Parul Bharadwaj
Parul Bharadwaj Dec 17, 2016

Maa pitambara mai

Maa pitambara mai

Maa pitambara mai

+28 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 4 शेयर

कामेंट्स

Parul Bharadwaj Dec 17, 2016
माँ के दर्शन को दतिया मप्. मे आए

Radhe Krishna Apr 10, 2021

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

🌹🌹🌹🙏#_राधे_राधे__ ।। 🌹🌹🌹🌹 🙏#__आज__का__भगवद__चिन्तन🙏 10/04/2020 मनुष्य को अच्छी तरह ये बात समझ लेनी चाहिए । अपनी उन्नति का यह मार्ग स्वयं ही चलकर तय करना पड़ता है दूसरे के द्वारा यह मार्ग तय नहीं होता अतएव उसकी इसी में बुद्धिमत्ता और कल्याण है और यही उसका निश्चित कर्तव्य है कि अत्यन्त सावधानी के साथ प्रतिक्षण अपने को सम्भालते हुए इस लोक और परलोक के कल्याणकारी साधन को खूब जोर के साथ करता रहे प्रमाद आलस्य भोग एवं दुराचार आदि को कल्याण के मार्ग में अत्यन्त बाधक समझकर उन्हें सर्वथा त्याग दे । त्याग के बारे में सभी अद्ध्यत्मिक महापुरुषों ने हमे बताया समझया भी है । हमे समझ आ जानी चाहिए उनकी बात उनके बताए रास्ते पर चलना भी चाहिए तभी हम सभी का कल्याण है । भजन चिन्तन संकीर्तन करो जिससे आप सभी का कल्याण सुनिश्चित हैं ।। #__जय__जय__श्री__राधे__कृष्णा ।।*बहुत सुंदर प्रसंग* 👌🏻👌🏻👌🏻👌🏻👌🏻👌🏻👌🏻 *एक राजा ने यह ऐलान करवा दिया कि कल सुबह जब मेरे महल का मुख्य दरवाज़ा खोला जायेगा तब जिस शख़्स ने भी महल में जिस चीज़ को हाथ लगा दिया वह चीज़ उसकी हो जाएगी।* *इस ऐलान को सुनकर सब लोग आपस में बातचीत करने लगे कि मैं तो सबसे क़ीमती चीज़ को हाथ लगाऊंगा।* *कुछ लोग कहने लगे मैं तो सोने को हाथ लगाऊंगा, कुछ लोग चांदी को तो कुछ लोग कीमती जेवरात को, कुछ लोग घोड़ों को तो कुछ लोग हाथी को, कुछ लोग दुधारू गाय को हाथ लगाने की बात कर रहे थे।* *जब सुबह महल का मुख्य दरवाजा खुला और सब लोग अपनी अपनी मनपसंद चीज़ों के लिये दौड़ने लगे।* *सबको इस बात की जल्दी थी कि पहले मैं अपनी मनपसंद चीज़ों को हाथ लगा दूँ ताकि वह चीज़ हमेशा के लिए मेरी हो जाऐ।* *राजा अपनी जगह पर बैठा सबको देख रहा था और अपने आस-पास हो रही भाग दौड़ को देखकर मुस्कुरा रहा था।* *उसी समय उस भीड़ में से एक शख्स राजा की तरफ बढ़ने लगा और धीरे-धीरे चलता हुआ राजा के पास पहुँच कर उसने राजा को छू लिया।* *राजा को हाथ लगाते ही राजा उसका हो गया और राजा की हर चीज भी उसकी हो गयी।* *जिस तरह राजा ने उन लोगों को मौका दिया और उन लोगों ने गलतियां की।* *ठीक इसी तरह सारी दुनियाँ का मालिक भी हम सबको हर रोज़ मौक़ा देता है, लेकिन अफ़सोस हम लोग भी हर रोज़ गलतियां करते हैं।* *हम प्रभु को पाने की बजाए उस परमपिता की बनाई हुई दुनियाँ की चीजों की कामना करते हैं। लेकिन कभी भी हम लोग इस बात पर गौर नहीं करते कि क्यों न दुनियां के बनाने वाले प्रभु को पा लिया जाए* *अगर प्रभु हमारे हो गए तो ही उसकी बनाई हुई हर चीज भी हमारी हो जाएगी* *🙏🙏🙏 🙏*🌹🌹🌹ਜੈ ਮਾਤਾ ਦੀ 🌹🌹🌹"ॐ जयंती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु‍ते।।" || ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै: || 🙏🌺#_जय_श्री_महाकाली_माँ सेवक भरत व्यास बांगा हिसार हरिद्वार वान_प्रस्थ ऋषिकेश,हरिद्वार ।

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 9 शेयर
ramkumarverma Apr 10, 2021

+22 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 77 शेयर
Ramesh Kumar Shiwani Apr 10, 2021

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 10 शेयर
krishana Apr 10, 2021

+17 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 41 शेयर
Ramesh Kumar Shiwani Apr 10, 2021

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 21 शेयर
Ramesh Kumar Shiwani Apr 10, 2021

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 14 शेयर

+16 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 47 शेयर

+21 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 14 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB