🌞~ आज का हिन्दू #पंचांग ~🌞 ⛅ दिनांक 18 अक्टूबर 2018

🌞~ आज का हिन्दू #पंचांग ~🌞                                   ⛅ दिनांक 18 अक्टूबर 2018

*🌞~ आज का हिन्दू #पंचांग ~🌞*
⛅ दिनांक 18 अक्टूबर 2018
⛅ दिन - गुरुवार
⛅ विक्रम संवत - 2075 (गुजरात. 2074)
⛅ शक संवत -1940
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - शरद
⛅ मास - अश्विन
⛅ पक्ष - शुक्ल
⛅ तिथि - नवमी दोपहर 03:28 तक तत्पश्चात दशमी
⛅ नक्षत्र - श्रवण रात्रि 12:34 तक तत्पश्चात धनिष्ठा
⛅ योग - धृति सुबह 09:48 तक तत्पश्चात शूल
⛅ राहुकाल - दोपहर 01:49 से शाम 03:16 तक
⛅ सूर्योदय - 06:36
⛅ सूर्यास्त - 18:11
⛅ दिशाशूल - दक्षिण दिशा में
*⛅ #व्रत पर्व विवरण* - महानवमी, शारदीय नवरात्र समाप्त, सरस्वती विसर्जन, विजयादशमी (पूरा दिन शुभ मुहूर्त), विजय मुहूर्त (दोपहर 02:20 से 03:07 तक), (संकल्प, शुभारंभ, नूतन कार्य, सीमोल्लंधन के लिए), दशहरा, गुरु-पूजन, अस्त्र-शस्त्र-शमी वृक्ष-आयुध-वाहन पूजन, वृद्ध जयंती
👉🏻https://goo.gl/EYNVVS

*💥 विशेष* - नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

*🌷 अंतिम दिन करें मां सिद्धिदात्री की उपासना*
🙏🏻 नवरात्रि के अंतिम दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। मां सिद्धिदात्री भक्तों को हर प्रकार की सिद्धि प्रदान करती हैं।
🙏🏻 अंतिम दिन भक्तों को पूजा के समय अपना सारा ध्यान निर्वाण चक्र जो कि हमारे कपाल के मध्य स्थित होता है, वहां लगाना चाहिए। ऐसा करने पर देवी की कृपा से इस चक्र से संबंधित शक्तियां स्वत: ही भक्त को प्राप्त हो जाती हैं। सिद्धिदात्री के आशीर्वाद के बाद श्रद्धालु के लिए कोई कार्य असंभव नहीं रह जाता और उसे सभी सुख-समृद्धि प्राप्त हो जाते हैं।
*➡ उपाय*- नवमी तिथि के दिन माता को विभिन्न प्रकार के अनाजों का भोग लगाएं व यथाशक्ति गरीबों में दान करें। इससे लोक-परलोक में आनंद व वैभव मिलता है।

*🌷 दशहरे के दिन 🌷*
➡ 18 अक्टूबर 2018 गुरुवार को दशहरा, विजयादशमी (पूरा दिन शुभ मुहूर्त), संकल्प, शुभारम्भ, नूतन कार्य, सीमोल्लंघन के लिए विजय मुहूर्त (दोपहर 2-20 से 3-07 तक), गुरु-पूजन, अस्त्र-शस्त्र-शमी वृक्ष-आयुध-वाहन पूजन
19 अक्टूबर : दशहरा
🙏🏻 दशहरा के दिन शाम को जब सूर्यास्त होने का समय और आकाश में तारे उदय होने का समय हो वो सर्व सिद्धिदायी विजय काल कहलाता है |
👉🏻 उस समय घूमने-फिरने मत जाना | दशहरा मैदान मत खोजना ... रावण जलाता हो देखकर क्या मिलेगा ? धूल उड़ती होगी, मिटटी उड़ती होगी रावण को जलाया उसका धुआं वातावरण मे होगा .... गंदा वो श्वास में लेना .... धूल, मिटटी श्वास में लेना पागलपन है |
ये दशहरे के दिन शाम को घर पे ही स्नान आदि करके, दिन के कपडे बदल के शाम को धुले हुए कपडे पहनकर ज्योत जलाकर बैठ जाये | थोडा
*🌷 " राम रामाय नम: । "*
🙏🏻 मंत्र जपते, विजयादशमी है ना तो रामजी का नाम और फिर मन-ही-मन गुरुदेव को प्रणाम करके गुरुदेव सर्व सिद्धिदायी विजयकाल चल रहा है की हम विजय के लिए ये मंत्र जपते है -
*🌷 "ॐ अपराजितायै नमः "*
➡ ये मंत्र १ - २ माला जप करना और इस काल में श्री हनुमानजी का सुमिरन करते हुए इस मंत्र की एक माला जप करें :-
*🌷 "पवन तनय बल पवन समाना, बुद्धि विवेक विज्ञान निधाना ।*
कवन सो काज कठिन जग माहि, जो नहीं होत तात तुम पाहि ॥"
🙏🏻 पवन तनय समाना की भी १ माला कर ले उस विजय काल में, फिर गुरुमंत्र की माला कर ले । फिर देखो अगले साल की दशहरा तक गृहस्थ में जीनेवाले को बहुत-बहुत अच्छे परिणाम देखने को मिल सकते है |
👉🏻https://goo.gl/EYNVVS

📖🌞🍀🌷🌻🌺🌸🌹🍁🙏

*💥 | माँ सिद्धिदात्री | 💥*
*माँ भगवती दुर्गा का नौवां स्वरुप* 🚩
👇🏻👇🏻👇🏻
https://www.vkjpandey.in/2018/10/maa-siddhidatri.html?m=0

*मित्रों, आज नवमी तिथि है और आज काशीफल अर्थात कोहड़ा एवं कद्दू खाना अथवा दान देना भी वर्जित अथवा त्याज्य होता है । नवमी तिथि एक उग्र एवं कष्टकारी तिथि मानी जाती है ।।*

इसकी अधिष्ठात्री देवी माता दुर्गा जी हैं । यह तिथि रिक्ता नाम से विख्यात मानी जाती है । अणिमा, महिमा, गरिमा, लघिमा, प्राप्ति, प्राकाम्य, ईशित्व और वशित्व ये आठ सिद्धियां हैं । जिनका उल्लेख भागवत पुराण में भी मिलता है ।।

*इसके अलावा मार्कंडेय पुराण एवं ब्रह्ववैवर्त पुराण में भी वर्णित है । जी हाँ आज शारदीय नवरात्रा की नवमी तिथि है और माता #सिद्धिदात्री का दिन है ।।*

यही माता सभी सिद्धियों की स्वामिनी हैं और इनकी पूजा से ही भक्तों को इन सिद्धियों की प्राप्ति सहज ही हो जाती है । माता दुर्गा की नवम शक्ति का ही नाम सिद्धिदात्री है और यही माता अपने उपासकों को सहज ही सम्पूर्ण सिद्धियों को देनेवाली हैं ।।

*सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली माता इन्हीं को माना गया है । उपरोक्त सिद्धियों के अलावा इन दोनों पुराणों में और भी अनेक प्रकार की सिद्धियों का वर्णन है मिलता है ।।*

ये सिद्धियाँ जिन्होंने भी इस संसार में पायी है, वो भगवान की तरह पूजे गये हैं इस देश में । परन्तु इस सिद्धियों की प्राप्ति हेतु लगभग इन्सान का सबकुछ खो गया है तब इन सिद्धियों की प्राप्ति हुई है ।।

*लेकिन कुछ लोगों को इन सिद्धियों से साक्षात्कार सहज ही हो गया है । जिन्हें सहज ही इन सिद्धियों की प्राप्ति हुई है वो माता दुर्गा के नवम रूप माता सिद्धिदात्री के उपासक रहे हैं ।।*

इन दिनों में आदिशक्ति की आराधना कर इन्हें प्रशन्न किया जाता है जिसके फलस्वरूप जीवन में नयी खुशिओं का संचार नकारात्मक भावों से छुटकारा मिलता है ।।
👉🏻https://goo.gl/EYNVVS

*देवी माता अपने भक्तों पर सहज ही रीझ जाती हैं और अपना अटूट प्यार, दुलार और स्नेह आशीर्वाद के रूप प्रदान करती हैं ।।*

जिसके फलस्वरूप भक्तों को अन्य किसी सहायता की आवश्यकता ही नहीं पडती और वह हर प्रकार से समर्थ और समृद्ध हो जाता है क्योंकि माँ की करुणा का कोई पार कोई अंत नहीं है ।।

*मां सिद्धिदात्री को आज नवमी तिथि पर विभिन्न प्रकार के अनाजों का भोग लगाना चाहिये । जैसे- हलवा, चने की सब्जी, पूरी, खीर और पुये-मालपूये का भोग लगाना चाहिये ।।*

उसके बाद उस भोग को गरीबों को दान कर देना चाहिये । इससे जीवन में हर प्रकार की सुख-शांति मिलती है । नवमी पर मां सिद्धिदात्री को आंवले का भी विशेष भोग लगाने का विधान है ।।

हे आज की तिथि (तिथि के स्वामी), आज के वार, आज के नक्षत्र (नक्षत्र के देवता और नक्षत्र के ग्रह स्वामी), आज के योग और आज के करण ।।
आप इस पंचांग को सुनने और पढ़ने वाले जातकों पर अपनी कृपा बनाए रखें ।।
इनको जीवन के समस्त क्षेत्रो में सदैव ही सर्वश्रेष्ठ सफलता प्राप्त हो । ऐसी मेरी आप सभी आज के अधिष्ठात्री देवों/देवियों से हार्दिक प्रार्थना है ।।

आज का पञ्चांग एवं इस प्रकार की जानकारियों को विस्तृत डिटेल में जानने के लिये इस लिंक को क्लिक करें,
👉🏻https://goo.gl/EYNVVS

*।।। नमो नारायण ।।।*

+17 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 126 शेयर

कामेंट्स

Ƥt Viƞŏđ Ƥāƞđēƴ 🚩 Oct 18, 2018
@ramnarayanbehl 💥 | माँ सिद्धिदात्री | 💥 माँ भगवती दुर्गा का नौवां स्वरुप 🚩 👇🏻👇🏻👇🏻 https://www.vkjpandey.in/2018/10/maa-siddhidatri.html?m=0

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB