J.JHA
J.JHA Aug 11, 2019

*🇮🇳१५ अगस्त और 🇮🇳२६ जनवरी* के झंडे फहराने में 🇮🇳 दोनों 🇮🇳 का अलग अलग महत्व और अंतर है। कृपया पढ़े👇🏻👇🏻 1⃣ *पहला अंतर* 🇮🇳 १५ अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर *झंडे को नीचे से रस्सी द्वारा खींच कर ऊपर ले जाया जाता है, फिर खोल कर फहराया जाता है, जिसे 🇮🇳ध्वजारोहण* कहा जाता है क्योंकि यह १५ अगस्त १९४७ की ऐतिहासिक घटना को सम्मान देने हेतु किया जाता है जब प्रधानमंत्री जी ने ऐसा किया था। संविधान में इसे अंग्रेजी में *🇮🇳Flag Hoisting (ध्वजारोहण)*🇮🇳 कहा जाता है। जबकि 🇮🇳 २६ जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर *झंडा ऊपर ही बंधा रहता है, जिसे खोल कर फहराया जाता है,* संविधान में इसे *🇮🇳Flag Unfurling🇮🇳(झंडा फहराना)🇮🇳* कहा जाता है। --–---------------------------------- 2⃣ *दूसरा अंतर* 🇮🇳 १५ अगस्त के दिन *प्रधानमंत्री जो कि केंद्र सरकार के प्रमुख होते हैं वो ध्वजारोहण करते हैं,* 🇮🇳 क्योंकि स्वतंत्रता के दिन भारत का संविधान लागू नहीं हुआ था और राष्ट्रपति जो कि राष्ट्र के संवैधानिक प्रमुख होते है, उन्होंने पदभार ग्रहण नहीं किया था। 🇮🇳 इस दिन शाम को राष्ट्रपति अपना सन्देश राष्ट्र के नाम देते हैं। जबकि ⛳ २६ जनवरी जो कि देश में संविधान लागू होने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है, *🇮🇳इस दिन संवैधानिक प्रमुख राष्ट्रपति झंडा फहराते हैं*🇮🇳 -----------------------–-------------- 3⃣ *तीसरा अंतर* 🇮🇳 स्वतंत्रता दिवस के दिन *🇮🇳लाल किले* से ध्वजारोहण किया जाता है। जबकि ⛳ गणतंत्र दिवस के दिन 🇮🇳 *राजपथ* पर झंडा फहराया जाता है। 🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳 🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳 ..- ._.--. '-., .' _-' मेरा '-._ _.._ ._.-.' भारत ' -' .-' '._/| महान ''. ;'- '. / '. .' \ / ' '

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

कामेंट्स

J.JHA Aug 14, 2019
ॐ नमः शिवाय ॐ धन्यवाद जी, महादेव आपका कल्याण करें।

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB