संत कबीर समाधी स्थल ,मगहर, गोरखपुर

संत कबीर समाधी स्थल ,मगहर, गोरखपुर

संत कबीर समाधी स्थल ,मगहर, गोरखपुर

+22 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+26 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Shanti Pathak Aug 5, 2020

🚩🙏🚩जय श्री राम 🚩🙏🚩 💐राम जिनका नाम है, अयोध्या जिनका धाम है;💐 💐ऐसे रघुनंदन को हमारा प्रणाम है;💐 ़ 💐उनके चरणों में जिसने जीवन वार दिया,💐 💐संसार में उसका कल्याण है💐 श्री राम नवमी, विजय दशमी, सुंदरकांड, रामचरितमानस कथा, श्री हनुमान जन्मोत्सव और अखंड रामायण के पाठ में प्रमुखता से वाचन किया जाने वाली वंदना। ॥दोहा॥ श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन हरण भवभय दारुणं । नव कंज लोचन कंज मुख कर कंज पद कंजारुणं ॥१॥ कन्दर्प अगणित अमित छवि नव नील नीरद सुन्दरं । पटपीत मानहुँ तडित रुचि शुचि नोमि जनक सुतावरं ॥२॥ भजु दीनबन्धु दिनेश दानव दैत्य वंश निकन्दनं । रघुनन्द आनन्द कन्द कोशल चन्द दशरथ नन्दनं ॥३॥ शिर मुकुट कुंडल तिलक चारु उदारु अङ्ग विभूषणं । आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खरदूषणं ॥४॥ इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनं । मम् हृदय कंज निवास कुरु कामादि खलदल गंजनं ॥५॥ मन जाहि राच्यो मिलहि सो वर सहज सुन्दर सांवरो । करुणा निधान सुजान शील स्नेह जानत रावरो ॥६॥ एहि भांति गौरी असीस सुन सिय सहित हिय हरषित अली। तुलसी भवानिहि पूजी पुनि-पुनि मुदित मन मन्दिर चली ॥७॥ ॥सोरठा॥ जानी गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाइ कहि । मंजुल मंगल मूल वाम अङ्ग फरकन लगे। रचयिता: गोस्वामी तुलसीदास

+36 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 14 शेयर
Mahesh Malhotra Aug 5, 2020

+57 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 53 शेयर
heera Lal Lalwani Aug 5, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
RAVINDRA SINGHAL Aug 5, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Mahesh Malhotra Aug 5, 2020

+25 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB