jai shri krishna
jai shri krishna Apr 14, 2019

*एक बार जरूर पढ़ें..* *1 मिनट लगेगा आपकी जिंदगी में बड़ा परिवर्तन न आ जाये तो कहना* *एक शख्स गाड़ी से उतरा.. और बड़ी तेज़ी से एयरपोर्ट में घुसा , जहाज़ उड़ने के लिए तैयार था , उसे किसी कांफ्रेंस मे पहुंचना था जो खास उसी के लिए आयोजित की जा रही थी..... *वह अपनी सीट पर बैठा और जहाज़ उड़ गया...अभी कुछ दूर ही जहाज़ उड़ा था कि....कैप्टन ने ऐलान किया , तूफानी बारिश और बिजली की वजह से जहाज़ का रेडियो सिस्टम ठीक से काम नहीं कर रहा....इसलिए हम क़रीबी एयरपोर्ट पर उतरने के लिए मजबूर हैं. *जहाज़ उतरा वह बाहर निकल कर कैप्टन से शिकायत करने लगा कि.....उसका एक-एक मिनट क़ीमती है और होने वाली कांफ्रेन्स में उसका पहुँचना बहुत ज़रूरी है....पास खड़े दूसरे मुसाफिर ने उसे पहचान लिया....और बोला डॉक्टर पटनायक आप जहां पहुंचना चाहते हैं.....टैक्सी द्वारा यहां से केवल तीन घंटे मे पहुंच सकते हैं.....उसने शुक्रिया अदा किया और टैक्सी लेकर निकल पड़ा... *लेकिन ये क्या आंधी , तूफान , बिजली , बारिश ने गाड़ी का चलना मुश्किल कर दिया , फिर भी ड्राइवर चलता रहा... *अचानक ड्राइवर को एह़सास हुआ कि वह रास्ता भटक चुका है... *ना उम्मीदी के उतार चढ़ाव के बीच उसे एक छोटा सा घर दिखा....इस तूफान में वहीं ग़नीमत समझ कर गाड़ी से नीचे उतरा और दरवाज़ा खटखटाया.... *आवाज़ आई....जो कोई भी है अंदर आ जाए..दरवाज़ा खुला है... *अंदर एक बुढ़िया आसन बिछाए दुर्गा सप्तशती की कथा पढ़ रही थी...उसने कहा ! मांजी अगर इजाज़त हो तो आपका फोन इस्तेमाल कर लूं... *बुढ़िया मुस्कुराई और बोली.....बेटा कौन सा फोन ?? यहां ना बिजली है ना फोन.. *लेकिन तुम बैठो..सामने चरणामृत है , पी लो....थकान दूर हो जायेगी..और खाने के लिए भी कुछ ना कुछ फल मिल जायेगा.....खा लो ! ताकि आगे सफर के लिए कुछ शक्ति आ जाये... *डाक्टर ने शुक्रिया अदा किया और चरणामृत पीने लगा....बुढ़िया अपने पाठ मे खोई थी कि उसके पास उसकी नज़र पड़ी....एक बच्चा कंबल मे लपेटा पड़ा था जिसे बुढ़िया थोड़ी थोड़ी देर मे हिला देती थी... *बुढ़िया फारिग़ हुई तो उसने कहा....मांजी ! आपके स्वभाव और एह़सान ने मुझ पर जादू कर दिया है....आप मेरे लिए भी प्रार्थना कर दीजिए....यह मौसम साफ हो जाये मुझे उम्मीद है आपकी प्रार्थना ज़रूर क़बूल होती होंगी... *बुढ़िया बोली....नही बेटा ऐसी कोई बात नही...तुम मेरे अतिथी हो और अतिथी की सेवा माता रानी का आदेश है....मैने तुम्हारे लिए भी प्रार्थना की है.... माता रानी का शुक्र है....उसने मेरी हर प्रार्थना सुनी है.. *बस एक प्रार्थना और मै उससे माँग रही हूँ शायद जब वह चाहेगी उसे भी क़बूल कर लेगी... *कौन सी प्रार्थना..?? डाक्टर बोला... *बुढ़िया बोली...ये जो 2 साल का बच्चा तुम्हारे सामने अधमरा पड़ा है , मेरा पोता है , ना इसकी मां ज़िंदा है ना ही बाप , इस बुढ़ापे में इसकी ज़िम्मेदारी मुझ पर है , डाक्टर कहते हैं...इसे कोई खतरनाक रोग है जिसका वो इलाज नहीं कर सकते , कहते हैं एक ही नामवर डाक्टर है , क्या नाम बताया था उसका ! *हां "डॉ पटनायक " ....वह इसका ऑप्रेशन कर सकता है , लेकिन मैं बुढ़िया कहां उस डॉ तक पहुंच सकती हूं ? लेकर जाऊं भी तो पता नही वह देखने पर राज़ी भी हो या नही ? बस अब माता रानी से ये ही माँग रही थी कि वह मेरी मुश्किल आसान कर दे..!! *डाक्टर की आंखों से आंसुओं का सैलाब बह रहा है....वह भर्राई हुई आवाज़ मे बोला ! *माई...आपकी प्रार्थना ने हवाई जहाज़ को नीचे उतार लिया , आसमान पर बिजलियां कौधवा दीं , मुझे रस्ता भुलवा दिया , ताकि मैं यहां तक खींचा चला आऊं ,हे हे मां जगदंबा! मुझे यकीन ही नहीं हो रहा....कि माता रानी एक प्रार्थना क़बूल करके अपने भक्तौं के लिए इस तरह भी मदद कर सकती है.....!!!! वह सर्वशक्तिमान है.... माता रानी के बंदो उससे लौ लगाकर तो देखो...जहां जाकर इंसान बेबस हो जाता है , वहां से उसकी परमकृपा शुरू होती है...।यह आप सबसे अधिक लोगो को भेजे ताकि मुझ जैसे लाखो लोगों की आँखे खुले..* 🙏🙏🙏प्रेम से बोलो माता रानी की जय हो🙏🙏🙏 🙏🙏एक बार फिर जय माता दी🙏🙏

*एक बार जरूर पढ़ें..*
*1 मिनट लगेगा आपकी जिंदगी में बड़ा परिवर्तन न आ जाये तो कहना*
*एक शख्स गाड़ी से उतरा.. और बड़ी तेज़ी से एयरपोर्ट में घुसा , जहाज़ उड़ने के लिए तैयार था , उसे किसी कांफ्रेंस मे पहुंचना था जो खास उसी के लिए आयोजित की जा रही थी.....
*वह अपनी सीट पर बैठा और जहाज़ उड़ गया...अभी कुछ दूर ही जहाज़ उड़ा था कि....कैप्टन ने ऐलान किया , तूफानी बारिश और बिजली की वजह से जहाज़ का रेडियो सिस्टम ठीक से काम नहीं कर रहा....इसलिए हम क़रीबी एयरपोर्ट पर उतरने के लिए मजबूर हैं.
*जहाज़ उतरा वह बाहर निकल कर कैप्टन से शिकायत करने लगा कि.....उसका एक-एक मिनट क़ीमती है और होने वाली कांफ्रेन्स में उसका पहुँचना बहुत ज़रूरी है....पास खड़े दूसरे मुसाफिर ने उसे पहचान लिया....और बोला डॉक्टर पटनायक आप जहां पहुंचना चाहते हैं.....टैक्सी द्वारा यहां से केवल तीन घंटे मे पहुंच सकते हैं.....उसने शुक्रिया अदा किया और टैक्सी लेकर निकल पड़ा...
*लेकिन ये क्या आंधी , तूफान , बिजली , बारिश ने गाड़ी का चलना मुश्किल कर दिया , फिर भी ड्राइवर चलता रहा...
*अचानक ड्राइवर को एह़सास हुआ कि वह रास्ता भटक चुका है...
*ना उम्मीदी के उतार चढ़ाव के बीच उसे एक छोटा सा घर दिखा....इस तूफान में वहीं ग़नीमत समझ कर गाड़ी से नीचे उतरा और दरवाज़ा खटखटाया....
*आवाज़ आई....जो कोई भी है अंदर आ जाए..दरवाज़ा खुला है...
*अंदर एक बुढ़िया आसन बिछाए दुर्गा सप्तशती की कथा पढ़ रही थी...उसने कहा ! मांजी अगर इजाज़त हो तो आपका फोन इस्तेमाल कर लूं...
*बुढ़िया मुस्कुराई और बोली.....बेटा कौन सा फोन ?? यहां ना बिजली है ना फोन..
*लेकिन तुम बैठो..सामने चरणामृत है , पी लो....थकान दूर हो जायेगी..और खाने के लिए भी कुछ ना कुछ फल मिल जायेगा.....खा लो ! ताकि आगे सफर के लिए कुछ शक्ति आ जाये...
*डाक्टर ने शुक्रिया अदा किया और चरणामृत पीने लगा....बुढ़िया अपने पाठ मे खोई थी कि उसके पास उसकी नज़र पड़ी....एक बच्चा कंबल मे लपेटा पड़ा था जिसे बुढ़िया थोड़ी थोड़ी देर मे हिला देती थी...
*बुढ़िया फारिग़ हुई तो उसने कहा....मांजी ! आपके स्वभाव और एह़सान ने मुझ पर जादू कर दिया है....आप मेरे लिए भी प्रार्थना कर दीजिए....यह मौसम साफ हो जाये मुझे उम्मीद है आपकी प्रार्थना ज़रूर क़बूल होती होंगी...
*बुढ़िया बोली....नही बेटा ऐसी कोई बात नही...तुम मेरे अतिथी हो और अतिथी की सेवा माता रानी का आदेश है....मैने तुम्हारे लिए भी प्रार्थना की है.... माता रानी का शुक्र है....उसने मेरी हर प्रार्थना सुनी है..
*बस एक प्रार्थना और मै उससे माँग रही हूँ शायद जब वह चाहेगी उसे भी क़बूल कर लेगी...
*कौन सी प्रार्थना..?? डाक्टर बोला...
*बुढ़िया बोली...ये जो 2 साल का बच्चा तुम्हारे सामने अधमरा पड़ा है , मेरा पोता है , ना इसकी मां ज़िंदा है ना ही बाप , इस बुढ़ापे में इसकी ज़िम्मेदारी मुझ पर है , डाक्टर कहते हैं...इसे कोई खतरनाक रोग है जिसका वो इलाज नहीं कर सकते , कहते हैं एक ही नामवर डाक्टर है , क्या नाम बताया था उसका !
*हां "डॉ पटनायक " ....वह इसका ऑप्रेशन कर सकता है , लेकिन मैं बुढ़िया कहां उस डॉ तक पहुंच सकती हूं ? लेकर जाऊं भी तो पता नही वह देखने पर राज़ी भी हो या नही ? बस अब माता रानी से ये ही माँग रही थी कि वह मेरी मुश्किल आसान कर दे..!!
*डाक्टर की आंखों से आंसुओं का सैलाब बह रहा है....वह भर्राई हुई आवाज़ मे बोला !
*माई...आपकी प्रार्थना ने हवाई जहाज़ को नीचे उतार लिया , आसमान पर बिजलियां कौधवा दीं , मुझे रस्ता भुलवा दिया , ताकि मैं यहां तक खींचा चला आऊं ,हे हे मां जगदंबा! मुझे यकीन ही नहीं हो रहा....कि माता रानी एक प्रार्थना क़बूल करके अपने भक्तौं के लिए इस तरह भी मदद कर सकती है.....!!!!
 वह सर्वशक्तिमान है.... माता रानी के बंदो उससे लौ लगाकर तो देखो...जहां जाकर इंसान बेबस हो जाता है , वहां से उसकी परमकृपा शुरू होती है...।यह आप सबसे अधिक लोगो को भेजे ताकि मुझ जैसे लाखो लोगों की आँखे खुले..*
🙏🙏🙏प्रेम से बोलो माता रानी की जय हो🙏🙏🙏

🙏🙏एक बार फिर जय माता दी🙏🙏

+90 प्रतिक्रिया 37 कॉमेंट्स • 69 शेयर

कामेंट्स

Naresh,Kumar, Hariyana Apr 15, 2019
जय श्री माता रानी की जय बहुत अछि पोस्ट की हैं जी फिर से जय माता दी

Lila Logani Apr 15, 2019
,🌼🌳🙏🌳🌼 Jai Mata Vaishno ji ki 🌼🌳🙏🌳🌼

Nand kishore Gehlot Apr 18, 2019
माता रानी का चमत्कार की कहानी जय श्री राधाकृष्णा आपने पढ़ा दी जय कन्हैया लाल की

Vibhor Mittal Apr 20, 2019

+11 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 22 शेयर

+14 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 55 शेयर

+20 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 11 शेयर
Durga Pawan Sharma Apr 20, 2019

+60 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 75 शेयर
Dinesh Varshney Apr 20, 2019

+12 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Radhe Radhe Rani Apr 20, 2019

+20 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 11 शेयर
Barkha Sinha Apr 20, 2019

+35 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 20 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB