Kailash Patidar
Kailash Patidar Dec 30, 2017

हर सांस में हो सुमिरन तेरा

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+51 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 48 शेयर
m s jogiya Sep 27, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Reena Devi Sep 27, 2020

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Deraj sharma Sep 26, 2020

+19 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 7 शेयर
VINAY SINGH 21KANPUR Sep 27, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
ravi.thakur Sep 27, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
HEMANT JOSHI Sep 26, 2020

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 5 शेयर

💐🙏🏻ॐ आदित्याय नमः🙏🏻💐 💐🙏🏻ॐ सूर्याय नमः🙏🏻💐🙏🌹जय जय श्रीराधे🌹🙏 हे मेरे सर्व हृदयप्रिय मधुराधिपति भगवन् श्रीबाँकेबिहारी जी.. 🙏🌹श्रीराधे🌹🙏 हे शास्वतमित्र..हे अभिन्न श्याम....आज एकादशी है हमनें अलार्म नहीं लगाई है..हम सभी को आज ब्रम्ह मुहुर्त में सुबह 3:50से 4.00 के मध्य जगा दीजों श्रीबिहारीजी... ताकि हम सुबह जल्दी ब्रम्हमुहुर्त में आपको नमस्कार/चमत्कार/धन्यवाद कर सकें...🙂🙂🙂 🙏🌹जय जय श्रीराधे🌹🙏🙏 हे मेरे प्यारे श्याम, किसी को भी न तू उदास रखना, 🌷 गम न आये किसी को भी सब पर अपनी दया रखना 🌷 #हे_नाथ ! मैं आपकी शरण हूँ ! l प्रेम भाव से प्रभु की याद करो, केवल याद करने से प्रभु प्रसन्न हो जाते हैं । तुम्हारी पुकार सच्ची होगी तो वे अवश्य-अवश्य तुमको बचा लेंगे | तुम्हारी काबिलियत, तुम्हारी भावनाओं पर निर्भर करती है। भावनायें शुद्ध होंगी, कर्म सत्यमार्ग पर होगा तो ईश्वर और सुंदर भविष्य पक्का तुम्हारा साथ देगा। भगवान् हरि को सच्चे हृदय से पुकारो l सिवाय भगवान्- के कोई भी रक्षा करनेवाला नहीं है | हे केशव, हे नाथ, मैं आपकी शरण मे हूँ l तू ही मेरा सच्चा साथी , तू ही तो सहारा है l तू ही मांझी मेरा , तू ही तो किनारा है l भक्ति भाव वनाए रखें , प्रभु का सहारा ज़रूर मिलेगा । 🌷 जीवन में कठिनाईयाँ आती अवश्य हैं मगर चिन्ता तो किसी समस्या का हल नहीं हो सकती। सुख - दुख, लाभ - हानि और जीत - हार की चिंता ना करके, मनुष्य को अपनी शक्ति के अनुसार कर्तव्य कर्म करना चाहिए। ऐसे भाव से कर्म करने पर मनुष्य को पाप नहीं लगता । चिन्ता हमारी सोचने की क्षमता को अवरुद्ध कर देती है और यही अवरोध तो हमारे दुखों का मूल कारण है। किसी भी समस्या के आ जाने पर उसके समाधान के लिए विवेक पूर्ण निर्णय ही चिन्तन है। चिन्तनशील व्यक्ति के लिए कोई न कोई मार्ग अवश्य मिल भी जाता है। जिसके पास विवेक है और वह समस्या के आगे से हटता नहीं , अपितु डटता है। और समस्या के आगे डटना, समस्या का डटकर मुकाबला करना आधी सफलता प्राप्त कर लेना है। अगर आप आध्यात्मवादी हैं तो फिर चिन्तन करिए उस पावन प्रभु का जो बिन चाहे ही हम आप सब की चिन्ताओं का हरण कर लेते हैं। सच कहूँ तो प्रभु नाम में विश्वास से बढ़कर कोई श्रेष्ठ चिन्तन नहीं और चिन्ता का निवारण भी नहीं है। हरिनाम का जप आप सब की चिन्ताओं का हरण कर लेता है। 🌷 🙏🏻 जय श्री कृष्ण , श्री कृष्ण शरणम् , प्रेम से बोलो... राधे राधे 🌷 🍅✴☀❣🙏🌷🌼🌺🌻🍀🌹🌳🙏🌷🌼🌺🌻🍀🌹🙏 🙏🌹!!जय मां अष्ट भवानी 🌹🙏 🙏🌹🌳🌷🌼🌺🌻🍀🙏🌹🌳🌷🌼🌺🌻🙏 गंगा गीता गायत्री हरिद्वार !! 🙏🍀🌻🌺🌹🌳🌷🌼🙏🍀🌻🌺🌹🌳🌷🙏🌹🌹🌹सेवक भरत व्यास बांगा "जय देवभूमि उत्तराखंड" भगवती गंगा आपको सुख, समृद्धि, वैभव, गुण, रुप, यश प्रदान करें आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करें " *गौ, गंगा, गीता और गायत्री का सन्मान कीजिये ये सनातन संस्कृति के प्राण स्तंभ है* 🙏 *नमस्कार* 🙏

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 50 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB