. 🌹🙏जय माता दी 🙏🌹 💜लक्ष्मी का हाथ हो,💜 💛सरस्वती का साथ हो.💛 💚गणेश का निवास हो,💚 💙और माँ दुर्गा के आशीर्वाद से💙 💓आपके जीवन में प्रकाश ही प्रकाश हो.💓

.         🌹🙏जय माता दी 🙏🌹
            💜लक्ष्मी का हाथ हो,💜
          💛सरस्वती का साथ हो.💛
          💚गणेश का निवास हो,💚
     💙और माँ दुर्गा के आशीर्वाद से💙
💓आपके जीवन में प्रकाश ही प्रकाश हो.💓

+680 प्रतिक्रिया 154 कॉमेंट्स • 1027 शेयर

कामेंट्स

🌲💜राजकुमार राठोड💜🌲 Apr 7, 2019
@geetabhatt1 "🙏💙जय माता दी💙🙏" माता रानी की कृपा दृष्टि आप तथा आपके परिवार पर सदा बनी रहे 🙏🙏 आपका हर पल शुभ एवं मंगलमय रहे 🅹

🌲💜राजकुमार राठोड💜🌲 Apr 7, 2019
@anjanagupta4 "🙏💙जय माता दी💙🙏" माता रानी की कृपा दृष्टि आप तथा आपके परिवार पर सदा बनी रहे 🙏🙏 आपका हर पल शुभ एवं मंगलमय रहे 🅹

Amar Jeet Mishra Apr 7, 2019
जय माता दी शुभ संध्या वंदन

Sandhya Nagar Apr 7, 2019
🌹श्रीमद्भागवत के दशम स्कन्ध से हृदय में होता है रस का संचार🌹 करुणामयी राधे पत्रिका। श्रीमद्भागवत के श्रवण से शरीर मे रोमांच उत्पन्न हुआ, आंखों में आंसू आये; कंठ गदगद हो गया, हृदय द्रवित हुआ, उस दिन हमारे हृदय में धर्म रस की उत्पत्ति हुई। धर्म तो हमारे अंदर पहले से था परंतु धर्म रस नहीं था, धर्म का स्वाद नहीं था। धर्म का स्वाद, धर्म का रस तब उत्पन्न हुआ जब श्रीमद्भागवत सुनने का अवसर मिला। ईश्वर अंतर्यामी या सर्वज्ञ है, सर्वशक्तिमान है, निर्गुण है या निराकार है कि निर्विकार है। ईश्वर के बारे में सोचना-समझना, ध्यान करना, दूसरी वस्तु है और ईश्वर के रस का अनुभव करना यह दूसरी वस्तु है। हमारे जीवन में ईश्वर की उत्पत्ति होनी चाहिए; यदि रस उत्पन्न नहीं होगा तो अन्य वस्तु के मिल जाने पर हम ईश्वर को छोड़कर उसकी प्राप्ति में लग जाएंगे। बहुत से लोग बरसाना, वृन्दावन श्री राधारानी व बांके बिहारी के दर्शनों को आते हैं। ठाकुर-ठकुरानी की इस जन्मभूमि पर वह रासलीला का सुख छोड़कर मथुरा-आगरा के सिनेमाघरों में रस की खोज में घूमते हैं। इसका मतलब है ऐसे व्यक्तियों के मन में भगवद रस की उत्पत्ति हृदय में नहीं हुई तब ही उसके रस को छोड़कर दूसरी जगह घूमते-फिरते हैं। जिसके जीवन में रस उत्पन्न नहीं होता वह निष्ठावान नहीं होता। उसका ईश्वर के प्रति भाव व प्रेम टिकाऊ नहीं रहता। पूर्व की हवा आई, उधर उड़ गए। पश्चिम की आई तो उधर उड़ गए। उनका जीवन आंधी-तूफान में फंसी नाव के समान होता है। ऐसे व्यक्तियों के जीवन में निष्ठा नहीं रहती। हृदय में एक रस उत्पन्न होना चाहिए, इसी से निष्ठा का पता चलता है। श्रीमद्भागवत के दशम स्कन्ध की लीला मनुष्य के हृदय में रस-संचार करने के लिए है। इसका श्रवण संसार की वासना काटने व ईश्वर के प्रति हृदय में वासना उदय करने में सहायक है। जय जय श्रीराधे.... *करुणामयी राधे धार्मिक पत्रिका* (श्रीधामबरसाना से प्रकाशित) संपर्क सूत्र: 9319587188

Vijay bahadur Pandey Apr 7, 2019
🚩🙏🌷जै माँ भवानी 🌷🙏🚩 शुभ संध्या की शुभ मंगल कामना भाई 🙏🌷

Anita Mittal Apr 7, 2019
जय माता की जी माता रानी आपको सुखी व प्रसन्न रखें जी

Renu Singh Apr 7, 2019
🙏 🌹 Jai Mata Di 🌹 🙏 Mata rani aapko aur aapki family ko hamesha khush rakhe Bhai ji Aapka har pal Shubh v mangalmay ho Shubh Sandhya vandan Bhai ji 🙏 🌹

sunil kumar saini Apr 7, 2019
जय माता दी 🙏 🌹 शुभ संध्या नमस्कार भाई जी 🙏 🌹 राधे राधे जी 🙏 🌹 🌹 🌹

🌷🌷🌷mukseh nagar🌷🌷🌷 Apr 7, 2019
एक बार एक बहुत सुन्दर लड़की थी | वह इतनी सुन्दर थी जो भी उसे देखता , देखता ही रह जाता | पर उसे गुस्सा बहुत आता था | गुस्से में वह किसी से कुछ भी कह देती | घर के सबलोग उसकी इस आदत से बहुत परेशां थे | एक बार उसके पिता ने उसे सबक सिखाने की सोचा | उसके पिता ने उसे कुछ कील और हतोड़ा दिया और कहा एक महीने तक हम एक एक्टिविटी करेंगे जिसमे तुम्हे बस एक महीने तक गुस्सा कम करना है उसके बाद तुम चाहो जितना गुस्सा कर सकती हो  | और जब भी तुम्हे गुस्सा आये और तुम किसी से बुरी तरह बोल दो तो एक कील दीवार में लगा देना | और कोशिश करनी है गुस्सा कम करने की , लड़की  तैयार हो गयी | उसे जब भी गुस्सा आता और वह किसी को कुछ बोल देती तो एक कील दिवार में लगा देती | पहले दिन उसने दीवार में ३० कील लगा दी | पर धीरे  धीरे दिवार में लगने वाली कील कम होने लगी | १५ ही दिन में उस लड़की ने सबसे बुरी तरह बोलना कम कर दिया | अब उसके पिता ने उससे कहा की अगर तुम एक बार भी गुस्सा करो तो किसी से बुरी तरह न बोलो तो अपने द्वारा लगायी हुई कील में से एक कील निकाल देना | लड़की ने वैसे ही किया | १ महीने के अंत तक दीवार से सब कील निकल गयी | लड़की बहुत खुश हुई की वो इस गेम में जीत गयी | अर अपने पिता जी से कहने लगी देखिये सब कील दीवार से निकल गयी | उसके पिता ने कहा दीवार से कील तो निकल गयी पर क्या दीवार पहले जैसी सुन्दर दिख रही है | दीवार में जगह जगह निशान पढ़ गए हैं | पिता ने अपनी बेटी को समझाया इसी तरह जब तुम किसी पर गुस्सा करती हो तो तुम्हारे रिश्तो में भी ख़राब निशान छूट ही जाते है | और एक दिन यही निशान रिस्तो को भी ख़राब कर देते हैं लड़की के बात समझ में आ गयी और उसने उस दिन से गुस्सा करना बहुत कम कर दिया . Moral of the Story दोस्तों सब सभी का भी यही हाल होता है | हम जिस पर गुस्सा कर सकते है उससे बहुत उल्टा सीधा कह देते हैं और अपने रिश्तो को ख़राब कर देते हैं | गुस्सा करने की हम आदत बना लेते है और जिसे हम दवा सकते है उसी पर गुस्सा करते हैं | जैसे की ऑफिस में बॉस ने कुछ  कह दिया हम उससे कुछ नहीं कह सकते तो घर आकर बच्चो को बिना किसी गलती के ही  डांट देते हैं | इसलिए  अपनी इस ख़राब आदत को रिश्तो के ख़राब होने से पहले ही सुधार लीजिये

R.K.Soni(गणेश मंदिर) Apr 7, 2019
🌹शुभ संध्या वंदन जी🌹 🙏ॐ सूर्याय नम:🙏 🙏जय गणेश देवा जी🙏 आप व आपके परिवार पर सूर्यदेव की कृपा हमेशा बनी रहे।व आपको सुख समृद्धि प्रदान करे।🌷🌷🌷🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🌹🌹

Anshu Apr 7, 2019
good evening Jai Mata Di

Bindu singh Apr 7, 2019
Jai Mata di ji god bless u good night ji 🙏🙏

Dr. Ratan Singh Apr 7, 2019
🚩👣जय माता दी वन्दन जी👣🚩 🌷या देवी सर्वभूतेषु सृष्टिरूपेण संस्थिता । 🌸नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।। 👏आप पर सूर्यदेव व माता रानी 🐯 👣की कृपादृष्टि सदैव बनीरहे 🙏 ******************************* 👏आप एवं आपके पूरे परिवार का🌷 💐रविवार कासंध्याआनन्दमय शुभ🌋 🏵अतिसुन्दरऔर मंगलमयहोजी💠 🚩🌞ॐ सूर्यदेवाय नमः🌞🚩👏 🚩🐯🌹जय माता दी🌹🐯🚩

Ritu Sen May 19, 2019

+63 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 40 शेयर
Ritu Sen May 19, 2019

+44 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 46 शेयर

+15 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 45 शेयर
Basanta Kumar Sahu May 19, 2019

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Sajjan Singhal May 19, 2019

+7 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Ritesh May 19, 2019

+23 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 8 शेयर

+12 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 8 शेयर
TR. Madhavan May 19, 2019

+12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Vikram Singh (Vijay) May 20, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Mamta Chauhan May 18, 2019

+158 प्रतिक्रिया 27 कॉमेंट्स • 216 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB