"विहंगम योग"

Audio - "विहंगम योग"

"विहंगम योग" द्वारा प्रस्तुत हैं "अनंत श्री सद्गुरु कबीर साहेब" का भेदिक भजन जिसका अर्थ बुद्धि, मन, वाणी, विचार से नहीं लगाया जा सकता बल्कि इसका भेद तो हमें "विहंगम योग" की साधना द्वारा सद्गुरु के विमल प्रकाश में हीं बोध हो सकता हैं। आध्यात्मिक जगत् का अद्वितीय महान् सद्ग्रंथ "स्वर्वेद" में "विहंगम योग" के प्रणेता "अनंत श्री बीस कला विभूषित सद्गुरु महर्षि सदाफलदेव जी महाराज" ने लिखा -
"बिना संत सद्गुरु मिले, बोध किसी को नाहिं।
नहीं हुआ नहीं होयगा, बोध संत संग माहिं।।"
🙏जय सद्गुरु देव🙏

+22 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 11 शेयर
आशुतोष Aug 9, 2020

कबीर के दोहे(वाणी) मैं कलि का कोतवाल हूॅ, लेहू शब्द हमार जो यह शब्दहि मानि है, सो उतरै भौपार। अर्थ : मैं इस कलियुग का रक्षक पहरेदार हूॅं। हमारे शब्दों पर ध्यान दों जो मेरे उपदेश को मानेगें वे निश्चित ही इस भव रुपी संसार सागर के पार उतर जायेंगे। 🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴 कबीर के दोहे(वाणी) सतयुग त्रेता द्वापरा, येह कलियुग अनुमान सार शब्द ऐक सच है, और झूठ सब ज्ञान। अर्थ : सतयुग,त्रेता द्वापर और इस कलियुग का एकमात्र अनुमान है कि प्रभु का ज्ञान ही एकमात्र सत्य है।अन्य सभी ज्ञान झूठ हैं। 🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀 कबीर के दोहे(काल) कबीर गाफील क्यों फिरय, क्या सोता घनघोर तेरे सिराने जाम खड़ा, ज्यों अंधियारे चोर। अर्थ : कबीर कहते है की ऐ मनुष्य तुम भ्रम में क्यों भटक रहे हो? तुम गहरी नीन्द में क्यों सो रहे हो? तुम्हारे सिरहाने में मौत खड़ा है जैसे अंधेरे में चोर छिपकर रहता है। ☘☘☘☘☘☘☘☘☘☘☘ कबीर के दोहे(अनुभव) निरजानी सो कहिये का, कहत कबीर लजाय अंधे आगे नाचते, कला अकारथ जाये। अर्थ : अज्ञानी नासमझ से क्या कहा जाये। कबीर को कहते लाज लग रही है। अंधे के सामने नाच दिखाने से उसकी कला भी व्यर्थ हो जाती है। अज्ञानी के समक्ष आत्मा परमात्मा की बात करना व्यर्थ है 🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴 कबीर के दोहे(काल) कबीर सब सुख राम है, और ही दुख की राशि सुा, नर, मुनि, जन,असुर, सुर, परे काल की फांसि। अर्थ : केवल प्रभु समस्त सुख देने वाले है। अन्य सभी दुखों के भंडार है। देवता, आदमी, साधु, राक्षस सभी मृत्यु के फांस में पड़े है। मृत्यु किसी को नहीं छोड़ता।राम ही सुखों के दाता है।

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
M.S.Chauhan Aug 8, 2020

+57 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 58 शेयर
Ravi Mishra Aug 8, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Nikhil Nair Aug 7, 2020

+29 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Anita sharma Aug 7, 2020

+30 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 4 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB