prakash patel
prakash patel Jan 23, 2021

💎 जौ के फायदे.. https://www.facebook.com/groups/367351564605027/permalink/420769662596550/ प्राचीन काल से जौ का उपयोग होता चला आ रहा है। कहा जाता है कि प्राचीन काल में ऋषि-मुनियों का आहार मुख्यतः जौ थे। वेदों ने भी यज्ञ की आहुति के रूप में जौ को स्वीकार किया है। गुणवत्ता की दृष्टि से गेहूँ की अपेक्षा जौ हलका धान्य है। उत्तर प्रदेश में गर्मी की ऋतु में भूख-प्यास शांत करने के लिए सत्तू का उपयोग अधिक होता है। जौ को भूनकर, पीसकर, उसके आटे में थोड़ा सेंधा नमक और पानी मिलाकर सत्तू बनाया जाता है। कई लोग नमक की जगह गुड़ भी डालते हैं। सत्तू में घी और चीनी मिलाकर भी खाया जाता है। जौ का सत्तू ठंडा, अग्निप्रदीपक, हलका, कब्ज दूर करने वाला, कफ एवं पित्त को हरने वाला, रूक्षता और मल को दूर करने वाला है। गर्मी से तपे हुए एवं कसरत से थके हुए लोगों के लिए सत्तू पीना हितकर है। मधुमेह के रोगी को जौ का आटा अधिक अनुकूल रहता है। इसके सेवन से शरीर में शक्कर की मात्रा बढ़ती नहीं है। जिसकी चरबी बढ़ गयी हो वह अगर गेहूँ और चावल छोड़कर जौ की रोटी एवं बथुए की या मेथी की भाजी तथा साथ में छाछ का सेवन करे तो धीरे-धीरे चरबी की मात्रा कम हो जाती है। जौ मूत्रल (मूत्र लाने वाला पदार्थ) हैं अतः इन्हें खाने से मूत्र खुलकर आता है। जौ को कूटकर, ऊपर के मोटे छिलके निकालकर उसको चार गुने पानी में उबालकर तीन चार उफान आने के बाद उतार लो। एक घंटे तक ढककर रख दो। फिर पानी छानकर अलग करो। इसको बार्ली वाटर कहते हैं। बार्ली वाटर पीने से प्यास, उलटी, अतिसार, मूत्रकृच्छ, पेशाब का न आना या रुक-रुककर आना, मूत्रदाह, वृक्कशूल, मूत्राशयशूल आदि में लाभ होता है। औषधि-प्रयोगः धातुपुष्टिः एक सेर जौ का आटा, एक सेर ताजा घी और एक सेर मिश्री को कूटकर कलईयुक्त बर्तन में गर्म करके, उसमें 10-12 ग्राम काली मिर्च एवं 25 ग्राम इलायची के दानों का चूर्ण मिलाकर पूर्णिमा की रात्रि में छत पर ओस में रख दो। उसमें से हररोज सुबह 60-60 ग्राम लेकर खाने से धातुपुष्टि होती है। गर्भपातः जौ के आटे को एवं मिश्री को समान मात्रा में मिलाकर खाने से बार-बार होने वाला गर्भपात रुकता है। https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ayurvedik.paudhe.jadee_bootiyaan ====🌹=ॐ=🌹=== 💎 દરેક ગંભીર રોગોની તકલીફ માટે અલગ-અલગ એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ હોય છે. તમને જે ગંભીર રોગ છે તે રોગના એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ શરીર ઉપર કયા કયા આવેલા છે? આ એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ કઈ દિશામાં દબાણ આપીને કેટલી સેકન્ડ-મિનિટ લેવા જોઈએ? તેની એક્યુપ્રેશર ટ્રીટમેન્ટ ની વિસ્તારથી સમજૂતી આપવામાં આવશે જેથી તમે એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ ટ્રીટમેન્ટ જાતે લઈ ને સ્વસ્થ બની શકો. એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ ટ્રીટમેન્ટ ની માહિતી માટે સંપર્ક કરો 👉 🏥 AUM HEALTH CARE 🏥 (Acupressure Clinic) 📞👉આ નંબર ઉપર જ ફોન કરવો +91 9974592157 👉 આ નંબર ઉપર ફક્ત મેસેજ કરવા +91 7016609049 🏥 ऐक्युप्रेशर थेरापी स्वस्थ & स्लीम बनने में बेहद कारगर हैं.. एवम् पूरी तरह से रोग नियंत्रित किया जा सकता है। ✅ No Medicine ✅No Surgery ✅ No Strict Diet ✅ No Hard Exercise 🏥 Aum Health Care में ट्रीटमेंट लेते हर दर्दी अपने फोर्म मे सहीके साथ नोंध करते है। आप चाहे तो रेकोर्ड चेक कर शकते हो। 🌞 हर गंभीर बिमारी ऐक्युप्रेशर थेरापीसे मिटाये। 🏥 स्वस्थ & स्लीम होने की दुनियामें आपका स्वागत है। 🏥 👉 તમારો એક મેસેજ તમને રોગ મુક્ત બનાવી શકે છે.. .. 🏥 નજીવા મુલ્યે, મૂલ્યવાન માહિતી, જે તમને અપાવશે રોગો માંથી મુક્તિ.! 🌸 Face Book group 🌸 🏥 એક્યુપ્રેશર અને ઘરેલુ ઉપચાર.. https://www.facebook.com/groups/367351564605027/ 🌸 Face Book Page 🌸 એક્યુપ્રેશર પ્લેનેટ https://www.facebook.com/એક્યુપ્રેશર-પ્લેનેટ-101139925132263/ 🌸 you tube 🌸 https://youtu.be/kHGftI3VsTE ====🌹=ॐ=🌹===

💎 जौ के फायदे.. 

https://www.facebook.com/groups/367351564605027/permalink/420769662596550/

प्राचीन काल से जौ का उपयोग होता चला आ रहा है। कहा जाता है कि प्राचीन काल में ऋषि-मुनियों का आहार मुख्यतः जौ थे। वेदों ने भी यज्ञ की आहुति के रूप में जौ को स्वीकार किया है। गुणवत्ता की दृष्टि से गेहूँ की अपेक्षा जौ हलका धान्य है। उत्तर प्रदेश में गर्मी की ऋतु में भूख-प्यास शांत करने के लिए सत्तू का उपयोग अधिक होता है। जौ को भूनकर, पीसकर, उसके आटे में थोड़ा सेंधा नमक और पानी मिलाकर सत्तू बनाया जाता है। कई लोग नमक की जगह गुड़ भी डालते हैं। सत्तू में घी और चीनी मिलाकर भी खाया जाता है।



जौ का सत्तू ठंडा, अग्निप्रदीपक, हलका, कब्ज दूर करने वाला, कफ एवं पित्त को हरने वाला, रूक्षता और मल को दूर करने वाला है। गर्मी से तपे हुए एवं कसरत से थके हुए लोगों के लिए सत्तू पीना हितकर है। मधुमेह के रोगी को जौ का आटा अधिक अनुकूल रहता है। इसके सेवन से शरीर में शक्कर की मात्रा बढ़ती नहीं है। जिसकी चरबी बढ़ गयी हो वह अगर गेहूँ और चावल छोड़कर जौ की रोटी एवं बथुए की या मेथी की भाजी तथा साथ में छाछ का सेवन करे तो धीरे-धीरे चरबी की मात्रा कम हो जाती है। जौ मूत्रल (मूत्र लाने वाला पदार्थ) हैं अतः इन्हें खाने से मूत्र खुलकर आता है।
जौ को कूटकर, ऊपर के मोटे छिलके निकालकर उसको चार गुने पानी में उबालकर तीन चार उफान आने के बाद उतार लो। एक घंटे तक ढककर रख दो। फिर पानी छानकर अलग करो। इसको बार्ली वाटर कहते हैं। बार्ली वाटर पीने से प्यास, उलटी, अतिसार, मूत्रकृच्छ, पेशाब का न आना या रुक-रुककर आना, मूत्रदाह, वृक्कशूल, मूत्राशयशूल आदि में लाभ होता है।

औषधि-प्रयोगः

धातुपुष्टिः एक सेर जौ का आटा, एक सेर ताजा घी और एक सेर मिश्री को कूटकर कलईयुक्त बर्तन में गर्म करके, उसमें 10-12 ग्राम काली मिर्च एवं 25 ग्राम इलायची के दानों का चूर्ण मिलाकर पूर्णिमा की रात्रि में छत पर ओस में रख दो। उसमें से हररोज सुबह 60-60 ग्राम लेकर खाने से धातुपुष्टि होती है।
गर्भपातः जौ के आटे को एवं मिश्री को समान मात्रा में मिलाकर खाने से बार-बार होने वाला गर्भपात रुकता है।
 https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ayurvedik.paudhe.jadee_bootiyaan

====🌹=ॐ=🌹===
💎  દરેક ગંભીર રોગોની તકલીફ માટે અલગ-અલગ એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ હોય છે.  તમને જે ગંભીર રોગ છે  તે રોગના એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ શરીર ઉપર કયા કયા આવેલા છે? આ એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ કઈ દિશામાં દબાણ આપીને કેટલી સેકન્ડ-મિનિટ લેવા જોઈએ? તેની  એક્યુપ્રેશર ટ્રીટમેન્ટ ની વિસ્તારથી સમજૂતી આપવામાં આવશે જેથી તમે એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ ટ્રીટમેન્ટ જાતે લઈ ને  સ્વસ્થ બની શકો. એક્યુપ્રેશર પોઈન્ટ ટ્રીટમેન્ટ  ની માહિતી માટે  સંપર્ક કરો 👉

🏥 AUM HEALTH CARE  🏥  (Acupressure Clinic) 
 
📞👉આ નંબર ઉપર જ ફોન કરવો +91 9974592157
👉 આ નંબર ઉપર ફક્ત મેસેજ કરવા  +91 7016609049 

🏥  ऐक्युप्रेशर थेरापी  स्वस्थ & स्लीम  बनने में बेहद कारगर हैं.. एवम् पूरी तरह से रोग नियंत्रित किया जा सकता है।  
 
✅ No Medicine
 ✅No Surgery
✅ No Strict Diet
✅ No Hard Exercise

🏥 Aum Health Care में ट्रीटमेंट लेते हर दर्दी अपने फोर्म मे सहीके साथ नोंध करते है। आप चाहे तो रेकोर्ड चेक कर शकते हो।

🌞 हर गंभीर बिमारी ऐक्युप्रेशर थेरापीसे मिटाये।

🏥  स्वस्थ & स्लीम होने की दुनियामें आपका स्वागत है।  🏥

👉 તમારો એક મેસેજ તમને રોગ મુક્ત બનાવી શકે છે.. .. 

🏥 નજીવા મુલ્યે, મૂલ્યવાન માહિતી, 
જે તમને અપાવશે રોગો માંથી મુક્તિ.!

🌸 Face Book group 🌸
🏥 એક્યુપ્રેશર અને ઘરેલુ ઉપચાર.. 
   https://www.facebook.com/groups/367351564605027/

  🌸 Face Book Page 🌸
એક્યુપ્રેશર પ્લેનેટ

https://www.facebook.com/એક્યુપ્રેશર-પ્લેનેટ-101139925132263/

🌸 you tube 🌸
https://youtu.be/kHGftI3VsTE

====🌹=ॐ=🌹===

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
prakash patel Feb 25, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
prakash patel Feb 26, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB