Gopalchandra porwal
Gopalchandra porwal Feb 22, 2021

🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🙏🙏🙏🕉🕉🕉💐💐💐💐💐💐💐🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉

+10 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 36 शेयर

कामेंट्स

Gopalchandra porwal Feb 22, 2021
जय श्री राधे कृष्ण शुभ रात्री जय श्री राधे कृष्ण जय राम सा राम सा 🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉🕉

Dolly Rawal Feb 26, 2021

0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Dolly Rawal Feb 26, 2021

0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Sunil Vohra Feb 25, 2021

+19 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 15 शेयर
sukhadev awari Feb 26, 2021

+40 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 1 शेयर

🌹•°🔥°•💐•°🍂°•🥀°•☘️°•🌹 🔔°•🔔•°🔔°•🔔•°🔔°•🔔•°🔔 ॐ ह्रीं श्रीं शुक्राय नमः सुप्रभातम् ॐ श्री गणेशाय नमः अथ् पंचांगम् दिनाँक 26-02-2021 शुक्रवार, अक्षांश- 30°:36", रेखांश 76°:80" अम्बाला शहर, हरियाणा, पिन कोड 134 007 ॐ मनिभ्द्राय रत्नशोभिताय ऐरावत वाहनाय मम गृहे व्यापारे रिद्धि वृद्धि सिद्धि कुरु कुरु स्वाहा महालक्ष्मी वंदना महालक्ष्मी नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं सुरेश्र्वरी । हरिप्रिये नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं दयानिधे ।। शुभम करोति कल्याणम, अरोग्यम धन संपदा, शत्रु-बुद्धि विनाशायः, दीपःज्योति नमोस्तुते ! ॐ हिमकुंद मृणालाभं दैत्यानां परम् गुरुम्र। सर्वशास्र प्रवक्तारं भार्गवं प्रणमाम्यहम्। 🍂🥀🌹🌾🌷🍁🌹🍂🥀 👏🏼👏🏼👏🏼👏🏼👏🏼👏🏼 ---------------समाप्तिकाल---------------- 📒 तिथि चतुर्दशी 15:51:46 ☄️ नक्षत्र आश्लेषा 12:35:51 🛑 करण : 🛑वणिज 15:51:46 🛑 विष्टि 26:53:58 🔓 पक्ष शुक्ल 🛑 योग अतिगंड 22:34:42 📍 वार शुक्रवार 🌄 सूर्योदय 06:53:05 🌃 चन्द्रोदय 17:19:59 🌙 चन्द्र 🦀 कर्क - 12:35:51 तक 🌌 सूर्यास्त 18:19:09 🔓 🌈 ऋतु वसंत 🛑 शक सम्वत 1942 शार्वरी 🛑 कलि सम्वत 5122 🛑 दिन काल 11:26:03 🛑 विक्रम सम्वत 2077 🛑 मास अमांत माघ 🛑 मास पूर्णिमांत माघ 📯 शुभ समय 🥁 अभिजित 12:13:15 - 12:59: 🛑 दुष्टमुहूर्त : 🛑 09:10:18 - 09:56:03 🛑 12:59:00 - 13:44:44 🕳️ कंटक 13:44:44 - 14:30:28 🕳️ यमघण्ट 16:47:41 - 17:33:25 👹 राहु काल 11:10:22 - 12:36:07 🕳️ कुलिक 09:10:18 - 09:56:03 🕳️ कालवेला 15:16:12 - 16:01:57 🕳️ यमगण्ड 15:27:38 - 16:53:24 🕳️ गुलिक 08:18:51 - 09:44:36 🛑 दिशा शूल पश्चिम 🚩🚩होरा 🛑शुक्र 06:53:05 - 07:50:16 🛑बुध 07:50:16 - 08:47:26 🛑चन्द्रमा 08:47:26 - 09:44:36 🛑शनि 09:44:36 - 10:41:47 🛑बृहस्पति 10:41:47 - 11:38:57 🛑मंगल 11:38:57 - 12:36:07 🛑सूर्य 12:36:07 - 13:33:18 🛑शुक्र 13:33:18 - 14:30:28 🛑बुध 14:30:28 - 15:27:38 🛑चन्द्रमा 15:27:38 - 16:24:49 🛑शनि 16:24:49 - 17:21:59 🛑बृहस्पति 17:21:59 - 18:19:09 🛑मंगल 18:19:09 - 19:21:54 🛑सूर्य 19:21:54 - 20:24:38 🛑शुक्र 20:24:38 - 21:27:23 🚩🚩 चोघडिया 🛑चल 06:53:05 - 08:18:51 ⛩️लाभ 08:18:51 - 09:44:36 ⛩️अमृत 09:44:36 - 11:10:22 👹काल 11:10:22 - 12:36:07 ⛩️शुभ 12:36:07 - 14:01:53 ☘️रोग 14:01:53 - 15:27:38 🕳️उद्वेग 15:27:38 - 16:53:24 🛑चल 16:53:24 - 18:19:09 ☘️रोग 18:19:09 - 19:53:16 🕳️काल 19:53:16 - 21:27:22 🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴 🍁 ग्रह गोचर 🍁 🌞 सूर्य - कुम्भ ⚱️ 🌙 चन्द्र कर्क 🦀12:35:51 तक 🥏 मंगल - वृष 🐂 🥏 बुध - मकर 🐊 🥏 बृहस्पति - मकर 🐊 🥏 शुक्र - कुम्भ ⚱️ 🥏 शनि मकर 🐊 🥏 राहु - वृष 🐂 🥏 केतु - वृश्चिक 🦞 --------------------------------------------- 🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴 व्रत त्यौहार 28 फरवरी तक 🔥🔥🔥 🛑 13 फरवरी चंद्र दर्शन मु.30, बाबा श्रीलाल दयाल जयंती (ध्यानपुर) 🛑14 फरवरी गुरु पूर्व में उदय 23:46 रज्जब मुस्लिम मास प्रारंभ, गौरी तृतीय गोंतरी व्रत , वक्री बुध पूर्व में उदय 🎇18:20 🛑 15 फरवरी भद्रा 14:49 से 27:38 तक, श्री गणेश तिल चतुर्थी के दिन श्री गणेश जी का व्रत पूजन गर्म वस्त्र फल गुड़ तिल के लड्डू आदि का भोग लगाकर प्रसाद बांटे तथा लाल वस्त्र धारण करके उत्तरा विमुख होकर "ॐ अंगारकाय भौमाय नमः" मंत्र का जाप शुभ होता है। वरद् कुंद चतुर्थी, मंगल कृतिका में 31:05, शुक्र धनिष्ठा में 18:30 🛑 16 फरवरी पंचक समाप्त 20:57, बसंत पंचमी- को पूर्वाह्न काल में भगवान श्री विष्णु सरस्वती, व श्रीकृष्ण- राधा, रति-कामदेव की पूजा, लाल पीले पुष्पों, गुलाल और अर्घ्य, नैवेद्य( भिगोकर छीली हुई हल्दी गुड़ शक्कर और घी )आदि द्वारा करके फिर पीले एवं मीठे चावलों एवं पीले हलुवा का भोग लगाने की परंपरा है। श्री पंचमी, सरस्वती पूजन, वागेश्वरी जयंती । 🛑 17 फरवरी गुरु बाल्ययत्व समाप्त 23:46 गंड मूल 23:49 तक 🛑 18 फरवरी गुरु श्रवण 4 में 13:13, सूर्य सायन मीन 🐋में 16 14 वसंत🌈 ऋतु प्रारंभ 🛑 19 फरवरी भद्रा 10:59 से 24:16 तक, रथ आरोग्य सप्तमी( पूर्व अरुणोदय वाली) को सूर्य भगवान को "ॐ घृणि सूर्याय नमः" मंत्र से तथा पुरुष सूक्त आदि से आह्वान आदि करके षोडशोपचार पूजन करने से स्वास्थ्य एवं आरोग्यता बनी रहती है ।यह व्रत सर्वारिष्ट निवारक है। पुत्र सप्तमी व्रत, अचला- भानु सप्तमी, सूर्य 🌞शतभिषा में 11:36, शनि श्रवण 2 में 29:51 🛑 20 फरवरी भीष्म अष्टमी, शुक्र ⚱️कुंभ में, 26:21, शक फाल्गुन प्रारंभ, बुध मार्गी 30:20 🛑20 फरवरी को भीष्म अष्टमी को भीष्मजी का श्राद्ध एवं तर्पण करने से मनोवांछित कामनाएं पूर्ण तथा पितृदोष आदि दूर होते हैं। 🛑21 फरवरी मंगल वृष 🐂 में 28:35, गुप्त नवरात्रे समाप्त। 🛑22 फरवरी भद्रा 29:42 से 🛑 23 फरवरी भद्रा 18:06 तक जया एकादशी व्रत- सब पापों को हरने वाली उत्तम तिथि है। पवित्र होने के साथ ही पापों का नाश करने वाली, भोग- मोक्ष प्रदान करती है। यह व्रत करने पर मनुष्यों को कभी प्रेत योनि में नहीं जाना पड़ता।यह तिथि ब्रह्म हत्या जैसे पाप तथा पिशाचत्त्व का भी विनाश करने वाली है। 🛑24 फरवरी प्रदोष व्रत भीष्म द्वादशी 🛑25 फरवरी मेला जैसलमेर राजस्थान प्रारंभ 3 दिन, गुरु पुष्य योग 13:17 तक 🛑26 फरवरी भद्रा 15:50 से 26:49 तक, शुक्र शतभिषा में 10:20, श्री सत्यनारायण व्रत 🛑27 फरवरी माघ पूर्णिमा- के दिन प्रातः स्नान आदि के बाद श्रीविष्णु जी का पूजन, पितरों का श्राद्ध,असमर्थों को भोजन वस्त्र और आश्रय दें। तिल कंबल गुड घी फल अनादि का दान करें। व्रत धारण कर ब्राह्मणों को भोजन करवाएं तथा कथा पढ़ें । इसी दिन माघ स्नान एवं माघ माह में पाठ की संपूर्ति होगी। माघ स्नान समाप्त, श्री गुरु रविदास जयंती, श्रीललिता जयंती, गण्ड मूल 11:18 तक 🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴 व्यापार मंदा तेजी 28 फरवरी तक 🍀🍀🍀 🛑 13 फरवरी को शनिवारी चंद्र दर्शन रूई श्वेत वस्त्र चांदी सोना सरसों मूंगफली अन्नादी में तेजी रहे। 🛑 14 फरवरी को बुध एवं गुरु दोनों पूर्व में 🎇उदय होंगे। दोनों इस समय मकर🐊 राशि में है। सोना चांदी मूंग चना हल्दी तेल ज्वार जो रुई कपास में 📈तेजी बनेगी। 🛑15 फरवरी को शुक्र धनिष्ठा नक्षत्र में आकर सूर्य 🎇के साथ एक नक्षत्र संबंध बनाएगा। चावल मूंग मोठ उड़द ज्वार बाजरा सोना चांदी रुई कपास में 📈तेजी बनेगी। 🛑16 फरवरी को मंगल कृतिका नक्षत्र में आने से गेहूं मूंग मोठ चावल राई मसूर तिल तेल सरसों की चांदी सूट वस्त्र में तेजी रुई में पहले 📈तेजी फिर मंदी 📉बने। 🛑19 फरवरी को सूर्य🎇 शतभिषा नक्षत्र में आने से सोना चांदी मोती मणि आदि जवाहरात मूंग मसूर गेहूं आदि अनाजों अलसी रुई में तेजी 📈बनेगी। 🛑20 फरवरी को शुक्र कुंभ ⚱️राशि में आकर सूर्य 🎇के साथ मेल करेगा। रूई चांदी गुड खांड गेहूं चना जो मूंग ज्वार बाजरा आदि में मंदी के जगह तेजी 📈का ही रुख रहेगा। 🛑21 फरवरी को बुध मार्गी होने से रुई चांदी में घटा बढ़ी के बाद तेजी 📈होगी। गेहूं चना अनाज में तेजी बने। रेशम तेल अलसी एंड गुड बिनोला मूंगफली कपूर चंदन नगर आदि सुगंधित वस्तुओं में 📉मंदी बनेगी। 🛑27 फरवरी को मंगल वृष 🐂 राशि में आकर राहु के साथ योग करेगा। यह योग भी जोरदार तेजी 📈का है। शीघ्र ही लाल चंदन लाल रंग की वस्तुएं सभी प्रकार के अनाज रुई कपास सूत कुसुंभ चंदन कपूर केसर तेल सोना चांदी तांबा जस्ता आदि धातु तथा शेयरों में अच्छी जोरदार 📉 तेजी का झटका लगेगा। परंतु मंगल राहु पर गुरु की दृष्टि👁️ होने से शेयरों में अचानक मंदी का झटका 📉भी लग सकता है। घटा बढ़ी के मध्य तेजी का यह रुख तारीख 25 तक 👣चलेगा। 🛑26 फरवरी को शुक्र शतभिषा नक्षत्र में आकर सूर्य🎇 के साथ एक नक्षत्र संबंध बनाएगा। फलतः गेहूं गुड़ खांड चावल की सरसों रुई सोना चांदी में 📈तेजी बनेगा । घटा बढ़ी के मध्य तेजी का यह रूख मासान्त तक चलेगा👣। 🛑सर्वार्थसिद्धि योग फरवरी -14 -16- 20- 22 -25- 28 🛑 अमृत सिद्धि योग 16- 20- 22-25 फरवरी 🛑 रवि योग 14- 16- 21- 25 फरवरी 🛑 त्रिपुष्कर योग 13- 23- 28 फरवरी 🛑 गुरु पुष्य योग 25 फरवरी 💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮 🐐मेष मानसिक शांति के लिए किए गए प्रयास सफल रहेंगे। कोर्ट-कचहरी के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। प्रसन्नता रहेगी। किसी धार्मिक यात्रा की योजना बनेगी। पूजा-पाठ में मन लगेगा। 🐂वृष वाहन व मशीनरी इत्यादि के प्रयोग में लापरवाही न करें। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। व्यापार ठीक चलेगा। 👫मिथुन कार्यक्षेत्र के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। बिगड़े काम बन सकते हैं। समाजसेवा करने का मन बनेगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। व्यस्तता रहेगी। आराम का समय नहीं मिलेगा। थकान रहेगी। 🦀कर्क व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। 🦁सिंह समाजसेवा करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। मान-सम्मान मिलेगा। खोई हुई वस्तु मिलने के योग हैं। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। शत्रु सक्रिय रहेंगे। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें। 👩🏻‍🦱कन्या शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कारोबार अच्‍छा चलेगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। प्रतिद्वंद्विता में वृद्धि होगी। किसी आनंदोत्सव में भाग ले सकते हैं। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। ⚖️तुला किसी तरह से बड़ा लाभ होने की संभावना है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। किसी तरह के विवाद में विजय प्राप्त होगी। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। नौकरी में नया कार्य मिल सकता है। 🦂वृश्चिक कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। थकान व कमजोरी रह सकती है। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। दूसरों से अधिक अपेक्षा न करें। बेवजह चिड़चिड़ापन रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। कार्य में मन नहीं लगेगा। 🏹धनु भावना में बहकर महत्वपूर्ण निर्णय न लें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। लाभ होगा। स्वास्थ्य के संबंध में लापरवाही न करें। स्वास्थ्‍य पर व्यय होगा। दु:खद समाचार मिल सकता है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। कुसंगति से हानि होगी। 🐊मकर मनपसंद व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य उत्साह व लगन से कर पाएगा। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त हो सकता है। धन प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। प्रमाद न करें। ⚱️कुंभ घर, दुकान, फैक्टरी व शोरूम इत्यादि के खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। कारोबार में बड़ा लाभ हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। रुके काम बनेंगे। घर-बाहर उत्साह व प्रसन्नता से काम कर पाएंगे। 🐬मीन प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति अनुकूल बनेगी। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में मातहत साथ देंगे। 🤝🏼🤝🏼🤝🏼 🤝🏼श्रीसिद्धिविनायक केंद्र🤝🏼 ☎️ 8708012404 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 49 शेयर
sukhadev awari Feb 25, 2021

+94 प्रतिक्रिया 19 कॉमेंट्स • 16 शेयर

. "क्षमा ने दुर्जन को सज्जन बनाया" दक्षिण के पैठण नगर में गोदावरी स्नान के मार्ग में ही एक सराय पड़ती थी। उस सराय में एक पठान रहता था। मार्ग में स्नान करके लौटते हिन्दुओं को वह बहुत तंग किया करता था।दूसरों को छेड़ने तथा सताने में ही उसे अपना बड़प्पन जान पड़ता था। श्रीएकनाथजी महाराज भी उसी मार्ग से गोदावरी स्नान को जाते थे।वह पठान उन्हें भी बहुत तंग करता था। दूसरे लोग तो बुरा-भला भी कुछ कहते थे ; किन्तु एकनाथ महाराज कभी कुछ बोलते ही नहीं थे। एक दिन जब एकनाथजी स्नान करके सराय के नीचे से जा रहे थे, तब उस पठान ने उनके ऊपर कुल्ला कर दिया। श्रीएकनाथजी फिर नदी-स्नान करने लौट गये ; किन्तु जब वे स्नान करके आने लगे, तब पठान ने फिर उनपर कुल्ला किया। इस प्रकार कभी-कभी चार-पाँच बार एकनाथजी को स्नान करना पड़ता था। 'यह काफिर गुस्सा क्यों नहीं करता ?' पठान एक दिन श्रीएकनाथजी के पीछे ही पड़ गया। वह बार-बार कुल्ला करता और एकनाथजी बार-बार गोदावरी स्नान करने लौटते गये। पूरे एक सौ आठ बार उसने कुल्ला किया और उतनी ही बार एकनाथजी ने स्नान किया। सन्त की क्षमा की अन्त में विजय हुई। पठान को अपने काम पर लज्जा आयी। वह एकनाथजी के पैरों में गिर पड़ा- 'आप खुदा के सच्चे बन्दे हैं। मुझे माफ कर दें। अब मैं कभी किसी को तंग नहीं करूँगा।' 'इसमें क्षमा करने की क्या बात है। आपकी कृपा से आज मुझे एक सौ आठ बार गोदावरी का पुण्य स्नान प्राप्त हुआ।' एकनाथजी ने उस पठान को आश्वासन दिया। - "कल्याण" वर्ष-९२, अंक-४ गीताप्रेस (गोरखपुर) ----------:::×:::---------- "जय जय श्री राधे" "कुमार रौनक कश्यप " *******************************************

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB