Sunil sahu
Sunil sahu Sep 26, 2017

Hinglaj Mataji second Mandir in world

Hinglaj Mataji second Mandir in world

Fruits Sindoor Water +237 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 25 शेयर

कामेंट्स

Tarun Mishra Sep 27, 2017
*नवदुर्गा: नौ रूपों में स्त्री जीवन का पूर्ण बिम्ब..👇* *एक स्त्री के पूरे जीवनचक्र का बिम्ब है नवदुर्गा केनौ स्वरूप।* 1. जन्म ग्रहण करती हुई कन्या *"शैलपुत्री"* स्वरूप है। 2. कौमार्य अवस्था तक *"ब्रह्मचारिणी"* का रूप है। 3. विवाह से पूर्व तक चंद्रमा के समान निर्मल होने से वह *"चंद्रघंटा"* समान है। 4. नए जीव को जन्म देने के लिए गर्भ धारण करने पर वह *"कूष्मांडा"* स्वरूप में है। 5. संतान को जन्म देने के बाद वही स्त्री *"स्कन्दमाता"* हो जाती है। 6. संयम व साधना को धारण करने वाली स्त्री *"कात्यायनी"* रूप है। 7. अपने संकल्प से पति की अकाल मृत्यु को भी जीत लेने से वह *"कालरात्रि"* जैसी है। 8. संसार (कुटुंब ही उसके लिए संसार है) का उपकार करने से *"महागौरी"* हो जाती है। 9. धरती को छोड़कर स्वर्ग प्रयाण करने से पहले संसार में अपनी संतान को सिद्धि(समस्त सुख-संपदा) का आशीर्वाद देने वाली *"सिद्धिदात्री"* हो जाती है। *माँ के नवरात्रि पर्व पर आपको सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएँ।।* *माता रानी आपकी सभी मनोकामना पूर्ण करें - जय माता की🙏* तरुण मिश्रा, korba Chhattisgarh

baba Oct 15, 2018

प्रिय मित्रों 🌼🌼🌼🌼🌼
शुभ प्रभात 🌻🌻🌻🌻🌻
जय मां कालरात्रि 💐💐💐💐💐
#baba72344

Water Pranam Belpatra +41 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 304 शेयर

Dhoop Pranam Jyot +26 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 194 शेयर

🙏👣🙏👣🙏👣🙏👣🙏👣🎶👣🎶👣🎶👣🎶👣🎶👣
💤🐾💤🐾💤🐾💤🐾💤🐾💞🐾💞🐾💞🐾💞🐾💞💞

Like Tulsi Pranam +103 प्रतिक्रिया 34 कॉमेंट्स • 115 शेयर
Anju Mishra Oct 15, 2018

भगवान शिव ने पार्वती से कहा है कि दुर्गा सप्तशती के संपूर्ण पाठ का जो फल है वह सिर्फ कुंजिकास्तोत्र के पाठ से प्राप्त हो जाता है। कुंजिकास्तोत्र का मंत्र सिद्ध किया हुआ इसलिए इसे सिद्ध करने की जरूरत नहीं है। जो साधक संकल्प लेकर इसके मंत्रों का जप ...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Water Fruits +114 प्रतिक्रिया 30 कॉमेंट्स • 169 शेयर
🍃Soniya 🍃 Oct 15, 2018

🌷 Jai Mata Di 🌷

Pranam Flower Jyot +17 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 25 शेयर
Anjana Gupta Oct 15, 2018

🌹🌹🙏🙏Matarani ki kripa aap sabi par hamesha bani rahe ji 🙏🙏🌹🌹🌸🌻🌸🌻🌸🌻🌸🌻🌸🌻🌸🌻🌸

Pranam Like Jyot +360 प्रतिक्रिया 132 कॉमेंट्स • 156 शेयर
Rajendra kumar soni Oct 15, 2018

माता के सातवाँ स्वरुप बहुत ही भयानक
माना जाता है पूरी सृष्टि मे।मां सबकी पीड़ा
हरने वाली,जन्तु व जल भय दूर करने वाली,तथा शत्रुओ का नाश करने वाली ह्र।:
काल की रात्रि की विनाशिका होने के कारण
इनका नाम काल रात्री पड़ा।
जय कालरात्री देवी की जय हो।...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Flower Sindoor +160 प्रतिक्रिया 64 कॉमेंट्स • 89 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB