RADHEY RADHEY KRISHNA KRISHNA. MY MOTTO OF LIFE.RADHEY RADHEY KRISHNA KRISHNA JEE SUBHRATRI VANDAN JEE PARNAAM 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

+123 प्रतिक्रिया 43 कॉमेंट्स • 41 शेयर

कामेंट्स

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@कृपाशंकर6 इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@पवनसैनी इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏 BRO. GOOD MORNING BRO. 🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@laxmirakesh इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@malkhansingh1 इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@brajeshsharma1 इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@sangeetalal इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@anjanagupta4 इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏SUPARBHAT VANDAN DIDI PARNAAM. 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@vanitakale इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏SUPARBHAT VANDAN DIDI PARNAAM 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@pannalalchouhanpanchal इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@अरुणकुमारसिंह5 इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 2, 2020
@pannalalchouhanpanchal इत्र की कीमत तो.. उसी दिन फर्श पर आ गिरी थी.. तेरी दोस्ती की खुशबू ने, जिस दिन महकाया था मुझे.🙏🙏🙏🙏🙏 श्री_कृष्ण और राधा राधा का नाम सुनते श्री कृष्ण बेचैन हो जाते हैं मित्र हो तो कृष्ण_राधा जैसे. जय_श्री_कृष्णा🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मित्रता दिवस की शुभकामनाएं🙏🙏🙏🙏🙏

RAJKUMAR RATHOD Aug 2, 2020
🌷शुभ रविवार जय सुर्यदेव 🌷 🙏🙏सुप्रभात वंदन 🙏🙏 आपका दिन शुभ हो..... 🌹🌹

Rk Soni(Ganesh Mandir) Aug 2, 2020
Happy sunday ji🌹 🙏radhe radhe ji.have you beautiful sunday ji.v.nice ji👌👌👌🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏🙏🙏

Rk Soni(Ganesh Mandir) Aug 2, 2020
Happy sunday ji🌹 🙏radhe radhe ji.have you beautiful sunday ji.v.nice ji👌👌👌🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏🙏🙏

Minakshi tiwari 💐 Aug 2, 2020
🙏🕉️सूर्य देव नमः 🕉️🙏 सुपृभात वंदना जी ईश्वर कितनी सुन्दरता से हमारे जीवन में एक और दिन की वृद्धि करते रहते हैं केवल इसलिए नहीं कि,आपको इसकी जरूरत है बल्कि इसलिए कि,किसी अन्य को भी आपकी जरूरत है। 🙏आपका दिन मंगलमय हो 🙏

🥀 Preeti jn🥀🙏 Aug 2, 2020
om Surya devaya namaha Surya dev ji ka Kirpa 🚩🌹 sada aap aur aap ke family pe bani rahe aap ka har pal Shubh aur mangalmay Ho shubh dopahar ji 🙏🌹🙏 aap sada khush rhiye swasth rahiye khushiyan sada bani rahe happy friendship day ji 🍫🍫🥧🥧🍧🍰🍰🍰🌹🙏🙏🙏🌷🌷🌹🤝🤝

Nandkishore Tomar🍒🍎 Aug 3, 2020
@laxmimoli रक्षा_बंधन एवं पवित्र_सावन_मास_के पंचम_एवं_अंतिम_सोमवार_की हार्दिक_शुभकामनाएं शुभ_सावन_सोमवार शुभ_रक्षा_बंधन 🌿ॐ गौरी शंकराय नमः🌿 ॐ राधा कृष्णाय नमः🙏🍒🍎🙏🍒🍎🙏🍒🍎🙏🍒🍎🙏

Vinod Agrawal Aug 9, 2020
🙏🌹जय श्री राधे कृष्णा 🌹🙏

sanjay Awasthi Aug 13, 2020

+312 प्रतिक्रिया 38 कॉमेंट्स • 44 शेयर
Shanti Pathak Aug 13, 2020

*🙏जय श्री कृष्ण 🙏* *✍️साझेदारी करो तो* *किसी के दर्द की करो* *क्योंकि खुशियों के तो* *दावेदार बहुत हैं !!* *सारी उम्र बस एक ही "सबक" याद रखना....* *"दोस्ती"और "दुआ"में बस नियत साफ़ रखना..!!* *🙏 शुभरात्रि 🙏* “देश से बाहर रहने वालों की व्यथा “! “एक विचारणीय प्रश्न ‘| *मैं   मकान    लेकर    कहीं    जाऊंगा    थोड़े    ही* कल  अपनी  पुरानी  सोसाइटी  में  गया  था ।  वहां  मैं  जब  भी  जाता  हूं  ,  मेरी  कोशिश  होती  है  कि  अधिक  से  अधिक  लोगों  से  मुलाकात  हो  जाए। कल  अपनी  पुरानी  सोसाइटी  में  पहुंच  कर  गार्ड  से  बात  कर  रहा  था  कि  और  क्या  हाल  है  आप  लोगों  का ,  तभी  मोटरसाइकिल पर  एक  आदमी  आया  और  उसने  झुक  कर  प्रणाम  किया । *“भैया, प्रणाम।”* मैंने  पहचानने  की  कोशिश  की ।  बहुत  पहचाना- पहचाना  लग  रहा  था ।  पर  नाम  याद  नहीं  आ  रहा  था ।  उसी  ने  कहा, *”भैया  पहचाने  नहीं ?  हम  बाबू   हैं  , बाबू  ।  उधर  वाली  आंटी  जी  के  घर  काम  करते  थे ।”* मैंने  पहचान  लिया ।  अरे  ये  तो  बाबू  है  ।  ‘सी ब्लॉक वाली आंटी जी  का  नौकर । *“अरे  बाबू  ,  तुम  तो  बहुत  तंदुरुस्त  हो  गए  हो ।  आंटी  कैसी  हैं ?”* बाबू  हंसा,– *“आंटी  तो  गईं ।”* *“ गईं ?  कहां  गईं ?  उनका  बेटा  विदेश  में  था ,  वहीं  चली  गईं  क्या  ?  ठीक  ही  किया   उन्होंने  ।  यहां  अकेले  रहने  का  क्या  मतलब  था?”* अब  बाबू  थोड़ा  गंभीर  हुआ ।  उसने  हंसना  रोक  कर  कहा , *“ भैया ,  आंटी जी  भगवान  जी  के  पास  चली  गईं ।”* *“  भगवान  जी  के  पास ?  ओह !  कब ?”* बाबू  ने  धीरे  से  कहा , *“दो  महीने  हो  गए।”* *“क्या  हुआ  था  आंटी  को?”* *“ कुछ  नहीं ।  बुढ़ापा  ही  बीमारी  थी ।  उनका  बेटा  भी  बहुत  दिनों  से  नहीं  आया  था  ।  उसे  याद  करती  थीं ।  पर  अपना  घर  छोड़  कर  वहां  नहीं  गईं ।  कहती  थीं  कि  यहां  से  चली  जाऊंगी  तो  कोई  मकान  पर  कब्जा  कर  लेगा ।  बहुत  मेहनत  से  ये  मकान  बना  है ।”* *“ हां , वो  तो  पता  ही  है ।  तुमने  खूब  सेवा  की ।  अब  तो  वो  चली  गईं ।  अब  तुम  क्या  करोगे ?”* अब  बाबू  फिर  हंसा, *” मैं  क्या  करुंगा  भैया  ?  पहले  अकेला  था ।  अब  गांव  से  फैमिली  को  ले  आया  हूं ।  दोनों  बच्चे  और  पत्नी  अब  यहीं  रहते  हैं ।”* *“ यहीं  मतलब  उसी  मकान  में ?”* *“ जी  भैया ।  आंटी  के  जाने  के  बाद  उनका  बेटा  आया  था ।  एक  हफ्ता  रुक  कर  चले  गए ।  मुझसे  कह  गए  हैं  कि  घर  देखते  रहना । चार  कमरे  का  इतना  बड़ा  फ्लैट  है ।  मैं  अकेला  कैसे  देखता ?  भैया  ने  कहा  कि  तुम  यहीं  रह  कर  घर  की  देखभाल  करते  रहो । वो  वहां से  पैसे  भी  भेजने  लगे  हैं ।  और  सबसे  बड़ी  बात  ये  है  कि  मेरे  बच्चों  को  यहीं  स्कूल  में  एडमिशन  मिल  गया  है ।  अब  आराम  से  हूँ  । कुछ-कुछ  काम  बाहर  भी  कर  लेता  हूं  ।  भैया  सारा  सामान  भी  छोड़  गए  हैं ।  कह  रहे  थे  कि  दूर  देश  ले  जाने  में  कोई  फायदा  नहीं ।”* मैं  हैरान  था ।  बाबू  पहले  साइकिल  से  चलता  था ।  आंटी  थीं  तो  उनकी  देखभाल  करता  था ।  पर  अब  जब  आंटी  चली  गईं  तो  वो  चार कमरे  के  मकान  में  आराम  से  रह  रहा  है ।  आंटी  अपने  बेटे  के  पास  नहीं  गईं  कि  कहीं  कोई  मकान  पर  कब्जा  न  कर  ले । बेटा  मकान  नौकर  को  दे  गया  है ,  ये  सोच  कर  कि  वो  रहेगा  तो  मकान  बचा  रहेगा । मुझे  पता  है ,  मकान  बहुत  मेहनत  से  बनते  हैं ।  पर  ऐसी  मेहनत  किस  काम  की ,  जिसके  आप  सिर्फ  पहरेदार  बन  कर  रह  जाएं ? मकान   के  लिए  आंटी  बेटे  के  पास  नहीं  गईं ।  मकान  के  लिए  बेटा  मां  को  पास  नहीं  बुला  पाया ।  सच  कहें  तो  हम  लोग  मकान  के  पहरेदार  ही  हैं । जिसने  मकान  बनाया  वो  अब  दुनिया  में  ही  नहीं  है ।  जो  हैं ,  उसके  बारे  में  तो  बाबू  भी  जानता  है  कि  वो  अब  यहां  कभी  नहीं  आएंगे । मैंने  बाबू  से  पूछा  कि , *”तुमने  भैया  को  बता  दिया  कि  तुम्हारी  फैमिली  भी  यहां  आ  गई  है ?”* *“इसमें  बताने  वाली  क्या  बात  है  भैया   ?  वो  अब  कौन  यहां  आने  वाले  हैं ?  और  मैं  अकेला  यहां  क्या  करता ?  जब  आएंगे  तो  देखेंगे पर जब मां थीं तो आए नहीं, उनके बाद क्या आना? मकान की चिंता है, तो वो मैं कहीं लेकर जा नहीं रहा। मैं तो देखभाल ही कर रहा हूं।”* बाबू  फिर  हंसा  | बाबू से मैंने हाथ मिलाया। मैं समझ रहा था कि बाबू अब नौकर नहीं रहा। वो मकान मालिक हो गया है। हंसते-हंसते मैंने बाबू से कहा, *“भाई, जिसने ये बात कही है कि*  _*मूर्ख आदमी मकान बनवाता है, बुद्धिमान आदमी उसमें रहता है,*_ *उसे ज़िंदगी का कितना गहरा तज़ुर्बा रहा होगा।”* बाबू ने धीरे से कहा, *“साहब, सब किस्मत की बात है।”* मैं वहां से चल पड़ा था ये सोचते हुए कि सचमुच सब किस्मत की ही बात है। लौटते हुए मेरे कानों में बाबू की हंसी गूंज रही थी… *“मैं मकान लेकर कहीं जाऊंगा थोड़े ही?मैं तो देखभाल ही कर रहा हूं।”* _मैं  सोच रहा था, मकान लेकर कौन जाता है? सब देखभाल ही तो करते हैं।_

+105 प्रतिक्रिया 19 कॉमेंट्स • 257 शेयर
Anju Sharma Aug 13, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Payal Gupta Aug 13, 2020

+6 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 29 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Anju Sharma Aug 13, 2020

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Anju Sharma Aug 13, 2020

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Anju Sharma Aug 13, 2020

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB