अमेरिका के हिन्दू मंदिर मे ज्येठ माह में श्रीजी श्रीनाथजी को 1.25 लाख आम का भोग लगा, जय श्री कृष्ण,राधे राधे

*ऊँ🙏 शुभ पंचांग🌹शुभ राशिफल 🙏ऊँ*
*🌹0⃣3⃣ मई 2⃣0⃣1⃣8⃣*
https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=2076459989263609&id=1655076428068636
*Astro Sunil Garg (Nail & Teeth)*

Health Checkup by Nails and Teeth and Treatment only by Diet:-
( Specialist in Alternative Medicine )

*Whatsapp no :- 9811332901,9811332914*

*🌹0⃣3⃣ मई 2⃣0⃣1⃣8⃣*

*🌹पंचांग तिथि : तृतीया, 09:07 तक*

🌹नक्षत्र : ज्येष्ठा, 19:47 तक

🌹योग : परिघा, 09:24 तक

🌹प्रथम करण : विष्टि, 09:07 तक

🌹द्वितिय करण : बावा, 22:03 तक

🌹वार : गुरुवार

🌹सूर्योदय : 05:42

🌹सूर्यास्त : 18:53

🌹चन्द्रोदय : 22:00

🌹चन्द्रास्त : 08:03

🌹शक सम्वत : 1940 विलम्बी

🌹अमान्ता महीना : वैशाख

*🌹पूर्णिमांत : ज्येष्ठ*

🌹सूर्य राशि : मेष

🌹चन्द्र राशि : वृश्चिक

🌹पक्ष : कृष्ण

🌹अशुभ मुहूर्त गुलिक काल : 09:00 − 10:39

🌹यमगण्ड : 05:42 − 07:21

🌹दूर मुहूर्तम् : 17:41 − 17:43, 17:54 − 17:56

🌹व्रज्याम काल : नही

*🌹राहू काल : 13:56 − 15:35*

*🌹शुभ मुहूर्त अभिजीत : 11:51 − 12:44*

🌹अमृत कालम् : 10:11 − 11:56

ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ

❌राहुकाल में सभी कार्य वर्जित हैं।❌

ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ

*Health Checkup by Nails and Teeth and Treatment only by Diet:-*
*( Specialist in Alternative Medicine )*

*किसी भी स्थिति में मुझे निशुल्क कुंडली दिखाने के लिए मित्र रेकुएस्ट न भेजें ??*
*For that fees per person- 51,000/-₹*

*“Powerful आल-इन-वन वशीकरण ताबीज़”*
*यह लक्ष्मी शनि यन्त्र है। यह यन्त्र पूरी उम्र काम करता है। घर में सुख सम्पत्ति के लिए अच्छा रहता है।*

*Powerful All-in-One Vashikaran Tabiz*
*This is Laxmi Shani Yantr & work for Good Health & Wealth full Life.*

ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ
*“Powerful आल-इन-वन वशीकरण ताबीज़”*
*यह लक्ष्मी शनि यन्त्र है। यह यन्त्र पूरी उम्र काम करता है। घर में सुख सम्पत्ति के लिए अच्छा रहता है।*

*Powerful All-in-One Vashikaran Tabiz*
*This is Laxmi Shani Yantr & work for Good Health & Wealth full Life.*
ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ
*किसी भी स्थिति में मुझे निशुल्क कुंडली दिखाने के लिए मित्र रेकुएस्ट न भेजें ??*
*For that fees per person- 11,000/-₹*
ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ

Astro Sunil Garg (Nail & Teeth)

Health Checkup by Nails and Teeth and Treatment only by Diet:-
( Specialist in Alternative Medicine )

Whatsapp no :- 9811332901,9911020152

किसी भी प्रकार के तीसरे चरण के कैंसर का ईलाज खानपान के द्वारा 40 से 100% तक ठीक

Any type of third stage cancer can cure by 40/100% only through diet.

सिर्फ खानपान में परिवर्तन के द्वारा किडनी का इलाज 50 से 100 % आराम

Damage kidney can cure to 50/100% through diet only

खान पान के द्वारा बिना ऑपरेशन घुटनों का इलाज 60 से 100% आराम

Knee cap replacement problem or joint pain can cure to 60-100% only through diet

जब आप यह खान-पान शुरु करोगे उसके 72 घण्टे के बाद से ही आपको आराम मिलने लगेगा।
अन्य किसी भी समस्या हेतु संपर्क करे:-

Damage liver can cure to 40-80% through diet only

Coma patients who are in for 10 days can cure within 2 hours only just through diet.

Those who lost their memory due to accident it can also cure to 90% only through diet.

In typhoid after my prescribed treatment, relief comes will be in 1 hour and person can easily take food

Patients who are declare final for their end life of 3-4 days, they also will cure through diet within 2 hours to 1 week.

Cancer, Kidney, Heart Problme , Joint Pain, Skin Desease Stomach Problme, Piles, Neurology

In old age people feel weakness in walking, eating, doing activities. These all can be cured only through special diet. Blood level also cured only through special diet and make body healthy.

In dengue after my prescribed treatment, relief comes will be in 10 minutes.
In Dengue , Swine flue , Typhoid, and any other temperature after my prescribed treatment, relief comes will be in 10 minutes.

In chickenguniya, after my prescribed treatment relief comes will be in 2 hours and person can able to walk and do movements.
Health Checkup by Nails and Teeth and Treatment only by Diet:-

( Specialist in Alternative Medicine )

{Loose your extra weight only through diet in just 1-9 months completely.

नियमित आहार को ही बनाऐ आर्युवेदिक आहार
सिर्फ खान-पान के द्वारा बिना किसी दवाई के
केंसर,डेंगू,चिकनगुनिया, त्वचा रोग,मिर्गी,पेट से संबंधित रोग, ल्यूकोरिया, बवासीर,किडनी,जोडो के दर्द, गंठिया भाव (भादी) ( जॉइंट पैन ,कमर दर्द ,और फुल बदन दर्द की शिकायत (शरीर मे अकडन) ) , दमा (Asthma),

For that fees per person- 51000/-₹

ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ

*“Powerful आल-इन-वन वशीकरण ताबीज़”*
*यह लक्ष्मी शनि यन्त्र है। यह यन्त्र पूरी उम्र काम करता है। घर में सुख सम्पत्ति के लिए अच्छा रहता है।*

*Powerful All-in-One Vashikaran Tabiz*
*This is Laxmi Shani Yantr & work for Good Health & Wealth full Life.*

इस यन्त्र को बनाने में दस दिन का समय लगता है इस एक ही यन्त्र में दस यन्त्रो का मिश्रण है यह पूर्णत: धार्मिक कवच है किसी तान्त्रिक विद्या द्वारा नहीं बनाया जाता है और इसमें सभी धर्मो का समावेश है किसी विशेष जाति या धर्म को लेकर नहीं बनाया जाता है इसलिए इसे कोई भी व्यक्ति धारण कर सकता है।

यह हर क्षेत्र में व्यक्ति को फायदा देता है। यदि किसी की कुंडली में मंगल दोष, कालसर्प दोष, गंडमूल दोष, अंगारक दोष, पितृदोष, ग्रहणदोष, या फिर विष योग, गुरु चाण्डाल योग है तो इसे धारण करने से उसका भी निवारण हो जाता है। यह आपके नाम और उम्र के हिसाब से बनाया जाता है। इसे धारण करने पर किसी विशेष नियम या परहेज का पालन नही करना होता है। यह बच्चों की पढ़ाई में व्यापार नौकरी में, कोई गृह क्लेश हो, कोई समस्या हो सभी में फायदा करता है।

सभी को किसी न किसी को वश में करना होता है। वाद-विवाद, मुकदमे, बहस, समूह वार्तालाप, आपसी बातचीत में सामने वाला वश में हो, कर्मचारी चाहता है कि उसका बॉस उसके वश में हो, और जब चाहें उसे छुट्टी मिल जाए….. पत्नी सोचती है पति वश में रहें, यही सोच पति की भी होती है….. कोई सोचता है/सोचती है कि मेरे सभी दोस्त मेरे वश में हो, और जो मैं बोलूं सभी वैसा ही करें…… लड़कों को लड़कियों को वश में करना होता है और लड़कियों को लड़के अपने वश में चाहिए….. व्यापारी चाहता है कि ज्यादा से ज्यादा ग्राहक मेरे वश में हो, और उसके ग्राहक पड़ोसियों के पास न जाएं….. प्रेम विवाह करने वाले सोचते है कि उनके घर वाले उनके वश में हो, और उनकी शादी में कोई रुकावट न डाले….. माता-पिता सोचते हैं कि उनकी संतान उनके कहने से बाहर न हो, और उनके बताए गये अच्छे रास्तों को छोड़कर गलत रास्ते पर न जाएं। सामान्यतः ऐसीे ही सोच सभी की होती है।
-
वशीकरण क्या है…..?
यही कि जो आप चाहें…..वह ही हो जाए।
-
वशीकरण का मतलब होता है किसी को अपने अनुकूल कर लेना। अगर प्रेमी या प्रेमिका मन बदल गया हो, या विवाह करने को राजी न हो रहे हो।
या कोई अधिकारी आपके विरोध में कार्य कर रहा हो।
या परिवार में कोई सदस्य गलत रास्ते पर जा रहा हो, तो “Powerful आल-इन-वन वशीकरण ताबीज़” के प्रयोग से उसका मन बदला जा सकता है।

For that fees per person- 51000/-₹
Fifty one thousand only

Pay to Paytm Number :- 9911020152
🌹स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया🌹
State Bank of India,
Sunil Kumar Garg
SA/C no 10614925460,
( IFS Code: SBIN0000737 )
Pahar Ganj
New Delhi 110055,
ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ
New Kaushal Furniture House
Godrej Home Safe
Kurl on Mattress
Astro Sunil Garg (Nail & Teeth)

1/1,Panchkuian Road,
Opposite metro pillar no.17, RK Ashram Marg metro station ,
New Delhi-110001
ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ

🌹 पितृ दोष के लक्षण 🌹

१ घर में पितृ दोष होगा तो घर के बच्चे की शिक्षा , दिमाग , बाल ,व्यवहार पर अच्छा प्रभाव नहीं पड़ता ।

२ जिन जातकों को पितृ दोष होता है उनके लिए इस दिन का बहुत महत्व है , बहुत से कारण होते है की हमारे अपने पितरों से सम्बन्ध अच्छे नहीं हो पाते , कारण , आपके जीवन में रुकावटें , परेशानियाँ और क्या नहीं होता । इसीलिए इस दिन की गयी पूजा आपको लाभ पंहुचा सकती है ।

३ पितृ दोष कही न कही अनेको दोषों को उत्पन्न करने वाला होता है जैसे की वंश न बढ़ने का दोष , असफलता मिलने का दोष , बाधा दोष और भी बहुत कुछ । तो इन दिनों में की गयी पूजा और तर्पण अगर विधि विधान और मन लगाकर किया जाए तो अच्छे फल देने वाली सिद्ध होती है ।

४ बालो पर सबसे पहले प्रभाव पड़ता है , जैसे की , समय से पहले बालों का सफ़ेद हो जाना , सिर के बीच के हिस्से से बालों का कम होना , हर कार्य में नाकामी हाथ लगाना , घर में हमेशा कलह रहना ,बीमारी घर के सदस्यों को चाहे छोटी हो या बड़ी घेरे रखती है , यह सब लक्षण पितृ दोष घर में है इसको बताते है । और अगर घर में पितृ दोष है तो किसी भी सदस्य को सफलता आसानी से हाथ नहीं लगती ।

५ पितृ दोष कुंडली में है अगर , तो कुंडली के अच्छे गृह उतना अच्छा फल जितना उन्हें देना चाहिए ।

६ घर के सभी लोग आपस में झगड़ते है , घर के बच्चों के विवाह देरी से होते है , और काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता है विवाह करने में , घर में धन ना के बराबर रुकेगा अगर पितृ दोष हावी है तो ,बीमारी या फिर क़र्ज़ देने में धन चला जायेगा जुडा हुआ धन , पुरानी चीजे ठीक कराने में धन निकल जायेगा पर रकेगा नहीं ।

७ परिवार की मान और प्रतिष्ठा में गिरावट आती है , पितृ दोष के कारण घर में पेड़-पौधे या फिर जानवर नहीं पनप पाते । घर में शाम आते आते अजीब सा सूनापन हो जायेगा जैसे की उदासी भरा माहौल, घर का कोई हिसा बनते बनते रह जायेगा या फिर बने हुए हिस्से में टूट-फुट होगी , उस हिस्से में दरारे आ जाती है ।

८ घर का मुखिया बीमार रहता है , रसोई घर के अस - पास वाली दीवारों में दरार आ जाते है । जिस घर में पितृ दोष हावी होता है उस घर से कभी भी मेहमान संतुष्ट होकर नहीं जायेंगे चाहे आप कुछ भी क्यूँ न कर ले या फिर कितनी ही खातिरदारी कर ले , मेहमान हमेशा नुक्स निकाल कर रख देंगे यानी की मोटे तौर पर आपकी इज्ज़त नहीं करेंगे ।

९ घर में चीजे और साधन होते हुए भी घर के लोग खुश नहीं रहते । जब पैसे की जरुरत पड़ती है तो पैसा मिल नहीं पाता । ऐसे घर के बच्चों को उनकी नौकरी या फिर कारोबार में स्थायित्व लम्बे समय बाद ही हो पाता है , बच्चा तेज़ होते हुए भी कुछ जल्दी से हासिल नहीं कर पायेगा ऐसी परिस्थितियाँ हो जायेंगी ।

१० जिस घर में पितृ दोष होता है उस घर में भाई-बहन में मन-मुटाव रहता ही रहता है , कभी कभी तो परिस्थितियाँ ऐसी हो जाती है की कोई एक दूसरे की शकल तक देखना पसंद नहीं करता । पति-पानी में बिना बात के झगडा होना भी ऐसे घर में स्वाभाविक है जिस घर में पितृ दोष हो ।

११ ऐसे घर के लोग जब एक दूसरे के साथ रहेंगे तो हमेशा कलेश करके रखेंगे परन्तु जैसे ही एक दुसरे से दूर जायेंगे तो प्रेम से बात करेंगे ।

१२ घर में स्त्रियों के साथ दुराचार करना , उन्हें नीचा दिखाना , उनका सम्मान न करने से शुक्र गृह बहुत बुरा फल देता है जिसका असर आने वाली चार पीड़ियों तक रहता है । तो शुक्र गृह भी पित्र दोष लगाता है कुंडली में ।

For that fees per person- 51000/-₹
Fifty one thousand only

@@@@@@@@@@@@@@
*ऊँ🙏 शुभ पंचांग🌹शुभ राशिफल 🙏ऊँ*

*0⃣1⃣ 🐑मेष- चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ ॐ*
आज अपने मन की बातें आप बहुत अच्छे से जाहिर कर सकते हैं। गर्ग वाणी के अनुसार आज आपके लिए दिन भी ठीक है। इनकम भी ठीक-ठाक रहेगी। संतान से कोई अच्छी खबर भी मिल सकती है। रोमांस के लिए अच्छा दिन है।
*0⃣2⃣ 🐂वृष- ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो ॐ*
आज अपने घर-परिवार की परेशानियों पर ध्यान देना होगा। गर्ग वाणी के अनुसार परिवार के लोग मनोरंजन का कोई कार्यक्रम बना सकते हैं। सामाजिक और धार्मिक समारोह के लिए बेहतरीन दिन है।
*0⃣3⃣ 💑मिथुन- का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह ॐ*
आज अपने मकान और जमीन संबंधी काम पूरे होंगे। कोर्ट संबंधित मामलों में सफलता मिल सकती है। लक्ष्य को ध्यान में रखें। सफलता मिलने की पूरी संभावना रहेगी। गर्ग वाणी के अनुसार आपको समय पर साथ वालों की मदद मिलती जाएगी।
*0⃣4⃣ 🦀कर्क- ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो ॐ*
आज आपके अच्छे व्यवहार से आपके निजी संबंधों में भी काफी हद तक सुधार हो जाएगा। मन की चिंता के बारे में किसी भरोसेमंद इंसान से बात होगी। गर्ग वाणी के अनुसार अच्छी खबर से खुशी मिलेगी। आज का दिन ऐसी चीज़ों को ख़रीदने के लिए बढ़िया है, जिनकी क़ीमत आगे चलकर बढ़ सकती है।
*0⃣5⃣ 🦁सिंह- मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे ॐ*
आज अपनी सोच और विचार में कुछ अच्छे बदलाव करने की कोशिश करेंगे। कुल मिलाकर आपके लिए दिन अच्छा है। आपको धन लाभ और फायदा हो सकता है। गर्ग वाणी के अनुसार पैसों की स्थिति अच्छी रहेगी, लेकिन अपने निवेश पर ध्यान दें।
*0⃣6⃣ 👸कन्या- ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो ॐ*
आज अपनी भावनाओं को नियंत्रण में रखें। पैसों की समस्या दोस्तों की मदद से खत्म हो जाएगी। किसी खास काम के लिए आपको दोस्तों की जरूरत पड़ेगी। गर्ग वाणी के अनुसार मामा पक्ष से मदद मिल सकती है। ज़िंदगी में एक नया मोड़ आ सकता है, जो प्यार और रोमांस को नयी दिशा देगा।
*0⃣7⃣ ⚖तुला- रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते ॐ*
आज कहीं छोटी-मोटी यात्रा का भी योग बन रहा है। गर्ग वाणी के अनुसार कोई बड़ा काम शुरू करने का भी मन बना सकते हैं। पूरी योजना की जिम्मेदारी किसी और व्यक्ति पर हो सकती है। धैर्य रखेंगे तो सफल हो जाएंगे।
*0⃣8⃣ 🦂वृश्चिक- तो, ना,नी, नू, ने, नो, या, यी, यू ॐ*
आज किसी खास काम के लिए कुछ लोग आपसे कॉन्टैक्ट करने की कोशिश करेंगे। गर्ग वाणी के अनुसार कार्यक्षेत्र में आपकी भूमिका प्रबंधन से जुड़ी हुई है, तो आपके लिए दिन अच्छा हो सकता है। पुरानी बातें और यादों में आप समय बीता सकते हैं।
*0⃣9⃣ 🏹धनु- ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे ॐ*
आज घर-परिवार और जीवनसाथी से संबंध पहले से अच्छे हो जाएंगे। गर्ग वाणी के अनुसार रोजमर्रा के काम समय पर हो सकते हैं। तनाव पूर्ण मौके पर संतुलन रखने में आप सफल हो जाएंगे । सबसे अच्छा रिश्ता बनाए रखने की कोशिश करें।
*1⃣0⃣ 🐏मकर- भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी ॐ*
आज किसी खास काम के लिए कुछ लोग आपसे कॉन्टैक्ट करने की कोशिश करेंगे। गर्ग वाणी के अनुसार कार्यक्षेत्र में आपकी भूमिका प्रबंधन से जुड़ी हुई है, तो आपके लिए दिन अच्छा हो सकता है। पुरानी बातें और यादों में आप समय बीता सकते हैं।
*1⃣1⃣ ⚱कुंभ- गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा ॐ*
आज अपने मकान और जमीन संबंधी काम पूरे होंगे। कोर्ट संबंधित मामलों में सफलता मिल सकती है। लक्ष्य को ध्यान में रखें। सफलता मिलने की पूरी संभावना रहेगी। गर्ग वाणी के अनुसार आपको समय पर साथ वालों की मदद मिलती जाएगी।
*1⃣2⃣ 🐠मीन- दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची ॐ*
आज आप बहुत से काम अपेक्षाकृत कम समय में पूरे कर सकते हैं। गर्ग वाणी के अनुसार पैसों की स्थिति भी मजबूत रहेगी। निवेश और खरीददारी के अवसर आज आपको मिल सकते हैं। संबंधों में भी सुधार होता रहेगा। आराम करने का मौका मिल सकता है।

ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ
🙏🏻🙏🏻🙏🏻ॐ नम: शिवाय🙏🏻🙏🏻🙏🏻
ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ
❌राहुकाल में सभी कार्य वर्जित हैं।❌

*ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ*
*🙏🏻🙏🏻🙏🏻ॐ नम: शिवाय🙏🏻🙏🏻🙏🏻*

दिन विशेष आगे --

*दिनांक -03मई* -श्री गणेश चतुर्थी व्रत
*दिनांक -04मई* -चतुर्थी तिथि
*दिनांक -05मई* -पंचमी
*दिनांक -06मई* -षष्ठी
*दिनांक -07मई* -सप्तमी
*दिनांक -08मई* -अष्टमी , पंचक प्रारम्भ 20/59
*दिनांक -09मई* -नवमी
*दिनांक -10मई* -दशमी
*दिनांक -11मई* -अपरा एकादशी व्रत , भद्रकाली एकादशी
*दिनांक -12मई* -द्वादशी
*दिनांक -13मई* -प्रदोष व्रत , मासिक शिवरात्रि व्रत , पंचक समाप्त 13/31
*दिनांक -14मई* -संक्रांति
*दिनांक -15मई* - भौमवती अमावस
*दिनांक -16मई* -एकम्
*दिनांक -17मई* -द्वतिय
*दिनांक -18मई* - तृतीय
*दिनांक -19मई* -पंचमी
*दिनांक -20मई* -षष्ठी
*दिनांक -22मई* -अष्टमी
*दिनांक -23मई* -नवमी
*दिनांक -24मई* -श्री गंगा दशहरा
*दिनांक -25मई* -पुरुषोत्तमा एकादशी व्रत
*दिनांक -26मई* -शनि प्रदोष व्रत
*दिनांक -27मई* -त्रयोदशी
*दिनांक -28मई* -श्री सत्यनारायण व्रत
*दिनांक -29मई* -ज्येष्ठ पूर्णिमा
*दिनांक -30मई* -एकम

🚩🚩🚩🚩🚩🕉🚩🚩🚩🚩🚩
🌹 श्री हरे कृष्णा जी 👏

पंचांग 2018 – हिंदी कैलेंडर 2018

🌹 आप सभी मित्रो का आज का दिन मंगलमय हों ।🌹

|।🐚।| शुभम भवतु|।🐚।|

👉🏿नोट:- अगर राशीफल अच्छा लगा हो तो दुसरे मित्रों को शेयर कर लाभान्वित करें ।
ऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँऊँ

+16 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 69 शेयर

कामेंट्स

+4 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 17 शेयर

🌹🌹जय हो मां भवानी🚩🚩 नवार्ण मंत्र' दुर्गा दुखों का नाश करने वाली देवी दुर्गा की नौ शक्तियों को जागृत करने के लिए दुर्गा के 'नवार्ण मंत्र' का जाप किया जाता है। इसलिए नवरात्रि में जब उनकी पूजा आस्था, श्रद्धा से की जाती है तो उनकी नौ शक्तियां जागृत होकर नौ ग्रहों को नियंत्रित कर देती हैं। फलस्वरूप प्राणियों का कोई अनिष्ट नहीं हो पाता। दुर्गा की इन नौ शक्तियों को जागृत करने के लिए दुर्गा के 'नवार्ण मंत्र' का जाप किया जाता है। नव का अर्थ 'नौ' तथा अर्ण का अर्थ 'अक्षर' होता है। अतः नवार्ण नौ अक्षरों वाला वह मंत्र है । नवार्ण मंत्र- 'ऐं ह्रीं क्लीं चामुंडायै विच्चै ।' नौ अक्षरों वाले इस नवार्ण मंत्र के एक-एक अक्षर का संबंध दुर्गा की एक-एक शक्ति से है और उस एक-एक शक्ति का संबंध एक-एक ग्रह से है। नवार्ण मंत्र के नौ अक्षरों में पहला अक्षर ' ऐं ' है, जो सूर्य ग्रह को नियंत्रित करता है। ऐं का संबंध दुर्गा की पहली शक्ति शैलपुत्री से है, जिसकी उपासना 'प्रथम नवरात्रि' को की जाती है। दूसरा अक्षर ' ह्रीं ' है, जो चंद्रमा ग्रह को नियंत्रित करता है। इसका संबंध दुर्गा की दूसरी शक्ति ब्रह्मचारिणी से है, जिसकी पूजा दूसरे नवरात्रि को होती है। तीसरा अक्षर ' क्लीं ' है, जो मंगल ग्रह को नियंत्रित करता है।इसका संबंध दुर्गा की तीसरी शक्ति चंद्रघंटा से है, जिसकी पूजा तीसरे नवरात्रि को होती है। चौथा अक्षर 'चा' है जो बुध को नियंत्रित करता है। इनकी देवी कुष्माण्डा है जिनकी पूजा चौथे नवरात्री को होती है। पांचवां अक्षर 'मुं' है जो गुरु ग्रह को नियंत्रित करता है। इनकी देवी स्कंदमाता है पांचवे नवरात्रि को इनकी पूजा की जाती है। छठा अक्षर 'डा' है जो शुक्र ग्रह को नियंत्रित करता है। छठे नवरात्री को माँ कात्यायिनी की पूजा की जाती है। सातवां अक्षर 'यै' है जो शनि ग्रह को नियंत्रित करता है। इस दिन माँ कालरात्रि की पूजा की जाती है। आठवां अक्षर 'वि' है जो राहू को नियंत्रित करता है । नवरात्री के इस दिन माँ महागौरी की पूजा की जाती है। नौवा अक्षर 'च्चै ' है। जो केतु ग्रह को नियंत्रित करता है। नवरात्री के इस दिन माँ सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है,, जय माता दी अज्ञात

+64 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 150 शेयर
Swami Lokeshanand Mar 27, 2020

गजब बात है, भगवान गर्भ में आए, भीतर उतर आए तो ज्ञान, भक्ति और कर्म तीनों पुष्ट हो गए। दशरथजी के चेहरे पर तो तेज आ ही गया, बाहर भी सब ओर मंगल ही मंगल छा गया, अमंगल रहा ही नहीं। देखो, जड़ को पानी देने से फूल पत्ते अपने आप छा जाते हैं, जलपात्र में नमक डाल दें तो सब जलकणों में नमक आ जाता है, यों भगवान को मना लें तो सब अनुकूल हो जाते हैं। वर्ना भीतर पढ़ाई न हो तो लाख चश्मा बदलो, पढ़ा कैसे जाए? विवेकानन्द जी कहते थे, ये दुनिया कुत्ते की दुम है, संत पकड़े रहे तो सीधी रहे, छोड़ते ही फिर टेढ़ी। ध्यान दो, दुनिया बार बार बनती है, बार बार मिटती है, पर ठीक नहीं होती, दुनिया बदलते बदलते कितने दुनिया से चले गए, दुनिया है कि आज तक नहीं बदली। जिन्हें भ्रम हो कि दुनिया आज ही बिगड़ी है, पहले तो ठीक थी, वे विचार करें कि हिरण्याक्ष कब हुआ? हिरण्यकशिपु, तारकासुर, त्रिपुरासुर, भस्मासुर कब हुए? देवासुर संग्राम कब हुआ? दुनिया तो ऐसी थी, ऐसी है, और रहेगी भी ऐसी ही। आप इसे बदलने के चक्कर में पड़ो ही मत, आप इसे यूं बदल नहीं पाओगे। आप स्वयं बदल जाओ, तो सब बदल जाए। जो स्वयं काँटों में उलझा है, जबतक उसके स्वयं के फूल न खिल जाएँ, वह क्या खाक किसी दूसरे के जीवन में सुगंध भरेगा? हाँ, उसे छील भले ही दे। जबतक भगवान आपके भीतर न उतर आएँ, अपना साधन करते चलो, दूसरे पर ध्यान मत दो। आप दूसरे को ठीक नहीं कर सकते, दूसरा आपको भले ही बिगाड़ डाले। लाख समस्याओं का एक ही हल है, भगवान को भीतर उतार लाओ। अब विडियो देखें- मंगल भवन अमंगल हारी https://youtu.be/_BF-H0AmPK4

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 19 शेयर

+29 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 10 शेयर

+21 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Swami Lokeshanand Mar 26, 2020

दशरथजी ने गुरुजी को अपना दुख सुनाया। उन्हें दुख क्या है? यही कि भगवान नहीं मिले। सोया हुआ मनुष्य भगवान के न मिलने का दुख नहीं मानता, पर जागा हुआ जानता है कि जैसे संतान के बिना भवन सूना है, भगवान के बिना जीवन सूना है। देह मंदिर भगवान को बिठाने के लिए है। देह मंदिर की दीवारें जर्जर हो रही हैं, कब तक खड़ी हैं मालूम नहीं, इनके भरभरा कर गिरने से पहले ही भगवान आ जाएँ, तब जीवन का कोई अर्थ है। गुरुजी ने कहा- धैर्य रखें! राम आएँगे। दशरथजी ने पूछा- तो गुरुजी अब मुझे क्या करना है? गुरुजी ने कहा- परमात्मा करने का फल नहीं है। करने का फल तो सद्गुरू का मिलना है। अब बस अपने घर में बैठ जाओ। घर में, माने घट में, मन में, अंतर्मुख होकर बैठ जाओ। पर यही तो सबसे कठिन है। तन को तो रोक लें, मन कैसे रोकें? जैसे गाडी खड़ी तो हो, पर हो स्टार्ट। ऐसे ही तन लाख बैठा रहे, पर मन तो कामनाओं की भड़भड़ भड़भड़ करता ही रहता है। काम घर से बाहर ले जाता है, कामना घट से बाहर ले जाती है। काम हो तो घर में कैसे बैठे रहें? कामना हो तो घट में कैसे बैठें? और जहाँ कामना हो वहाँ राम कैसे आएँ? आप घट में बैठ जाएँ, माने कामना न रहे, तो भगवान आएँ। बस इसी के लिए नामजप नामक महायज्ञ है। यही यज्ञ का असल रूप है, देह ही यज्ञमंडप है, वासना रहित अंतःकरण ही सूखी लकड़ी है, सत रज तम, त्रिगुण ही जौ चावल तिल हैं, ज्ञान ही अग्नि है, यज्ञ की पूर्णता पर, त्रिगुण-त्रिदेह-त्रिवस्था जल जाने पर, मैं और मेरा के स्वाहा हो जाने पर, जब कामना बचती ही नहीं, अपनाआपा राम ही शेष रहते हैं, एकमात्र ब्रह्म ही बचता है। इसी ब्रह्म को "यज्ञ से बचा हुआ अन्न" कहा जाता है। दशरथजी श्रद्धावान हैं, गुरुजी पर विश्वास करने वाले हैं, विवाद करने वाले नहीं हैं। उन्हें बस यही एक अंतिम यज्ञ करना बाकी रहा, यह यज्ञ संपूर्ण हुआ कि भगवान के पधारने का समय आया। अब विडियो देखें- अनन्यता- परमात्मा प्राप्ति की विधि https://youtu.be/S48p-qsD53M

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 35 शेयर
Neha Sharma, Haryana Mar 27, 2020

😭💐🙏*मेरे आराध्य 🚩🙏भगवान श्रीकृष्ण 🐚👣 जी से संकट की इस घड़ी 🤯😷 में मेरे सभी भाई-बहनों 🎎 के लिए कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु आप सबकी बहन नेहा शर्मा की तहेदिल 💞 से अरदास*🙏💐😭 *समुद्र सभी के लिए एक ही है ... पर.. *कुछ उसमें से मोती ढूंढते है .. *कुछ उसमें से मछली ढूंढते है .. और, *कुछ सिर्फ अपने पैर गीले करते है.., *ज़िदगी भी... समुद्र की भांति ही है, *यह सिर्फ हम पर ही निर्भर करता है, कि, *इस जीवन रुपी समुद्र से *हम क्या पाना चाहते है, *हमें क्या ढूंढ़ना है ? 🌹🙏*जय श्री राधेकृष्णा*🙏🌹 ☘️💨शुभ दोपहर💨☘️ *आज जो लोग *ईश्वर के अस्तित्व* पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करते है उनके लिए मुझे *प्रसिद्ध मोटिवेशनल लेखक शिव खेड़ा* की लिखित किताब *जीत आपकी* की एक कहानी याद आ रही है। कहानी कुछ ऐसी है- एक गाँव में ऐलान होता है , गाँव में बाढ आने वाली है सभी गाँव खाली कर उँची जगह चले जाए , सभी गाँव वाले गाँव खाली कर उँची जगह चले जाते हैं ... सिर्फ एक गाँव वाला जो ईश्वर का भक्त था , वह नहीं गया और कहा कि मुझे मेरे प्रभु पर बहुत विश्वास है.... गाँव के सरपंच ने, मुखिया ने आकर बहुत समझाया पर वह नहीं माना... बाढ़ का पानी बढ़ता गया वह घर के छत पर चढ़ गया, कुछ नाव में बचाव कर्मी उनको बचाने आये तो उनके साथ भी जाने से इनकार कर दिया और कहा कि मुझे भगवान पर पूरा विस्वास है भगवान मुझे बचा लेंगे। बाढ़ का पानी और बढ़ा और पानी छत को छूने लगा तब हेलीकाप्टर से उनको बचाने आये पर वह उनके साथ भी जाने से इनकार कर दिया और बोला मुझे भगवान पर पूरा भरोसा है भगवान मुझे बचा लेंगे। बाढ का पानी और बढ़ा और वह भक्त बह गया और मर गया... जब वह भक्त मर कर ईश्वर के पास पहुंचा तो उसने ईश्वर से गुस्से से कहा, मैं तो आपका भक्त था आप पर मुझे पूरा भरोसा था तो आपने मुझे क्यों नहीं बचाया.. प्रभु जी मुस्करा कर बोले ... आया तो था तुझे बचाने ... कभी सरपंच, मुखिया के रूप में... कभी नाव में बचाव कर्मी के रूप में .... कभी हेलीकाप्टर में आपको बचाने.... पर तुम मानने को तैयार ना थे... तो भाई-बहनों..! सरकार ने... प्रशासन ने... डॉक्टरों ने.... आप सभी को सलाह दे रहे है इस विपदा से निकलने के लिए, यह भी एक प्रकार से ईश्वर का ही रूप है। इनकी सलाह को ईश्वर की सलाह मानकर इनकी बातों पर अमल करें.! यह सब हमारी भलाई के लिए है.... जान है तो जहान है....!! *जय श्री राधेकृष्णा* 👏 🙏🙏🙏🙏🙏

+522 प्रतिक्रिया 71 कॉमेंट्स • 165 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB