जय श्री तिलभाण्डेश्वर महादेव

जय श्री तिलभाण्डेश्वर महादेव
जय श्री तिलभाण्डेश्वर महादेव

तिल तिल बढ़ता है काशी का यह शिवलिंग🙏

यू तो काशी को महादेव की नगरी कहीं ही जाती है लेकिन कुछ और भी ऐसा है इस काशी में जो इसे अनोखा बनाता है काशी के बंगाली टोला में एक ऐसा शिवलिंग है जो तिल तिल बढ़ता ह इन्हें तिलभांडेश्वर के नाम से जाना जाता है इस स्वयंभू शिवलिंग के बारे में लोगो का मानना है कि प्राचीन काल में इस क्षेत्र की भूमि पर तिल की खेती होती थी। एक दिन अचानक तिल के खेतों के मध्य से शिवलिंग उत्पन्न हो गया। जब इस शिवलिंग को स्थानीय लोगों ने देखा तो पूजा-अर्चन करने के बाद तिल चढ़ाने लगे। मान्यता है कि तभी से इन्हें तिलभाण्डेश्वर कहा जाता है। काशीखण्डोक्त इस शिवलिंग में स्वयं भगवान शिव विराजमान हैं।बताया जाता है कि अंगेजी शासन के दौरान एक बार ब्रिटिश अधिकारियों ने शिवलिंग के आकार में बढ़ोत्तरी को परखने के लिए उसके चारो ओर धागा बांध दिया जो अगले दिन टूटा मिला। कई जगह उल्लेख मिलता है कि माता शारदा इस स्थान पर कुछ समय के लिए रूकी थीं। तब से आस्था और गहरी हो गयी। समय बीतता गया और बाबा हर साल बढ़ते गए।
हर- हर महादेव🙏
#नमन

Flower Bell Fruits +228 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 52 शेयर

कामेंट्स

Ajnabi Dec 25, 2017
jay shree Radhe krishna

Jagdish bijarnia Oct 17, 2018

Pranam Flower Like +51 प्रतिक्रिया 20 कॉमेंट्स • 64 शेयर
Mandira Oct 17, 2018

#मंदिर

Jyot Bell Fruits +76 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 23 शेयर
aayush rampal Oct 18, 2018

0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Narender Kumar Rosa Oct 17, 2018

Like Flower Fruits +4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 18 शेयर
H.A. Patel Oct 17, 2018

Jay shri krishna Radhe Radhe Radhe

Bell Fruits Flower +17 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
anita sharma Oct 17, 2018

Tulsi Water Pranam +33 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 14 शेयर
anita sharma Oct 17, 2018

Pranam Like Bell +50 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Jagdish bijarnia Oct 17, 2018

Bell Like Pranam +7 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 20 शेयर
anita sharma Oct 17, 2018

Like Bell Flower +10 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB