Jai Mata Di
Jai Mata Di Apr 22, 2021

Jai Mata Di 🙏🙏🙏🙏 Om Namah Shivaya 🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀 Shubh Ratri 9899814594 🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

+60 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 9 शेयर

कामेंट्स

Renu Singh Apr 22, 2021
Shubh Ratri 🌺🙏 Radhe Radhe Bhai Ji Thakur ji ki kripa Aap aur Aàpke Pariwar pr Sadaiv Bni rhe Aàpka Har pal Mangalmay ho Bhai Ji 🙏🌺

Deepa Binu Apr 22, 2021
HARE KRISHNA 🙏 Good Night JI 🌹 Sweet Dreams 🌹

Bhagat ram Apr 22, 2021
🌹🌹 जय श्री कृष्णा राधे राधे जी🙏🙏🌺💐🌿🌹 शुभ रात्रि वंदन 🙏🙏🌺💐🌿🌹

Jai Mata Di May 8, 2021

+61 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 43 शेयर
Vinay Mishra May 9, 2021

+98 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 279 शेयर

+35 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 33 शेयर
Rekha Dewangan May 9, 2021

+9 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 32 शेयर

आप सभी को मातृत्व दिवस की शुभकामनाएं 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मेरा अंतर्मन मेरी लेखिनी✍️✍️ मां के साथ बिताए .................. वो अन्तिम पल ................... तुम्हें याद करके माँ छलकते थे आँसू जो मेरे वो अब मेरी हिम्मत बन गये हैं ........ ................. वो अन्तिम पल मुझे निहारती माँ की आंखें जैसे महसूस हो गया था उन्हें अब ये मुझसे उनकी आखरी मुलाकात है मै उनसे मिलकर लौट रही थी और उनकी नजरे तब तक मुझे तकती रही जब तक मै उन्हें नज़र आ रही थी.. ..................... वो अन्तिम क्षण जो माँ के संग बिताये मैंने बस उन्हें ही संजोये रखा है मैंने खजाने की तरह पास अपने जिन्हें याद कर डबडबा जाती हैं मेरी आंखें अक्सर.. ........................ मई के आते ही अजब सी चमक आ जाती थी मेरी आंखों में .................... बच्चों की छुट्टी और नानी से मिलने की तैयारी उन हर बातों को बताने की उत्सुकता जो बिन उनके मैं कर नहीं पाती थी और आज बङी निपुणता से करने लगी हूँ ......................... ऐसे ही तैयारी किये बैठी थी मै जब अचानक पता चला माँ की तबियत खराब है जाना दो दिन बाद था बुलावा एक दिन पहले का आ गया ......................... मैं रोई नहीं मुझे गुस्सा आया ये क्या मैं तो माँ के पास रहने जा रही थी और अब मुझे माँ को देखने बुलाया जा रहा है ............................. शायद माँ ने उस अवस्था में भी मेरी इच्छा को समझ लिया और मेरे जाते ही वो स्वस्थ हो कर अस्पताल से घर आ गई। ............................ मै जो कुछ दिनों के लिए गई थी पुरे महिना उनके साथ बिता कर आई और हमने ढेर सारी बातें की कुछ भूले बिसरे किस्से कुछ अनसुनी उनके जीवन से जुङी बातें मुझे बताई माँ ने और शायद उनके मन का बोझ अब कम हो गया था और उन्होंने मुझसे दूर जाने के लिए खुद को तैयार कर लिया था और अंतिम बार माँ ने मुझे बङे लाङ प्यार से विदा किया था । ................................. मिली जब फिर मुझे अर्ध चेतन अवस्था में वो मेरी आखिरी मुलाकात थी माँ से .. लव्ज नहीं निकल रहे थे मुंह से लेकिन आँखें सब कुछ बोल रहीं थीं उनकी बस निहारती रहीं मुझको जब तक मैं नज़र आती रही उनको जब तक मैं नज़र आती रही उनको वो अन्तिम पल मुझे निहारती माँ की आंखें... ====================😔

+160 प्रतिक्रिया 27 कॉमेंट्स • 110 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB