांस के बीच पहला अंतरराष्ट्रीय रेडियो प्रसारण इतालवी आविष्कारक जी मारकोनी द्वारा किया गया। 1901 – अमेरिका ने फिलीपीन्स के विद्रोही नेता एमिलियो एग्विनाल्डो को अपने कब्जे में लिया। 1933 – जापान ने लीग अाॅफ नेशंस से खुद को अलग कर लिया। 1944 – लिथुआनिया में दो हजार यहूदियों की हत्या कर दी गयी। 1953 – ओहियो के कोन्निओट में ट्रेन हादसे में 21 लोग मारे गये। 1956 – अमेरिकी सरकार ने कम्युनिस्ट अखबार डेली वर्कर को जब्त कर लिया। 1961 – पहला विश्व रंगमंच दिवस मनाने की शुरुआत हुई। 1964 – अलास्का में 8.4 की तीव्रता वाले भूकंप से 118 लोगों की मौत। 1975 – ट्रांस-अलास्का पाइपलाइन सिस्टम का निर्माण शुरू किया गया। 1977 – टेनेरीफ़ में दो जंबो विमान हवाई पट्टी पर टकराने से दुनिया की सबसे भयानक विमान दुर्घटना हुई थी, जिसमें 583 लोग मारे गए। 1977 – यूरोपियन फ़ाइटर एअरक्राफ़्ट यूरोफाइटर ने पहली उड़ान भरी। यूरोफाइटर को भविष्य का लड़ाकू विमान कहा गया था। 1982 – ए.एफ़.एम. अहसानुद्दीन चौधरी बांग्लादेश के नौवें राष्ट्रपति नियुक्त किए गए। 1989 – रूस में पहली बार स्वतंत्र चुनाव हुए थे। इन चुनावों में कई दिग्गज कम्यूनिस्ट नेता हार गए। 2000 - रूस में 52.52 प्रतिशत मत प्राप्त कर रूस के कार्यवाहक राष्ट्रपति ब्लादीमीर ब्लादीमिरोविच पुतिन ने राष्ट्रपति चुनाव जीता। 2002 – इजरायल के नेतन्या में आत्मघाती हमले में 29 लोग मारे गये। 2003 - रूस ने घातक टोपोल आर एस-12 एम बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया। 2003 - मान्टो कार्लो में 12वीं अम्बर शतरंज प्रतियोगिता के फ़ाइनल राउंड में 1.5 अंक की जीत से विश्वनाथन आनंद ने तीसरा ख़िताब जीता। 2006 - यासीन मलिक ने कश्मीर में जनमत संग्रह कराये जाने की मांग की। 2008 - केन्द्र सरकार ने अल्पसंख्यक बहुल 90 ज़िलों में आधारभूत ढ़ाचे के विकास और जीवन स्तर में व्यापक सुधार के लिए 3,780 करोड़ रुपये खर्च करने की मंजूरी दी। 2008 - उत्तर प्रदेश संगठित अपराध नियन्त्रण विधेयक 'यूपीकोका' को राज्यपाल टीवी राजेश्वर ने मंजूरी प्रदान की। 2008 - अंतरिक्ष यान एंडेवर पृथ्वी पर सफलतापूर्वक सुरक्षित लौटा। 2010 - भारत ने उड़ीसा के चांदीपुर में बालसोरा जिले में परमाणु तकनीक से लैस धनुष और पृथ्वी 2 मिसाइल का सफल परीक्षण किया। 2011 - जापान के भूकम्प प्रभावित इलाके फुकुशिमा में स्थित क्षतिग्रस्त परमाणु ऊर्जा संयंत्र के एक इकाई में रेडियोधर्मी विकिरण सामान्य से एक करोड़ गुना अधिक पाये जाने के बाद वहाँ से कर्मचारियों को हटा लिया गया। 2011 - फ्रांस के विमानों ने लीबियाइ राष्ट्रपति मुअम्मर गद्दाफी की समर्थक सेना के पाच विमानों और दो हेलीकाप्टरों को नष्ट कर दिया। 2019 - भारत पृथ्‍वी की निचली कक्षा में उपग्रहभेदी प्रक्षेपास्‍त्र ए-सैट का सफल परीक्षण करके अंतरिक्ष महाशक्ति बना । 2019 - कश्मीर को अलग देश बताने की फेसबुक ने सुधारी गलती, मांगी माफी। 2019 - हरियाणा की महिला और पुरुष दोनों टीमों ने जीती रिंगबॉल नेशनल चैंपियनशिप की ट्राॅफी। *27 मार्च को जन्मे व्यक्ति👉* 1915 - पुष्पलता दास - भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता , सामाजिक कार्यकर्ता और गांधीवादी। 1923 - लीला दुबे - एक प्रसिद्ध मानव विज्ञानी और नारीवादी विद्वान। 1936 - बनवारी लाल जोशी, भारतीय राजनीतिज्ञ हैं, जो दिल्ली के उपराज्यपाल एवं उत्तर प्रदेश, मेघालय और उत्तराखंड के राज्यपाल रह चुके । *27 मार्च को हुए निधन👉* 1898 – भारत के मुसलमानों के लिए आधुनिक शिक्षा की शुरूआत करने वाले सर सैयद अहमद खान का निधन। इन्होंने मुहम्मदन एंग्लो-ओरिएण्टल कॉलेज की स्थापना की जो आज अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के नाम से प्रसिद्ध है। 1915 - पंडित कांशीराम, ग़दर पार्टी के प्रमुख नेता और देश की स्वाधीनता के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिये थे। 1968 - यूरी गागरीन, भूतपूर्व सोवियत संघ के विमान चालक और अंतरिक्षयात्री। 2000 - प्रिया राजवंश - भारतीय हिंदी सिनेमा की अभिनेत्री। *27 मार्च के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव👉* 🔅 मेवाड़ उत्सव प्रारम्भ 3 दिन । 🔅 श्री मतस्य जयन्ती । 🔅 छत्रपति शिवाजी महाराज जयन्ती (तिथि अनुसार , कन्फर्म नहीं ) । 🔅 पंडित कांशीराम स्मृति दिवस । 🔅 सर सैयद अहमद खान स्मृति दिवस । 🔅 विश्व रंगमंच / नाटक (स्टेज कलाकार ) / विश्व थियेटर दिवस। *कृपया ध्यान दें जी👉* *यद्यपि इसे तैयार करने में पूरी सावधानी रखने की कोशिश रही है। फिर भी किसी घटना , तिथि या अन्य त्रुटि के लिए मेरी कोई जिम्मेदारी नहीं है ।* 🌻आपका दिन *_मंगलमय_* हो जी ।🌻 ⚜⚜ 🌴 💎 🌴⚜⚜

💎💎💎  ⚜🕉⚜  💎💎💎

*🙏ॐ श्रीगणेशाय नम:🙏*
   *🙏शुभप्रभातम् जी🙏*

*इतिहास की मुख्य घटनाओं सहित पञ्चांग-मुख्यांश ..*

     *📝आज दिनांक 👉*
     
   *📜 27 मार्च 2020*
             *शुक्रवार*
 *🏚नई  दिल्ली अनुसार🏚*

*🇮🇳शक सम्वत-* 1941
*🇮🇳विक्रम सम्वत-* 2077
*🇮🇳मास-* चैत्र
*🌓पक्ष-* शुक्लपक्ष
*🗒तिथि-* तृतीया-22:14 तक
*🗒पश्चात्-* चतुर्थी
*🌠नक्षत्र-* अश्विनी-10:10 तक
*🌠पश्चात्-* भरणी
*💫करण-* तैतिल-09:06 तक
*💫पश्चात्-* गर
*✨योग-* वैधृति-17:15 तक
*✨पश्चात्-* विश्कुम्भ
*🌅सूर्योदय-* 06:16
*🌄सूर्यास्त-* 18:36
*🌙चन्द्रोदय-* 08:01
*🌛चन्द्रराशि-* मेष-दिनरात
*🌞सूर्यायण-* उत्तरायन
*🌞गोल-* उत्तरगोल
*💡अभिजित-* 12:01 से 12:51
*🤖राहुकाल-* 10:54 से 12:26
*🎑ऋतु-* वसन्त
*⏳दिशाशूल-* पश्चिम

*✍विशेष👉*

*_🔅आज शुक्रवार को 👉 चैत्र सुदी तृतीया 22:14 तक पश्चात् चतुर्थी शुरु , मनोरथ तृतीया व्रत , अरुन्धती व्रत पूजन , गणगौरी तीज , गणगौर व्रत पूजन (राज.) , सौभाग्य शयन तृतीया , सरहुल ( बिहार ) , माँ चंद्रघंटा व्रत , पूजन ,  साँय दोलारूढ शिवगौरी पूजन , मन्वादि 3 , वैधृति पुण्यं , सर्वार्थसिद्धियोग /  कार्यसिद्धियोग 10:09 तक , सर्वदोषनाशक रवि योग 10:09 से , मूल संज्ञक नक्षत्र 10:10 तक , दसलक्षण (1/3) प्रारम्भ (जैन , चैत्र शुक्ल 3 से 12 तक ) , मेवाड़ उत्सव प्रारम्भ 3 दिन , श्री मतस्य जयन्ती , छत्रपति शिवाजी महाराज जयन्ती (तिथि अनुसार , कन्फर्म नहीं ) , पंडित कांशीराम स्मृति दिवस , सर सैयद अहमद खान स्मृति दिवस व विश्व रंगमंच / नाटक (स्टेज कलाकार ) / विश्व थियेटर दिवस।_*
*_🔅कल शनिवार को 👉 चैत्र सुदी चतुर्थी 24:19 तक पश्चात् पंचमी शुरु , वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत ( मासिक ) , दमनक / वरद चतुर्थी व्रत , माँ कुष्मांडा व्रत / पूजन , शुक्र वृष राशि में 15:39 पर , सर्वदोषनाशक रवि योग 12:52 तक , विघ्नकारक भद्रा 11:18 से  24:18 तक , मेला गणगौर ( दूसरा दिन ) , गुरु अंगद देव ज्योति ज्योत  / स्मृति दिवस (परम्परानुसार )  , श्री गोरखप्रसाद गणितज्ञ जयन्ती , चौ. बंसीलाल स्मृति दिवस व राष्ट्रीय नौवहन दिवस।_*

*🎯आज की वाणी👉*

🌹
*पिण्डजप्रवरारूढा*
      *चण्डकोपास्त्रकैर्युता।*
*प्रसादं  तनुते  मह्यं*
      *चन्द्रघण्टेति विश्रुता ॥*
*भावार्थ👉* 
            _पिंडज प्राणियों में श्रेष्ठ अर्थात् सिंह पर सवार, भयानक व शत्रुओं के संहार के लिए सन्नद्ध अस्त्रों से सुसज्जित विख्यात चंद्रघंटा देवी की कृपा मुझ पर छाई रहे ।_
🌹

*27 मार्च की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ👉*

1668 – इंग्लैंड के शासक चार्ल्स द्वितीय ने बंबई को ईस्ट इंडिया कंपनी को सौंपा।
1721 – फ्रांस और स्पेन ने मैड्रिड समझौते पर हस्ताक्षर किये।
1794 – अमेरिकी कांग्रेस ने देश में नौसेना की स्थापना की स्वीकृति दी।
1841 – पहले स्टीम फायर इंजन का सफल परीक्षण न्यूयार्क में किया गया।
1855 – अब्राहम गेस्नर ने केरोसिन (मिट्टी के तेल) का पेटेंट कराया।
1871 – पहला अंतरराष्ट्रीय रग्बी मैच स्कॉटलैंड और इंग्लैंड के बीच खेला गया, जिसे स्काॅटलैंड ने जीता।
1884 – बोस्टन से न्यूयार्क के बीच पहली बार फोन पर लंबी दूरी की बातचीत हुयी।
1899 – इंग्लैंड और फ्रांस के बीच पहला अंतरराष्ट्रीय रेडियो प्रसारण इतालवी आविष्कारक जी मारकोनी द्वारा किया गया।
1901 – अमेरिका ने फिलीपीन्स के विद्रोही नेता एमिलियो एग्विनाल्डो को अपने कब्जे में लिया।
1933 – जापान ने लीग अाॅफ नेशंस से खुद को अलग कर लिया।
1944 – लिथुआनिया में दो हजार यहूदियों की हत्या कर दी गयी।
1953 – ओहियो के कोन्निओट में ट्रेन हादसे में 21 लोग मारे गये।
1956 – अमेरिकी सरकार ने कम्युनिस्ट अखबार डेली वर्कर को जब्त कर लिया।
1961 – पहला विश्व रंगमंच दिवस मनाने की शुरुआत हुई।
1964 – अलास्का में 8.4 की तीव्रता वाले भूकंप से 118 लोगों की मौत।
1975 – ट्रांस-अलास्का पाइपलाइन सिस्टम का निर्माण शुरू किया गया।
1977 – टेनेरीफ़ में दो जंबो विमान हवाई पट्टी पर टकराने से दुनिया की सबसे भयानक विमान दुर्घटना हुई थी, जिसमें 583 लोग मारे गए।
1977 – यूरोपियन फ़ाइटर एअरक्राफ़्ट यूरोफाइटर ने पहली उड़ान भरी। यूरोफाइटर को भविष्य का लड़ाकू विमान कहा गया था।
1982 – ए.एफ़.एम. अहसानुद्दीन चौधरी बांग्लादेश के नौवें राष्ट्रपति नियुक्त किए गए।
1989 – रूस में पहली बार स्वतंत्र चुनाव हुए थे। इन चुनावों में कई दिग्गज कम्यूनिस्ट नेता हार गए।
2000 - रूस में 52.52 प्रतिशत मत प्राप्त कर रूस के कार्यवाहक राष्ट्रपति ब्लादीमीर ब्लादीमिरोविच पुतिन ने राष्ट्रपति चुनाव जीता।
2002 – इजरायल के नेतन्या में आत्मघाती हमले में 29 लोग मारे गये।
2003 - रूस ने घातक टोपोल आर एस-12 एम बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया।
2003 - मान्टो कार्लो में 12वीं अम्बर शतरंज प्रतियोगिता के फ़ाइनल राउंड में 1.5 अंक की जीत से विश्वनाथन आनंद ने तीसरा ख़िताब जीता।
2006 - यासीन मलिक ने कश्मीर में जनमत संग्रह कराये जाने की मांग की।
2008 - केन्द्र सरकार ने अल्पसंख्यक बहुल 90 ज़िलों में आधारभूत ढ़ाचे के विकास और जीवन स्तर में व्यापक सुधार के लिए 3,780 करोड़ रुपये खर्च करने की मंजूरी दी। 
2008 - उत्तर प्रदेश संगठित अपराध नियन्त्रण विधेयक 'यूपीकोका' को राज्यपाल टीवी राजेश्वर ने मंजूरी प्रदान की।
2008 - अंतरिक्ष यान एंडेवर पृथ्वी पर सफलतापूर्वक सुरक्षित लौटा।
2010 - भारत ने उड़ीसा के चांदीपुर में बालसोरा जिले में परमाणु तकनीक से लैस धनुष और पृथ्वी 2 मिसाइल का सफल परीक्षण किया। 
2011 - जापान के भूकम्प प्रभावित इलाके फुकुशिमा में स्थित क्षतिग्रस्त परमाणु ऊर्जा संयंत्र के एक इकाई में रेडियोधर्मी विकिरण सामान्य से एक करोड़ गुना अधिक पाये जाने के बाद वहाँ से कर्मचारियों को हटा लिया गया।
2011 - फ्रांस के विमानों ने लीबियाइ राष्ट्रपति मुअम्मर गद्दाफी की समर्थक सेना के पाच विमानों और दो हेलीकाप्टरों को नष्ट कर दिया।
2019 - भारत पृथ्‍वी की निचली कक्षा में उपग्रहभेदी प्रक्षेपास्‍त्र ए-सैट का सफल परीक्षण करके अंतरिक्ष महाशक्ति बना ।
2019 - कश्मीर को अलग देश बताने की फेसबुक ने सुधारी गलती, मांगी माफी।
2019 - हरियाणा की महिला और पुरुष दोनों टीमों ने जीती रिंगबॉल नेशनल चैंपियनशिप की ट्राॅफी।

*27 मार्च को जन्मे व्यक्ति👉*

1915 - पुष्पलता दास - भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता , सामाजिक कार्यकर्ता और गांधीवादी।
1923 - लीला दुबे - एक प्रसिद्ध मानव विज्ञानी और नारीवादी विद्वान।
1936 - बनवारी लाल जोशी, भारतीय राजनीतिज्ञ हैं, जो दिल्ली के उपराज्यपाल एवं उत्तर प्रदेश, मेघालय और उत्तराखंड के राज्यपाल रह चुके ।

*27 मार्च को हुए निधन👉*

1898 – भारत के मुसलमानों के लिए आधुनिक शिक्षा की शुरूआत करने वाले सर सैयद अहमद खान का निधन। इन्होंने मुहम्मदन एंग्लो-ओरिएण्टल कॉलेज की स्थापना की जो आज अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के नाम से प्रसिद्ध है।
1915 - पंडित कांशीराम, ग़दर पार्टी के प्रमुख नेता और देश की स्वाधीनता के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिये थे।
1968 - यूरी गागरीन, भूतपूर्व सोवियत संघ के विमान चालक और अंतरिक्षयात्री।
2000 - प्रिया राजवंश - भारतीय हिंदी सिनेमा की अभिनेत्री।

*27 मार्च के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव👉*

🔅 मेवाड़ उत्सव प्रारम्भ 3 दिन ।
🔅 श्री  मतस्य जयन्ती ।
🔅 छत्रपति शिवाजी महाराज जयन्ती (तिथि अनुसार , कन्फर्म नहीं ) ।
🔅 पंडित कांशीराम स्मृति दिवस ।
🔅 सर सैयद अहमद खान स्मृति दिवस ।
🔅 विश्व रंगमंच / नाटक (स्टेज कलाकार ) / विश्व थियेटर दिवस।

*कृपया ध्यान दें जी👉*
    *यद्यपि इसे तैयार करने में पूरी सावधानी रखने की कोशिश रही है। फिर भी किसी घटना , तिथि या अन्य त्रुटि के लिए मेरी कोई जिम्मेदारी नहीं है ।*

🌻आपका दिन *_मंगलमय_*  हो जी ।🌻

   ⚜⚜ 🌴 💎 🌴⚜⚜

+7 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 10 शेयर

कामेंट्स

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄सुप्रभातम🌄 🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓 🌻मंगलवार, २ जून २०२०🌻 सूर्योदय: 🌄 ०५:२५ सूर्यास्त: 🌅 ०७:१७ चन्द्रोदय: 🌝 १५:२९ चन्द्रास्त: 🌜२७:२१ अयन 🌕 उत्तरायणे (दक्षिणगोलीय) ऋतु: 🍂 ग्रीष्म शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी) मास 👉 ज्येष्ठ पक्ष 👉 शुक्ल तिथि: 👉 एकादशी (१२:०४ तक) नक्षत्र: 👉 चित्रा (२२:५५ तक) योग: 👉 व्यतीपात (०९:५३ तक) प्रथम करण: 👉 विष्टि (१२:०४ तक) द्वितीय करण: 👉 बव (२२:३५ तक) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 वृष चंद्र 🌟 तुला (११:५९ से) मंगल 🌟 कुंम्भ (उदित, पूर्व) बुध 🌟 मिथुन (उदय, पश्चिम) गुरु 🌟 मकर (अस्त, पश्चिम, वक्री) शुक्र 🌟 वृष (उदित, पश्चिम, वक्री) शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, वक्री) राहु 🌟 मिथुन केतु 🌟 धनु 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त: 👉 ११:४७ से १२:४३ अमृत काल: 👉 १७:०५ से १८:३२ होमाहुति: 👉 शनि अग्निवास: 👉 पृथ्वी भद्रावास: 👉 पाताललोक १२:०४ तक दिशा शूल: 👉 उत्तर नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌ चन्द्र वास: 👉 दक्षिण (पश्चिम १२:०० से) दुर्मुहूर्त: 👉 ०८:०६ से ०९:०१ राहुकाल: 👉 १५:४२ से १७:२६ राहु काल वास: 👉 पश्चिम यमगण्ड: 👉 ०८:४८ से १०:३१ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - अमृत २ - काल ३ - शुभ ४ - रोग ५ - उद्वेग ६ - चर ७ - लाभ ८ - अमृत ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - चर २ - रोग ३ - काल ४ - लाभ ५ - उद्वेग ६ - शुभ ७ - अमृत ८ - चर नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 दक्षिण-पश्चिम (धनिया अथवा दलिया का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ निर्जला एकादशी व्रत सभी के लिये आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज २२:५५ तक जन्मे शिशुओ का नाम चित्रा नक्षत्र के द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (पो, रा, री) तथा इसके बाद जन्मे शिशुओं का नाम स्वाति नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय चरण अनुसार क्रमश: (रू, रे) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त: ०५:२० - ०६:०९ वृषभ ०६:०९ - ०८:२४ मिथुन ०८:२४ - १०:४५ कर्क १०:४५ - १३:०४ सिंह १३:०४ - १५:२२ कन्या १५:२२ - १७:४३ तुला १७:४३ - २०:०२ वृश्चिक २०:०२ - २२:०६ धनु २२:०६ - २३:४७ मकर २३:४७ - २५:१३ कुम्भ २५:१३ - २६:३६ मीन २६:३६ - २८:१० मेष २८:१० - २९:२० वृषभ 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त: ०५:२० - ०६:०९ शुभ मुहूर्त ०६:०९ - ०८:२४ रज पञ्चक ०८:२४ - १०:४५ शुभ मुहूर्त १०:४५ - १२:०४ चोर पञ्चक १२:०४ - १३:०४ शुभ मुहूर्त १३:०४ - १५:२२ रोग पञ्चक १५:२२ - १७:४३ शुभ मुहूर्त १७:४३ - २०:०२ मृत्यु पञ्चक २०:०२ - २२:०६ अग्नि पञ्चक २२:०६ - २२:५५ शुभ मुहूर्त २२:५५ - २३:४७ रज पञ्चक २३:४७ - २५:१३ शुभ मुहूर्त २५:१३ - २६:३६ चोर पञ्चक २६:३६ - २८:१० रज पञ्चक २८:१० - २९:२० शुभ मुहूर्त 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज दिन का पूर्वार्ध आपकी आशाओं से थोड़ा कम लाभ देगा फिर भी कार्यो को बेहतर रूप से करने की कोशिश करेंगे। धन लाभ के लिए अधिक परिश्रम करना पड़ेगा इसका मध्यान से पहले फल अवश्य मिलेगा। सरकारी कार्यो में उलझने बढ़ने से धन एवं समय बर्बाद हो सकता है आज के लिए इन्हें निरस्त रखना ही ठीक रहेगा। मध्यान के बाद का समय कष्टप्रद रहेगा चल-अचल संपत्ति के कारण परिवार में विवाद होने की संभावना है किसी भी गंभीर स्थिति से बचने के लिए मूक दर्शक बनकर रहें ऐसा करने से फैसला आपके पक्ष में हो सकता है। स्त्री संतान का सहयोग मिलेगा। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज आप अपनी मनमानी नीति के चलते सार्वजानिक क्षेत्र पर आलोचना के शिकार होंगे। कार्य व्यवसाय में अधिकांश समय आश्वासनो से ही काम चलाना पड़ेगा। आप का स्वभाव भी टालमटोल वाला रहेगा। अत्यधिक लोभी प्रवृति संभावित लाभ को हानि में बदल सकती है। किसी की मदद करने से पीछे ना हटे भविष्य के लिए लाभदायक रहेगा। आज परोपकारी स्वभाव ना होते हुए भी किसी की बेमन से सहायता करनी पड़ सकती है। घर के बुजुर्ग आप पर प्रसन्न रहेंगे जिसे अपनी बात मनवाने में आसानी रहेगी। स्त्री संतान भी सहयोग करेंगे। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आज दिन का अधिकांश समय शांति से व्यतीत करेंगे परन्तु बीच-बीच में पारिवारिक उलझने परेशान करेंगी। व्यवसाय में परिश्रम का फल विलम्ब से मिलेगा धन लाभ के लिए अधिक इन्तजार करना पड़ेगा सहकर्मीयो से नम्रता से व्यवहार करें अन्यथा सारा कार्य खुद ही करना पड़ सकता है। आपके व्यवहार में परिवर्तन आने से लोग आश्चर्य करेंगे। सामाजिक क्षेत्र से आय के नवीन साधन बनेंगे उच्चवर्ग के लोगो से लाभदायक जान-पहचान होगी। पारिवारिक जीवन में विषमताओं का अहसास होगा खर्च करने पर भी स्थिति नियंत्रण से बाहर जायेगी स्वयजनो से वैर विरोध बढेगा। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज के दिन आप पूर्वाग्रह से ग्रसित रहेंगे। अपने जिद्दी स्वभाव के कारण आसपास का वातावरण अशान्त बनाएंगे। मनमानी के चलते घर में भी तनाव का वातावरण बनेगा। सामाजिक क्षेत्र पर धन के साथ साथ मान हानि के योग है बेहतर रहेगा की आज कोई भी बड़ा कार्य ना करें यात्रा भी अतिआवश्यक होने पर ही करें व्यर्थ समय एवं धन नष्ट होने की संभावनाएं अधिक है। परन्तु जोखिम वाले कार्यो में निवेश आज अवश्य लाभ कराएगा। परिवारक वातावरण आपकी गलतियों के कारण पहले कलुषित होगा लेकिन संध्या तक सब सामान्य होने लगेगा। महिलाओं से सतर्क रहें। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज का दिन आपको अवश्य धन लाभ कराएगा। सेहत भी साथ देने से कार्यो में उत्साह बना रहेगा। लेकिन कार्य क्षेत्र पर लेन देन में स्पष्टता रखें विवाद के साथ सम्मान हानि हो सकती है। आज जिस भी कार्य को करेंगे उसमे सफलता की संभावना अधिक रहेगी। धन लाभ अल्प मात्रा में परंतु कई बार होने से आज का कोटा पूरा कर लेंगे। गृहस्थ में आज थोड़ी उठा-पटक लगी रहेगी किसी ना किसी के रूठने का कार्यक्रम लगा रहने से मानसिक रूप से थोड़ा विचलित हो सकते है फिर भी स्थिति आपके नियंत्रण में ही रहेगी। हास्य-परिहास के अवसर भी मिलते रहेंगे। संतान के विषय में शुभ समाचार मिलेगा। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आज आप पूर्वनियोजित कार्यो को आगे बढ़ाएंगे इसमें सहकर्मी एवं परिजनों का भी महत्वपूर्व सहयोग मिलेगा। नौकरी पेशा जातक काम से मन चुराने के कारण अपमानित हो सकते है सतर्क रहें। आज थोड़े प्रयास के बाद आशा से अधिक सफलता मिल सकती है। सभी सरकार नियंत्रित कार्य एवं जायदाद सम्बंधित कार्य मध्यान के आस-पास करना लाभदायक रहेगा। व्यावसायिक क्षेत्र पर नए प्रयोग अभी ना आजमाएं परन्तु निवेश अवस्य लाभ देगा। महिलाएं भी आज अधिक व्यस्त होने के कारण थकान अनुभव करेंगी। विद्यार्थी पढ़ाई से मन चुरायेंगे। तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आज आप अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु कुछ भी करने के लिए तैयार रहेंगे परंतु ध्यान रहे अनैतिक कार्य एवं प्रलोभन के अवसर मिलने पर भी ये पारिवारिक मान हानि का कारण बन सकते है। दिन के आरंभ में कार्य क्षेत्र पर मंदी रहेगी भविष्य के लिये चिंतित हो सकते है लेकिन धीरे-धीरे कार्यो में गति आने लगेगी धन लाभ विलम्ब से परन्तु अवश्य होगा। संध्या तक संतोषजनक व्यवसाय रहने से राहत मिलेगी। परिवार में मांगलिक कार्यक्रमो में सम्मिलित होने पर खर्च करेंगे। सुखोपभोग की वस्तुओ में कमी आएगी। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) आज परिस्थितिया प्रतिकूल रहने से कोई राहत की उम्मीद नहीं दिखेगी। लोग आपके हर निर्णय को गलत साबित करेंगे। पारिवारिक सदस्य के जिद्दी व्यवहार के कारण घरेलु वातावरण गर्म हो सकता है। आज आप केवल अपने मन की सुनना छोड़ अन्य लोगो के विचारो को भी प्रयोग करें निश्चित लाभ होगा। व्यवसायी वर्ग बार-बार असफल होने अथवा आशानुकूल काम ना बनने से हतोत्साहित होंगे फिर भी प्रयास जारी रखें संतोषजनक परिणाम मिलेंगे। स्त्री पक्ष से पहले परेशानी बाद में लाभ संभावित है। कंजूसी करके कुछ धन बचाएंगे। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) आज के दिन आप अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति कर सकेंगे कार्य व्यवसाय में सरकारी सहयोग मिलने की संभावना अधिक रहेगी लोन सम्बंधित कार्य आज करना लाभदायक रहेगा। परन्तु सेहत के दृष्टिकोण से दिन उतार चढ़ाव वाला रहेगा शरीर में दर्द अकड़न की शिकायत रहेगी फिर भी कार्य बाधित नहीं होंगे। धन लाभ होने से और अधिक लगन से कार्यो को करेंगे। अधिकारी वर्ग का मूड संदिग्ध रहने से गुप्त भय बना रहेगा। परिवार में रिश्तेदारो के कारण कोई नई समस्या खड़ी हो सकती है। वाणी में मधुरता बनाये व्यर्थ की उलझनों से बचे रहेंगे। घर के बुजुर्ग आपके विचारों से सहमत रहेंगे। मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आज का दिन मिश्रित फलदायक रहेगा। शारीरिक रूप से चुस्त रहेंगे लेकिन असमय क्रोध आने से रक्तचाप अनियंत्रित हो सकता है। जिम्मेदारी वाले कार्यो को प्राथमिकता देंगे कार्य व्यवसाय में थोड़ी अड़चनों का बाद निर्वाह योग्य आय कमा लेंगे सहकर्मियो से बिनाबात ना उलझे कार्य में विलम्ब हो सकता है। जोखिम वाले कार्यो में निवेश किसी की सलाह के बाद ही करें सही जगह निवेश भविष्य में लाभ कराएगा। पारिवारिक वातावरण में तालमेल की कमी रहेगी। घर के बड़े अथवा स्त्री वर्ग से विचारो में भिन्नता के कारण मतभेद उभर सकते है। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) आज का दिन शुभफलदायी रहेगा सेहत छोटी मोटी व्याधि को छोड़ सामान्य रहेगी लेकिन फिर भी कार्यो में आलस्य करने से विलम्ब होगा। घर से ज्यादा आज बाहर का वातावरण अधिक अनुकूल मिलेगा। कार्य व्यवसाय में पूर्व की गलतियों से अनुभव होगा अपनी गलती मानने से सहयोगियों से मतभेद कम होंगे। विपरीत लिंगीय के प्रति अधिक आकर्षण कार्यो में व्यवधान डाल सकता है सम्मान में कमी का कारण भी बनेगा। दोपहर के बाद पूर्व नियोजित कार्यो से धन लाभ होगा। संध्या का समय मित्रो एवं परिजनों के साथ आनंद मनोरंजन में बितायेंगे इससे थकान कम अनुभव होगी। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज का दिन आपके लिए प्रत्येक कार्यो में विजय दिलाने वाला रहेगा परन्तु विरोधी भी प्रबल रहने से सफलता आसान नहीं रहेगी। आज जिस भी कार्य को करने का मन बनाएंगे उसमे कोई ना कोई अड़चन अवश्य आएगी फिर भी यदि दृढ़ निश्चय कर लगे रहे तो सफलता निश्चित मिलेगी। घर में किसी बीमार के स्वास्थ्य में सुधार आएगा परन्तु आपको कब्ज,गैस सम्बंधित समस्या बनी रहेगी। व्यवसाय मे व्यस्तता के कारण किसी अन्य कार्य में देरी होने से हानि भी हो सकती है। प्रतिस्पर्धी आज चाहकर भी आपके धन लाभ को नहीं रोक पाएंगे। पारिवारिक वातावरण उदासीन फिर भी शांत रहेगा। 🌐http://www.vkjpandey.in 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 🚩 दैनिक पंचांग, राशिफल, व्रत त्योहार तथा हिन्दू धार्मिक जानकारी जैसे पोस्ट पाने के लिए हमारे व्हाट्सएप समूह ऑनलाइन मंदिर से जुड़े। 🤳 लिंक- https://chat.whatsapp.com/Kn1JrmZ8kx0LaeeISXamK2

+85 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 179 शेयर

🌸•°🍁°•🌺•°☘️°•🍃°•🌹°•🌻 🔔°•🔔•°🔔°•🔔°•🔔•°🔔•°🔔 *ॐ हं हनुमते नमः* *सुप्रभातम्* *ॐ श्रीगणेशाय नमः* *अथ् पंचांगम्* *दिनाँक 2 जून, 2020* *मंगलवार* *अम्बाला शहर, हरियाणा ।* *अक्षांश- 30°:36", रेखांश 76°:80"* 🌸•°🌹°•🌺•°🌻°•🌷 🙏°•🙏•°🙏°•🙏•°🙏 °•°•°°•°•°•°•°•°•°•°•°•°•°•°•°•°•°•°•° •••••••••••••••••••••••• *समाप्तिकाल* 🏵️ *तिथि एकादशी 12:06:26* 🏵️ *नक्षत्र चित्रा 22:55:18* 🔅 करण : विष्टि 12:06:26 बव 22:37:07 🏵️ *पक्ष शुक्ल* 🏵️ *योग व्यतीपात 09:51:54* 🏵️ *वार मंगलवार* 🏵️ *सूर्योदय 05:21:04* 🏵️ *चन्द्रोदय 15:35:00* 🏵️ चन्द्रराशि कन्या -12:00:21 *तक* 🏵️ *सूर्यास्त 19:20:57* 🏵️ *चन्द्रास्त 27:25:00* 🏵️ *ऋतु ग्रीष्म* 🔅 शक सम्वत 1942 शार्वरी 🔅 कलि सम्वत 5122 🏵️ *दिन काल 13:59:53* 🏵️ *विक्रम सम्वत 2077* 🔅 मास अमांत ज्येष्ठ 🏵️ *मास पूर्णिमांत ज्येष्ठ* 🏵️ *शुभ समय* 🔅 अभिजित 11:53:00 - 12:49:00 🏵️ *अशुभ समय* 🔅 दुष्टमुहूर्त 08:09:02 - 09:05:02 🔅 कंटक 06:17:03 - 07:13:03 🔅 यमघण्ट 10:01:01 - 10:57:01 🏵️ *राहुकाल* 15:50:58-17:35:57 🔅 कुलिक 13:44:59 - 14:40:59 🏵️ कालवेला 08:09:02 - 09:05:02 🔅 यमगण्ड 08:51:02 - 10:36:01 🏵️ गुलिक काल 12:21:00-14:05:59 🏵️ *दिशा शूल उत्तर* 🏵️ *होरा* 🏵️ 🔅मंगल 05:21:04 - 06:31:03 🔅सूर्य 06:31:03 - 07:41:02 🔅शुक्र 07:41:02 - 08:51:02 🔅बुध 08:51:02 - 10:01:01 🔅चन्द्रमा 10:01:01 - 11:11:01 🔅शनि 11:11:01 - 12:21:00 🔅बृहस्पति 12:21:00 - 13:30:59 🔅मंगल 13:30:59 - 14:40:59 🔅सूर्य 14:40:59 - 15:50:58 🔅शुक्र 15:50:58 - 17:00:58 🔅बुध 17:00:58 - 18:10:57 🔅चन्द्रमा 18:10:57 - 19:20:57 🔅शनि 19:20:57 - 20:10:56 🔅बृहस्पति 20:10:56 - 21:00:56 🔅मंगल 21:00:56 - 21:50:55 🏵️ *चौघड़िया* 🏵️ *किस चौघिड़या में क्या करें* 🌺 *चल* में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । 🌺 *उद्वेग* में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । 🌺 *शुभ* में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । 🌺 *लाभ* में व्यापार करें । 🌺 *रोग* में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । 🌺 *काल* में धन संग्रह करने पर धनवृद्धि होती है । 🌺 *अमृत* में सभी शुभ कार्य करें । 🔅रोग 05:21:04 - 07:06:03 🔅उद्वेग 07:06:03 - 08:51:02 🔅चल 08:51:02 - 10:36:01 🔅लाभ 10:36:01 - 12:21:00 🔅अमृत 12:21:00 - 14:05:59 🔅काल 14:05:59 - 15:50:58 🔅शुभ 15:50:58 - 17:35:57 🔅रोग 17:35:57 - 19:20:57 🔅काल 19:20:57 - 20:35:56 🔅लाभ 20:35:56 - 21:50:55 *ग्रह गोचर* 🌸 सूर्य- *वृष* 🌸 चंद्र- *कन्या 12:00:21 तक* 🏵️ चन्द्र- *तुला* 🌸 मंगल- कुम्भ 🌸 बुध - वृष 🌸 गुरु *(वक्री)* - मकर 🌸 शुक्र *(वक्री)* - वृष( *अस्त* ) 🌸 शनि *(वक्री)* - मकर 🌸 राहु- मिथुन - *और* 🌸 केतु - *धनु राशि में स्थित है ।* 🏵️ *व्रत/त्योहार 1-11जून 20* 🏵️ 01 जून - भद्रा 25:32 *श्री गंगा दशहरापर्व हरिद्वार* 1 जून, सोमवार को श्री गंगा दशहरा पर्व पर गंगा स्नान के उपरांत पुष्प ,अक्षत, धूप, दीप ,नारियल आदि द्रव्यों से श्री गंगा जी की पूजा करना एवं स्त्रोत का पाठ करके यथाशक्ति दान करने का विशेष माहात्म्या होगा जेष्ठ शुक्ल पक्ष प्रतिपदा से दशमी तक श्री गंगाष्टक स्त्रोत का पाठ करने से सब प्रकार के पाप नष्ट हो जाते हैं और दुर्लभ संपत्ति प्राप्त होती है। 02 जून- भद्रा 12:05 तक *निर्जला एकादशी व्रत* निर्जला एकादशी के दिन संकल्पपूर्वक निराहार व्रत रखकर श्री विष्णु जी के पूजन उपरांत द्वादशी को यथाशक्ति अन्न, वस्त्र ,फल ,जल -पात्र ,पंखा आदि का दक्षिणा सहित दान का विशेष महत्व होता है। 03 जून- *प्रदोष व्रत* *वटसावित्री प्रारम्भ,चंपा द्वादशी* मंगल पूर्वा भाद्रपद में 9:40 4 जून भद्रा 27 :16 05 जून - भद्रा 14:00 बजे तक जेष्ठ पूर्णिमा को जला पूरित घट,चावल, शक्कर, पंखे एवं वस्त्र आदि का दक्षिणा सहित सुपात्र को देना शुभ होगा वटसावित्री व्रत संत कबीर जयंती 6 जून - कृष्ण पक्ष प्रारंभ गण्डमूल मूल विचार 7 जून - सूर्य मृगशिरा में 24:27 गंडमूल 14:11 तक 08 जून - भद्रा 8:27 से 19:54 तक *श्री गणेश चतुर्थी व्रत* 9 जून - *शुक्र पूर्व में उदय 19:20* 10 जून - *पंचक प्रारंभ 27 :42* 11 जून - भद्रा 21:12 से *सर्वार्थ सिद्धि योग* 4 जून ,7 जून *रवि योग-* 3 जून, 11 जून, *द्विपुष्कर योग-* 2 जून जून मास आरंभ में 3 जून को मंगल पू. भा. नक्षत्र में आएगा। तेल तेल मूंगफली,अलसी बिनोला सोया एरंड सरसों तिलहन एवं रूई सोना चांदी तांबा आदि धातुओं में अच्छी तेजी से लाभ मिलेगा। 🍁☘️🌺🔥🍃🍂 *निर्जला एकादशी महात्मय* इस एकादशी के व्रत को करने से सभी एकादशियों का फल, सब तीर्थों का पुण्य एवं सब दानों का फल मिलता है। इसका उपवास, पुत्र दायक ,सुखदायक, धन-धान्य देने वाला आरोग्य को बढ़ाने वाला और दीर्घायु प्रदान करने वाला है। यदि इस व्रत को श्रद्धा और भक्ति से किया जाए तो सभी पापों को अल्प समय में ही नष्ट कर देता है । जो व्यक्ति इस दिन स्नान से निवृत्त होकर, दान ,जप ,होम करता है विश्व प्रकार से अक्षम हो जाता है । ऐसा भगवान श्री कृष्ण ने कहा है। सूर्य ग्रहण के समय कुरुक्षेत्र में दान देने से जो फल मिलता है, वही फल इस व्रत के करने और इसकी कथा पढ़ने से भी प्राप्त होता है। व्रती की समस्त कामनाएं पूर्ण होती हैं और वह इस जगत का संपूर्ण सुख भोगते हुए, परमधाम जाकर मोक्ष प्राप्त करता है। 🏵️ *पूजन विधि-*🏵️ निर्जला एकादशी का व्रत जेष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को रखा जाता है। इस दिन सुबह उठकर दैनिक कर्म से निवृत्त होकर, स्नान करके पवित्र होकर, स्वच्छ वस्त्र धारण कर भगवान विष्णु की पूजा आराधना व आरती भक्ति भाव से विधि-विधान अनुसार संपन्न करें ।महिलाएं पूर्ण श्रृंगार कर ,मेहंदी आदि लगाकर पूर्ण श्रद्धा भक्ति भाव से पूजन करने के पश्चात, कलश के जल से पीपल के वृक्ष को प्रातः काल सूर्योदय से आरंभ कर दूसरे दिन सूर्योदय तक जल और अन्ना का सेवन न करें । जेष्ठ मास के दिन लंबे भीषण गर्मी वाले होते हैं, प्यास लगना स्वाभाविक है, ऐसे में जल ग्रहण ना करना सचमुच एक बड़ी साधना के समान है। बड़ों कष्टों से गुजर कर ही यह व्रत पूर्ण होता है । इस एकादशी के दिन अन्न अथवा जल का सेवन करने से व्रत खंडित हो जाता है। व्रत के दूसरे दिन यानी द्वादशी के दिन प्रातः काल निर्मल जल से स्नान कर भगवान विष्णु की प्रतिमा को या फिर पीपल के वृक्ष के नीचे जल, फूल, धूप, अगरबत्ती और दीपक जलाकर प्रार्थना करें तथा क्षमा याचना भी करें। तत्पश्चात ब्राह्मणों को भोजन करवाकर स्वयं भोजन करें । इसके बाद ब्राह्मणों को दान दक्षिणा में शीतल जल से भरा मिट्टी का घड़ा, वस्त्र, पंखा, गौ, पान , शैय्या, आसन, छतरी ,स्वर्ण ,फल आदि दें। ऐसा विश्वास किया जाता है कि जो व्यक्ति घट दान देते समय जल का नियम करता है , उसे एक प्रहर के अंदर कोटि-कोटि स्वर्ण दान का फल मिलता है। इस दिन घर आए याचक को खाली हाथ वापस भेजना बुरा माना जाता है। *पौराणिक कथा* महाभारत और श्री पदम पुराण इस व्रत की कथा का उल्लेख इस प्रकार से है। एक दिन महर्षि वेदव्यास से भीमसैन ने पूछा पितामह मेरे चारों भाइयों -युधिष्ठिर, अर्जुन ,नकुल ,सहदेव, माता कुंती और द्रुपद की पुत्री द्रोपदी सभी एकादशियों को भोजन ना कर उपवास रखते हैं। निर्जला एकादशी को तो जल तक नहीं करते। वे चाहते हैं कि मैं भी उनकी तरह विधि विधान के अनुसार उपवास रखकर जल ग्रहण ना करूं। मैं तो एक समय भी बिना भोजन किए भूखा नहीं रह सकता। मेरे पेट में अग्नि का वास है, जिस की शांति के लिए मुझे बहुत सा भोजन ग्रहण करना पड़ता है । मैं भक्ति भाव से भगवान की पूजा का दान कर सकता हूं ।क्या कोई ऐसा व्रत नहीं है जिसमें मुझे कोई ज्यादा कष्ट ना हो और एक ही दिन में सभी एकादशी का फल प्राप्त हो जाए। तब महर्षि वेदव्यास बोले हे- भीम ! तुम जेष्ठ मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी का व्रत करो। इस व्रत में स्नान और आचमन को छोड़कर जल का व्यवहार मत करना। इसके उपवास से तुम्हें सभी एकादशियों के करने का पुण्य प्राप्त होगा । महर्षि वेदव्यास के सामने भीम ने प्रतिज्ञा कर इस एकमात्र एकादशी का व्रत पूर्ण किया तभी से इसे *भीमसेनी एकादशी* के नाम से भी जाना जाता है। 🏵️ *दैनिक राशिफल* 🏵️ 🐐 मेष ज़िंदगी का भरपूर लुत्फ़ उठाने के लिए अपनी महत्वाकांक्षाओं को क़ाबू में रखें। योग का सहारा लें, जो आध्यात्मिक, मानसिक और शारीरिक तौर पर स्वस्थ रखकर दिल और दिमाग़ को बेहतर बनाता है। आपका बचाया धन आज आपके काम आ सकता लेकिन इसके साथ ही इसके जाने का आपको दुख भी होगा। अगर आज आप किसी को सलाह देते हैं, तो ख़ुद लेने के लिए भी तैयार रहें। आज प्यार की मदहोशी में हक़ीक़त और फ़साना मिलकर एक होते मालूम होंगे। इसे महसूस करें। आज आपकी कड़ी मेहनत कार्यक्षेत्र में ज़रूर रंग दिखाएगी। 🐂वृष अनचाहे ख़यालों को दिमाग़ पर कब्ज़ा न करने दें। शांत और तनाव-रहित रहने की कोशिश करें, इससे आपकी मानसिक दृढ़ता बढ़ेगी। आज धन आपके हाथ में नहीं टिकेगा, आपको धन संचय करने में आज बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बच्चे आपको घरेलू काम-काज निबटाने में मदद करेंगे। आज आपका प्रिय आपके साथ में समय बिताने और तोहफ़े की उम्मीद कर सकता है। आज आपकी कलात्मक और रचनात्मक क्षमता को काफ़ी सराहना मिलेगी और इसके चलते अचानक लाभ मिलने की संभावना भी है। दिन उम्दा है, आज के दिन अपने लिए समय निकालें और अपनी कमियों और खुबियों पर गौर फर्माएं। इससे आपके व्यक्तित्व में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। 👫🏼 मिथुन बच्चे आपकी शाम को ख़ुशी की चमक लाएंगे। थकाऊ और उबाऊ दिन को अलविदा कहने के लिए एक बढ़िया डिनर की योजना बनाएँ। उनका साथ आपके शरीर में फिर से ऊर्जा भर देगा। किसी बड़े समूह में भागीदारी आपके लिए दिलचस्प साबित होगी, हालाँकि आपके ख़र्चे बढ़ सकते हैं। कुछ लोगों के लिए- परिवार में किसी नए का आना जश्न और उल्लास के पल लेकर आएगा। प्यार की ताक़त आपको प्यार करने की वजह देती है। आप क़ामयाबी ज़रूर हासिल करेंगे - बस एक-एक करके महत्वपूर्ण क़दम उठाने की ज़रूरत है। 🦀कर्क बेकार की बात पर बहस करके अपकी ऊर्जा ज़ाया न करें। याद रखें कि वाद-विवाद से कुछ भी हासिल नहीं होता, लेकिन खोता ज़रूर है। जो लोग लघु उद्योग करते हैं उन्हें आज के दिन अपने किसी करीबी की कोई सलाह मिल सकती है जिससे उन्हें आर्थिक लाभ होने की संभावना है। लोगों और उनके इरादों के बारे में जल्दबाज़ी में फ़ैसला न लें। हो सकता है कि वे दबाव में हों और उन्हें आपकी सहानुभूति व विश्वास की ज़रूरत हो। गर्लफ़्रेण्ड/बॉयफ़्रेण्ड से धोखा मिल सकता है। निर्णय लेते समय अपने अहम को बीच में न आने दें, अपने कनिष्ठ सहकर्मियों की बात पर ग़ौर फ़रमाएँ। आपका कम्यूनिकेशन और काम करने की क्षमता असरदार सिद्ध होंगे। आप अपने जीवनसाथी को समझने में आपसे ग़लती हो सकती है, जिसकी वजह से सारा दिन उदासी में गुज़रेगा। 🐅सिंह शारीरिक और मानसिक लाभ के लिए ध्यान व योग करना उपयोगी रहेगा। आपके घर से जुड़ा निवेश फ़ायदेमंद रहेगा। बच्चे भले ही आपका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करना चाहते हों, लेकिन साथ ही ख़ुशियों की वजह भी साबित होते हैं।आप क़ामयाबी ज़रूर हासिल करेंगे - बस एक-एक करके महत्वपूर्ण क़दम उठाने की ज़रूरत है। यात्राओं से तुरंत लाभ तो नहीं होगा, लेकिन इसके चलते अच्छे भविष्य की नींव रखी जा सकती है। 👰 कन्या आपका चढ़ा हुआ पारा आपको परेशानी में डाल सकता है। व्यापाार में मुनाफा आज कई व्यापारियों के चेहरे पर खुशी ला सकता है। घरेलू मामलों पर तुरंत ध्यान देने की ज़रूरत है। पुरानी यादों को ज़ेहन में ज़िंदा कर दोस्ती को फिर से तरोताज़ा करने का वक़्त है। किसी भी ख़र्चीले काम या योजना में हाथ डालने से पहले ठीक तरह से सोच-विचार कर लें। खाली समय का पुरा आनंद उठाने के लिए आपको लोगों से दूर होकर अपने पसंदीदा काम करने चाहिए। ⚖️ तुला मज़बूती और निडरता का गुण आपकी मानसिक क्षमताओं में इज़ाफ़ा करेगा। किसी भी तरह के हालात को क़ाबू में रखने के लिए इस रफ़्तार को बरक़रार रखिए। कुछ ख़रीदने से पहले उन चीज़ों का इस्तेमाल करें, जो पहले से आपके पास हैं। बच्चों से मिली ख़ुशख़बरी दिन बना सकती है। आज आप अपने जीवन की परेशानियों को अपने संगी से साझा करना चाहेंगे लेकिन वो अपनी परेशानियों के बारें में बता के आपको और ज्यादा परेशान कर देंगे। व्यावसायिक साझीदार सहयोग करेंगे और आप साथ मिलकर टलते आ रहे कामों को पूरा कर सकते हैं। परोपकार और सामाजिक कार्य आज आपको आकर्षित करेंगे। अगर आप ऐसे अच्छे कामों में थोड़ा समय लगाएँ, तो काफ़ी सकारात्मक बदलाव ला सकते हैं। 🦞वृश्चिक आज आप ख़ुद को सुकून में और ज़िंदगी का लुत्फ़ उठाने के लिए सही मनोदशा में पाएंगे। आज आप अपना धन धार्मिक कार्यों में लगा सकते हैं जिससे आपको मानसिक शांति मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यक्तिगत जीवन से थोड़ा समय निकालकर दान-पुण्य के कामों में कुछ समय लगाएँ। इससे आपको मानसिक शांति मिलेगी, लेकिन इसके लिए अपनी निजी ज़िंदगी को दरकिनार न करें। आपको दोनों पर ही बराबर ध्यान देने की ज़रूरत है। प्रेमी को आज आपकी कोई बात चुभ सकती है। वो आपसे रुठें इससे ही पहले ही अपनी गलती का अहसास कर लें और उन्हें मना लें। तब तक कोई वादा न करें, जब तक कि आप पूरी तरह उसे पूरा करने में सक्षम न हों। 🏹 धनु मित्रों या परिवार के सदस्यों के साथ मौज-मस्ती भरी यात्रा आपको सुकून देगी। जिन लोगों ने किसी अनजान शख्स की सलाह पर कहीं निवेश किया था आज उन्हें उस निवेश से फायदा होने की पूरी संभावना है। परिवार के सदस्यों के साथ कुछ आराम के पल बिताएँ। काफ़ी वक़्त फ़ोन न करके आप अपने प्रिय को तंग करेंगे। वरिष्ठ सहकर्मी और रिश्तेदार मदद का हाथ बढाएंगे। दिन को कैसे अच्छा बनाया जाए इसके लिए आपको अपने लिए भी समय निकालना सीखना होगा। हँसी-मजा़क के बीच आपके और आपके जीवनसाथी के बीच कोई पुराना मुद्दा उभर सकता है, जो फिर वाद-विवाद का रूप भी ले सकता है। 🐊मकर धैर्य बनाए रखें, क्योंकि आपकी समझदारी और प्रयास आपको सफलता ज़रूर दिलाएंगे। व्यापारियों को आज व्यापार में घाटा हो सकता है और अपने व्यापार को बेहतर बनाने के लिए आपको पैसा खर्च करना पड़ सकता है। किसी धार्मिक स्थल या संबंधी के यहाँ जाने की संभावना है।तब तक कोई वादा न करें, जब तक कि आप पूरी तरह उसे पूरा करने में सक्षम न हों। जिंदगी में चल रही आपाधापी के बीच आज आपको अपने लिए पर्याप्त समय मिलेगा और और आप अपने पसंदीदा कामों को कर पाने में कामयाब हो पाएंगे। विवाह एक दैवीय आशीर्वाद है और आज आप इसका अनुभव कर सकते हैं। ⚱️कुम्भ आपके परिवार को आपसे बहुत ज़्यादा उम्मीदें हैं, जिसके चलते आप खीज महसूस कर सकते हैं। आप ख़ुद को नए रोमांचक हालात में पाएंगे- जो आपको आर्थिक फ़ायदा पहुँचाएंगे। आपका मज़ाकिया स्वभाव सामाजिक मेल-जोल की जगहों पर आपकी लोकप्रियता में इज़ाफ़ा करेगा। जो काम आपने किया है, उसका श्रेय किसी और को न ले जाने दें। आप चाहें तो परेशानियों को मुस्कुराकर दरकिनार कर सकते हैं या उनमें फँसकर परेशान हो सकते हैं। चुनाव आपको करना है। छोटे-छोटे मामलों को लेकर हुए आपके आपसी झगड़े आज आपके वैवाहिक जीवन में कटुता को बढ़ा सकते हैं। इसलिए आपको चाहिए कि दूसरों के कहने और बहकावे में न आएं। 🐋मीन अपने मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान दें, जो आध्यात्मिक जीवन के लिए आवश्यक है। मस्तिष्क जीवन का द्वार है, क्योंकि अच्छा-बुरा सब-कुछ इसी के माध्यम से आता है। यही ज़िंदगी की समस्याएँ दूर करने में सहायक सिद्ध होता है और सही सोच से इंसान को आलोकित करता है। आज किसी पार्टी में आपकी मुलाकात किसी ऐसे शख्स से हो सकती है जो आर्थिक पक्ष को मजबूत करने के लिए आपको अहम सलाह दे सकता है। नए ग्राहकों से बात करने के लिए बेहतरीन दिन है। आज जितना हो सके लोगों से दूर रहें। ACHARYA ANIL PARASHAR, VADIC,KP ASTROLOGER, 🔥🔥🔥🔥🔥🔥🔥🔥🔥🔥

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 02 जून 2020* ⛅ *दिन - मंगलवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077 (गुजरात - 2076)* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - ग्रीष्म* ⛅ *मास - ज्येष्ठ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - एकादशी दोपहर 12:04 तक तत्पश्चात द्वादशी* ⛅ *नक्षत्र - चित्रा रात्रि 10:55 तक तत्पश्चात स्वाती* ⛅ *योग - व्यतिपात सुबह 09:53 तक तत्पश्चात वरीयान्* ⛅ *राहुकाल - शाम 03:45 से शाम 05:25 तक* ⛅ *सूर्योदय - 05:57* ⛅ *सूर्यास्त - 19:15* ⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - निर्जला-भीम एकादशी* 💥 *विशेष - हर एकादशी को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है lराम रामेति रामेति । रमे रामे मनोरमे ।। सहस्त्र नाम त तुल्यं । राम नाम वरानने ।।* 💥 *आज एकादशी के दिन इस मंत्र के पाठ से विष्णु सहस्रनाम के जप के समान पुण्य प्राप्त होता है l* 💥 *एकादशी के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।* 💥 *एकादशी को चावल व साबूदाना खाना वर्जित है | एकादशी को शिम्बी (सेम) ना खाएं अन्यथा पुत्र का नाश होता है।* 💥 *जो दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस का प्रयोग कर स्नान करते हैं, उनके पाप नष्ट हो जाते हैं।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *निर्जला एकादशी* 🌷 ➡ *01 जून 2020 सोमवार को दोपहर 02:58 से 02 जून मंगलवार को दोपहर 12:04 तक एकादशी है ।* 💥 *विशेष - 02 जून मंगलवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें ।* 🙏🏻 *निर्जला एकादशी व्रत से अधिक मास सहित २६ एकादशियों के व्रत का फल प्राप्त होता है । इस दिन किया गया स्नान, दान जप, होम आदि अक्षय होता है ।* 🙏🏻 *ऋषि प्रसाद मई 2017* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *प्रदोष व्रत* 🌷 🙏🏻 *हिंदू पंचांग के अनुसार, प्रत्येक महिने की दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि पर प्रदोष व्रत किया जाता है। ये व्रत भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। इस बार 03 जून, बुधवार को प्रदोष व्रत है। इस दिन भगवान शिव की विशेष पूजा की जाती है। प्रदोष पर व्रत व पूजा कैसे करें और इस दिन क्या उपाय करने से आपका भाग्योदय हो सकता है, जानिए…* 👉🏻 *ऐसे करें व्रत व पूजा* 🙏🏻 *- प्रदोष व्रत के दिन सुबह स्नान करने के बाद भगवान शंकर, पार्वती और नंदी को पंचामृत व गंगाजल से स्नान कराएं।* 🙏🏻 *- इसके बाद बेल पत्र, गंध, चावल, फूल, धूप, दीप, नैवेद्य (भोग), फल, पान, सुपारी, लौंग, इलायची भगवान को चढ़ाएं।* 🙏🏻 *- पूरे दिन निराहार (संभव न हो तो एक समय फलाहार) कर सकते हैं) रहें और शाम को दुबारा इसी तरह से शिव परिवार की पूजा करें।* 🙏🏻 *- भगवान शिवजी को घी और शक्कर मिले जौ के सत्तू का भोग लगाएं। आठ दीपक आठ दिशाओं में जलाएं।* 🙏🏻 *- भगवान शिवजी की आरती करें। भगवान को प्रसाद चढ़ाएं और उसीसे अपना व्रत भी तोड़ें।उस दिन ब्रह्मचर्य का पालन करें।* 👉🏻 *ये उपाय करें* *बुधवार की सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद तांबे के लोटे से सूर्यदेव को अर्ध्य देें। पानी में आकड़े के फूल जरूर मिलाएं। आंकड़े के फूल भगवान शिवजी को विशेष प्रिय हैं । ये उपाय करने से सूर्यदेव सहित भगवान शिवजी की कृपा भी बनी रहती है और भाग्योदय भी हो सकता है।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🙏🏻🌷🍀🌹🌻🌸🌺💐🍁🙏🏻 https://youtu.be/vMY93Xe6d9k

+18 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 38 शेयर

🌹🌷🚩 *जय श्री राम* 🚩🌹🌷 🌹🚩 *ॐ हं हनुमते नमः* 🚩 🌹 ☀️⚜️🌅 *सुप्रभातम्* 🌅⚜️ ☀️ ⚜️🏵️📜 *अथ् पंचांगम्* 📜⚜️🏵️ 🌺🏵️🌹🥀🌷🏵️🌹🌺🌷🥀 *दिनाँक -: 02/06/2020,मंगलवार* एकादशी, शुक्ल पक्ष ज्येष्ठ """"""”""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि -------एकादशी 12:04:04 तक पक्ष ---------------------------शुक्ल नक्षत्र ----------चित्रा 22:53:34 योग --------व्यतापता 09:50:44 करण ------विष्टि भद्र 12:04:04 करण ------------भाव 22:34:43 वार -----------------------मंगलवार माह ---------------------------- ज्येष्ठ चन्द्र राशि ----कन्या 11:58:38 चन्द्र राशि --------------------तुला सूर्य राशि -------------------वृषभ रितु ----------------------------ग्रीष्म आयन ---------------------उत्तरायण संवत्सर -----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) -------------प्रमादी विक्रम संवत --------------- 2077 विक्रम संवत (कर्तक) ----2076 शाका संवत ----------------1942 वृन्दावन सूर्योदय --------------- 05:25:07 सूर्यास्त -----------------19:09:37 दिन काल ------------- 13:44:29 रात्री काल -------------10:15:21 चंद्रोदय -----------------15:30:19 चंद्रास्त -----------------27:25:01 लग्न ----वृषभ 17°47' , 47°47' सूर्य नक्षत्र ------------------रोहिणी चन्द्र नक्षत्र --------------------चित्रा नक्षत्र पाया --------------------रजत *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* पे ----चित्रा 06:30:34 पो ----चित्रा 11:58:38 रा ----चित्रा 17:26:15 री ----चित्रा 22:53:34 रू ----स्वाति 28:20:41 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================== सूर्य=वृषभ 17°22 ' रोहिणी, 3 वी चन्द्र = कन्या 24°23 ' चित्रा ' 1 पे बुध = मिथुन 11°10 ' आर्द्रा ' 2 घ शुक्र= वृषभ 20°55, रोहिणी ' 4 वु मंगल=कुम्भ 18°30' शतभिषा ' 4 सू गुरु=मकर 02°02 ' उ oषाo , 2 भो शनि=मकर 07°43' उ oषा o ' 4 जी राहू=मिथुन 06°05 ' मृगशिरा , 4 की केतु=धनु 06 ° 05 ' मूल , 2 यो *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 15:44 - 17:27 अशुभ यम घंटा 08:51 - 10:34 अशुभ गुली काल 12:17 - 14:00 अशुभ अभिजित 11:50 -12:45 शुभ दूर मुहूर्त 08:10 - 09:05 अशुभ दूर मुहूर्त 23:16 - 24:11* अशुभ 💮चोघडिया, दिन रोग 05:25 - 07:08 अशुभ उद्वेग 07:08 - 08:51 अशुभ चर 08:51 - 10:34 शुभ लाभ 10:34 - 12:17 शुभ अमृत 12:17 - 14:00 शुभ काल 14:00 - 15:44 अशुभ शुभ 15:44 - 17:27 शुभ रोग 17:27 - 19:10 अशुभ 🚩चोघडिया, रात काल 19:10 - 20:27 अशुभ लाभ 20:27 - 21:43 शुभ उद्वेग 21:43 - 23:00 अशुभ शुभ 23:00 - 24:17* शुभ अमृत 24:17* - 25:34* शुभ चर 25:34* - 26:51* शुभ रोग 26:51* - 28:08* अशुभ काल 28:08* - 29:25* अशुभ 💮होरा, दिन मंगल 05:25 - 06:34 सूर्य 06:34 - 07:43 शुक्र 07:43 - 08:51 बुध 08:51 - 09:59 चन्द्र 09:59 - 11:09 शनि 11:09 - 12:17 बृहस्पति 12:17 - 13:26 मंगल 13:26 - 14:35 सूर्य 14:35 - 15:44 शुक्र 15:44 - 16:52 बुध 16:52 - 18:01 चन्द्र 18:01 - 19:10 🚩होरा, रात शनि 19:10 - 20:01 बृहस्पति 20:01 - 20:52 मंगल 20:52 - 21:43 सूर्य 21:43 - 22:35 शुक्र 22:35 - 23:26 बुध 23:26 - 24:17 चन्द्र 24:17* - 25:09 शनि 25:09* - 25:59 बृहस्पति 25:59* - 26:51 मंगल 26:51* - 27:42 सूर्य 27:42* - 28:34 शुक्र 28:34* - 29:25 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान-------------उत्तर* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा गुड़ खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 11+ 3 + 1 = 15 ÷ 4 = 3 शेष मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 11 + 11 + 5 = 27 ÷ 7 = 6 शेष क्रीड़ायां = शोक ,दुःख कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* दोपहर 12:04 तक पाताल लोक = धनलाभ कारक *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * निर्जला एकादशी व्रत (सर्वेषां) * भीमसेनी एकादशी * गायत्री जयन्ती * रुक्मिणी विवाह (उड़ीसा) * श्रीजी पुष्प नोका विहार(राधाबल्लभ जी) *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* शुध्दं भूमिगतं तोयं शुध्दा नारी पतिव्रता । शुचिः क्षेमकरोराजा संतोषी ब्राह्मणः शुचिः ।। ।।चा oनी o।। जो जल धरती में समां गया वो शुद्ध है. परिवार को समर्पित पत्नी शुद्ध है. लोगो का कल्याण करने वाला राजा शुद्ध है. वह ब्राह्मण शुद्ध है जो संतुष्ट है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11 द्रोणं च भीष्मं च जयद्रथं च कर्णं तथान्यानपि योधवीरान्‌ ।, मया हतांस्त्वं जहि मा व्यथिष्ठायुध्यस्व जेतासि रणे सपत्नान्‌ ॥, द्रोणाचार्य और भीष्म पितामह तथा जयद्रथ और कर्ण तथा और भी बहुत से मेरे द्वारा मारे हुए शूरवीर योद्धाओं को तू मार।, भय मत कर।, निःसंदेह तू युद्ध में वैरियों को जीतेगा।, इसलिए युद्ध कर॥,34॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष पुराना रोग उभर सकता है। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। बनते काम बिगड़ सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। घर-परिवार में मतभेद संभव है। किसी बड़ी समस्या से सामना हो सकता है। समय पर निदान होगा। जोखिम न लें। धैर्य रखें। 🐂वृष किसी प्रभावशाली व्यक्ति का सहयोग मिलेगा। पारिवारिक मांगलिक कार्यक्रम में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। यात्रा मनोरंजक रहेगी। भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। निवेश शुभ रहेगा। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। 👫मिथुन मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। पारिवारिक मांगलिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने का अवसर मिलेगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। विवाद को बढ़ावा न दें। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। घर-परिवार की चिंता रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। 🦀कर्क मेहनत का फल पूरा-पूरा मिलेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। मित्र व संबंधियों का सहयोग मिलेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। किसी बड़ी बाधा का निवारण होगा। काम समय पर पूर्ण होंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। निवेश शुभ रहेगा। 🐅सिंह विवाद से क्लेश संभव है। बुरी खबर मिल सकती है। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। आय में कमी रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। अपेक्षित कार्य समय पर न होने से तनाव रहेगा। खर्च की अधिकता रहेगी। आर्थिक नुकसान हो सकता है। 🙎‍♀️कन्या रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। परिवार तथा नजदीकी लोगों के साथ मनोरंजन का समय मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। मनपसंद भोजन का आनंद मिलेगा। जल्दबाजी से बचें। लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। आलस्य हावी रहेगा। ⚖️तुला संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। समय पर कार्य होंगे। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। पार्टनरों का भरपूर सहयोग मिलेगा। विवेक का प्रयोग लाभ बढ़ाएगा। 🦂वृश्चिक दांपत्य जीवन में प्रगाढ़ता आएगी। परिवार में कोई आयोजन हो सकता है। प्रसन्नता तथा व्यस्तता रहेगी। उत्साह में वृद्धि होगी। वरिष्ठजन सहयोग व मार्गदर्शन करेंगे। निवेश शुभ रहेगा। बाहर जाने की योजना बनेगी। घर-परिवार के सदस्यों का सहयोग बराबर मिलेगा। 🏹धनु स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है। घर-परिवार में विवाद हो सकता है। चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। अपेक्षित कार्यों में विलंब हो सकता है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। बुद्धि का प्रयोग करें। धीरे-धीरे सब ठीक होगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। धैर्य रखें। 🐊मकर तीर्थाटन की योजना बनेगी। सत्संग का लाभ मिलेगा। वरिष्ठजनों का सहयोग प्राप्त होगा। समय पर काम पूरे होंगे। मनोरंजक यात्रा हो सकती है। व्यवसाय ठीक चलेगा। व्यय में वृद्धि हो सकती है। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है। सावधान रहें। 🍯कुंभ योजना फलीभूत होगी। कार्यस्थल पर परिवर्तन संभव है। आय में वृद्धि होगी। कार्यकुशलता का विकास होगा। घर-बाहर प्रतिष्ठा बढ़ेगी। नए कार्य प्रारंभ करने की रूपरेखा बनेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। मनोरंजन का समय मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें। 🐟मीन डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। यात्रा मनोरंजक रहेगी। कर्ज समय पर चुका पाएंगे। आय में मनोनुकूल वृद्धि होगी। पारिवारिक मित्रों से मेल-जोल बढ़ेगा। छोटे भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। अपेक्षित कार्य समय-समय पर पूरे होंगे, प्रसन्नता रहेगी। जोखिम नहीं उठाएं। दिव्य ज्योतिष केंद्र वाट्स्अप👉9450786998 🙏 *आपका दिन मंगलमय हो* 🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 45 शेयर

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄सुप्रभातम🌄 🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓 🌻मंगलवार, २ जून २०२०🌻 सूर्योदय: 🌄 ०५:२५ सूर्यास्त: 🌅 ०७:१७ चन्द्रोदय: 🌝 १५:२९ चन्द्रास्त: 🌜२७:२१ अयन 🌕 उत्तरायणे (दक्षिणगोलीय) ऋतु: 🍂 ग्रीष्म शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी) मास 👉 ज्येष्ठ पक्ष 👉 शुक्ल तिथि: 👉 एकादशी (१२:०४ तक) नक्षत्र: 👉 चित्रा (२२:५५ तक) योग: 👉 व्यतीपात (०९:५३ तक) प्रथम करण: 👉 विष्टि (१२:०४ तक) द्वितीय करण: 👉 बव (२२:३५ तक) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 वृष चंद्र 🌟 तुला (११:५९ से) मंगल 🌟 कुंम्भ (उदित, पूर्व) बुध 🌟 मिथुन (उदय, पश्चिम) गुरु 🌟 मकर (अस्त, पश्चिम, वक्री) शुक्र 🌟 वृष (उदित, पश्चिम, वक्री) शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, वक्री) राहु 🌟 मिथुन केतु 🌟 धनु 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त: 👉 ११:४७ से १२:४३ अमृत काल: 👉 १७:०५ से १८:३२ होमाहुति: 👉 शनि अग्निवास: 👉 पृथ्वी भद्रावास: 👉 पाताललोक १२:०४ तक दिशा शूल: 👉 उत्तर नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌ चन्द्र वास: 👉 दक्षिण (पश्चिम १२:०० से) दुर्मुहूर्त: 👉 ०८:०६ से ०९:०१ राहुकाल: 👉 १५:४२ से १७:२६ राहु काल वास: 👉 पश्चिम यमगण्ड: 👉 ०८:४८ से १०:३१ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - अमृत २ - काल ३ - शुभ ४ - रोग ५ - उद्वेग ६ - चर ७ - लाभ ८ - अमृत ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - चर २ - रोग ३ - काल ४ - लाभ ५ - उद्वेग ६ - शुभ ७ - अमृत ८ - चर नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 दक्षिण-पश्चिम (धनिया अथवा दलिया का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ निर्जला एकादशी व्रत सभी के लिये आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज २२:५५ तक जन्मे शिशुओ का नाम चित्रा नक्षत्र के द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (पो, रा, री) तथा इसके बाद जन्मे शिशुओं का नाम स्वाति नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय चरण अनुसार क्रमश: (रू, रे) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त: ०५:२० - ०६:०९ वृषभ ०६:०९ - ०८:२४ मिथुन ०८:२४ - १०:४५ कर्क १०:४५ - १३:०४ सिंह १३:०४ - १५:२२ कन्या १५:२२ - १७:४३ तुला १७:४३ - २०:०२ वृश्चिक २०:०२ - २२:०६ धनु २२:०६ - २३:४७ मकर २३:४७ - २५:१३ कुम्भ २५:१३ - २६:३६ मीन २६:३६ - २८:१० मेष २८:१० - २९:२० वृषभ 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त: ०५:२० - ०६:०९ शुभ मुहूर्त ०६:०९ - ०८:२४ रज पञ्चक ०८:२४ - १०:४५ शुभ मुहूर्त १०:४५ - १२:०४ चोर पञ्चक १२:०४ - १३:०४ शुभ मुहूर्त १३:०४ - १५:२२ रोग पञ्चक १५:२२ - १७:४३ शुभ मुहूर्त १७:४३ - २०:०२ मृत्यु पञ्चक २०:०२ - २२:०६ अग्नि पञ्चक २२:०६ - २२:५५ शुभ मुहूर्त २२:५५ - २३:४७ रज पञ्चक २३:४७ - २५:१३ शुभ मुहूर्त २५:१३ - २६:३६ चोर पञ्चक २६:३६ - २८:१० रज पञ्चक २८:१० - २९:२० शुभ मुहूर्त 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज दिन का पूर्वार्ध आपकी आशाओं से थोड़ा कम लाभ देगा फिर भी कार्यो को बेहतर रूप से करने की कोशिश करेंगे। धन लाभ के लिए अधिक परिश्रम करना पड़ेगा इसका मध्यान से पहले फल अवश्य मिलेगा। सरकारी कार्यो में उलझने बढ़ने से धन एवं समय बर्बाद हो सकता है आज के लिए इन्हें निरस्त रखना ही ठीक रहेगा। मध्यान के बाद का समय कष्टप्रद रहेगा चल-अचल संपत्ति के कारण परिवार में विवाद होने की संभावना है किसी भी गंभीर स्थिति से बचने के लिए मूक दर्शक बनकर रहें ऐसा करने से फैसला आपके पक्ष में हो सकता है। स्त्री संतान का सहयोग मिलेगा। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज आप अपनी मनमानी नीति के चलते सार्वजानिक क्षेत्र पर आलोचना के शिकार होंगे। कार्य व्यवसाय में अधिकांश समय आश्वासनो से ही काम चलाना पड़ेगा। आप का स्वभाव भी टालमटोल वाला रहेगा। अत्यधिक लोभी प्रवृति संभावित लाभ को हानि में बदल सकती है। किसी की मदद करने से पीछे ना हटे भविष्य के लिए लाभदायक रहेगा। आज परोपकारी स्वभाव ना होते हुए भी किसी की बेमन से सहायता करनी पड़ सकती है। घर के बुजुर्ग आप पर प्रसन्न रहेंगे जिसे अपनी बात मनवाने में आसानी रहेगी। स्त्री संतान भी सहयोग करेंगे। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आज दिन का अधिकांश समय शांति से व्यतीत करेंगे परन्तु बीच-बीच में पारिवारिक उलझने परेशान करेंगी। व्यवसाय में परिश्रम का फल विलम्ब से मिलेगा धन लाभ के लिए अधिक इन्तजार करना पड़ेगा सहकर्मीयो से नम्रता से व्यवहार करें अन्यथा सारा कार्य खुद ही करना पड़ सकता है। आपके व्यवहार में परिवर्तन आने से लोग आश्चर्य करेंगे। सामाजिक क्षेत्र से आय के नवीन साधन बनेंगे उच्चवर्ग के लोगो से लाभदायक जान-पहचान होगी। पारिवारिक जीवन में विषमताओं का अहसास होगा खर्च करने पर भी स्थिति नियंत्रण से बाहर जायेगी स्वयजनो से वैर विरोध बढेगा। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज के दिन आप पूर्वाग्रह से ग्रसित रहेंगे। अपने जिद्दी स्वभाव के कारण आसपास का वातावरण अशान्त बनाएंगे। मनमानी के चलते घर में भी तनाव का वातावरण बनेगा। सामाजिक क्षेत्र पर धन के साथ साथ मान हानि के योग है बेहतर रहेगा की आज कोई भी बड़ा कार्य ना करें यात्रा भी अतिआवश्यक होने पर ही करें व्यर्थ समय एवं धन नष्ट होने की संभावनाएं अधिक है। परन्तु जोखिम वाले कार्यो में निवेश आज अवश्य लाभ कराएगा। परिवारक वातावरण आपकी गलतियों के कारण पहले कलुषित होगा लेकिन संध्या तक सब सामान्य होने लगेगा। महिलाओं से सतर्क रहें। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज का दिन आपको अवश्य धन लाभ कराएगा। सेहत भी साथ देने से कार्यो में उत्साह बना रहेगा। लेकिन कार्य क्षेत्र पर लेन देन में स्पष्टता रखें विवाद के साथ सम्मान हानि हो सकती है। आज जिस भी कार्य को करेंगे उसमे सफलता की संभावना अधिक रहेगी। धन लाभ अल्प मात्रा में परंतु कई बार होने से आज का कोटा पूरा कर लेंगे। गृहस्थ में आज थोड़ी उठा-पटक लगी रहेगी किसी ना किसी के रूठने का कार्यक्रम लगा रहने से मानसिक रूप से थोड़ा विचलित हो सकते है फिर भी स्थिति आपके नियंत्रण में ही रहेगी। हास्य-परिहास के अवसर भी मिलते रहेंगे। संतान के विषय में शुभ समाचार मिलेगा। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आज आप पूर्वनियोजित कार्यो को आगे बढ़ाएंगे इसमें सहकर्मी एवं परिजनों का भी महत्वपूर्व सहयोग मिलेगा। नौकरी पेशा जातक काम से मन चुराने के कारण अपमानित हो सकते है सतर्क रहें। आज थोड़े प्रयास के बाद आशा से अधिक सफलता मिल सकती है। सभी सरकार नियंत्रित कार्य एवं जायदाद सम्बंधित कार्य मध्यान के आस-पास करना लाभदायक रहेगा। व्यावसायिक क्षेत्र पर नए प्रयोग अभी ना आजमाएं परन्तु निवेश अवस्य लाभ देगा। महिलाएं भी आज अधिक व्यस्त होने के कारण थकान अनुभव करेंगी। विद्यार्थी पढ़ाई से मन चुरायेंगे। तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आज आप अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु कुछ भी करने के लिए तैयार रहेंगे परंतु ध्यान रहे अनैतिक कार्य एवं प्रलोभन के अवसर मिलने पर भी ये पारिवारिक मान हानि का कारण बन सकते है। दिन के आरंभ में कार्य क्षेत्र पर मंदी रहेगी भविष्य के लिये चिंतित हो सकते है लेकिन धीरे-धीरे कार्यो में गति आने लगेगी धन लाभ विलम्ब से परन्तु अवश्य होगा। संध्या तक संतोषजनक व्यवसाय रहने से राहत मिलेगी। परिवार में मांगलिक कार्यक्रमो में सम्मिलित होने पर खर्च करेंगे। सुखोपभोग की वस्तुओ में कमी आएगी। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) आज परिस्थितिया प्रतिकूल रहने से कोई राहत की उम्मीद नहीं दिखेगी। लोग आपके हर निर्णय को गलत साबित करेंगे। पारिवारिक सदस्य के जिद्दी व्यवहार के कारण घरेलु वातावरण गर्म हो सकता है। आज आप केवल अपने मन की सुनना छोड़ अन्य लोगो के विचारो को भी प्रयोग करें निश्चित लाभ होगा। व्यवसायी वर्ग बार-बार असफल होने अथवा आशानुकूल काम ना बनने से हतोत्साहित होंगे फिर भी प्रयास जारी रखें संतोषजनक परिणाम मिलेंगे। स्त्री पक्ष से पहले परेशानी बाद में लाभ संभावित है। कंजूसी करके कुछ धन बचाएंगे। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) आज के दिन आप अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति कर सकेंगे कार्य व्यवसाय में सरकारी सहयोग मिलने की संभावना अधिक रहेगी लोन सम्बंधित कार्य आज करना लाभदायक रहेगा। परन्तु सेहत के दृष्टिकोण से दिन उतार चढ़ाव वाला रहेगा शरीर में दर्द अकड़न की शिकायत रहेगी फिर भी कार्य बाधित नहीं होंगे। धन लाभ होने से और अधिक लगन से कार्यो को करेंगे। अधिकारी वर्ग का मूड संदिग्ध रहने से गुप्त भय बना रहेगा। परिवार में रिश्तेदारो के कारण कोई नई समस्या खड़ी हो सकती है। वाणी में मधुरता बनाये व्यर्थ की उलझनों से बचे रहेंगे। घर के बुजुर्ग आपके विचारों से सहमत रहेंगे। मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आज का दिन मिश्रित फलदायक रहेगा। शारीरिक रूप से चुस्त रहेंगे लेकिन असमय क्रोध आने से रक्तचाप अनियंत्रित हो सकता है। जिम्मेदारी वाले कार्यो को प्राथमिकता देंगे कार्य व्यवसाय में थोड़ी अड़चनों का बाद निर्वाह योग्य आय कमा लेंगे सहकर्मियो से बिनाबात ना उलझे कार्य में विलम्ब हो सकता है। जोखिम वाले कार्यो में निवेश किसी की सलाह के बाद ही करें सही जगह निवेश भविष्य में लाभ कराएगा। पारिवारिक वातावरण में तालमेल की कमी रहेगी। घर के बड़े अथवा स्त्री वर्ग से विचारो में भिन्नता के कारण मतभेद उभर सकते है। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) आज का दिन शुभफलदायी रहेगा सेहत छोटी मोटी व्याधि को छोड़ सामान्य रहेगी लेकिन फिर भी कार्यो में आलस्य करने से विलम्ब होगा। घर से ज्यादा आज बाहर का वातावरण अधिक अनुकूल मिलेगा। कार्य व्यवसाय में पूर्व की गलतियों से अनुभव होगा अपनी गलती मानने से सहयोगियों से मतभेद कम होंगे। विपरीत लिंगीय के प्रति अधिक आकर्षण कार्यो में व्यवधान डाल सकता है सम्मान में कमी का कारण भी बनेगा। दोपहर के बाद पूर्व नियोजित कार्यो से धन लाभ होगा। संध्या का समय मित्रो एवं परिजनों के साथ आनंद मनोरंजन में बितायेंगे इससे थकान कम अनुभव होगी। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज का दिन आपके लिए प्रत्येक कार्यो में विजय दिलाने वाला रहेगा परन्तु विरोधी भी प्रबल रहने से सफलता आसान नहीं रहेगी। आज जिस भी कार्य को करने का मन बनाएंगे उसमे कोई ना कोई अड़चन अवश्य आएगी फिर भी यदि दृढ़ निश्चय कर लगे रहे तो सफलता निश्चित मिलेगी। घर में किसी बीमार के स्वास्थ्य में सुधार आएगा परन्तु आपको कब्ज,गैस सम्बंधित समस्या बनी रहेगी। व्यवसाय मे व्यस्तता के कारण किसी अन्य कार्य में देरी होने से हानि भी हो सकती है। प्रतिस्पर्धी आज चाहकर भी आपके धन लाभ को नहीं रोक पाएंगे। पारिवारिक वातावरण उदासीन फिर भी शांत रहेगा। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️

+34 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 43 शेयर

*** 2077 - आज का हिंदू पंचांग -1942*** श्री ज्योतिष सेवाश्रम भीलवाड़ा (राजस्थान) 74.30 - रेखांतर मध्य मान - 75.30 लक्ष्य-ज्योतिष विद्या प्रचार प्रसार एवं प्रशिक्षण (आज के राशिफल सहित) ---------------------------------------------------------- -------------आज की विशेष प्रस्तुति -------------- --आज निर्जला एकादशी महत्व एवं व्रत कथा-- ---------------------------------------------------------- दिनांक...............................2.06.2020 कलियुग संवत्..............................5122 विक्रम संवत................................2077 शक संवत...................................1942 संवत्सर..................................श्री प्रमाथी अयन...........................................उत्तर गोल............................................उत्तर ऋतु............................................ग्रीष्म मास.......….....................................ज्येष्ठ पक्ष............................................शुक्ल तिथि..एकादशी.अपरा. 12.04 तक /द्वादशी वार........................................मंगलवार नक्षत्र........चित्रा. रात्रि. 10.53 तक / स्वाति चंद्र राशि..कन्या. पूर्वाह्न. 11.59 तक / तुला योग....व्यतिपात्. प्रातः 9.51 तक / वरीयान करण..........विष्टि(भद्रा) अपरा. 12.04 तक करण..........बव. रात्रि. 10.35 तक / बालव ---------------------------------------------------------- सूर्योदय......................प्रातः 5.42.06 पर सूर्यास्त......................सायं. 7.17.09 पर सूर्य राशि.......(वृष/रोहिणी) 01.17.47.37 चंद्रास्त................रात्रि. 3.39.23 AM पर राहुकाल......अपरा. 3.53 से 5.35 (अशुभ) यमघंट........प्रातः 9.06 से 10.48 (अशुभ) अभिजित.............. 12.02 से 12.57 तक पंचक................................ आज नहीं है शुभ हवन मुहूर्त(अग्निवास).............आज है दिशाशूल.............................. उत्तर दिशा दिशाशूल परिहार.....गुड़ सेवन कर यात्रा करें ___________________________________ चौघड़िया (दिन-रात)......(केवल शुभ कारक) चंचल.............. प्रातः 9.06 से 10.48 तक लाभ............पूर्वाह्न. 10.48 से 12.30 तक अमृत............अपरा. 12.30 से 2.12 तक शुभ.................अपरा. 3.53 से 5.35 तक लाभ..................रात्रि. 8.35 से 9.53 तक शुभ........रात्रि. 11.11 से 12.30 AM तक अमृत..रात्रि..12.30 AM से 1.48 AM तक चंचल.....रात्रि.1.48 AM से 3.06 AM तक ___________________________________ आज जन्मे शिशुओं का नक्षत्र चरण के अनुसार नामकरण हेतु नामाक्षर.. 08.32 AM तक-हस्त-1-नामाक्षर (पू) 02.03 PM तक हस्त-2-------------(ष) 07.33 PM तक-हस्त-3------------(ण) 01.02 AM तक-हस्त-4------------(ठ) उपरांत रात्रि तक-चित्रा-1------------(पे) ________सभी की राशि कन्या रहेगी_______ __________________________________ ____________आज का दिन____________ व्रत विशेष.........निर्जला एकादशी (सर्वेषाम्) दिन विशेष.....................................नहीं सर्वा.सिद्धयोग.................................नहीं सिद्ध रवियोग..................................नहीं ___________________________________ _____________कल का दिन____________ दिनांक..............................3.06. 2020 तिथि..............ज्येष्ठ. शुक्ला द्वादशी बुधवार व्रत विशेष.............................. बुध प्रदोष दिन विशेष..................वट सावित्री व्रतारंभ सर्वा.सिद्धयोग.................................नहीं सिद्ध रवियोग........रात्रि. 8.42 से रात्रि पर्यंत ___________________________________ निर्जला एकादशी व्रत कथा भीमसेन व्यासजी से कहने लगे कि हे पितामह! भ्राता युधिष्ठिर, माता कुंती, द्रोपदी, अर्जुन, नकुल और सहदेव आदि सब एकादशी का व्रत करने को कहते हैं, परंतु महाराज मैं उनसे कहता हूँ कि भाई मैं भगवान की शक्ति पूजा आदि तो कर सकता हूँ, दान भी दे सकता हूँ परंतु भोजन के बिना नहीं रह सकता। इस पर व्यासजी कहने लगे कि हे भीमसेन! यदि तुम नरक को बुरा और स्वर्ग को अच्छा समझते हो तो प्रति मास की दोनों एक‍ा‍दशियों को अन्न मत खाया करो। भीम कहने लगे कि हे पितामह! मैं तो पहले ही कह चुका हूँ कि मैं भूख सहन नहीं कर सकता। यदि वर्षभर में कोई एक ही व्रत हो तो वह मैं रख सकता हूँ, क्योंकि मेरे पेट में वृक नाम वाली अग्नि है सो मैं भोजन किए बिना नहीं रह सकता। भोजन करने से वह शांत रहती है, इसलिए पूरा उपवास तो क्या एक समय भी बिना भोजन किए रहना कठिन है। अत: आप मुझे कोई ऐसा व्रत बताइए जो वर्ष में केवल एक बार ही करना पड़े और मुझे स्वर्ग की प्राप्ति हो जाए। श्री व्यासजी कहने लगे कि हे पुत्र! बड़े-बड़े ऋषियों ने बहुत शास्त्र आदि बनाए हैं जिनसे बिना धन के थोड़े परिश्रम से ही स्वर्ग की प्राप्ति हो सकती है। इसी प्रकार शास्त्रों में दोनों पक्षों की एका‍दशी का व्रत मुक्ति के लिए रखा जाता है। व्यासजी के वचन सुनकर भीमसेन नरक में जाने के नाम से भयभीत हो गए और काँपकर कहने लगे कि अब क्या करूँ? मास में दो व्रत तो मैं कर नहीं सकता, हाँ वर्ष में एक व्रत करने का प्रयत्न अवश्य कर सकता हूँ। अत: वर्ष में एक दिन व्रत करने से यदि मेरी मुक्ति हो जाए तो ऐसा कोई व्रत बताइए। यह सुनकर व्यासजी कहने लगे कि वृषभ और मिथुन की संक्रां‍‍ति के बीच ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की जो एकादशी आती है, उसका नाम निर्जला है। तुम उस एकादशी का व्रत करो। इस एकादशी के व्रत में स्नान और आचमन के सिवा जल वर्जित है। आचमन में छ: मासे से अधिक जल नहीं होना चाहिए अन्यथा वह मद्यपान के सदृश हो जाता है। इस दिन भोजन नहीं करना चाहिए, क्योंकि भोजन करने से व्रत नष्ट हो जाता है। यदि एकादशी को सूर्योदय से लेकर द्वादशी के सूर्योदय तक जल ग्रहण न करे तो उसे सारी एकादशियों के व्रत का फल प्राप्त होता है। द्वादशी को सूर्योदय से पहले उठकर स्नान आदि करके ब्राह्मणों का दान आदि देना चाहिए। इसके पश्चात भूखे और सत्पात्र ब्राह्मण को भोजन कराकर फिर आप भोजन कर लेना चाहिए। इसका फल पूरे एक वर्ष की संपूर्ण एकादशियों के बराबर होता है। व्यासजी कहने लगे कि हे भीमसेन! यह मुझको स्वयं भगवान ने बताया है। इस एकादशी का पुण्य समस्त तीर्थों और दानों से अधिक है। केवल एक दिन मनुष्य निर्जल रहने से पापों से मुक्त हो जाता है। जो मनुष्य निर्जला एकादशी का व्रत करते हैं उनकी मृत्यु के समय यमदूत आकर नहीं घेरते वरन भगवान के पार्षद उसे पुष्पक विमान में बिठाकर स्वर्ग को ले जाते हैं। अत: संसार में सबसे श्रेष्ठ निर्जला एकादशी का व्रत है। इसलिए यत्न के साथ इस व्रत को करना चाहिए। उस दिन ॐ नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का उच्चारण करना चाहिए और गौदान करना चाहिए। इस प्रकार व्यासजी की आज्ञानुसार भीमसेन ने इस व्रत को किया। इसलिए इस एकादशी को भीमसेनी या पांडव एकादशी भी कहते हैं। निर्जला व्रत करने से पूर्व भगवान से प्रार्थना करें कि हे भगवन! आज मैं निर्जला व्रत करता हूँ, दूसरे दिन भोजन करूँगा। मैं इस व्रत को श्रद्धापूर्वक करूँगा, अत: आपकी कृपा से मेरे सब पाप नष्ट हो जाएँ। इस दिन जल से भरा हुआ एक घड़ा वस्त्र से ढँक कर स्वर्ण सहित दान करना चाहिए। जो मनुष्य इस व्रत को करते हैं उनको करोड़ पल सोने के दान का फल मिलता है और जो इस दिन यज्ञादिक करते हैं उनका फल तो वर्णन ही नहीं किया जा सकता। इस एकादशी के व्रत से मनुष्य विष्णुलोक को प्राप्त होता है। जो मनुष्य इस दिन अन्न खाते हैं, ‍वे चांडाल के समान हैं। वे अंत में नरक में जाते हैं। जिसने निर्जला एकादशी का व्रत किया है वह चाहे ब्रह्म हत्यारा हो, मद्यपान करता हो, चोरी की हो या गुरु के साथ द्वेष किया हो मगर इस व्रत के प्रभाव से स्वर्ग जाता है। हे कुंतीपुत्र! जो पुरुष या स्त्री श्रद्धापूर्वक इस व्रत को करते हैं उन्हें अग्रलिखित कर्म करने चाहिए। प्रथम भगवान का पूजन, फिर गौदान, ब्राह्मणों को मिष्ठान्न व दक्षिणा देनी चाहिए तथा जल से भरे कलश का दान अवश्य करना चाहिए। निर्जला के दिन अन्न, वस्त्र, उपाहन (जूती) आदि का दान भी करना चाहिए। जो मनुष्य भक्तिपूर्वक इस कथा को पढ़ते या सुनते हैं, उन्हें निश्चय ही स्वर्ग की प्राप्ति होती है। ___________________________________ आज का राशिफल... मेष-(चू चे चो ला ली लू ले लो अ). आज ज़िंदगी का भरपूर आनंद उठाने के लिए अपनी महत्वाकांक्षाओं को क़ाबू में रखें। योग का सहारा लें, जो आध्यात्मिक, मानसिक और शारीरिक तौर पर स्वस्थ रखकर दिल और दिमाग़ को बेहतर बनाता है। आपका बचाया धन आज आपके काम आ सकता है लेकिन इसके साथ ही इसके जाने का आपको दुख भी होगा। अगर आज आप किसी को सलाह देते हैं, तो ख़ुद लेने के लिए भी तैयार रहें। आज आपकी कड़ी मेहनत कार्यक्षेत्र में ज़रूर रंग दिखाएगी। जो लोग घर सेे बाहर रहते हैं आज वो अपने सारे काम पूरे करके शाम के समय किसी पार्क या एकांत जगह पर समय बिताना पसंद करेंगे। आपका जीवनसाथी किसी ख़ूबसूरत सरप्राइज़ से आपका दिन बना सकता है। वृषभ-(इ उ एओ वा वी वू वे वो) आज आप अनचाहे ख़यालों को दिमाग़ पर कब्ज़ा न करने दें। शांत और तनाव-रहित रहने की कोशिश करें, इससे आपकी मानसिक दृढ़ता बढ़ेगी। आज धन आपके हाथ में नहीं टिकेगा, आपको धन संचय करने में आज बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बच्चे आपको घरेलू काम-काज निबटाने में मदद करेंगे। आज आपका प्रिय आपके साथ में समय बिताने और तोहफ़े की उम्मीद कर सकता है। आज आपकी कलात्मक और रचनात्मक क्षमता को काफ़ी सराहना मिलेगी और इसके चलते अचानक लाभ मिलने की संभावना भी है। दिन श्रेष्ठ है, आज के दिन अपने लिए समय निकालें और अपनी कमियों और खूबियों पर गौर करें। इससे आपके व्यक्तित्व में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। जीवनसाथी से अच्छी बातचीत हो सकती है; आप महसूस करेंगे कि आप-दोनों में कितना प्रेम है। मिथुन- (क की कू घ ङ छ के को ह) आज बच्चे आपकी शाम में ख़ुशी की चमक लाएंगे। थकाऊ और उबाऊ दिन को अलविदा कहने के लिए एक बढ़िया डिनर की योजना बनाएँ। उनका साथ आपके शरीर में फिर से ऊर्जा भर देगा। किसी बड़े समूह में भागीदारी आपके लिए दिलचस्प साबित होगी, हालाँकि आपके ख़र्चे बढ़ सकते हैं। कुछ लोगों के लिए- परिवार में किसी नए का आना जश्न और उल्लास के पल लेकर आएगा। प्यार की ताक़त आपको प्यार करने की वजह देती है। आप क़ामयाबी ज़रूर हासिल करेंगे - बस एक-एक करके महत्वपूर्ण क़दम उठाने की ज़रूरत है। रात के समय आज आप घर के लोगों से दूर होकर अपने घर की छत या किसी पार्क में टहलना पसंद करेंगे। आपको महसूस होगा कि शादी के वक़्त किए गए सारे वादे सच्चे हैं। आपका जीवनसाथी ही आपका हमदम है। कर्क- (ही हू हे हो डा डी डू डे डो) आज बेकार की बातों पर बहस करके अपकी ऊर्जा ज़ाया न करें। याद रखें कि वाद-विवाद से कुछ भी हासिल नहीं होता, लेकिन खोता ज़रूर है। जो लोग लघु उद्योग करते हैं उन्हें आज के दिन अपने किसी करीबी की कोई सलाह मिल सकती है जिससे उन्हें आर्थिक लाभ होने की संभावना है। लोगों और उनके इरादों के बारे में जल्दबाज़ी में फ़ैसला न लें। हो सकता है कि वे दबाव में हों और उन्हें आपकी सहानुभूति व विश्वास की ज़रूरत हो। निर्णय लेते समय अपने अहम को बीच में न आने दें, अपने कनिष्ठ सहकर्मियों की बात पर ग़ौर फ़रमाएँ। आपका कम्यूनिकेशन और काम करने की क्षमता असरदार सिद्ध होंगे। आप अपने जीवनसाथी को समझने में आपसे ग़लती हो सकती है, जिसकी वजह से सारा दिन उदासी में गुज़रेगा। सिंह- (मा मी मू मे मो टा टी टू टे) आज शारीरिक और मानसिक लाभ के लिए ध्यान व योग करना उपयोगी रहेगा। आपके घर से जुड़ा निवेश फ़ायदेमंद रहेगा। बच्चे भले ही आपका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करना चाहते हों, लेकिन साथ ही ख़ुशियों की वजह भी साबित होते हैं। प्रेमी एक-दूसरे की पारिवारिक भावनाओं को समझेंगे। आप सफलता ज़रूर हासिल करेंगे - बस एक-एक करके महत्वपूर्ण क़दम उठाने की ज़रूरत है। यात्राओं से तुरंत लाभ तो नहीं होगा, लेकिन इसके चलते अच्छे भविष्य की नींव रखी जाएगी। क्या आपको लगता है कि शादी महज़ समझौतों का नाम है? अगर हाँ, तो आप आज हक़ीक़त महसूस करेंगे और जानेंगे कि यह आपके जीवन की सबसे अच्छी घटना थी। कन्या- (टो प पी पू ष ण ठ पे पो) आज आपका चढ़ा हुआ पारा आपको परेशानी में डाल सकता है। व्यापाार में मुनाफा आज कई व्यापारियों के चेहरे पर खुशी ला सकता है। घरेलू मामलों पर तुरंत ध्यान देने की ज़रूरत है। पुरानी यादों को ज़ेहन में ज़िंदा कर दोस्ती को फिर से तरोताज़ा करने का वक़्त है। किसी भी ख़र्चीले काम या योजना में हाथ डालने से पहले ठीक तरह से सोच-विचार कर लें। खाली समय का पूरा आनंद उठाने के लिए आपको लोगों से दूर होकर अपने पसंदीदा काम करने चाहिए। ऐसा करके आपमें सकारात्मक बदलाव भी आएंगे। यह दिन आपके जीवनसाथी के पहलुओं को भरपूर तरीक़े से दिखाएगा। तुला- (रा री रू रे रो ता ती तू ते) आज मज़बूती और निडरता का गुण आपकी मानसिक क्षमताओं में इज़ाफ़ा करेगा। किसी भी तरह के हालात को क़ाबू में रखने के लिए इस रफ़्तार को बरक़रार रखिए। कुछ ख़रीदने से पहले उन चीज़ों का इस्तेमाल करें, जो पहले से आपके पास हैं। बच्चों से मिली ख़ुशख़बरी दिन बना सकती है। आज आप अपने जीवन की परेशानियों को अपने संगी से साझा करना चाहेंगे लेकिन वो अपनी परेशानियों के बारें में बता के आपको और ज्यादा परेशान कर देंगे। व्यावसायिक साझीदार सहयोग करेंगे और आप साथ मिलकर टलते आ रहे कामों को पूरा कर सकते हैं। परोपकार और सामाजिक कार्य आज आपको आकर्षित करेंगे। अगर आप ऐसे अच्छे कामों में थोड़ा समय लगाएँ, तो काफ़ी सकारात्मक बदलाव ला सकते हैं। आपके वैवाहिक जीवन से सारा मज़ा खो सा गया मालूम होता है। अपने जीवनसाथी से बात करें और कुछ भ्रमणकारी योजना बनाएँ। वृश्चिक- (तो ना नी नू ने नो या यी यू) आज आप ख़ुद को सुकून में और ज़िंदगी का लुत्फ़ उठाने के लिए सही मनोदशा में पाएंगे। आज आप अपना धन धार्मिक कार्यों में लगा सकते हैं जिससे आपको मानसिक शांति मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यक्तिगत जीवन से थोड़ा समय निकालकर दान-पुण्य के कामों में कुछ समय लगाएँ। इससे आपको मानसिक शांति मिलेगी, लेकिन इसके लिए अपनी निजी ज़िंदगी को दरकिनार न करें। आपको दोनों पर ही बराबर ध्यान देने की ज़रूरत है। प्रेमी को आज आपकी कोई बात चुभ सकती है। वो आपसे रुठें इससे ही पहले ही अपनी गलती का अहसास कर लें और उन्हें मना लें। तब तक कोई वादा न करें, जब तक कि आप पूरी तरह उसे पूरा करने में सक्षम न हों। खाली समय में आज आप अपने मोबाइल पर कोई वेब सीरीज देख सकते हैं। वैवाहिक जीवन में सब कुछ अच्छा महसूस होगा। धनु- (ये यो भ भी भू धा फा ढ़ा भे) आज मित्रों या परिवार के सदस्यों के साथ मौज-मस्ती भरी यात्रा आपको सुकून देगी। जिन लोगों ने किसी अनजान शख्स की सलाह पर कहीं निवेश किया था आज उन्हें उस निवेश से फायदा होने की पूरी संभावना है। परिवार के सदस्यों के साथ कुछ आराम के पल बिताएँ। काफ़ी वक़्त फ़ोन न करके आप अपने प्रिय को तंग करेंगे। वरिष्ठ सहकर्मी और रिश्तेदार मदद का हाथ बढाएंगे। दिन को कैसे अच्छा बनाया जाए इसके लिए आपको अपने लिए भी समय निकालना सीखना होगा। हँसी-मजा़क के बीच आपके और आपके जीवनसाथी के बीच कोई पुराना मुद्दा उभर सकता है, जो फिर वाद-विवाद का रूप भी ले सकता है। मकर- (भो ज जी खी खू खे खो गा गी) आज आप धैर्य बनाए रखें, क्योंकि आपकी समझदारी और प्रयास आपको सफलता ज़रूर दिलाएंगे। व्यापारियों को आज व्यापार में घाटा हो सकता है और अपने व्यापार को बेहतर बनाने के लिए आपको पैसा खर्च करना पड़ सकता है। किसी धार्मिक स्थल या संबंधी के यहाँ जाने की संभावना है। आज प्यार की मदहोशी में हक़ीक़त और फ़साना मिलकर एक होते मालूम होंगे। इसे महसूस करें। तब तक कोई वादा न करें, जब तक कि आप पूरी तरह उसे पूरा करने में सक्षम न हों। जिंदगी में चल रही आपाधापी के बीच आज आपको अपने लिए पर्याप्त समय मिलेगा और और आप अपने पसंदीदा कामों को कर पाने में कामयाब हो पाएंगे। विवाह एक दैवीय आशीर्वाद है और आज आप इसका अनुभव कर सकते हैं। कुंभ- (गू गे गो सा सी सू से सो द) आज आपके परिवार को आपसे बहुत ज़्यादा उम्मीदें हैं, जिसके चलते आप खीज महसूस कर सकते हैं। आप ख़ुद को नए रोमांचक हालात में पाएंगे- जो आपको आर्थिक फ़ायदा पहुँचाएंगे। आपका मज़ाकिया स्वभाव सामाजिक मेल-जोल की जगहों पर आपकी लोकप्रियता में इज़ाफ़ा करेगा। सोशल मीडिआ पर अपने प्रिय के पिछले 2-3 संदेश देखिए, आपको एक ख़ूबसूरत ताज्जुब का एहसास होगा। जो काम आपने किया है, उसका श्रेय किसी और को न ले जाने दें। आप चाहें तो परेशानियों को मुस्कुराकर दरकिनार कर सकते हैं या उनमें फँसकर परेशान हो सकते हैं। चुनाव आपको करना है। छोटे-छोटे मामलों को लेकर हुए आपके आपसी झगड़े आज आपके वैवाहिक जीवन में कटुता को बढ़ा सकते हैं। इसलिए आपको चाहिए कि दूसरों के कहने और बहकावे में न आएं। मीन- (दी दू थ झ ञ दे दो च ची) आज अपने मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान दें, जो आध्यात्मिक जीवन के लिए आवश्यक है। मस्तिष्क जीवन का द्वार है, क्योंकि अच्छा-बुरा सब-कुछ इसी के माध्यम से आता है। यही ज़िंदगी की समस्याएँ दूर करने में सहायक सिद्ध होता है और सही सोच से इंसान को आलोकित करता है। आज किसी पार्टी में आपकी मुलाकात किसी ऐसे शख्स से हो सकती है जो आर्थिक पक्ष को मजबूत करने के लिए आपको अहम सलाह दे सकता है। शाम के समय अपने जीवनसाथी के साथ बाहर खाना या फ़िल्म देखना आपको सुकून देगा और ख़ुशमिज़ाज बनाए रखेगा। प्यार का बुख़ार आपके सर पर चढ़ने के लिए तैयार है। इसका अनुभव कीजिए। नए ग्राहकों से बात करने के लिए बेहतरीन दिन है। आज जितना हो सके लोगों से दूर रहें। लोगों को वक्त देने से बेहतर है अपने आपको वक्त दें। शादीशुदा ज़िन्दगी के नज़रिए से यह दिन शानदार रहेगा __________________________________ पं. रामपाल भट्ट श्री ज्योतिष सेवाश्रम भीलवाड़ा (राजस्थान) __________________________________

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 47 शेयर
b singh Jun 1, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 27 शेयर
Sunita Pawar Jun 1, 2020

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 01 जून 2020* ⛅ *दिन - सोमवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077 (गुजरात - 2076)* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - ग्रीष्म* ⛅ *मास - ज्येष्ठ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - दशमी शाम 02:57 तक तत्पश्चात एकादशी* ⛅ *नक्षत्र - हस्त 02 जून रात्रि 01:03 तक तत्पश्चात चित्रा* ⛅ *योग - सिद्धि दोपहर 01:18 तक तत्पश्चात व्यतिपात* ⛅ *राहुकाल - सुबह 07:25 से सुबह 09:05 तक* ⛅ *सूर्योदय - 05:57* ⛅ *सूर्यास्त - 19:14* *⛅वाराणसी काशी अनुसार* *⛅सूर्योदय-05:08* *⛅सूर्यास्त-18:43* ⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - गंगा दशहरा समाप्त* 💥 *विशेष - 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *एकादशी व्रत के लाभ* 🌷 ➡ *01 जून 2020 सोमवार को दोपहर 02:58 से 02 जून मंगलवार को दोपहर 12:04 तक एकादशी है ।* 💥 *विशेष - 02 जून मंगलवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें ।* 🙏🏻 *एकादशी व्रत के पुण्य के समान और कोई पुण्य नहीं है ।* 🙏🏻 *जो पुण्य सूर्यग्रहण में दान से होता है, उससे कई गुना अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।* 🙏🏻 *जो पुण्य गौ-दान सुवर्ण-दान, अश्वमेघ यज्ञ से होता है, उससे अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।* 🙏🏻 *एकादशी करनेवालों के पितर नीच योनि से मुक्त होते हैं और अपने परिवारवालों पर प्रसन्नता बरसाते हैं ।इसलिए यह व्रत करने वालों के घर में सुख-शांति बनी रहती है ।* 🙏🏻 *धन-धान्य, पुत्रादि की वृद्धि होती है ।* 🙏🏻 *कीर्ति बढ़ती है, श्रद्धा-भक्ति बढ़ती है, जिससे जीवन रसमय बनता है ।* 🙏🏻 *परमात्मा की प्रसन्नता प्राप्त होती है ।पूर्वकाल में राजा नहुष, अंबरीष, राजा गाधी आदि जिन्होंने भी एकादशी का व्रत किया, उन्हें इस पृथ्वी का समस्त ऐश्वर्य प्राप्त हुआ ।भगवान शिवजी ने नारद से कहा है : एकादशी का व्रत करने से मनुष्य के सात जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं, इसमे कोई संदेह नहीं है । एकादशी के दिन किये हुए व्रत, गौ-दान आदि का अनंत गुना पुण्य होता है ।* 🙏🏻 *प्रेरणामूर्ति भारती श्रीजी* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *एकादशी के दिन करने योग्य* 🌷 🙏🏻 *एकादशी को दिया जला के विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें .......विष्णु सहस्त्र नाम नहीं हो तो १० माला गुरुमंत्र का जप कर लें l अगर घर में झगडे होते हों, तो झगड़े शांत हों जायें ऐसा संकल्प करके विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें तो घर के झगड़े भी शांत होंगे l* 🙏🏻 *Sureshanandji* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *एकादशी के दिन ये सावधानी रहे* 🌷 🙏🏻 *महीने में १५-१५ दिन में एकादशी आती है एकादशी का व्रत पाप और रोगों को स्वाहा कर देता है लेकिन वृद्ध, बालक और बीमार व्यक्ति एकादशी न रख सके तभी भी उनको चावल का तो त्याग करना चाहिए एकादशी के जो दिन चावल खाता है... तो धार्मिक ग्रन्थ से एक- एक चावल एक- एक कीड़ा खाने का पाप लगता है...ऐसा डोंगरे जी महाराज के भागवत में डोंगरे जी महाराज ने कहा* 🙏🏻 *- पूज्य श्री* 🌞 *~ हिन्दू पंचाग ~* 🌞 🌷 *व्यतिपात योग* 🌷 🙏🏻 *व्यतिपात योग की ऐसी महिमा है कि उस समय जप पाठ प्राणायम, माला से जप या मानसिक जप करने से भगवान की और विशेष कर भगवान सूर्यनारायण की प्रसन्नता प्राप्त होती है जप करने वालों को, व्यतिपात योग में जो कुछ भी किया जाता है उसका १ लाख गुना फल मिलता है।* 🙏🏻 *वाराह पुराण में ये बात आती है व्यतिपात योग की।* 🙏🏻 *व्यतिपात योग माने क्या कि देवताओं के गुरु बृहस्पति की धर्मपत्नी तारा पर चन्द्र देव की गलत नजर थी जिसके कारण सूर्य देव अप्रसन्न हुऐ नाराज हुऐ, उन्होनें चन्द्रदेव को समझाया पर चन्द्रदेव ने उनकी बात को अनसुना कर दिया तो सूर्य देव को दुःख हुआ कि मैने इनको सही बात बताई फिर भी ध्यान नही दिया और सूर्यदेव को अपने गुरुदेव की याद आई कि कैसा गुरुदेव के लिये आदर प्रेम श्रद्धा होना चाहिये पर इसको इतना नही थोडा भूल रहा है ये, सूर्यदेव को गुरुदेव की याद आई और आँखों से आँसु बहे वो समय व्यतिपात योग कहलाता है। और उस समय किया हुआ जप, सुमिरन, पाठ, प्रायाणाम, गुरुदर्शन की खूब महिमा बताई है वाराह पुराण में।* 💥 *विशेष ~ व्यतिपात योग - 01 जून 2020 सोमवार को दोपहर 01:19 से 02 जून सुबह 09:53 तक व्यतीपात योग है।* 🙏🏻 *कथा स्रोत - (स्वामी सुरेशानन्द जी के सत्संग से)* 🌞 *~ हिन्दू पंचाग ~*j 🌞 🙏🍀🌻🌹🌸💐🍁🌷🌺🙏

+35 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 27 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB