MayaBhai Solanki ने महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में यह पोस्ट की।

MayaBhai Solanki ने महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग में यह पोस्ट की।

+111 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 17 शेयर

कामेंट्स

Rajkumar Agarwal Mar 30, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
PRABHAT KUMAR Mar 30, 2020

🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️ *#जय_माता_दी* 🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 *#सभी_आदरणीय_साथियों_को_जय_माता_दी* 🙏 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 चैत्र नवरात्र के पावन दिनों में माँ दुर्गा के नौ रुपों में से षष्ठी के दिन देवी कात्यायनी माता की पूजा होती है। इस दिन कुंवारी कन्याओं के लिए माता की आराधना का विशेष महत्व है। एेसी मान्यता है कि देवी कत्यायनी माता की पूरे विधि-विधान से व्रत व पूजन करने से कुंवारी कन्याओं के विवाह में आने वाली बाधाएं दूर हो जाती है। माता का स्वरुप स्वर्ण के समान चमकीला और दिव्य है। माता का प्रिय वाहन सिंह है। इनकी कृपा से ही सारे कार्य पूरे हो जाते हैं। 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 शास्त्रों के अनुसार कात्य गोत्र में विश्वप्रसिद्ध महर्षि कात्यायन ने भगवती पराम्बा की उपासना की थी। कठिन तपस्या देख प्रसन्न माँ भगवती उनकी इच्छा अनुसार पुत्री के रूप में जन्म लिया। इसलिए ये देवी कात्यायनी कहलाई। माता दुर्गा के नौ रुपों में से यही वह रुप है जिसने देवी कात्यायनी माँ ने महिषासुर का वध किया था। इसलिए देवी कात्यायनी माँ को महिषासुरमर्दिनी के नाम से भी जाना जाता है। 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🕉️🕉️🕉️।। *#कौन_हैं_माँ_कात्यायनी* ।। 🕉️🕉️🕉️ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 मान्‍यता है कि महर्षि कात्‍यायन की तपस्‍या से प्रसन्‍न होकर आदिशक्ति ने उनकी पुत्री के रूप में जन्‍म लिया था। इसलिए उन्‍हें कात्‍यायनी कहा जाता है। माँ कात्‍यायनी को ब्रज की अधिष्‍ठात्री देवी माना जाता है। पौराणिक मान्‍यताओं के अनुसार गोपियों ने श्रीकृष्‍ण को पति रूप में पाने के लिए यमुना नदी के तट पर माँ कात्‍यायनी की ही पूजा की थी। कहते हैं क‍ि माँ कात्‍यायनी ने ही अत्‍याचारी राक्षस महिषाषुर का वध कर तीनों लोकों को उसके आतंक से मुक्त कराया था। 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🕉️🕉️🕉️ । *#माँ_कात्यायनी_का_रूप* । 🕉️🕉️🕉️ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 माँ कात्यायनी का स्वरूप अत्यंत चमकीला और भव्य है। इनकी चार भुजाएं हैं। माँ कात्यायनी के दाहिनी तरफ का ऊपर वाला हाथ अभय मुद्रा में और नीचे वाला वरमुद्रा में है। बाईं तरफ के ऊपरवाले हाथ में तलवार और नीचे वाले हाथ में कमल-पुष्प सुशोभित है। माँ कात्‍यायनी सिंह की सवारी करती हैं। 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 । *#माँ_कात्यायनी_का_मनपसंद_रंग_और_भोग* । 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 माँ कात्‍यायनी को पसंदीदा रंग लाल है। मान्‍यता है कि शहद का भोग पाकर वह बेहद प्रसन्‍न होती हैं नवरात्रि के छठे दिन पूजा करते वक्‍त माँ कात्‍यायनी को शहद का भोग लगाना शुभ माना जाता है। 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🕉️🕉️।। *#माँ_कात्यायनी_की_पूजा_विधि* ।।🕉️🕉️ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 *नवरात्रि के छठे दिन यानी कि षष्‍ठी को स्‍नान कर लाल या पीले रंग के वस्‍त्र पहनें।* *सबसे पहले घर के पूजा स्‍थान नया मंदिर में देवी कात्‍यायनी की प्रतिमा या चित्र स्‍थापित करें।* *अब गंगाजल से छिड़काव कर शुद्धिकरण करें।* *अब माँ की प्रतिमा के आगे दीपक रखें।* *अब हाथ में फूल लेकर माँ को प्रणाम कर उनका ध्‍यान करें।* *इसके बाद उन्‍हें पीले फूल, कच्‍ची हल्‍दी की गांठ और शहद अर्पित करें।* *धूप-दीपक से माँ की आरती उतारें।* *आरती के बाद सभी में प्रसाद वितरित कर स्‍वयं भी ग्रहण करें।* 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🕉️🕉️🕉️। *#माँ_कात्यायनी_ध्यान_मंत्र* । 🕉️🕉️🕉️ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 वन्दे वांछित मनोरथार्थ चन्द्रार्घकृत शेखराम्। सिंहरूढ़ा चतुर्भुजा कात्यायनी यशस्वनीम्॥ स्वर्णाआज्ञा चक्र स्थितां षष्टम दुर्गा त्रिनेत्राम्। वराभीत करां षगपदधरां कात्यायनसुतां भजामि॥ पटाम्बर परिधानां स्मेरमुखी नानालंकार भूषिताम्। मंजीर, हार, केयूर, किंकिणि रत्नकुण्डल मण्डिताम्॥ प्रसन्नवदना पञ्वाधरां कांतकपोला तुंग कुचाम्। कमनीयां लावण्यां त्रिवलीविभूषित निम्न नाभिम॥ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🕉️🕉️ ।।। *#माँ_कात्यायनी_स्तोत्र_पाठ* ।।। 🕉️🕉️ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 कंचनाभा वराभयं पद्मधरा मुकटोज्जवलां। स्मेरमुखीं शिवपत्नी कात्यायनेसुते नमोअस्तुते॥ पटाम्बर परिधानां नानालंकार भूषितां। सिंहस्थितां पदमहस्तां कात्यायनसुते नमोअस्तुते॥ परमांवदमयी देवि परब्रह्म परमात्मा। परमशक्ति, परमभक्ति,कात्यायनसुते नमोअस्तुते॥ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🕉️।। *#माँ_कात्यायनी_के_मंत्रों_का_जाप_करें*।। 🕉️ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 *#या_देवी_सर्वभूतेषु_शक्ति_रूपेण_संस्थिता।* *#नमस्तस्यै_नमस्तस्यै_नमस्तस्यै_नमो_नम:॥* *#ॐ_कात्यायिनी_देव्ये_नमः* *#कात्यायनी_महामाये_महायोगिन्यधीश्वरी।* *#नन्दगोपसुतं_देवी_पति_मे_कुरु_ते_नमः* *#चंद्र_हासोज्ज_वलकरा_शार्दूलवर_वाहना।* *#कात्यायनी_शुभंदद्या_देवी_दानव_घातिनि* 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 🕉️🕉️🕉️ *#माँ_कात्यायनी_की_आरती* 🕉️🕉️🕉️ 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 जय कात्यायनि मां, मैया जय कात्यायनि मां उपमा रहित भवानी, दूं किसकी उपमा ॥ मैया जय कात्यायनि, गिरजापति शिव का तप, असुर रम्भ कीन्हां वर-फल जन्म रम्भ गृह, महिषासुर लीन्हां ॥ मैया जय कात्यायनि, कर शशांक-शेखर तप, महिषासुर भारी शासन कियो सुरन पर, बन अत्याचारी ॥ मैया जय कात्यायनि, त्रिनयन ब्रह्म शचीपति, पहुंचे, अच्युत गृह महिषासुर बध हेतू, सुर कीन्हौं आग्रह ॥ मैया जय कात्यायनि, सुन पुकार देवन मुख, तेज हुआ मुखरित जन्म लियो कात्यायनि, सुर-नर-मुनि के हित ॥ मैया जय कात्यायनि, अश्विन कृष्ण-चौथ पर, प्रकटी भवभामिनि पूजे ऋषि कात्यायन, नाम का त्यायिनि ॥ मैया जय कात्यायनि, अश्विन शुक्ल-दशी को, महिषासुर मारा 🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁 *#नोट : उक्त जानकारी Google के माध्यम से प्राप्त किया गया है।* 📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰📰

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 2 शेयर

⛳🙏🙏🌺 जयमातादी 🌺🙏🙏⛳ 🙏⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳🙏 सभी भक्तो से निवेदन है कि करोना वायरस से डरने की जरूरत नही है । बल्कि सावधान रहने की जरूरत है ।ओर हमारे डाँक्टरो द्वारा बतायी गयी गाइडलाइन का मन से पालन करे । ओर भक्तो इसके साथ-साथ आप मानसिक रूप से अपने आप को मजबूत रखे । ओर माता शेरावाली से प्रार्थना करे ।ओर सच्चे दिल से इस महामारी से बचाने के लिए कहे।ओर इसके साथ ही अपने अन्दर के भय को दूर करे । ओर अपने को माता की भक्ति मे लगाये।आपका माता जरूर कल्याण करेगी । ओर आइए करते है माता का ध्यान इस भजन के माध्यम से । 🌺 🙏 जयमातादी ⛳ जयमातादी🌺🙏 जयमातादी 🌺🌺 🌺🌺 जयमातादी 🌷 जयमातादी जयमातादी 🌷 🌺🌺🌺 जयमातादी 🌷🌷🌷 🌺🙏🔔🔔🔔🌺🌺🐚🐚🐚🙏🌷⛳

+77 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 16 शेयर
Sanjay Singh Mar 30, 2020

+12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Renu Sharma Mar 30, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB