Himanshu
Himanshu Jun 10, 2018

Jai Bholenath

+17 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 5 शेयर

कामेंट्स

Anita Mittal Jun 11, 2018
शुभ दोपहर जी हर हर महादेव जी

Himanshu Jun 11, 2018
Thanks good Afternoon Ji Are you Fine

+21 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sapna Patel Jun 2, 2020

+68 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 68 शेयर
Sashi Singh Jun 2, 2020

+15 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Minakshi Tiwari Jun 2, 2020

+126 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 26 शेयर

+49 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Varsha lohar Jun 2, 2020

+39 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🌞 🤔~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🕉🌞 *।। श्री हरि : ।।* ⛅ *दिनांक - 02 जून 2020* ⛅ *दिन - मंगलवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - ग्रीष्म* ⛅ *मास - ज्येष्ठ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - दोपहर 12:04 तक एकादशी* ⛅ *नक्षत्र - रात्रि 10:55 तक चित्रा* ⛅ *योग - सुबह 09:53 तक व्यतिपात* ⛅ *राहुकाल - शाम 03:45 से 05:25* ⛅ *सूर्योदय - 05:57* ⛅ *सूर्यास्त - 19:15* ⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - निर्जला-भीम एकादशी* 💥 *विशेष - हर एकादशी को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है l* *राम रामेति रामेति । रमे रामे मनोरमे ।।* *सहस्त्र नाम त तुल्यं । राम नाम वरानने ।।* 💥 *आज एकादशी के दिन इस मंत्र के पाठ से विष्णु सहस्रनाम के जप के समान पुण्य प्राप्त होता है l* 💥 *एकादशी के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।* 💥 *एकादशी को चावल व साबूदाना खाना वर्जित है, एकादशी को शिम्बी (सेम) ना खाएं अन्यथा पुत्र का नाश होता है।* 💥 *जो दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस का प्रयोग कर स्नान करते हैं, उनके पाप नष्ट हो जाते हैं।* 🌷 *निर्जला एकादशी* 🌷 ➡ *01 जून 2020 सोमवार को दोपहर 02:58 से 02 जून मंगलवार को दोपहर 12:04 तक एकादशी है ।* 💥 *विशेष - 02 जून मंगलवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें ।* 🙏🏻 *निर्जला एकादशी व्रत से अधिक मास सहित २६ एकादशियों के व्रत का फल प्राप्त होता है, इस दिन किया गया स्नान, दान जप, होम आदि अक्षय होता है ।* 🌷 *प्रदोष व्रत* 🌷 🙏🏻 *हिंदू पंचांग के अनुसार, प्रत्येक महिने की दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि पर प्रदोष व्रत किया जाता है, ये व्रत भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है, इस बार 03 जून, बुधवार को प्रदोष व्रत है, इस दिन भगवान शिव की विशेष पूजा की जाती है, प्रदोष पर व्रत व पूजा कैसे करें और इस दिन क्या उपाय करने से आपका भाग्योदय हो सकता है, जानिए…* 👉🏻 *ऐसे करें व्रत व पूजा* 🙏🏻 *- प्रदोष व्रत के दिन सुबह स्नान करने के बाद भगवान शंकर, पार्वती और नंदी को पंचामृत व गंगाजल से स्नान कराएं।* 🙏🏻 *- इसके बाद बेल पत्र, गंध, चावल, फूल, धूप, दीप, नैवेद्य (भोग), फल, पान, सुपारी, लौंग, इलायची भगवान को चढ़ाएं।* 🙏🏻 *- पूरे दिन निराहार (संभव न हो तो एक समय फलाहार कर सकते हैं) रहें और शाम को दुबारा इसी तरह से शिव परिवार की पूजा करें।* 🙏🏻 *- भगवान शिवजी को घी और शक्कर मिले जौ के सत्तू का भोग लगाएं, आठ दीपक आठ दिशाओं में जलाएं।* 🙏🏻 *- भगवान शिवजी की आरती करें, भगवान को प्रसाद चढ़ाएं और उसीसे अपना व्रत भी तोड़ें, उस दिन ब्रह्मचर्य का पालन करें।* 🙏🏻🌷🍀🌹🌻🌸🌺💐🍁🙏🏻

+11 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB