Seema Sharad Varshney.
Seema Sharad Varshney. Aug 14, 2017

जन्माष्टमी के लिए कुछ फलाहार ब्यंजन

जन्माष्टमी के लिए कुछ फलाहार ब्यंजन

#कृष्णजन्माष्टमी

जन्माष्टमी के लिए कुछ फलाहार ब्यंजन

1-धनिया की पंजीरी

सुखा धनिया की पंजीरी कृष्ण जन्माष्टमी पर विशेष तौर पर फलाहार प्रसाद के रूप में बनाया व खाया जाता है।ये बहुत ही स्वादिष्ट और पौष्टिक होती है।

एक कप धनिया पावडर, एक कप चीनी पावडर,एक कप मखाना, आधा कप कद्दूकस किया हुआ नारियल,एक चौथाई कप देशी घी,
बादाम , काजू और किसमिस कटे हुए थोड़े से।

विधि

सबसे पहले मखाने को काटकर देशी घी में क्रिस्पी होने तक भून लें।
अब नारियल को हल्का सा बिना घी के भूनें और एक प्याली में निकाल लें।अब बादाम , काजू और किसमिस को भी बिना घी के हल्का सा भूनें और एक प्याली में निकाल लें।

अब एक कढ़ाई में देशी घी डाले और उसमें धनिया पावडर को मध्यम ऑच पर सुनहरा (golden brown)होने तक भूनें।

अब धनिया पावडर को एक प्लेट में निकालकर उसमें चीनी और मेवे मिला लें।

आप धनिया की पंजीरी में कोई भी मेवा अपनी पसंद के अनुसार डाल सकते है।

अब आपकी धनिया पंजीरी तैयार है।यह कृष्ण जन्माष्टमी पर मुख्य प्रसाद के रूप में बनाया जाता है।

2-सिंघाड़े के आटे का लड्डू

सामग्री

दो कप सिंघाड़े का आटा,एक कप देंशी घी, एक कप मखाना,दस बादाम,दस काजू,एक चौथाई कप चिरौंजी,आधा कप चीनी पावडर।

विधि

सबसे पहले मखाने को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें । अब मखाने को एक चम्मच देशी घी में क्रिस्पी होने तक भूनें ।बादाम व काजू को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर हल्का सा भूनें(बिना घी के)।

अब एक कढ़ाई में एक कप देशी घी डालें और इसमें सिंघाड़े का आटा डालकर मध्यम ऑच पर सुनहरा होने तक भूनें।

आटा सुनहरा हो जाने पर एक प्लेट में निकाल लें ।अब इसमें चीनी पावडर,मखाने,बादाम,काजू और चिरौंजी अच्छी तरह मिलाकर लड्डू की तरह गोल -गोल बॉंध लें।
अगर लड्डू बॉंधने में परेशानी हो तो आवश्यकतानुसार घी गर्म करके मिश्रण
में मिला लें।लड्डू आसानी से बँध जाएँगे ।

3-मेवा पाग

एक गोला सूखा नारियल,दो कप मखाना ,एक कप बादाम, दो कप चीनी,दो चम्मच देशी घी।

विधि

नारियल व बादाम को लंबे व पतले-पतले काटे और इसे हल्का सा एक मिनट तक भून ले।मखाने को भी छोटा-छोटा काटकर दो चम्मच देशी घी में क्रिस्पी होने तक भून लें।

अब एक कढ़ाई में आधा कप पानी व दो कप चीनी डालकर चाशनी बनाए।जब चाशनी गहरी होने लगे तो उसमें मेवे डालकर अच्छी तरह मिला ले।अब एक प्लेट में घी लगा ले ।अब मिश्रण को सूखने से पहले ही प्लेट में निकाल ले और पूरी प्लेट में फैला ले जब मिंश्रण सूख जाए तो उसे लंबे या चौकोर आकार में काट लें।

नोट
इस पाग का स्वाद बढिया रहे इसके लिए नारियल व बादाम के लंबे व पतले आकार में ही काटें।
इस पाग में किसमिस व चिरौंजी ना डालें इससे पाग का स्वाद कम हो जाता है।

अति आवश्यक
साबूदाना को फलाहार माना जाता है। अधिकांश लोग व्रत में इसका उपयोग करते है।परंतु इसे बनाने की जो प्रक्रिया है उसके बाद यह व्रत में खाने योग्य नहीं रहता। अत साबूदाना व्रत में नहीं खाना चाहिए।

सीमा शरद वार्ष्णेय

+226 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 184 शेयर

कामेंट्स

Seema Sharad Varshney. Aug 15, 2017
पलकें झुकें 😌, और नमन हो जाए🙏… मस्तक झुके,😔 और वंदन हो जाए🙏… ऐसी नज़र,👀 🇮🇳🇮🇳कंहाँ से लाऊँ, मेरे कन्हैया … कि ……आप को याद करूँ ,और आपके, दर्शन हो जाए…🇮🇳🇮🇳 🌹🌹जय श्री कृष्णा🌹🌹 सीमा शरद वार्ष्णेय

R.G.P.Bhardwaj Apr 6, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Apr 6, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Ravinder Shokeen Apr 6, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Apr 6, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Apr 6, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Apr 6, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Apr 6, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Apr 6, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Apr 6, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB