शुभ मंगलमय मंगलवार की सुबह का सभी स्नेही भाई-बहनों को राम राम 🙏🙏 🌷🌷🌷घर में कभी गरीबी नही आएगी रामायण की इन आठ चौपाइयों का नित्य पाठ करे🌷🌷🌷 जब तें रामु ब्याहि घर आए। नित नव मंगल मोद बधाए॥ भुवन चारिदस भूधर भारी। सुकृत मेघ बरषहिं सुख बारी॥ रिधि सिधि संपति नदीं सुहाई। उमगि अवध अंबुधि कहुँ आई॥ मनिगन पुर नर नारि सुजाती। सुचि अमोल सुंदर सब भाँती॥ कहि न जाइ कछु नगर बिभूती। जनु एतनिअ बिरंचि करतूती॥ सब बिधि सब पुर लोग सुखारी। रामचंद मुख चंदु निहारी॥ मुदित मातु सब सखीं सहेली। फलित बिलोकि मनोरथ बेली॥ राम रूपु गुन सीलु सुभाऊ। प्रमुदित होइ देखि सुनि राऊ॥ भावार्थ:-जब से श्री रामचन्द्रजी विवाह करके घर आए, तब से (अयोध्या में) नित्य नए मंगल हो रहे हैं और आनंद के बधावे बज रहे हैं। चौदहों लोक रूपी बड़े भारी पर्वतों पर पुण्य रूपी मेघ सुख रूपी जल बरसा रहे हैं॥ रिधि सिधि संपति नदीं सुहाई। उमगि अवध अंबुधि कहुँ आई॥ मनिगन पुर नर नारि सुजाती। सुचि अमोल सुंदर सब भाँती॥ भावार्थ:-ऋद्धि-सिद्धि और सम्पत्ति रूपी सुहावनी नदियाँ उमड़-उमड़कर अयोध्या रूपी समुद्र में आ मिलीं। नगर के स्त्री-पुरुष अच्छी जाति के मणियों के समूह हैं, जो सब प्रकार से पवित्र, अमूल्य और सुंदर हैं॥ कहि न जाइ कछु नगर बिभूती। जनु एतनिअ बिरंचि करतूती॥ सब बिधि सब पुर लोग सुखारी। रामचंद मुख चंदु निहारी॥ भावार्थ:-नगर का ऐश्वर्य कुछ कहा नहीं जाता। ऐसा जान पड़ता है, मानो ब्रह्माजी की कारीगरी बस इतनी ही है। सब नगर निवासी श्री रामचन्द्रजी के मुखचन्द्र को देखकर सब प्रकार से सुखी हैं॥ मुदित मातु सब सखीं सहेली। फलित बिलोकि मनोरथ बेली॥ राम रूपु गुन सीलु सुभाऊ। प्रमुदित होइ देखि सुनि राऊ॥ भावार्थ:-सब माताएँ और सखी-सहेलियाँ अपनी मनोरथ रूपी बेल को फली हुई देखकर आनंदित हैं। श्री रामचन्द्रजी के रूप, गुण, शील और स्वभाव को देख-सुनकर राजा दशरथजी बहुत ही आनंदित होते हैं॥

शुभ मंगलमय मंगलवार की सुबह का सभी स्नेही भाई-बहनों को राम राम 🙏🙏

🌷🌷🌷घर में कभी गरीबी नही आएगी रामायण की इन आठ चौपाइयों का नित्य पाठ करे🌷🌷🌷

          जब तें रामु ब्याहि घर आए।
           नित नव मंगल मोद बधाए॥

     भुवन चारिदस भूधर भारी।
         सुकृत मेघ बरषहिं सुख बारी॥

    रिधि सिधि संपति नदीं सुहाई।
         उमगि अवध अंबुधि कहुँ आई॥

     मनिगन पुर नर नारि सुजाती।
          सुचि अमोल सुंदर सब भाँती॥

      कहि न जाइ कछु नगर बिभूती।
             जनु एतनिअ बिरंचि करतूती॥

     सब बिधि सब पुर लोग सुखारी।
                रामचंद मुख चंदु निहारी॥

      मुदित मातु सब सखीं सहेली।
          फलित बिलोकि मनोरथ बेली॥

    राम रूपु गुन सीलु सुभाऊ।
           प्रमुदित होइ देखि सुनि राऊ॥

भावार्थ:-जब से श्री रामचन्द्रजी विवाह करके घर आए, तब से (अयोध्या में) नित्य नए मंगल हो रहे हैं और आनंद के बधावे बज रहे हैं। चौदहों लोक रूपी बड़े भारी पर्वतों पर पुण्य रूपी मेघ सुख रूपी जल बरसा रहे हैं॥
रिधि सिधि संपति नदीं सुहाई।
       उमगि अवध अंबुधि कहुँ आई॥

मनिगन पुर नर नारि सुजाती।
       सुचि अमोल सुंदर सब भाँती॥

भावार्थ:-ऋद्धि-सिद्धि और सम्पत्ति रूपी सुहावनी नदियाँ उमड़-उमड़कर अयोध्या रूपी समुद्र में आ मिलीं। नगर के स्त्री-पुरुष अच्छी जाति के मणियों के समूह हैं, जो सब प्रकार से पवित्र, अमूल्य और सुंदर हैं॥
कहि न जाइ कछु नगर बिभूती।
       जनु एतनिअ बिरंचि करतूती॥

सब बिधि सब पुर लोग सुखारी।
            रामचंद मुख चंदु निहारी॥

भावार्थ:-नगर का ऐश्वर्य कुछ कहा नहीं जाता। ऐसा जान पड़ता है, मानो ब्रह्माजी की कारीगरी बस इतनी ही है। सब नगर निवासी श्री रामचन्द्रजी के मुखचन्द्र को देखकर सब प्रकार से सुखी हैं॥
मुदित मातु सब सखीं सहेली।
     फलित बिलोकि मनोरथ बेली॥

राम रूपु गुन सीलु सुभाऊ।
      प्रमुदित होइ देखि सुनि राऊ॥

भावार्थ:-सब माताएँ और सखी-सहेलियाँ अपनी मनोरथ रूपी बेल को फली हुई देखकर आनंदित हैं। श्री रामचन्द्रजी के रूप, गुण, शील और स्वभाव को देख-सुनकर राजा दशरथजी बहुत ही आनंदित होते हैं॥

+302 प्रतिक्रिया 29 कॉमेंट्स • 186 शेयर

कामेंट्स

Kanaram Choudhary Dec 17, 2019
ॐ नमो हनुमते नमः जय बजरंगबली पवन पुत्र हनुमान की जय हो जय श्री राम जय जय राम

Raj Dec 17, 2019
🙏 जय श्रीराम 🙏

Dharma Saini Dec 17, 2019
🚩🥀🚩🥀🚩🥀🚩🥀🚩🥀🚩🌹🌹⛳🌷 🌷🙏🏻हे दुख भंजन मारुति नन्दन सुनलो मेरी पुकार पवन सुत विनिति बारम्बार🙏🏻🌷⛳🌹🌹🌷🌷🌹🌹 🙏🏻जय श्री राम जय जय श्री राम🙏🏻 🙏🏻🌷जय श्री हनुमान, पवन सुत हनुमान की जय🌷🙏🏻⛳🌹🌹🌷🌷🌹🌹🌷🌷🌹🌹🌷�,🌷�🌹 🚩🥀🚩🥀🚩🥀🚩🥀🚩🥀🚩🌷🌷⛳🌷

Kamlesh Dec 17, 2019
जय श्री राम जी ऊँ हं हनुमते नमः

Ansouya Ansouya Dec 17, 2019
जय श्री राम सुबह की राम राम भईय्या जी सीता मैया और राम जी की कृपा आप और आपके परिवार पर हमेशा बना रहे जी आप के घर मे सूख और शान्ति रहे 🙏

Brajesh Sharma Dec 17, 2019
जय जय श्री राम राम लक्षमन जानकी जय बोलो हनुमान की श्री पवनपुत्र हनुमानजी की जय सुप्रभात

Venkatesh (ವೆಂಕಟೇಶ್ ) Dec 17, 2019
🙏🙏🙏🌹🌹🌷jai sri radha krishna sri hanuman ki krupa aap aur aapki parivar sada bani rahe subha prabat aap din subha mangal aur kush rahe vandan brother ji 🌷🌺🌺

kashi nath prajapati Dec 17, 2019
जय श्री वीर हनुमान जी की जय हो बधाई हो बधाई हो बधाई हो बधाई हो बधाई हो कोटिसह बधाई हो भाई मंगलमय प्रभात की मंगलमय कामना भाई शुभ प्रभात वंदन भाई आपका दिन मंगलमय हो भाई

रमेश भाई ठक्कर Dec 17, 2019
जय श्री कृष्ण राधे-राधे ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः आपका हर पल शुभ एवं मंगलमय हो भाई जी सब कुछ मिला है हमको फिर भी सब्र नहीं है बरसों की सोचते हैं हम पल भर की किसी को खबर नहीं 🌹🙏🏼 सुप्रभात स्नेह वंदन🙏🏼🌹

Vijay Pandey Dec 17, 2019
जै सियाराम जी भाई ‌🌹🙏😎 शुभ प्रभात मंगलमय हो ‌🌹🙏😎

Mita Vadiwala Dec 17, 2019
Jai Shri Ram Jai Shri Bajrang Bali ji ⛳⛳Shubh Prabhat Vandan Bhai ji Aapka din shubh evam mangalmay rahe. Prabhu Shri Rambhakta Bajrang Bali ji ki krupa drashti aap aur aapke pariwar par sadaiv bani rahe 🌹🌹🙏🙏

Queen Dec 17, 2019
🌷🍁Jai Shree Ram hanumaan Bhai Ji aap or apki family pr Ram hanumaan Ji Di kripa Bna rhe always be Very happy Good Morning Bhai Ji 🍁🌷

प्रवीण चौहान Dec 17, 2019
🌷🌷 प्रभु श्री रामचन्द्र जी की कृपा भरी मंगलमय सुबह का आपको स्नेहिल वंदन जी 🌷🌷 ❤❤ आपका दिन शुभ एवं मंगलमय रहें ❤❤ ⚘⚘⚘ जय श्री राम ⚘⚘⚘ 💜💜💜 जय श्री हनुमान 💜💜💜

सुधा Dec 17, 2019
राधे राधे जी 🌹🙏🌹 शुभ संध्या वन्दन जी 🌹🙏🌹

+562 प्रतिक्रिया 81 कॉमेंट्स • 348 शेयर

+112 प्रतिक्रिया 18 कॉमेंट्स • 251 शेयर

+148 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 141 शेयर

+30 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Pt Vinod Pandey 🚩 Jan 26, 2020

🌞 *~ आज का हिन्दू #पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 27 जनवरी 2020* ⛅ *दिन - सोमवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2076* ⛅ *शक संवत - 1941* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - शिशिर* ⛅ *मास - माघ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - तृतीया पूर्ण रात्रि तक* ⛅ *नक्षत्र - शतभिषा पूर्ण रात्रि तक* ⛅ *योग - वरीयान् 28 जनवरी रात्रि 02:52 तक तत्पश्चात परिघ* ⛅ *राहुकाल - सुबह 08:34 से सुबह 09:56 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:18* ⛅ *सूर्यास्त - 18:24* ⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - तृतीया क्षय तिथि* 💥 *विशेष - तृतीया को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 🌷 *मंगलवारी चतुर्थी* 🌷 ➡ *28 जनवरी 2020 (सुबह 08:23 से 29 जनवरी सूर्योदय तक )* 🌷 *मंत्र जप व शुभ संकल्प की सिद्धि के लिए विशेष योग* 🙏🏻 *मंगलवारी चतुर्थी को किये गए जप-संकल्प, मौन व यज्ञ का फल अक्षय होता है ।* 👉🏻 *मंगलवार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना ... जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है...* 🌷 *मंगलवारी चतुर्थी* 🌷 🙏 *अंगार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना …जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…* 🌷 *> बिना नमक का भोजन करें* 🌷 *> मंगल देव का मानसिक आह्वान करो* 🌷 *> चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें* 💵 *कितना भी कर्ज़दार हो ..काम धंधे से बेरोजगार हो ..रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा |* 🌐 http://www.vkjpandey.in 🌷 *मंगलवार चतुर्थी* 🌷 👉 *भारतीय समय के अनुसार 28 जनवरी 2020 (सुबह 08:23 से 29 जनवरी सूर्योदय तक) चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें,शुभ संकल्प करें तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते हैं..* *👉🏻मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-* 🌷 *1) ॐ मंगलाय नमः* 🌷 *2) ॐ भूमि पुत्राय नमः* 🌷 *3 ) ॐ ऋण हर्त्रे नमः* 🌷 *4) ॐ धन प्रदाय नमः* 🌷 *5 ) ॐ स्थिर आसनाय नमः* 🌷 *6) ॐ महा कायाय नमः* 🌷 *7) ॐ सर्व कामार्थ साधकाय नमः* 🌷 *8) ॐ लोहिताय नमः* 🌷 *9) ॐ लोहिताक्षाय नमः* 🌷 *10) ॐ साम गानाम कृपा करे नमः* 🌷 *11) ॐ धरात्मजाय नमः* 🌷 *12) ॐ भुजाय नमः* 🌷 *13) ॐ भौमाय नमः* 🌷 *14) ॐ भुमिजाय नमः* 🌷 *15) ॐ भूमि नन्दनाय नमः* 🌷 *16) ॐ अंगारकाय नमः* 🌷 *17) ॐ यमाय नमः* 🌷 *18) ॐ सर्व रोग प्रहाराकाय नमः* 🌷 *19) ॐ वृष्टि कर्ते नमः* 🌷 *20) ॐ वृष्टि हराते नमः* 🌷 *21) ॐ सर्व कामा फल प्रदाय नमः* 🙏 *ये 21 मन्त्र से भगवान मंगल देव को नमन करें ..फिर धरती पर अर्घ्य देना चाहिए..अर्घ्य देते समय ये मन्त्र बोले :-* 🌷 *भूमि पुत्रो महा तेजा* 🌷 *कुमारो रक्त वस्त्रका* 🌷 *ग्रहणअर्घ्यं मया दत्तम* 🌷 *ऋणम शांतिम प्रयाक्ष्मे* 🙏 *हे भूमि पुत्र!..महा क्यातेजस्वी,रक्त वस्त्र धारण करने वाले देव मेरा अर्घ्य स्वीकार करो और मुझे ऋण से शांति प्राप्त कराओ..* 🌐 http://www.vkjpandey.in 🙏🏻🌹🌻☘🌷🌺🌸🌼💐🙏

+39 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 61 शेयर
Kalpana bist Jan 26, 2020

+82 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 14 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB