HEMANT JOSHI
HEMANT JOSHI Feb 24, 2021

ॐ श्री नमो नारायणा नमोस्तुते शुभ विष्णु प्रभात वंदन जी 💞🛕👣🚩🙏🔱🌿🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼🌼

+31 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 210 शेयर

कामेंट्स

NK Jha Feb 25, 2021
श्री विष्णु श्री हरी

Sanjay Patil Feb 25, 2021
💞🛕👣🚩ॐ नमो भगवते वासुदेवाय🙏🔱🌼*

जितेन्द्र दुबे Feb 25, 2021
🚩🌹🥀जय श्री मंगलमूर्ति गणेशाय नमः 🌺🌹💐🚩🌹🌺 शुभ प्रभात वंदन🌺🌹 राम राम जी 🌺🚩🌹मंदिर के सभी भाई बहनों को राम राम जी परब्रह्म परमात्मा आप सभी की मनोकामना पूर्ण करें 🙏 🚩🔱🚩प्रभु भक्तो को सादर प्रणाम 🙏 🚩🔱🚩 🕉️ नमो भगवते वासुदेवाय नमः हरि ऊँ तत्सत हरि ऊँ तत्सत परमब्रम्ह परमात्मने नमः श्रीमन नारायण नारायण नारायण श्रीमन नारायण नारायण नारायण 🚩 ऊँ उमामहेश्वराभ्यां नमः🌺 ऊँ राम रामाय नमः 🌻🌹ऊँ सीतारामचंद्राय नमः🌹 ॐ राम रामाय नमः🌹🌺🌹 ॐ हं हनुमते नमः 🌻ॐ हं हनुमते नमः🌹🥀🌻🌺🌹ॐ शं शनिश्चराय नमः 🚩🌹🚩ऊँ नमः शिवाय 🚩🌻 जय श्री राधे कृष्णा भगवान परब्रह्म परमात्मा श्री हरि विष्णु जी माता लक्ष्मी की कृपा दृष्टि आप सभी पर हमेशा बनी रहे आप का हर पल मंगलमय हो 🚩जय श्री राम 🚩🌺हर हर महादेव🚩राम राम जी 🥀शुभ प्रभात स्नेह वंदन💐🌹🌺 शुभ गुरुवार🌺 हर हर नर्मदे हर हर नर्मदे 🌺🙏🌹🙏🌷🙏🌺

HEMANT JOSHI Feb 25, 2021
@nkjha श्री विष्णु श्री हरि 🛕👣🚩🙏🔱🌿

HEMANT JOSHI Feb 25, 2021
@sanjaynpatil ॐ नमो भगवतै वासुदेवाय नमो नम:🛕👣🚩🙏🔱🌿

+18 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर

नारदपुराण इन भावों से की गई पूजा कभी सफल नहीं होती। नारदपुराण भगवान विष्णु को समर्पित ग्रंथ है। इसमें भगवान विष्णु की पूजा-आराधना करने की विधि और महत्व के बारे में बताया गया है। पुराण में 4 ऐसी भावनाएं बताई गई हैं, जिनसे भगवान की पूजा की जाए तो मनुष्य को उस पूजा का लाभ नहीं मिलता है। 1. लोभ से कहा जाता है कि भगवान की पूजा-अर्चना निःस्वार्थ भाव से करनी चाहिए। जो मनुष्य किसी भी लालच से या किसी स्वार्थ से भगवान की पूजा-अर्चना करता है, उसे उसका फल कभी नहीं मिलता। बिना किसी लालच के की गई पूजा शुभ फल देने वाली होती है। जो मनुष्य बिना किसी लालच से पूरे समर्पण और श्रद्धा के साथ भगवान की पूजा करता है, उसे बिना मांगे ही सभी सुख मिल मिल जाते हैं। 2. दूसरों के कहने पर कई लोग दूसरों के कहने पर या घर वालों के दबाव में आकर भगवान की पूजा करने लगते है। बिना मन से या दूसरों के कहने पर की गई पूजा निष्फल होती है। ऐसी पूजी का लाभ किसी भी मनुष्य को नहीं मिलता है। इसलिए मनुष्य को सच्चे मन और सच्चे भाव से भगवान की आराधना करनी चाहिए। 3. अज्ञान से भगवान की पूजा करने से पहले पूजन विधि का पूरा ज्ञान होना जरूरी है। मनुष्य को बिना ज्ञान के या अधूरे ज्ञान से भगवान की पूजा-अर्चना नहीं करनी चाहिए है। अगर भगवान की पूजा विधि का ज्ञान न होने पर गलत विधि से पूजा या हवन किया जाए तो इसके नकारात्मक प्रभाव भी देखने पड़ सकते हैं। इसलिए, कभी भी अधूरे ज्ञान या गलत विधि से पूजा नहीं करनी चाहिए। 4. भय से कई लोग किसी न किसी भय से भगवान पूजा-अर्चना करने हैं। ऐसे भाव से की गई पूजा का फल कभी नहीं मिलता है। मनुष्य को भगवान की पूजा शांत और पवित्र मन से करनी चाहिए। शांत मन से की गई पूजा हमेशा सफल होती है। ऐसे करने पर मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। ✍️💌✍️💌✍️💌✍️💌✍️💌✍️💌✍️💌✍️💌

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Archana Singh Apr 15, 2021

+280 प्रतिक्रिया 56 कॉमेंट्स • 270 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB