मोहन
मोहन Aug 20, 2017

अक्षरधाम मंदिर दिल्ली

अक्षरधाम  मंदिर दिल्ली

पर्यटकों का आकर्षण बना है दिल्ली का आध्यात्मिक ‘अक्षरधाम मंदिर’

साल 2005 में बनकर तैयार हुआ दिल्ली का ‘अक्षरधाम टेम्पल’ पर्यटकों के मन में बस गया है। दिल्ली का यह भव्य और आलिशान मंदिर सिर्फ पांच साल में ही बनकर तैयार हुआ है। इतना बड़ा और भव्य होने के बाद भी सिर्फ पांच साल में बनकर तैयार होना अपने आप में ही ख़ास बात है। यह साल 2005 में तैयार हुआ था।

नई दिल्ली का शानदार अक्षरधाम मंदिर समूर्ण रूप से भगवान ‘श्री स्वामीनारायण’ को समर्पित करता है। इसके बारे में बहोत सारी बाते जानने लायक है।

* यह टेम्पल बहुत ही अद्भुत, सुंदर, आकर्षक और आर्किटेक्चर के शानदार उदाहरणों में से एक है। मंदिर 10,000 साल पुरानी भारतीय संस्कृति को बहुत सुंदर तरीके से प्रदर्शित करता है। यह बेजोड़ शिल्पकला और वास्तुकला का सर्वोत्तम उदहारण है।

* इसे देखने के लिए दिल्ली जानेवाले पर्यटकों में भारत से ज्यादा विदेशी पर्यटक इस आध्यात्मिक भूमि को देखें आते है।

* इसे मुख्य रूप से राजस्थानी ‘गुलाबी पत्थर’ से बनाया गया है।

* यहाँ ‘नीलकंठ वर्णी’ की मूर्ति का अभिषेक करने के लिए भारत की 151 पवित्र नदियों, झीलों और तालाबों के पानी का उपयोग किया जाता है। मंदिर का यह भव्य अभिषेक इसे बाकी मंदिरों से अलग बनाता है।

* यह हिन्दू मंदिर की सबसे खास बात यह है की इसे सात अजूबों में शामिल किया गया है।

* इस मंदिर का निर्माण BAPS यानि की ‘बोचासन वासी अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था’ ने किया है। मंदिर में 234 शानदार नक्काशीदार खंभे बने हुए है।

* दिल्ली के यमुना नदी के तट पर स्थित करीब सौ एकड़ में बने इस विशाल मंदिर का नाम 2007 में ‘गिनीज बुक ऑफ व‌र्ल्ड रिकॉ‌र्ड्स’ में दर्ज किया गया।

* इसमें देखने लायक भी बहोत कुछ है, जैसे की यहाँ का ‘लेजर वॉटर शो’ आपने नहीं देखा तो कुछ नहीं देखा। पानी में भी आग लगाता है अक्षरधाम लेजर वॉटर शो। 100% कंप्यूटराइज्ड है यह लेजर शो। इसके आलावा इधर देखने लायक म्यूजिक, फायर, लेजर, एनिमेशन, प्रोजेक्शन और हाईटेक टेक्नोलॉजी के कॉम्बिनेशन के प्रोग्राम्स देखते ही बनते है।

* मंदिर में स्वामीनारायण भगवान की मूर्ति लगी हुई है, जो संपूर्ण रूप से सोने से बनी हुई है। यक़ीनन इस मंदिर को देखकर आप मंत्रमुग्ध हो जायेंगे।

* यह मंदिर सोमवार के दिन बंद रहता है।

* इस मंदिर में हर साल लगभग 10 लाख पर्यटक दर्शन के लिए आते हैं। इस मंदिर में एक ‘हॉल ऑफ वेल्यू’ या ‘सहजनद प्रदर्शन’ भी है जो, एनिमेटेड रोबोटिक्स और का उपयोग कर स्वामीनारायण के जीवन से जुडी घटनाओं को दर्शाता है।

* मंदिर में जो शानदार म्यूजिकल फाउंटेन है इसे काफी रिसर्च के बाद बनाया गया है। टेक्निकल टीम द्वारा विश्व के 40 अलग अलग देशों में म्यूजिकल फाउंटेन का दौरा किया गया और उसके बाद फ्रांस के खास टेक्निशियन इयूपीपा को इस म्यूजिकल फाउंटेन को बनाने की जिम्मेदारी दी गई।

+89 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 78 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB