Shanti Pathak
Shanti Pathak May 4, 2021

🌷🙏🌷जय श्री राम ,जय श्री हनुमानजी 🌷🙏🌷

+121 प्रतिक्रिया 17 कॉमेंट्स • 24 शेयर

कामेंट्स

Kailash Prasad May 4, 2021
🌞🐚☀🐾👏👏🐾☀🐚🌞 _*🔔०४🔔मई🔔 मंगलवार 🔔२०२१🔔*_ 🌱🌸🌱🌸🌱🌸🌱🌸🌱🌸 *परखता तो वक्त है*, *कभी हालात के रूप मे* , *कभी मजबूरीयों के रूप मे* !!! 🌺💞🌺💞🌺💞🌺💞🌺💞 *भाग्य तो बस आपकी* *काबिलियत देखता है !* 💓🌿💓🌿💓🌿💓🌿💓🌿 *जीवन में कभी किसी से,* *अपनी तुलना मत करों,* *आप जैसे है, सर्वश्रेष्ठ है!* 🍀💗🍀💗🍀💗🍀💗🍀💗 _*🌹🙏शुभ रात्रि🙏🌹*_ _*🐚🌷शुभ मंगलवार 🌷🐚*_ *🙋🙇 आज मंगलवार रात्रि की आप एवं आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं 🙇🙋* 🌴🌲🌸🌻🌺🌷🙏🙏🌷🌺🌻🌸🌲🌴

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 May 4, 2021
Good Night My Sweet Sister ji 🙏🙏 Jay Shree Ram 🙏🙏🌹🌹 Jay Veer Hanuman 🙏🙏🌹🌹 Jay Bhajanvali 🙏🙏🌹🌹 Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Pal Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌷💐💐💐💐🌷🌷🌷🌷🌹🌹.

Shivsanker Shukla May 4, 2021
शुभ रात्रि आदरणीय बहन जय श्री राम

Archana Singh May 4, 2021
🙏🌹जय श्री राधे कृष्णा🌹🙏 शुभ रात्रि वंदन बहना जी 🙏🌹 ठाकुर जी की कृपा दृष्टि आप से परिवार पर सदैव बनी रहे ,आपका हर पल शुभ व मंगलमय हो प्यारी बहना जी🙏🙏🌹🌹

sunil May 4, 2021
जय हो हनुमान जी की

sunil May 4, 2021
बहुत सुन्दर प्रस्तुति गुड नाईट जी

sanjay prajapati May 4, 2021
Jay shree ram jay shree hanuman ji Jay shree krishna Jay shree Radhe good night meri pyari bahena take care

Seema Sharma. Himachal (chd) May 4, 2021
हमें किसी भी ख़ास समय के लिए इन्तजार नहीं करना चाहिए बल्कि अपने हर समय को ख़ास बनाने की पूरी तरह से कोशिश करनी चाहिए।” शुभ रात्रि जी 😊🙏 बहुत बहुत धन्यवाद जी 😊🙏

Shanti Pathak May 4, 2021
@सुरेशजोशी3 🌷🙏जय श्री राधे कृष्णा जी🙏 शुभरात्रि वंदन जी🌷 कान्हा जी की असीम कृपा आप एवं आपके परिवार पर सदैव बनी रहे 🌷आनेवाली सुबह आपके जीवन में ढेरों खुशीयाँ लेकर आये 🙏🌷 बहुत बहुत धन्यवाद जी🙏🌷

GOVIND CHOUHAN May 4, 2021
Jai Shree Ram 🌷 Jai Siyaram 🌷 Jai Jai Jai Bajarang bali 🌷 Subh Ratri Vandan Pranaam Jiii Didi 👏👏👏👏👏

MOHAN PATIDAR May 4, 2021
jai shree ram bhakt hanuman ji ki kripa aap par hamesha barsti Rahe ji aap hamesha khuss v savsth muskrati Rahe ji good night s.ji ⚘🌷🌹🍹

Ashwinrchauhan May 4, 2021
जय श्री राम जय बजरंग बली शुभ मंगलवार राम भक्त हनुमान जी की कृपा आप पर आप के पुरे परिवार पर सदेव बनी रहे मेरी आदरणीय बहना जी आप का हर पल मंगल एवं शुभ रहे संकट मोचन हनुमान जी आप की हर मनोकामना पूरी करे आप का आने वाला दिन शुभ रहे गुड नाईट बहना जी

madan pal 🌷🙏🏼 May 4, 2021
जय श्री राम जी शूभ रात्रि वंदन जी पवन सुत हनुमान जी की कृपा आप व आपके परिवार पर बनीं रहे जी 👌🏼👌🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🌹🌹🌹🌷

K L Tiwari May 5, 2021
हे महावीर आपको शत शत प्रणाम,राम राम बहन, सादर चरण वन्दन मेरी रानी बहना🌹🌹🙏🙏🙏🌹🌹

SunitaSharma May 4, 2021

+254 प्रतिक्रिया 48 कॉमेंट्स • 427 शेयर
mahi verma May 4, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Satyawati May 5, 2021

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Arun Kumar Sharma May 4, 2021

https://youtu.be/L2RxbpWSzpc 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 *ये कथा रात को सोने से पहले घर मे सबको सुनायें* एक बार की बात है कि श्री कृष्ण और अर्जुन कहीं जा रहे थे। रास्ते में अर्जुन ने श्री कृष्ण से पूछा कि प्रभु – एक जिज्ञासा है मेरे मन में, अगर आज्ञा हो तो पूछूँ ? श्री कृष्ण ने कहा – तुम मुझसे बिना किसी हिचक, कुछ भी पूछ सकते हो। तब अर्जुन ने कहा कि मुझे आज तक यह बात समझ नहीं आई है कि दान तो मै भी बहुत करता हूँ परंतु सभी लोग कर्ण को ही सबसे बड़ा दानी क्यों कहते हैं ? यह प्रश्न सुन श्री कृष्ण मुस्कुराये और बोले कि आज मैं तुम्हारी यह जिज्ञासा अवश्य शांत करूंगा। श्री कृष्ण ने पास में ही स्थित दो पहाड़ियों को सोने का बना दिया। इसके बाद वह अर्जुन से बोले कि हे अर्जुन इन दोनों सोने की पहाड़ियों को तुम आस पास के गाँव वालों में बांट दो। अर्जुन प्रभु से आज्ञा ले कर तुरंत ही यह काम करने के लिए चल दिया। उसने सभी गाँव वालों को बुलाया। उनसे कहा कि वह लोग पंक्ति बना लें अब मैं आपको सोना बाटूंगा और सोना बांटना शुरू कर दिया। गाँव वालों ने अर्जुन की खूब जय जयकार करनी शुरू कर दी। अर्जुन पहाड़ी से सोना तोड़ते गए और गाँव वालों को देते गए। लगातार दो दिन और दो रातों तक अर्जुन सोना बांटते रहे। उनमे अब तक अहंकार आ चुका था। गाँव के लोग वापस आ कर दोबारा से लाईन में लगने लगे थे। अर्जुन काफी थक चुके थे। जिन सोने की पहाड़ियों से अर्जुन सोना तोड़ रहे थे, उन दोनों पहाड़ियों के आकार में जरा भी कमी नहीं आई थी। उन्होंने श्री कृष्ण जी से कहा कि अब मुझसे यह काम और न हो सकेगा। मुझे थोड़ा विश्राम चाहिए। प्रभु ने कहा कि ठीक है तुम अब विश्राम करो और उन्होंने कर्ण बुला लिया। उन्होंने कर्ण से कहा कि इन दोनों पहाड़ियों का सोना इन गांव वालों में बांट दो। कर्ण तुरंत सोना बांटने चल दिये। उन्होंने गाँव वालों को बुलाया और उनसे कहा – यह सोना आप लोगों का है , जिसको जितना सोना चाहिए वह यहां से ले जाये। ऐसा कह कर कर्ण वहां से चले गए। यह देख कर अर्जुन ने कहा कि ऐसा करने का विचार मेरे मन में क्यों नही आया? *श्री कृष्ण द्वारा अर्जुन को दी गई शिक्षा* इस पर श्री कृष्ण ने जवाब दिया कि तुम्हे सोने से मोह हो गया था। तुम खुद यह निर्णय कर रहे थे कि किस गाँव वाले की कितनी जरूरत है। उतना ही सोना तुम पहाड़ी में से खोद कर उन्हे दे रहे थे। तुम में दाता होने का भाव आ गया था। दूसरी तरफ कर्ण ने ऐसा नहीं किया। वह सारा सोना गाँव वालों को देकर वहां से चले गए। वह नहीं चाहते थे कि उनके सामने कोई उनकी जय जयकार करे या प्रशंसा करे। उनके पीठ पीछे भी लोग क्या कहते हैं उस से उनको कोई फर्क नहीं पड़ता। यह उस आदमी की निशानी है जिसे आत्मज्ञान हासिल हो चुका है। इस तरह श्री कृष्ण ने खूबसूरत तरीके से अर्जुन के प्रश्न का उत्तर दिया, अर्जुन को भी अब अपने प्रश्न का उत्तर मिल चुका था। *कथासार* *दान देने के बदले में धन्यवाद या बधाई की उम्मीद करना भी उपहार नहीं सौदा कहलाता है।* यदि हम किसी को कुछ दान या सहयोग करना चाहते हैं तो यह हमें बिना किसी स्वार्थ या उम्मीद के करना चाहिए, ताकि यह हमारा निस्वार्थ सत्कर्म हो, न कि हमारा अहंकार । *🚩जय श्रीराधे कृष्णा🚩* 🔥

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
anil kumar May 6, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB