TR Madhavan
TR Madhavan Oct 20, 2017

🙏🌺🙏 आज का पंचांग 🙏🌺🙏 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

🙏🌺🙏 आज का  पंचांग 🙏🌺🙏 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

🙏🌺🙏 आज का पंचांग 🙏🌺🙏

दिनाँक -: 20/10/2017,शुक्रवार
कार्तिक, शुक्ल पक्ष
प्रतिपदा
"""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल)

तिथि-----------प्रतिपदा25:37:11 तक
पक्ष-----------------------------शुक्ल
नक्षत्र--------------चित्रा08:38:36
योग-----------विश्कुम्भ15:27:37
करण-------किन्स्तुघ्ना13:06:05
करण---------------भाव25:37:11
वार---------------------------शुक्रवार
माह--------------------------कार्तिक
चन्द्र राशि-----------------------तुला
सूर्य राशि------------------------तुला
रितु------------------------------शरद
आयन-------------------दक्षिणायण
संवत्सर---------------------हेम्लम्बी
संवत्सर (उत्तर)----------साधारण
विक्रम संवत-----------------2074
विक्रम संवत (कर्तक)-------2074
शाका संवत------------------1939

सूर्योदय-----------------06:23:14
सूर्यास्त------------------17:44:15
दिन काल---------------11:21:00
रात्री काल--------------12:39:35
चंद्रास्त------------------18:24:27
चंद्रोदय------------------30:42:26

लग्न-- तुला 2°43' , 182°43'

सूर्य नक्षत्र-----------------------चित्रा
चन्द्र नक्षत्र----------------------चित्रा
नक्षत्र पाया---------------------रजत

🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩

री----चित्रा 08:38:36

रू----स्वाति 15:00:43

रे----स्वाति 21:24:29

रो----स्वाति 27:49:57

💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद
=======================
सूर्य=कन्या 02 ° 44 ' चित्रा , 3 रा
चन्द=तुला 05 ° 38 ' चित्रा ' 4 री
बुध=तुला ,10 ° 21' स्वाति '2 रे
शुक्र=कन्या '12 ° 58' हस्त, 1 पू
मंगल=कन्या03°33 'उoफाo '3 पा
गुरु=तुला 07 ° 45' स्वाति , 1 रू
शनि=वृश्चिक 29 ° 24' ज्येष्ठा '4 यू
राहू=कर्क 26 ° 50 'आश्लेषा , 4 डो
केतु=मकर 26 ° 50 'धनिष्ठा, 2 गी

🚩💮🚩शुभाशुभ मुहूर्त🚩💮🚩

राहू काल 10:39 - 12:04अशुभ
यम घंटा 14:54 - 16:19अशुभ
गुली काल 07:48 - 09:13अशुभ
अभिजित 11:41 -12:26शुभ
दूर मुहूर्त 08:39 - 09:25अशुभ
दूर मुहूर्त 12:26 - 13:12अशुभ

💮 चौघडिया, दिन
चाल 06:23 - 07:48शुभ
लाभ 07:48 - 09:13शुभ
अमृत 09:13 - 10:39शुभ
काल 10:39 - 12:04अशुभ
शुभ 12:04 - 13:29शुभ
रोग 13:29 - 14:54अशुभ
उद्वेग 14:54 - 16:19अशुभ
चाल 16:19 - 17:44शुभ

🚩 चौघडिया, रात
रोग 17:44 - 19:19अशुभ
काल 19:19 - 20:54अशुभ
लाभ 20:54 - 22:29शुभ
उद्वेग 22:29 - 24:04*अशुभ
शुभ 24:04* - 25:39*शुभ
अमृत 25:39* - 27:14*शुभ
चाल 27:14* - 28:49*शुभ
रोग 28:49* - 30:24*अशुभ

💮होरा, दिन
शुक्र 06:23 - 07:20
बुध 07:20 - 08:17
चन्द्र 08:17 - 09:13
शनि 09:13 - 10:10
बृहस्पति 10:10 - 11:07
मंगल 11:07 - 12:04
सूर्य 12:04 - 13:00
शुक्र 13:00 - 13:57
बुध 13:57 - 14:54
चन्द्र 14:54 - 15:51
शनि 15:51 - 16:48
बृहस्पति 16:48 - 17:44

🚩होरा, रात
मंगल 17:44 - 18:48
सूर्य 18:48 - 19:51
शुक्र 19:51 - 20:54
बुध 20:54 - 21:57
चन्द्र 21:57 - 23:01
शनि 23:01 - 24:04
बृहस्पति 24:04* - 25:07
मंगल 25:07* - 26:11
सूर्य 26:11* - 27:14
शुक्र 27:14* - 28:17
बुध 28:17* - 29:21
चन्द्र 29:21* - 30:24

नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

💮दिशा शूल ज्ञान-------पश्चिम
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🚩अग्नि वास ज्ञान -:

1 + 6 + 1= 8 ÷ 4 = 0 शेष
पृथ्वी पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

💮 शिव वास एवं फल -:

1 + 1 + 5 = 7 ÷ 7 = 0 शेष

शमशान भूमि = मृत्यु कारक

💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮

*श्री गोवर्धन पूजा (अन्नकूट भोग)

* बलि पूजा (गौक्रीड़ा )

*श्री निम्बार्क पीठ अन्नकूट महोत्सव श्री श्रीजी बड़ी कुञ्ज

*देव दर्शन समय परिवर्तन ॥

💮🚩💮शुभ विचार💮🚩💮

इक्षुरापः पयो मूलं ताम्बूलं फलमौषधम्
भक्षयित्वाऽपिकर्तव्याःस्नानदानादिकाःक्रियाः ।।
।।चा o नी o।।

ऊख, जल, दूध, पान, फल और औषधि इन वस्तुओं के भोजन करने पर भी स्नान दान आदि क्रिया कर सकते हैं।

🚩💮🚩सुभाषितानि🚩💮🚩

गीता -: मोक्षसन्यास योगअo-18

तमेव शरणं गच्छ सर्वभावेन भारत।,
तत्प्रसादात्परां शान्तिं स्थानं प्राप्स्यसि शाश्वतम्‌॥,

हे भारत! तू सब प्रकार से उस परमेश्वर की ही शरण में (लज्जा, भय, मान, बड़ाई और आसक्ति को त्यागकर एवं शरीर और संसार में अहंता, ममता से रहित होकर एक परमात्मा को ही परम आश्रय, परम गति और सर्वस्व समझना तथा अनन्य भाव से अतिशय श्रद्धा, भक्ति और प्रेमपूर्वक निरंतर भगवान के नाम, गुण, प्रभाव और स्वरूप का चिंतन करते रहना एवं भगवान का भजन, स्मरण करते हुए ही उनके आज्ञा अनुसार कर्तव्य कर्मों का निःस्वार्थ भाव से केवल परमेश्वर के लिए आचरण करना यह 'सब प्रकार से परमात्मा के ही शरण' होना है) जा।, उस परमात्मा की कृपा से ही तू परम शांति को तथा सनातन परमधाम को प्राप्त होगा॥,62॥,

💮🚩दैनिक राशिफल🚩💮

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत्।।

🐑मेष
रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। जमीन-जायदाद संबंधी बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। चिंता रहेगी।

🐂वृष
रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। जल्दबाजी न करें। वाहनादि चलाते समय सावधानी रखें।

👫मिथुन
बुरी सूचना मिल सकती है। बेचैनी रहेगी। चिंता बनी रहेगी। दौड़धूप अधिक होगी। शांति बनाए रखें। आजीविका के क्षेत्र में लाभ होगा।

🦀कर्क
प्रयास सफल रहेंगे। काम की प्रशंसा होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। विवाद न करें। कुसंगति से बचें। जमीन संबंधी विवाद की आशंका रहेगी।

🐅सिंह
प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। उत्साहवर्धक सूचना मिलेगी। पुराने संगी-साथी मिलेंगे। मान-सम्मान मिलेगा। अप्रिय समाचार मानसिक अस्थिरता बढ़ाएगा।

🙍🏻कन्या
प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। बेरोजगारी दूर होगी। नौकरी, निवेश व यात्रा मनोनुकूल लाभ देंगे। आप प्रसन्न व उत्साहित रहेंगे।

⚖तुला
विवाद न करें। जल्दबाजी घातक सिद्ध हो सकती है। कानूनी अड़चन सामने आएगी। फालतू खर्च होगा।कोई रुका काम बनने से प्रसन्नता होगी।

🦂वृश्चिक
रुका हुआ धन मिल सकता है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। उन्नति होगी। चिंता बनी रहेगी। अधिकारियों का विश्वास हासिल करेंगे।

🏹धनु
कार्यस्थल पर सुधार होगा। योजना फलीभूत होगी। पूछ-परख बढ़ेगी। निवेश व यात्रा मनोनुकूल रहेंगे। लाभदायी योजनाएं हाथ में आएंगी।

🐊मकर
अध्यात्म में आस्था बढ़ेगी। कानूनी सहायता मिलेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। घर में अशांति रहेगी। आपके द्वारा लिए निर्णय लाभप्रद रहेंगे।

🍯कुंभ
चोट, चोरी व विवाद से हानि संभव है। कुसंगति से हानि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। आवेश पर नियंत्रण रखें।

🐠मीन
कानूनी बाधा दूर होगी। घर में प्रसन्नता रहेगी। धनलाभ होगा। ईष्ट मित्रों से मुलाकात होगी। लाभ होगा। नए अवसर प्राप्त होंगे।

बलिप्रतिपदा
२०/१०/२०१७

कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा, बलिप्रतिपदाके रूपमें मनाई जाती है । इस दिन भगवान श्री विष्णुने दैत्यराज बलिको पातालमें भेजकर बलिकी अतिदानशीलताके कारण होनेवाली सृष्टिकी हानि रोकी । बलिराजाकी अतिउदारताके परिणामस्वरूप अपात्र लोगोंके हाथोंमें संपत्ति जानेसे सर्वत्र त्राहि-त्राहि मच गई । तब वामन अवतार लेकर भगवान श्रीविष्णुने बलिराजासे त्रिपाद भूमिका दान मांगा । उपरांत वामनदेवने विराट रूप धारण कर दो पगमेंही संपूर्ण पृथ्वी एवं अंतरिक्ष व्याप लिया । तब तीसरा पग रखनेके लिए बलिराजाने उन्हें अपना सिर दिया । वामनदेवने बलिको पातालमें भेजते समय वर मांगनेके लिए कहा । उस समय बलिने वर्षमें तीन दिन पृथ्वीपर बलिराज्य होनेका वर मांगा । वे तीन दिन हैं – नरक चतुर्दशी, दीपावलीकी अमावस्या एवं बलिप्रतिपदा । तबसे इन तीन दिनोंको ‘बलिराज्य’ कहते हैं ।

बलिप्रतिपदाके दिन प्रातः अभ्यंगस्नानके उपरांत सुहागिनें अपने पतिका औक्षण करती हैं । दोपहरको भोजनमें विविध पकवान बनाए जाते हैं । इस दिन लोग नए वस्त्र धारण करते हैं एवं संपूर्ण दिन आनंदमें बिताते हैं । कुछ लोग इस दिन बलिराजाकी पत्नी विंध्यावलि सहित प्रतिमा बनाकर उनका पूजन करते हैं । इसके लिए गद्दीपर चावलसे बलिकी प्रतिमा बनाते हैं । इस पूजाका उद्देश्य है, कि बलिराजा वर्षभर अपनी शक्तिसे पृथ्वीके जीवोंको कष्ट न पहुंचाएं तथा अन्य अनिष्ट शक्तियोंको शांत रखें

यह विक्रम संवत कालगणनाका आरंभ दिन है । ईसा पूर्व पहली शताब्दीमें शकोंने भारतपर आक्रमण किया । वर्तमान उज्जयिनी नगरीके राजा विक्रमादित्यने, मालवाके युवकोंको युद्धनिपुण बनाया । शकोंपर आक्रमण कर उन्हें देशसे निकाल भगाया एवं धर्माधिष्ठित साम्राज्य स्थापित किया । इस विजयके प्रतीकस्वरूप सम्राट विक्रमादित्यने विक्रम संवत् नामक कालगणना, आरंभ की । ईसा पूर्व सन् सत्तावनसे यह कालगणना प्रचलित है । इससे स्पष्ट होता है कि, कालगणनाकी संकल्पना भारतीय संस्कृतिमें कितनी पुरानी है । ईसा पूर्व कालमें संस्कृतिके वैभवकी, सर्वांगीण सभ्यताकी और एकछत्र राज्यव्यवस्थाकी यह एक निशानी है ।

कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा वर्षके साढेतीन प्रमुख शुभ मुहूर्तोंमेंसे आधा मुहूर्त है । इसलिए भी इस दिनका विशेष महत्त्व है । 

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏
🌺🌺🌺🌺🌺

+156 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 85 शेयर

कामेंट्स

Sandeep Chatterjee Oct 20, 2017
जय वामन देवता जय गौ माता ॐ नमः शिवाय

Narayan Tiwari Oct 24, 2017
आज का पंचांग भेजने के लिए धन्यवाद

Pt Vinod Pandey 🚩 Jan 26, 2020

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄सुप्रभातम🌄 🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓 🌻सोमवार, २७ जनवरी २०२०🌻 सूर्योदय: 🌄 ०७:१६ सूर्यास्त: 🌅 ०५:५१ चन्द्रोदय: 🌝 ०८:५० चन्द्रास्त: 🌜२०:०४ अयन 🌕 उत्तरायणे (दक्षिणगोलीय) ऋतु: ❄️ शिशिर शक सम्वत: 👉 १९४१ (विकारी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७६ (परिधावी) मास 👉 माघ पक्ष 👉 शुक्ल तिथि: 👉 तृतीया (पूर्ण रात्रि) नक्षत्र: 👉 शतभिषा (पूर्ण रात्रि) योग: 👉 वरीयान् (२६:५२ तक) प्रथम करण: 👉 तैतिल (१९:१६ तक) द्वितीय करण: 👉 गर (पूर्ण रात्रि) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 मकर चंद्र 🌟 कुम्भ मंगल 🌟 वृश्चिक (उदित, पूर्व) बुध 🌟 मकर (उदय, पूर्व) गुरु 🌟 धनु (अस्त, पश्चिम, मार्गी) शुक्र 🌟 कुम्भ (उदित, पश्चिम) शनि 🌟 मकर (अस्त, पश्चिम, मार्गी) राहु 🌟 मिथुन केतु 🌟 धनु 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त: 👉 १२:०९ से १२:५१ अमृत काल: 👉 २५:२५ से २७:११ होमाहुति: 👉 सूर्य अग्निवास: 👉 पाताल दिशा शूल: 👉 पूर्व नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌ चन्द्र वास: 👉 पश्चिम दुर्मुहूर्त: 👉 १२:५१ से १३:३३ राहुकाल: 👉 ०८:३३ से ०९:५२ राहु काल वास: 👉 उत्तर-पश्चिम यमगण्ड: 👉 ११:११ से १२:३० 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - अमृत २ - काल ३ - शुभ ४ - रोग ५ - उद्वेग ६ - चर ७ - लाभ ८ - अमृत ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - चर २ - रोग ३ - काल ४ - लाभ ५ - उद्वेग ६ - शुभ ७ - अमृत ८ - चर नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 पश्चिम-दक्षिण (दर्पण देखकर अथवा खीर का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ चूड़ाकर्म एवं गृहारम्भ+सर्वदेव प्रतिष्ठा मुहूर्त आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज ३१:१५ तक जन्मे शिशुओ का नाम शतभिषा नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय, तृतीय, चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (गो, सा, सी, सू) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त: ०७:१५ - ०८:१० मकर ०८:१० - ०९:३६ कुम्भ ०९:३६ - ११:०० मीन ११:०० - १२:३३ मेष १२:३३ - १४:२८ वृषभ १४:२८ - १६:४३ मिथुन १६:४३ - १९:०५ कर्क १९:०५ - २१:२३ सिंह २१:२३ - २३:४१ कन्या २३:४१ - २६:०२ तुला २६:०२ - २८:२२ वृश्चिक २८:२२ - ३०:२५ धनु ३०:२५ - ३१:१४ मकर 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त: ०७:१५ - ०८:१० शुभ मुहूर्त ०८:१० - ०९:३६ रज पञ्चक ०९:३६ - ११:०० शुभ मुहूर्त ११:०० - १२:३३ शुभ मुहूर्त १२:३३ - १४:२८ रज पञ्चक १४:२८ - १६:४३ शुभ मुहूर्त १६:४३ - १९:०५ चोर पञ्चक १९:०५ - २१:२३ शुभ मुहूर्त २१:२३ - २३:४१ रोग पञ्चक २३:४१ - २६:०२ शुभ मुहूर्त २६:०२ - २८:२२ मृत्यु पञ्चक २८:२२ - ३०:२५ अग्नि पञ्चक ३०:२५ - ३१:१४ शुभ मुहूर्त 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज का दिन आपको यश दिलाएगा। शारीरिक एवं मानसिक रूप से भी तंदुरुस्त रहेंगे। कार्य व्यवसाय में कई महत्त्वपूर्ण फैसले निकट भविष्य में लाभदायक सिद्ध होंगे। आज एक साथ अधिक कार्य करना पसंद करेंगे इससे व्यवसाय वृद्धि के साथ ही धन लाभ भी उचित मात्रा में हो सकेगा। विरोधी भी मुह ताकते रह जाएंगे। आज प्रेम प्रसंगों में समय बर्बाद ना करे इसकी जगह कार्य क्षेत्र पर समय दें अन्यथा लाभ की स्थिति ज्यादा देर नही टिकेगी। घरेलू एवं व्यक्तिगत सुख के साधनों पर आज अधिक खर्च होगा महिलाये महंगे सौंदर्य प्रसाधन पर खर्च करेंगी। छोटी मोटी बातो को छोड़ परिवार में सुख शांति बनी रहेगी। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज का दिन कार्यो में सफलता दिलाने वाला रहेगा फिर भी अतिआवश्यक कार्यो को आज ही पूर्ण करने का प्रयास करें बाद में स्थिति प्रतिकूल बनने वाली है। दिन का आरंभ किसी शुभ समाचार की प्राप्ति से होगा। महिलाये आज पुरुषों की अपेक्षा अधिक शांत रहेंगी घरेलू वातावरण को क्लेश मुक्त रखने में महत्त्वपूर्ण योगदान देंगी। आज आपको पैतृक व्यवसाय से अधिक लाभ होगा लेकिन आर्थिक लाभ में विलंब होने से कुछ समय के लिए परेशानी रहेगी संध्या का समय अधिक व्यस्त रहेगा रिश्तेदारी के व्यवहार निभाने में समय देना पड़ेगा। घर के बड़े लोग आपसे प्रसन्न रहेंगे रात्रि के समय अचानक अशुभ समाचार मिलने से बेचैनी रहेगी। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आज आप प्रातः काल से ही अधूरे कामो को पूर्ण करने में जुट जाएंगे लेकिन फिर भी अपने किये कार्यो से पूरी तरह आश्वस्त नही होंगे अधिक बेहतर करने मनोवृति कार्यो में विलंब करेगी आज आप जैसा भी करेंगे वह अन्य लोगो की अपेक्षा पहले ही बेहतर रहेगा। भ्रम में पड़कर स्वयं का नुकसान कर लेंगे लेकिन फिर भी आज का दिन आर्थिक रूप से हर हाल में संतोषजनक रहेगा पूर्व नियोजित खर्च भी होंगे महिलाये दिखावे के कारण आवश्यकता से अधिक खर्च करेंगी जिससे घरेलू कलह का कारण बन सकती है। संध्या के समय मनोरंजन के अवसर मिलने से मानसिक थकान मिटेगी। आज कुछ ऐसी घटनाएं घटेंगी जिनकी निकट भविष्य में पुनरावृति होगी। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज आपकी समस्त दिनचर्या अस्त-व्यस्त रहेगी। जिस भी कार्य मे हाथ डालेंगे उसमे असफलता मिलेगी अथवा विलंब होगा। आज लोभ अथवा किसी दुर्व्यसन के कारण सामाजिक क्षेत्र पर मान भंग हो सकता है घर परिवार में भाई बंधुओ से मतांतर के कारण तीखी झड़प होगी। आज आपका पक्ष लेने वाला कोई नही मिलेगा ना ही व्यवसाय में ही किसी का उचित सहयोग मिल सकेगा। महिलाये घरेलू कार्यो से परेशानी अनुभव करेंगी इसके विपरीत मनोरंजन पर अधिक ध्यान देंगी जिससे कुछ हानि भी हो सकती है। बाहर घूमने अथवा किसी समारोह के निमंत्रण में जाने की योजना बनाएंगे परन्तु यहां भी वैर विरोध का सामना करना पड़ेगा। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज का दिन आशा से कुछ कम लाभ देगा फिर भी आवश्यकताओं की पूर्ति आसानी से कर लेंगे। नौकरी पेशा एवं व्यवसायी वर्ग को आज अतिरिक्त कार्य करना पड़ेगा इसका लाभ भी जल्द ही मिल जाएगा। व्यापार में वृद्धि होगी लेकिन आर्थिक लाभ के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। आज आपसे या किसी निकटस्थ से कुछ नुकसान भी हो सकता है जिसका सीधा असर धन और व्यवसाय पर भी पड़ेगा। सामाजिक व्यवहार पहले से अधिक बनेंगे परन्तु इनमें से अधिकांश लाभ की जगह खर्च ही करवाएंगे। परिवार में सुख शांति रहेगी बीच मे किसी गलतफहमी के कारण मामूली नारजगी रह सकती है। संध्या का समय थकान वाला रहेगा फिर भी सुख से बिताएंगे। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आज का दिन भी आपकी कीर्ति में वृद्धि करने वाला रहेगा। दिन के आरंभ में पुराने कार्य निपटाने में व्यस्त रहेंगे शीघ्र ही अन्य अनुबंध मिलने से आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। सामाजिक व्यवहारों से भी आज जम कर लाभ उठाएंगे। मध्यान के समय कार्य क्षेत्र पर सुस्ती रहेगी परन्तु संध्या से व्यस्तता बढ़ जाएगी। आज किसी अपरिचित को उधार ना दें निश्चित ही डूबेगा। सरकारी अथवा अन्य महत्त्वपूर्ण कार्य ले देकरआज पूर्ण करने का प्रयास करें लाभदायक रहेगा इसके बाद परिस्तितियो में बदलाव आने से कार्य सफलता में संदेह रहेगा। पारिवारिक वातावरण में आनंद मंगल रहेगा आज मांगलिक कार्यकर्मो में भी व्यस्त रहेंगे इनपर खर्च भी करना पड़ेगा। 🌐 http://www.vkjpandey.in तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आज का दिन अधिक थकान वाला रहेगा आप आज आवश्यक कार्यो को प्रातः काल मे ही पूर्ण करने का प्रयास करेंगे लेकिन कुछ कार्य फिर भी अधूरे रह सकते है। दैनिक कार्य आज अस्त-व्यस्त रहेंगे। व्यवसायी लोग थकान एवं उन्माद के कारण बेमन से कार्य करेंगे परन्तु आर्थिक रूप से दिन बेहतर रहेगा। पुराने आश्वासन आज फलीभूत होने से धन आगमन सुनिश्चित होगा। भविष्य की योजनाओं पर खर्च होगा। कार्य क्षेत्र पर सहयोगियों का बर्ताव कुछ समय के लिए क्रोध दिलाएगा। मांगलिक कार्यो पर खर्च अधिक होगा धर्म कर्म के लिए भी समय निकाल लेंगे। घर का वातावरण लगभग सामान्य ही रहेगा। विपरीत लिंगीय के कारण दुख होगा। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) आज के दिन आप अतिआत्मविश्वास की भावना से ग्रसित रहेंगे यह घरेलू कलह एवं व्यवसाय में हानि का कारण बन सकती है।आज आप स्वयं को हर कार्य मे श्रेष्ठ दिखाने का प्रयास करेंगे जिस कारण किसी से वर्चस्व को लेकर तकरार होने की संभावना है। मन इच्छित कार्य ना होने से क्रोध आएगा। व्यवसायी वर्ग को पूर्व में किये निवेश का लाभ दुगना होकर मिलेगा परन्तु नवीन कार्यो में धन उलझ सकता है। धार्मिक कार्यो में दिखावे अथवा स्वार्थवश सहभागिता देंगे। सामाजिक क्षेत्र पर सम्मान में कमी आ सकती है बोलचाल में संयम रखें। विद्यार्थ वर्ग आज मानसिक दुविधा में रहने से श्रेष्ठ प्रदर्शन से चूकेंगे। घर मे मन कम ही लगेगा। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) आपके लिए आज का दिन मिश्रित फलदायी रहेगा। आज आपके लगभग सभी कार्य अंत में जाकर आर्थिक अथवा किसी अन्य कारण से अटक सकते है। आर्थिक मामलों को सुलझाने में किसी की चापलूसी करनी पड़ेगी अन्यथा उलझने ज्यादा बढ़ सकती है। सेहत भी नरम-गरम रहेगी इसकी अनदेखी कर कार्यो में जुटे रहेंगे जिससे बाद में तकलीफ बढ़ने की संभावना है। सभी प्रकार के जमीन अथवा सरकारी कार्य आज निरस्त रखें व्यर्थ भागदौड़ के बाद भी हासिल कुछ नही होगा। व्यर्थ के खर्च अधिक परेशान करेंगे धन कोष में कमी का कारण बनेंगे। घर के सदस्य आपसी विचारो से असहमत रहेंगे। बुजुर्गो के स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखें। मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आज के दिन कार्य क्षेत्र एवं गृहस्थ में उठापटक वाली स्थिति रहेगी। व्यवसायी वर्ग भी एक साथ कई काम हाथ मे लेने पर उलझन की स्थिति से गुजरेंगे। मध्यान तक अधिक परिश्रम करना पड़ेगा परन्तु लाभ आशानुकूल नही रहने से निराशा होगी। अधिक कमाने की लालसा अनैतिक प्रवृतियों की ओर खींचेंगी जिसका आरंभ में लाभ मिलेगा परन्तु बाद में हानि दिखती नजर आएगी। नकारात्मक विचार मन पर हावी रहेंगे संध्या के बाद किसी बुजुर्ग के सहयोग से कामचलाऊ स्थिति बन सकेगी धन लाभ होने से कार्य चलते रहेंगे। किसी मांगलिक कार्यक्रम को लेकर अधिक खर्च करना पड़ेगा। महिलाओ का व्यवहार अटपटा रहेगा। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)आज के दिन धन लाभ आपके व्यवहार के ऊपर काफी हद तक निर्भर रहेगा स्वभाव में चंचलता ना आने दे लक्ष्य के प्रति दृढ़ रहें आशा से अधिक लाभ हो सकता है। व्यवसायी वर्ग व्यवसाय में तेजी रहने से उत्साहित रहेंगे व्यस्तता भी अन्य दिनों की अपेक्षा अधिक रहेगी। नए कार्यो का विचार बना कर रखें जल्द ही इस पर काम करना पड़ेगा। कार्य क्षेत्र पर अधीनस्थों के कारण थोड़ी असुविधा बनेगी फिर भी स्थिति संभाल लेंगे। दाम्पत्य जीवन मे खुशिया बढ़ेंगी महिलाये मानसिक रूप से चंचल फिर भी आर्थिक एवं अन्य कारणों से सहयोगी रहेंगी। आकस्मिक यात्रा के योग बन सकते है संभव हो तो टालें वरना उचित लाभ से वंचित रह सकते है। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज का दिन भी सावधानी से व्यतीत करें। कार्य क्षेत्र पर प्रतिस्पर्धी आपको क्षति पहुचाने के लिए कुछ भी कर सकते है। घर मे भी किसी की चुगली का शिकार बनना पड़ेगा जिससे कुछ समय के लिए माहौल खराब होगा लेकिन शीघ्र ही स्थिति स्पष्ट होने से शांति स्थापित हो जाएगी। आध्यात्म में रुचि रहेगी साथ ही आडम्बर भी रहने से प्राप्ति न्यून रहेगी। आज अपने कार्य छोड़ अन्य की समस्या सुलझाने में स्वयं का नुकसान कर लेंगे जिसकी भरपाई बाद में असंभव ही रहेगी। परिवार अथवा रिश्तेदारी में विवाह अथवा अन्य मांगलिक आयोजन पर खर्च करने पड़ेंगे। महिलाये किसी ना किसी कारण से नाराज रहेंगी। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰

+41 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 87 शेयर

🇮🇳🇮🇳🇮🇳 ⚜🕉⚜ 🇮🇳🇮🇳🇮🇳 *🙏ॐ श्रीगणेशाय नम:🙏* *🙏शुभप्रभातम् जी🙏* *_🇮🇳आपको परिवार , मित्र , सगे - सम्बन्धी व सभी देशवासियों सहित भारत के 71 वें गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ। 🇮🇳_* *इतिहास की मुख्य घटनाओं सहित पञ्चांग-मुख्यांश ..* *📝आज दिनांक 👉* *📜 26 जनवरी 2020* *रविवार* *🏚नई दिल्ली अनुसार🏚* *🇮🇳शक सम्वत-* 1941 *🇮🇳विक्रम सम्वत-* 2076 *🇮🇳मास-* माघ *🌓पक्ष-* शुक्लपक्ष *🗒तिथि-* द्वितीया-30:17 तक *🗒पश्चात्-* तृतीया *🌠नक्षत्र-* धनिष्ठा-30:49 तक *🌠पश्चात्-* शतभिषा *💫करण-* बालव-17:22 तक *💫पश्चात्-* कौलव *✨योग-* व्यतीपात-26:24 तक *✨पश्चात्-* वरियान *🌅सूर्योदय-* 07:12 *🌄सूर्यास्त-* 17:55 *🌙चन्द्रोदय-* 08:15 *🌛चन्द्रराशि-* मकर-17:39 तक *🌛पश्चात्-* कुम्भ *🌞सूर्यायण-* उत्तरायन *🌞गोल-* दक्षिणगोल *💡अभिजित-* 12:12 से 12:55 *🤖राहुकाल-* 16:34 से 17:55 *🎑ऋतु-* शिशिर *❄अवधि* सर्दियों का मौसम *⏳दिशाशूल-* पश्चिम *✍विशेष👉* *_🔅आज रविवार को 👉 माघ सुदी द्वितीया 30:17 तक पश्चात् तृतीया शुरु , चन्द्र दर्शन शुभ ,पंचक 17:39 से प्रारम्भ , बुध धनिष्ठा में 29:03 पर , पंचक 17:39 से , द्विपुष्कर योग 28:36 से , राजयोग , भारतीय गणतन्त्र दिवस (71वाँ) , जम्मू और कश्मीर स्थापना दिवस व अन्तर्राष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस।_* *_🔅कल सोमवार को 👉 माघ सुदी तृतीया पूर्ण रात्रि , गौरी तृतीया , द्विपुष्कर योग सूर्योदय तक , बुध पश्चिम में उदय 20:14 पर , पंचक जारी , हिजरी जमादि उलआखिर /उस्मानी 6 माह शुरु ( मुस्लिम ) , श्री कॉनराड संगमा जन्म दिवस व श्री आर. वेंकटरमन स्मृति दिवस।_* *🎯आज की वाणी👉* 🌹 *गणानां गणपतिं नौमि* *निधीनां च प्रदायकम्।* *राष्ट्रस्य प्रेमिणां देवं* *गणतन्त्रं नो शुभं भवेत्।।* *अर्थात्👉* _समस्त गणों के शासक, समस्त निधियों के दाता और राष्ट्रभक्तों के देवता गौरीपुत्र गणेश को मैं प्रणाम करता/करती हूँ। उनकी कृपा से हमारे लिए गणतन्त्र दिन शुभ हो।_ 🌹 *26 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ👉* 1666 - फ्रांस ने इंग्लैड के ख़िलाफ़ युद्ध की घोषणा की। 1736 - पोलैंड के स्टैनिस्लाव प्रथम ने अपने सिंहासन का त्याग किया। 1748 - ब्रिटेन, नीदरलैंड, ऑस्ट्रिया और सार्डिनिया ने फ्रांस विरोधी संधि पर हस्ताक्षर किये। 1788 - ऑस्ट्रेलिया ब्रिटेन का उपनिवेश बना। 1837 - मिशिगन को अमेरिका का 26वां प्रांत बनाया गया। 1841 - हांगकांग ब्रिटिश कब्जे में चला गया। 1845 - ब्रिटिश जनरल चार्ल्स गार्डन सूडान में मारे गये। 1930- ब्रिटिश शासन के अंतर्गत भारत में पहली बार स्वराज दिवस मनाया गया। 1931- 'सविनय अवज्ञा आंदोलन' के दौरान ब्रिटिश सरकार से बातचीत के लिए महात्मा गांधी रिहा किये गए। 1931 - हंगरी और ऑस्ट्रिया ने 'शांति संधि' पर हस्ताक्षर किये। 1934 - जर्मनी और पौलैंड के बीच दस वर्षीय अनाक्रमण संधि हुई। 1950 - भारत एक संप्रभु लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित हुआ और भारत का संविधान लागू हुआ। 1950 - स्वतंत्र भारत के पहले और अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी ने अपने पद से त्यागपत्र दिया और डा. राजेंद्र प्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने। 1950 - उत्तर प्रदेश के सारनाथ स्थित अशोक स्तंभ के शेरों को राष्ट्रीय प्रतीक की मान्यता मिली। 1950 - वर्ष 1937 में गठित भारतीय संघीय न्यायालय ('फैडेरल कोर्ट ऑफ इंडिया') का नाम सर्वोच्च न्यायालय ('सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया') कर दिया गया 1950 - भारत का युद्ध पोत एच.एम.आई.एस. दिल्ली आई.एन.एस. दिल्ली के रूप में बदल दिया गया। 1963 - मोर के अद्भुत सौंदर्य के कारण भारत सरकार ने 26 जनवरी को इसे राष्ट्रीय पक्षी घोषित किया। 1972- युद्ध में शहीद सैनिकों की याद में दिल्ली के इंडिया गेट पर 'अमर जवान राष्ट्रीय स्मारक' की स्थापना की गयी। 1981- पूर्वोत्तर भारत में हवाई यातायात सुगम बनाने को ध्यान में रखते हुए हवाई सेवा वायुदूत प्रारम्भ हुई। 1982- पर्यटकों को विलासितापूर्ण रेल यात्रा का आनंद दिलाने के लिए भारतीय रेल ने पैलेस ऑन व्हील्स सेवा शुरू की। 1990 - रोमानिया के उपराष्ट्रपति डी. माजिलू ने इस्तीफ़ा दिया। 1991 - इराक ने अपने सात विमान ईरान भेजे। 1992 - मारीटानिया में विपक्ष के प्रदर्शंकारियों पर पुलिस की गोली से अनेक लोग घायल हुए। 1994 - रावलपिंडी (पाकिस्तान) में प्रथम महिला पुलिस थाने का उद्घाटन। 1999 - महिलाओं के यौन शोषण पर विश्व सम्मेलन का ढाका (बांग्लादेश) में आयोजन। 2000 - कोंकण रेलवे परियोजना पूर्ण हुई और प्रथम यात्री गाड़ी चलाई गयी। 2001- गुजरात के भुज में 7.7 तीव्रता का भीषण भूकंप। इस भूकंप में लाखों लोग मारे गए थे। 2002 - भारत के 53वें गणतंत्र दिवस पर अग्नि-2 मिसाइल आकर्षण का केंद्र रही। 2003 - ईरान के राष्ट्रपति 'सैयद मोहम्म्द खातमी' गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल हुए। 2004 - ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ ने माइक्रोसाफ़्ट अध्यक्ष बिल गेट्स को 'नाइट' की उपाधि प्रदान करने की घोषणा की। 2005 - गणतंत्र दिवस के मौक़े पर मणिपुर व असम में बम फटे पर कोई हताहत नहीं हुआ। 2008 - 59वें गणतन्त्र दिवस के अवसर पर देश की पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने परेड की सलामी ली। 2008 - एन.आर. नारायणमूर्ति को फ्रांस सरकार के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'द ऑफिसर ऑफ द लीजन ऑफ ऑवर' से सम्मानित किया गया। 2008 - ब्रिटेन की एक अदालत ने श्रीलंका के उग्रवादी संगठन लिट्टे के नेता मुरीधरन को नौ महीने की क़ैद की सज़ा सुनाई। 2010 - भारत ने मीरपुर में बांग्लादेश से दूसरा टेस्ट 10 विकेट से जीतते हुए सीरीज़ पर 2-0 से कब्ज़ा कर लिया। 2010 - भारत की राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने पद्म पुरस्कार पाने वाले 130 व्यक्तियों के नामों की घोषणा की। इनमें रंगमंच जगत् की किंवदंति इब्राहिम-अल-क़ाज़ी और जोहरा सहगल, मशहूर अदाकार रेखा और आमिर ख़ान, ऑस्कर विजेता ए आर रहमान और रसूल पोकुटटी, फार्मूला़ रेसर नारायण कार्तिकेयन, क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल और क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के गुरु रमाकांत आचरेकर शामिल हैं। 2014 अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में एक पर्यटक नाव के डूबने से 21 लोग मारे गये। 2019 - असम राइफल्‍स ने नया इतिहास रचते हुए परेड में नारी शक्ति का प्रदर्शन किया , राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लांसनायक नजीर अहमद वानी को मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्‍मानित किया। 2019 - नेपाल के युवा क्रिकेटर रोहित पाउडेल ने तोड़ा सचिन तेंडुलकर का रेकॉर्ड, बने सबसे युवा हाफ सेंचुरियन। 2019 - 'नारी शक्ति' बना ऑक्सफर्ड का हिंदी वर्ड ऑफ द ईयर। 2019 - हरियाणा के हिसार में स्वाइन फ्लू से 11 लोगों की मौत, 12 और रोगियों की रिपोर्ट पॉजीटिव, 170 पहुंचा आंकड़ा , करनाल और यमुनानगर में भी कुल तीन की मौत। *26 जनवरी को जन्मे व्यक्ति👉* 1906 - सत्यवती देवी - साम्यवादी महिला एवं स्वतंत्रता सेनानी थीं। 1915 - रानी गाइदिनल्यू - भारतीय महिला स्वतंत्रता सेनानी। 1923 - देवनाथ पाण्डेय 'रसाल' - प्रसिद्ध कवि। 1933 - अनिल गाँगुली - हिन्दी फ़िल्मों के निर्देशक थे। 1967 - प्रदीप सोमासुंदरन, भारतीय पार्श्वगायक। *26 जनवरी को हुए निधन👉* 1556 - मुग़ल सम्राट हमायुँ की मृत्यु। 1823 - एडवर्ड जेनर - प्रसिद्ध कायचिकित्सक। 1954 - मानवेन्द्र नाथ राय - वर्तमान शताब्दी के भारतीय दार्शनिकों में क्रान्तिकारी विचारक तथा मानवतावाद के प्रबल समर्थक। 1968 - माधव श्रीहरि अणे - भारत की आज़ादी के लिए संघर्ष करने वाले स्वतंत्रता सेनानियों में से एक। 2005 - प्रख्यात इतिहासकार विलियम दाएकिन का निधन। 2012 - एम० ओ० एच० फारूक मारीकर - केंद्र शासित प्रदेश पांडिचेरी के तीन बार के मुख्यमंत्री थे। वह भारत के किसी भी राज्य के सबसे युवा मुख्यमंत्री थे। 2012 - करतार सिंह दुग्गल - पंजाबी, हिंदी और उर्दू भाषाओं में लिखने वाले प्रसिद्ध साहित्यकारक थे। 2015 - आर. के. लक्ष्मण मशहूर कार्टूनिस्ट। *26 जनवरी के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव👉* 🔅 भारतीय गणतन्त्र दिवस (71वाँ) । 🔅 जम्मू और कश्मीर स्थापना दिवस । 🔅 अन्तर्राष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस। *कृपया ध्यान दें जी👉* *यद्यपि इसे तैयार करने में पूरी सावधानी रखने की कोशिश रही है। फिर भी किसी घटना , तिथि या अन्य त्रुटि के लिए मेरी कोई जिम्मेदारी नहीं है ।* 🌻आपका दिन *_मंगलमय_* हो जी ।🌻 ⚜⚜ 🌴 💎 🌴⚜⚜

+12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 4 शेयर

🟢🟢🟢 ⚜🕉⚜ 🟢🟢🟢 *🙏ॐ श्रीगणेशाय नम:🙏* *🙏शुभप्रभातम् जी🙏* *इतिहास की मुख्य घटनाओं सहित पञ्चांग-मुख्यांश ..* *📝आज दिनांक 👉* *📜 25 जनवरी 2020* *शनिवार* *🏚नई दिल्ली अनुसार🏚* *🇮🇳शक सम्वत-* 1941 *🇮🇳विक्रम सम्वत-* 2076 *🇮🇳मास-* माघ *🌓पक्ष-* शुक्लपक्ष *🗒तिथि-* प्रतिपदा-28:33 तक *🗒पश्चात्-* द्वितीया *🌠नक्षत्र-* श्रवण-28:36 तक *🌠पश्चात्-* धनिष्ठा *💫करण-* किन्स्तुघ्ना-15:50 तक *💫पश्चात्-* बव. *✨योग-* सिद्धि-26:41 तक *✨पश्चात्-* व्यतीपात *🌅सूर्योदय-* 07:12 *🌄सूर्यास्त-* 17:54 *🌙चन्द्रोदय-* 07:32 *🌛चन्द्रराशि-* मकर-दिनरात *🌞सूर्यायण-* उत्तरायन *🌞गोल-* दक्षिणगोल *💡अभिजित-* 12:12 से 12:54 *🤖राहुकाल-* 09:53 से 11:13 *🎑ऋतु-* शिशिर *❄अवधि* सर्दियों का मौसम *⏳दिशाशूल-* पूर्व *✍विशेष👉* *_🔅आज शनिवार को 👉 माघ सुदी प्रतिपदा 28:33 तक पश्चात् द्वितीया शुरु , माघ शुक्लपक्ष प्रारम्भ , शुक्र पूर्वभाद्रपद में 17:07 पर , गुप्त नवरात्र प्रारम्भ , सूर्य की अभिजित निवृत्ति 18:20 पर , सर्वार्थसिद्धियोग / कार्यसिद्धियोग 28:35 तक , द्विपुष्कर योग 28:35 से , श्री वल्लभ जयन्ती , भारतीय पर्यटन दिवस , राष्ट्रीय मतदाता दिवस व हिमाचल प्रदेश स्थापना दिवस ।_* *_🔅कल रविवार को 👉 माघ सुदी द्वितीया 30:17 तक पश्चात् तृतीया शुरु , चन्द्र दर्शन शुभ ,पंचक 17:39 से प्रारम्भ , बुध धनिष्ठा में 29:03 पर , द्विपुष्कर योग 28:36 से , राजयोग , भारतीय गणतन्त्र दिवस (71वाँ) , जम्मू और कश्मीर स्थापना दिवस व अन्तर्राष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस।_* *🎯आज की वाणी👉* 🌹 *प्राप्नोति वै वित्तमसद्बलेन* *नित्योत्त्थानात् प्रज्ञया पौरुषेण।* *न त्वेव सम्यग् लभते प्रशंसां* *न वृत्तमाप्नोति महाकुलानाम्॥* *भावार्थ👉* _बेईमानी से, बराबर कोशिश से, चतुराई से कोई व्यक्ति धन तो प्राप्त कर सकता है, लेकिन सदाचार और उत्तम कुलीन पुरुष को मिलने वाली प्रशंसा और श्रेष्ठ चरित्र को (सदाचार की दृढ़ता के बिना) नहीं प्राप्त कर सकता ।_ 🌹 *25 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ👉* 1565 - तेल्लीकोटा की लड़ाई में विजयनगर साम्राज्य नष्ट हुआ। 1579 - डच गणराज्य की स्थापना हुई। 1755 - मॉस्को विश्वविद्यालय की स्थापना हुई। 1791 - ब्रिटिश संसद ने संवैधानिक अधिनियम 1791 पारित किया, क्वीबेक के पुराने प्रांत को ऊपरी और निचले कनाडा में विभाजित किया। 1831 - पौलैंड की संसद ने स्वतंत्रता की घोषणा की। 1839 - चिली में भूकम्प से 10,000 लोगों की मौत हुई। 1952 - सार के प्रशासन को लेकर फ्राँस और जर्मनी के बीच विवाद हुआ। 1959 - ब्रिटेन ने पूर्वी जर्मनी से व्यापार समझौता किया। 1969 - अमेरिका और उत्तरी विएतनाम के बीच पेरिस में शांति वार्ता प्रारम्भ। 1971 - हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य घोषित किया गया। 1975 - शेख मुजीबुर्रहमान बांगला देश के राष्ट्रपति बने। 1980 ‌- मदर टेरेसा को भारत रत्न से सम्मानित किया गया। 1983 - आचार्य विनोबा भावे को भारत रत्न से सम्मानित करने की घोषणा। 1991 - यूगोस्लाविया में तनाव दूर करने के लिए सर्बिया और क्रोएशिया के नेताओं की बैठक हुई। 1992 - रूस के राष्ट्रपति बोरिस येल्त्सिन ने अमेरिकी शहरों को लक्ष्य करके तैनात परमाणु प्रक्षेपास्त्रों को हटाने की घोषणा की। 1994 - तुर्की का प्रथम दूरसंचार उपग्रह 'तुर्कसैट प्रथम' अटलांटिक महासागर में गिरा। 2002 - अर्जुन सिंह भारतीय वायु सेना के पहले 'एयर मार्शल' बने। 2002 - दो अमेरिकी सांसदों सहित 98 को पद्म सम्मान दिये जाने की घोषणा की। 2003 - चीन के लोकतंत्र समर्थक नेता फेंग जू को देश निकाला दिया गया। 2004 - अंतरिक्ष यान ऑपर्च्युनिटी मंग्रल ग्रह पर सफलतापूर्वक उतरा। 2005 -‌‌‌ महाराष्ट्र के सतारा स्थित एक देवी के मंदिर में भगदड़‌ मचने से 300 से अधिक मरे। 2006 - लिट्टे प्रमुख प्रभाकरन जिनेवा में वार्ता के लिए सहमत। 2008 - उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने गंगा-एक्सप्रेस वे परियोजना को मंज़ूरी प्रदान की। 2008 - सरकार ने 13 लोगों को वर्ष 2008 के प्रतिष्ठित नागरिक अलंकरण पद्म विभूषण से सम्मानित करने की घोषण की। 2008 - पाकिस्तानी सेना ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम मध्यम दूरी के प्रक्षेपास्त्र शाहीन-I (हत्फ़-4) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। 2009- केन्द्र सरकार ने पद्मश्री व पद्मभूषण पुरस्कारों की घोषणा की। 2010 - इराक की राजधानी बगदाद में तीन मिनी बसों में बम विस्फोट के जरिए होटलों को निशाना बनाया गया। इनमें कम से कम 36 व्यक्ति मारे गए और 71 अन्य घायल हो गए। 2015 - मिस कोलम्बिया पोलिना वेगा वर्ष 2014 की मिस यूनिवर्स बनीं। 2019 - सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने निजी टीवी चैनलों की विज्ञापन दरों को 11 प्रतिशत बढ़ाने का फैसला किया। 2019 - नानाजी देशमुख, भूपेन हजारिका और प्रणव मुखर्जी को भारत रत्न , 112 हस्तियों को अलग-अलग कैटिगरी में पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई। *25 जनवरी को जन्मे व्यक्ति👉* 1824 - माइकल मधुसूदन दत्त - बंगला भाषा के प्रसिद्ध कवि । 1874 - ब्रिटिश साहित्यकार समरसेट मॉम का जन्म हुआ। 1882 - वर्जीनिया वुल्फ का जन्म हुआ। 1930 - राजेन्द्र अवस्थी - भारत के प्रसिद्ध साहित्यकार, पत्रकार और 'कादम्बिनी पत्रिका' के सम्पादक। *25 जनवरी को हुए निधन👉* 1918- विलियम वेडरबर्न - भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के अध्यक्ष। 1953- नलिनी रंजन सरकार - भारतीय व्यापारी, उद्योगपति, अर्थशास्त्री और सार्वजनिक नेता थे। 1969 - अनंता सिंह - भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारियों में से एक थे। 2001 - विजयाराजे सिंधिया - 'भारतीय जनता पार्टी' की प्रसिद्ध नेता थीं। 2019 - कृष्णा सोबती - प्रसिद्ध लेखिका, जिन्होंने हिन्दी की कथा-भाषा को अपनी विलक्षण प्रतिभा से अप्रतिम ताज़गी़ और स्फूर्ति प्रदान की। *25 जनवरी के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव👉* 🔅 श्री बल्लभ जयन्ती। 🔅 भारतीय पर्यटन दिवस । 🔅 राष्ट्रीय मतदाता दिवस । 🔅 हिमाचल प्रदेश स्थापना दिवस। *कृपया ध्यान दें जी👉* *यद्यपि इसे तैयार करने में पूरी सावधानी रखने की कोशिश रही है। फिर भी किसी घटना , तिथि या अन्य त्रुटि के लिए मेरी कोई जिम्मेदारी नहीं है ।* 🌻आपका दिन *_मंगलमय_* हो जी ।🌻 ⚜⚜ 🌴 💎 🌴⚜⚜

+16 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Rameshanand Guruji Jan 26, 2020

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -: 26/01/2020,रविवार* द्वितीया, शुक्ल पक्ष माघ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि --------द्वितीया 30:14:58 तक पक्ष ---------------------------शुक्ल नक्षत्र ---------धनिष्ठा 30:47:42 योग --------व्यतापता 26:23:19 करण ----------बालव 17:19:50 करण ---------कौलव 30:14:58 वार -------------------------रविवार माह ---------------------------- माघ चन्द्र राशि -----मकर 17:38:17 चन्द्र राशि --------------------कुम्भ सूर्य राशि --------------------- मकर रितु --------------------------शिशिर आयन --------------------उत्तरायण संवत्सर -------------------- विकारी संवत्सर (उत्तर) ----------परिधावी विक्रम संवत ----------------2076 विक्रम संवत (कर्तक) ----2076 शाका संवत -----------------1941 वृन्दावन सूर्योदय -----------------07:10:00 सूर्यास्त -----------------17:53:31 दिन काल ---------------10:43:30 रात्री काल -------------13:16:07 चंद्रास्त -----------------19:15:55 चंद्रोदय -----------------31:29:12 लग्न ----मकर 11°25' , 281°25' सूर्य नक्षत्र -------------------श्रवण चन्द्र नक्षत्र ------------------धनिष्ठा नक्षत्र पाया ---------------------ताम्र *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* गा ----धनिष्ठा 11:05:41 गी ----धनिष्ठा 17:38:17 गु ----धनिष्ठा 24:12:18 गे ----धनिष्ठा 30:47:42 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मकर 11°22 ' श्रवण, 1 खी चन्द्र =मकर 24°23 ' धनिष्ठा' 1 गा बुध = मकर 21°10 ' श्रवण' 4 खो शुक्र= कुम्भ 20°55, पू o भा o ' 1 से मंगल=वृश्चिक 21°30' ज्येष्ठा ' 2 या गुरु=धनु 18°50 ' पू oषाo , 2 धा शनि=धनु 26°43' उ oषा o ' 1 भे राहू=मिथुन 12 °52 ' आर्द्रा , 2 घ केतु=धनु 12 ° 52 ' मूल , 4 भी *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 16:33 - 17:54 अशुभ यम घंटा 12:32 - 13:52 अशुभ गुली काल 15:13 - 16:33 अशुभ अभिजित 12:10 -12:53 शुभ दूर मुहूर्त 16:28 - 17:11 अशुभ 🚩पंचक 17:38 - अहोरात्र अशुभ 💮चोघडिया, दिन उद्वेग 07:10 - 08:30 अशुभ चर 08:30 - 09:51 शुभ लाभ 09:51 - 11:11 शुभ अमृत 11:11 - 12:32 शुभ काल 12:32 - 13:52 अशुभ शुभ 13:52 - 15:13 शुभ रोग 15:13 - 16:33 अशुभ उद्वेग 16:33 - 17:54 अशुभ 🚩चोघडिया, रात शुभ 17:54 - 19:33 शुभ अमृत 19:33 - 21:13 शुभ चर 21:13 - 22:52 शुभ रोग 22:52 - 24:32* अशुभ काल 24:32* - 26:11* अशुभ लाभ 26:11* - 27:51* शुभ उद्वेग 27:51* - 29:30* अशुभ शुभ 29:30* - 31:10* शुभ 💮होरा, दिन सूर्य 07:10 - 08:04 शुक्र 08:04 - 08:57 बुध 08:57 - 09:51 चन्द्र 09:51 - 10:45 शनि 10:45 - 11:38 बृहस्पति 11:38 - 12:32 मंगल 12:32 - 13:25 सूर्य 13:25 - 14:19 शुक्र 14:19 - 15:13 बुध 15:13 - 16:06 चन्द्र 16:06 - 16:59 शनि 16:59 - 17:54 🚩होरा, रात बृहस्पति 17:54 - 18:59 मंगल 18:59 - 20:06 सूर्य 20:06 - 21:13 शुक्र 21:13 - 22:19 बुध 22:19 - 23:25 चन्द्र 23:25 - 24:32 शनि 24:32* - 25:38 बृहस्पति 25:38* - 26:44 मंगल 26:44* - 27:51 सूर्य 27:51* - 28:57 शुक्र 28:57* - 30:03 बुध 30:03* - 31:10 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान-------------पश्चिम* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा चिरौजी खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 2 + 1 + 1 = 4 ÷ 4 = 0 शेष मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 2 + 2 + 5 = 9 ÷ 7 = 2 शेष गौरि सन्निधौ = शुभ कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * मोहन का भोग ,टोपा,दुशाला धारण राधाबल्लभ जी वृन्दावन * 71 वॉ गणतंत्र दिवस *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* अहो वत ! विचित्राणि चरितानि महात्मनाम् । लक्ष्मी तृणाय मन्यन्ते तद्भारेण नमन्ति च ।। ।चा o नी o।। देखिये क्या आश्चर्य है? बड़े लोग अनोखी बाते करते है. वे पैसे को तो तिनके की तरह मामूली समझते है लेकिन जब वे उसे प्राप्त करते है तो उसके भार से और विनम्र होकर झुक जाते है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: श्रद्धात्रयविभागयोग अo-17 तस्मादोमित्युदाहृत्य यज्ञदानतपः क्रियाः।, प्रवर्तन्ते विधानोक्तः सततं ब्रह्मवादिनाम्‌॥, इसलिए वेद-मन्त्रों का उच्चारण करने वाले श्रेष्ठ पुरुषों की शास्त्र विधि से नियत यज्ञ, दान और तपरूप क्रियाएँ सदा 'ॐ' इस परमात्मा के नाम को उच्चारण करके ही आरम्भ होती हैं॥,24॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा लाभदायक रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति हो सकती है। कारोबार फायदेमंद रहेगा। घर-परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। किसी के व्यवहार से हृदय को ठेस पहुंच सकती है। ऐश्वर्य के साधन प्राप्त होंगे। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। 🐂वृष बनते कामों में अवरोध उत्पन्न होगा। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। क्रोध पर नियंत्रण रखें। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। घर-परिवार की चिंता रहेगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यवसाय मनोनुकूल चलेगा। आय बनी रहेगी। दूसरों पर भरोसा न करें। जोखिम न उठाएं। 👫मिथुन व्यावसायिक यात्रा लाभदायक रहेगी। बेरोजगारी दूर करने की योजना बनेगी। प्रतिष्ठित व्यक्तियों का सहयोग मिलेगा। लेनदारी वसूल करने के प्रयास सफल रहेंगे। घर-परिवार की चिंता रहेगी। भाग्य का भरपूर साथ प्राप्त होगा। आय बनी रहेगी। विवाद से बचें। 🦀कर्क किसी प्रतिभाशाली व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। व्यवसाय में वृद्धि होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। कोई बड़ा काम करने का मन बन सकता है। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। थकान महसूस होगी। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। 🐅सिंह चोट व रोग से बाधा संभव है। नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। समाज में मान-सम्मान मिलेगा। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। सुख के साधन प्राप्त होंगे। लभा के अवसर हाथ आएंगे। लेन-देन में सावधानी रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। 🙎कन्या तीर्थयात्रा की योजना बनेगी। अध्यात्म में रुचि बढ़ेगी। कानूनी अड़चन दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। विरोध होगा। स्वास्थ्य पर खर्च हो सकता है। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा। वस्तुएं संभालकर रखें। ⚖तुला रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। परिवार तथा नजदीकी लोगों के साथ मनोरंजन का समय मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। मनपसंद भोजन का आनंद मिलेगा। जल्दबाजी से बचें। लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। आलस्य हावी रहेगा। 🦂वृश्चिक विवाद से क्लेश संभव है। बुरी खबर मिल सकती है। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। आय में कमी रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। अपेक्षित कार्य समय पर न होने से तनाव रहेगा। खर्च की अधिकता रहेगी। आर्थिक नुकसान हो सकता है। 🏹धनु मेहनत का फल पूरा-पूरा मिलेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। मित्र व संबंधियों का सहयोग मिलेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। किसी बड़ी बाधा का निवारण होगा। काम समय पर पूर्ण होंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। निवेश शुभ रहेगा। 🐊मकर शोक समाचार मिल सकता है, धैर्य रखें। पारिवारिक उलझनें बढ़ सकती हैं। किसी अपने का व्यवहार दिल को ठेस पहुंचा सकता है। दौड़धूप अधिक रहेगी। किसी बड़े निर्णय को लेने में जल्दबाजी न करें। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। लेन-देन में सावधानी रखें। धैर्य रखें। लाभ होगा। 🍯कुंभ सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। मेहनत का फल मिलेगा। पार्टनरों से सहयोग प्राप्त होगा। कार्यसिद्धि होगी। आय में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। कोई बड़ा काम करने की हिम्मत जुटा पाएंगे। बाहर जाने की योजना बनेगी। व्यवसाय में लाभ होगा। जल्दबाजी से बचें। 🐟मीन व्यवसाय लाभदायक रहेगा। घर में मेहमानों का आगमन होगा। उन पर स्वागत-सत्कार में व्यय होगा। आत्मसम्मान बना रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। कार्यवृद्धि की योजना बनेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। पार्टनरों में मतभेद हो सकता है। संयम बनाए रखें। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺 *आचार्य नीरज पाराशर (वृन्दावन)* (व्याकरण,ज्योतिष,एवं पुराणाचार्य) 09897565893,09412618599

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Rameshanand Guruji Jan 25, 2020

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -:25/01/2020,शनिवार* प्रतिपदा, शुक्ल पक्ष माघ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि ---------प्रतिपदा28:30:40 तक पक्ष ---------------------------शुक्ल नक्षत्र ----------श्रवण 28:34:32 योग -------------सिद्वि 26:13:39 करण -----किन्स्तुघ्ना 15:47:41 करण ------------भाव 28:30:40 वार ------------------------शनिवार माह ---------------------------- माघ चन्द्र राशि -------------------मकर सूर्य राशि ---------------------मकर रितु --------------------------शिशिर आयन ---------------------उत्तरायण संवत्सर ----------------------विकारी संवत्सर (उत्तर) ----------परिधावी विक्रम संवत ----------------2076 विक्रम संवत (कर्तक)------2076 शाका संवत ----------------1941 वृन्दावन सूर्योदय --------------- 07:10:21 सूर्यास्त -----------------17:52:42 दिन काल ---------------10:42:21 रात्री काल -------------13:17:18 चंद्रास्त -----------------18:20:27 चंद्रोदय -----------------31:29:33 लग्न ----मकर 10°24' , 280°24' सूर्य नक्षत्र -------------------श्रवण चन्द्र नक्षत्र -------------------श्रवण नक्षत्र पाया ---------------------ताम्र *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* खी ----श्रवण 09:10:00 खू ----श्रवण 15:36:40 खे ----श्रवण 22:04:51 खो ----श्रवण 28:34:32 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मकर 09°22 ' श्रवण, 1 खी चन्द्र =मकर 12°23 ' श्रवण ' 1 खी बुध = मकर 18°10 ' श्रवण' 4 खो शुक्र= कुम्भ 19°55, शतभिषा ' 4 सू मंगल=वृश्चिक 19°30' ज्येष्ठा ' 1 नो गुरु=धनु 17°50 ' पू oषाo , 2 धा शनि=धनु 26°43' उ oषा o ' 1 भे राहू=मिथुन 12 °52 ' आर्द्रा , 2 घ केतु=धनु 12 ° 52 ' मूल , 4 भी *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 09:51 - 11:11 अशुभ यम घंटा 13:52 - 15:12 अशुभ गुली काल 07:10 - 08:31 अशुभ अभिजित 12:10 -12:53 शुभ दूर मुहूर्त 08:36 - 09:19 अशुभ 💮चोघडिया, दिन काल 07:10 - 08:31 अशुभ शुभ 08:31 - 09:51 शुभ रोग 09:51 - 11:11 अशुभ उद्वेग 11:11 - 12:32 अशुभ चर 12:32 - 13:52 शुभ लाभ 13:52 - 15:12 शुभ अमृत 15:12 - 16:32 शुभ काल 16:32 - 17:53 अशुभ 🚩चोघडिया, रात लाभ 17:53 - 19:32 शुभ उद्वेग 19:32 - 21:12 अशुभ शुभ 21:12 - 22:52 शुभ अमृत 22:52 - 24:31* शुभ चर 24:31* - 26:11* शुभ रोग 26:11* - 27:51* अशुभ काल 27:51* - 29:30* अशुभ लाभ 29:30* - 31:10* शुभ 💮होरा, दिन शनि 07:10 - 08:04 बृहस्पति 08:04 - 08:57 मंगल 08:57 - 09:51 सूर्य 09:51 - 10:44 शुक्र 10:44 - 11:38 बुध 11:38 - 12:32 चन्द्र 12:32 - 13:25 शनि 13:25 - 14:19 बृहस्पति 14:19 - 15:12 मंगल 15:12 - 16:06 सूर्य 16:06 - 16:59 शुक्र 16:59 - 17:53 🚩होरा, रात बुध 17:53 - 18:59 चन्द्र 18:59 - 20:06 शनि 20:06 - 21:12 बृहस्पति 21:12 - 22:18 मंगल 22:18 - 23:25 सूर्य 23:25 - 24:31 शुक्र 24:31* - 25:38 बुध 25:38* - 26:44 चन्द्र 26:44* - 27:51 शनि 27:51* - 28:57 बृहस्पति 28:57* - 30:04 मंगल 30:04* - 31:10 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान-------------पूर्व* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 1 + 7 + 1 = 9 ÷ 4 = 1 शेष पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 1 + 1 + 5 = 0 ÷ 7 = 0 शेष शमशान वास = मृत्यु कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * गुप्त नवरात्रि प्रारम्भ * सर्वार्थ सिद्धि योग 28:34 तक *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* आयुः कर्म च वित्तञ्च विद्या निधनमेव च । पञ्चैतानि च सृज्यन्ते गर्भस्थस्यैव देहिनः ।। ।।चा o नी o।। जब बच्चा माँ के गर्भ में होता है तो यह पाच बाते तय हो जाती है... १. कितनी लम्बी उम्र होगी. २. वह क्या करेगा ३. और ४. कितना धन और ज्ञान अर्जित करेगा. ५. मौत कब होगी. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: श्रद्धात्रयविभागयोग अo-17 ॐ तत्सदिति निर्देशो ब्रह्मणस्त्रिविधः स्मृतः।, ब्राह्मणास्तेन वेदाश्च यज्ञाश्च विहिताः पुरा॥, ॐ, तत्‌, सत्‌-ऐसे यह तीन प्रकार का सच्चिदानन्दघन ब्रह्म का नाम कहा है, उसी से सृष्टि के आदिकाल में ब्राह्मण और वेद तथा यज्ञादि रचे गए॥,23॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। जुए-सट्टे व लॉटरी से दूर रहें। व्यवसाय मनोनुकूल रहेगा। विरोधी सक्रिय रहेंगे। जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। किसी अपने का व्यवहार समझ नहीं आएगा। सुख के साधनों पर खर्च होगा। किसी बड़ी समस्या से निजात मिलेगी। 🐂वृष फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। कर्ज लेना पड़ सकता है। अपेक्षित कार्यों में विलंब होने से मन खिन्न रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। शत्रुभय रहेगा। परिवार की चिंता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निरंतरता रहेगी। अपरिचित व्यक्ति से सावधान रहें। 👫मिथुन संतान पक्ष की चिंता रहेगी। विरोधी सक्रिय रहेंगे। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। यात्रा मनोनुकूल रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। आय व रोजगार में वृद्धि होगी। मित्र व संबंधी सहायता को आगे आएंगे। मेहमानों पर व्यय होगा। जल्दबाजी न करें। 🦀कर्क घर-बाहर तनाव रहेगा। लोगों से प्रतिकूलता रहेगी। नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नौकरी में अधिकार वृद्धि हो सकती है। मनोनुकूल तबादला हो सकता है। आय में निरंतरता रहेगी। अपेक्षित कार्य पूरे होंगे। 🐅सिंह तंत्र-मंत्र में रुचि बढ़ेगी। किसी मार्गदर्शक का सहयोग मिलेगा। लोगों की बातों में न आएं। कोर्ट व कचहरी में दबदबा बना रहेगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। व्यवसाय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें। थकान महसूस होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। 🙎कन्या चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। पुराना रोग परेशान कर सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। अज्ञात भय रहेगा। नया कार्य प्रारंभ करने की योजना टालें। यात्रा में जल्दबाजी न करें। घर-बाहर अशांति रहेगी। धैर्य रखें। आय बनी रहेगी। ⚖तुला भागदौड़ अधिक रहेगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। कोर्ट व कचहरी के कार्य अनुकूल रहेंगे। शत्रुओं का पराभव रहेगा। अधिकार प्राप्ति के योग हैं। परिवार के सदस्यों का सहयोग मिलेगा। व्यवसाय लाभदायक चलेगा। प्रसन्नता रहेगी। आंखों में पीड़ा हो सकती है। 🦂वृश्चिक कष्ट, भय या तनाव का वातावरण बन सकता है। लेन-देन में सावधानी रखें। मकान, दुकान व जमीन खरीदने की योजना बनेगी। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। धनहानि हो सकती है। आय में वृद्धि होगी। जोखिम लेने का साहस कर पाएंगे। रुके कार्य पूर्ण होंगे। 🏹धनु विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। पार्टी व पिकनिक का आनंद प्राप्त होगा। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। नौकरी में अनुकूलता प्राप्त होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। रोजगार में वृद्धि होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। शुभ समय। 🐊मकर परिवार के साथ मनोरंजक यात्रा हो सकती है। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। क्रोध व आलस्य पर नियंत्रण रखें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🍯कुंभ मेहनत की अधिकता से स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। बुरी खबर मिल सकती है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। अपेक्षित कार्यों में विलंब होने से तनाव रहेगा। विवेक व धैर्य का प्रयोग करें। लाभ होगा। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें। 🐟मीन घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। मेहनत का फल मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। पारिवारिक सदस्यों व मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। कोई बड़ी समस्या दूर हो सकती है। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें। महत्वाकांक्षाएं बढ़ेंगी। प्रयास अधिक करें। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺 *आचार्य नीरज पाराशर (वृन्दावन)* (व्याकरण,ज्योतिष,एवं पुराणाचार्य) 09897565893,09412618599

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Neha Sharma, Haryana Jan 27, 2020

*जय श्री राधेकृष्णा*🥀🥀🙏 *शुभ प्रभात् वंदन*🥀🥀🙏 *स्नान कब और कैसे करें घर की समृद्धि बढ़ाना हमारे हाथ में है। सुबह के स्नान को धर्म शास्त्र में चार उपनाम दिए हैं। *1* *मुनि स्नान।* जो सुबह 4 से 5 के बीच किया जाता है। . *2* *देव स्नान।* जो सुबह 5 से 6 के बीच किया जाता है। . *3* *मानव स्नान।* जो सुबह 6 से 8 के बीच किया जाता है। . *4* *राक्षसी स्नान।* जो सुबह 8 के बाद किया जाता है। ▶मुनि स्नान सर्वोत्तम है। ▶देव स्नान उत्तम है। ▶मानव स्नान सामान्य है। ▶राक्षसी स्नान धर्म में निषेध है। . किसी भी मानव को 8 बजे के बाद स्नान नहीं करना चाहिए। . *मुनि स्नान .......* 👉घर में सुख ,शांति ,समृद्धि, विद्या , बल , आरोग्य , चेतना , प्रदान करता है। . *देव स्नान ......* 👉 आप के जीवन में यश , कीर्ती , धन, वैभव, सुख ,शान्ति, संतोष , प्रदान करता है। . *मानव स्नान.....* 👉काम में सफलता ,भाग्य, अच्छे कर्मों की सूझ, परिवार में एकता, मंगलमय , प्रदान करता है। . *राक्षसी स्नान.....* 👉 दरिद्रता , हानि , क्लेश ,धन हानि, परेशानी, प्रदान करता है । . किसी भी मनुष्य को 8 के बाद स्नान नहीं करना चाहिए। . पुराने जमाने में इसी लिए सभी सूरज निकलने से पहले स्नान करते थे। *खास कर जो घर की स्त्री होती थी।* चाहे वो स्त्री माँ के रूप में हो, पत्नी के रूप में हो, बहन के रूप में हो। . घर के बड़े बुजुर्ग यही समझाते सूरज के निकलने से पहले ही स्नान हो जाना चाहिए। . *ऐसा करने से धन, वैभव लक्ष्मी, आप के घर में सदैव वास करती है।* . उस समय...... एक मात्र व्यक्ति की कमाई से पूरा हरा भरा परिवार पल जाता था, और आज मात्र पारिवार में चार सदस्य भी कमाते हैं तो भी पूरा नहीं होता। . उस की वजह हम खुद ही हैं। पुराने नियमों को तोड़ कर अपनी सुख सुविधा के लिए हमने नए नियम बनाए हैं। . प्रकृति ......का नियम है, जो भी उस के नियमों का पालन नहीं करता, उस का दुष्परिणाम सब को मिलता है। . इसलिए अपने जीवन में कुछ नियमों को अपनायें और उन का पालन भी करें । . आप का भला हो, आपके अपनों का भला हो। . मनुष्य अवतार बार बार नहीं मिलता। . अपने जीवन को सुखमय बनायें। जीवन जीने के कुछ जरूरी नियम बनायें। ☝ *याद रखियेगा !* 👇 *संस्कार दिये बिना सुविधायें देना, पतन का कारण है।* *सुविधाएं अगर आप ने बच्चों को नहीं दिए तो हो सकता है वह थोड़ी देर के लिए रोएं।* *पर संस्कार नहीं दिए तो वे जिंदगी भर रोएंगे।* मृत्यु उपरांत एक सवाल ये भी पूछा जायेगा कि अपनी अँगुलियों के नाम बताओ । जवाब:- अपने हाथ की छोटी उँगली से शुरू करें :- (1)जल (2) पथ्वी (3)आकाश (4)वायु (5) अग्नि ये वो बातें हैं जो बहुत कम लोगों को मालूम होंगी । 5 जगह हँसना करोड़ों पाप के बराबर है 1. श्मशान में 2. अर्थी के पीछे 3. शोक में 4. मन्दिर में 5. कथा में सिर्फ 1 बार ये message भेजो बहुत लोग इन पापों से बचेंगे ।। अकेले हो? परमात्मा को याद करो । परेशान हो? ग्रँथ पढ़ो । उदास हो? कथाएं पढ़ो। टेन्शन में हो? भगवत् गीता पढ़ो । फ्री हो? अच्छी चीजें करो हे परमात्मा हम पर और समस्त प्राणियों पर कृपा करो...... *सूचना* क्या आप जानते हैं ? हिन्दू ग्रंथ रामायण, गीता, आदि को सुनने,पढ़ने से कैन्सर नहीं होता है बल्कि कैन्सर अगर हो तो वो भी खत्म हो जाता है। व्रत,उपवास करने से तेज बढ़ता है, सरदर्द और बाल गिरने से बचाव होता है । आरती----के दौरान ताली बजाने से दिल मजबूत होता है । ये मैसेज असुर भेजने से रोकेगा मगर आप ऐसा नहीं होने दें और मैसेज सब नम्बरों को भेजें । श्रीमद् भगवद्गीता, भागवत्पुराण और रामायण का नित्य पाठ करें। . ''कैन्सर" एक खतरनाक बीमारी है... बहुत से लोग इसको खुद दावत देते हैं ... बहुत मामूली इलाज करके इस बीमारी से काफी हद तक बचा जा सकता है ... अक्सर लोग खाना खाने के बाद "पानी" पी लेते हैं ... खाना खाने के बाद "पानी" ख़ून में मौजूद "कैन्सर "का अणु बनाने वाले '''सैल्स'''को '''आक्सीजन''' पैदा करता है... ''हिन्दु ग्रंथों में बताया गया है कि... खाने से पहले 'पानी' पीना अमृत" है... खाने के बीच मे 'पानी' पीना शरीर की 'पूजा' है ... खाना खत्म होने से पहले 'पानी' पीना "औषधि'' है... खाने के बाद 'पानी' पीना बीमारियों का घर है... बेहतर है खाना खत्म होने के कुछ देर बाद 'पानी' पीयें ... ये बात उनको भी बतायें जो आपको 'जान' से भी ज्यादा प्यारे हैं ... हरि हरि जय जय श्री हरि !!! रोज एक सेब नो डाक्टर । रोज पांच बादाम, नो कैन्सर । रोज एक निंबू, नो पेट बढ़ना । रोज एक गिलास दूध, नो बौना (कद का छोटा)। रोज 12 गिलास पानी, नो चेहरे की समस्या । रोज चार काजू, नो भूख । रोज मन्दिर जाओ, नो टेन्शन । रोज कथा सुनो मन को शान्ति मिलेगी । "चेहरे के लिए ताजा पानी"। "मन के लिए गीता की बातें"। "सेहत के लिए योग"। और खुश रहने के लिए परमात्मा को याद किया करो । अच्छी बातें फैलाना पुण्य का कार्य है....किस्मत में करोड़ों खुशियाँ लिख दी जाती हैं । जीवन के अंतिम दिनों में इन्सान एक एक पुण्य के लिए तरसेगा ।

+276 प्रतिक्रिया 53 कॉमेंट्स • 966 शेयर

🚩 *श्री गणेशाय नम:🚩* *🌲27 - Jan - 2020🌲* *📔🌹गीता-सार🌹📔* *एवं प्रवर्तितं चक्रं नानुवर्तयतीह यः ।* *अघायुरिन्द्रियारामो मोघं पार्थ स जीवति ॥ (१६)* *✍भावार्थ : हे पृथापुत्र! जो मनुष्य जीवन में इस प्रकार वेदों द्वारा स्थापित यज्ञ-चक्र (नियत-कर्म) का अनुसरण नहीं करता हैं, वह निश्चय ही पापमय जीवन व्यतीत करता है। ऎसा मनुष्य इन्द्रियों की तुष्टि के लिये व्यर्थ ही जीता है।* 📜 *दैनिक पंचांग* 📜 *🌲27 - Jan - 2020🌲* *🛑पंचांग-श्रीमाधोपुर🛑* 🔅 तिथि तृतीया पूर्ण रात्रि 🔅 नक्षत्र शतभिषा पूर्ण रात्रि 🔅 करण तैतिल 19:18:01 🔅 पक्ष शुक्ल 🔅 योग वरियान 26:50:45 🔅 वार सोमवार ☀ सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएँ 🔅 सूर्योदय 07:16:32 🔅 चन्द्रोदय 08:56:59 🔅 चन्द्र राशि कुम्भ 🔅 सूर्यास्त 18:04:27 🔅 चन्द्रास्त 20:18:00 🔅 ऋतु शिशिर ☀ हिन्दू मास एवं वर्ष 🔅 शक सम्वत 1941 विकारी 🔅 कलि सम्वत 5121 🔅 दिन काल 10:47:54 🔅 विक्रम सम्वत 2076 🔅 मास अमांत माघ 🔅 मास पूर्णिमांत माघ ☀ शुभ और अशुभ समय ☀ शुभ समय 🔅 अभिजित 12:18:53 - 13:02:05 ☀ अशुभ समय 🔅 दुष्टमुहूर्त : 13:02:05 - 13:45:16 15:11:40 - 15:54:51 🔅 कंटक 09:26:06 - 10:09:18 🔅 यमघण्ट 12:18:53 - 13:02:05 🔅 राहु काल 08:37:31 - 09:58:30 🔅 कुलिक 15:11:40 - 15:54:51 🔅 कालवेला या अर्द्धयाम 10:52:30 - 11:35:41 🔅 यमगण्ड 11:19:30 - 12:40:29 🔅 गुलिक काल 14:01:28 - 15:22:28 ☀ दिशा शूल 🔅 दिशा शूल पूर्व ☀ चन्द्रबल और ताराबल ☀ ताराबल 🔅 अश्विनी, कृत्तिका, मृगशिरा, आर्द्रा, पुनर्वसु, पुष्य, मघा, उत्तरा फाल्गुनी, चित्रा, स्वाति, विशाखा, अनुराधा, मूल, उत्तराषाढ़ा, धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद ☀ चन्द्रबल 🔅 मेष, वृषभ, सिंह, कन्या, धनु, कुम्भ 📜 *चौघडिया-मुहूर्त* 📜 🔅अमृत 07:16:32 - 08:37:31 🔅काल 08:37:31 - 09:58:30 🔅शुभ 09:58:30 - 11:19:30 🔅रोग 11:19:30 - 12:40:29 🔅उद्वेग 12:40:29 - 14:01:28 🔅चल 14:01:28 - 15:22:28 🔅लाभ 15:22:28 - 16:43:27 🔅अमृत 16:43:27 - 18:04:27 🔅चल 18:04:27 - 19:43:24 🔅रोग 19:43:24 - 21:22:22 🔅काल 21:22:22 - 23:01:19 🔅लाभ 23:01:19 - 24:40:17 🔅उद्वेग 24:40:17 - 26:19:15 🔅शुभ 26:19:15 - 27:58:12 🔅अमृत 27:58:12 - 29:37:10 🔅चल 29:37:10 - 31:16:08 *🏮लग्न-तालिका🏮* सूर्योदय का समय: 07:16:32 सूर्योदय के समय लग्न मकर चर 281°30′48″ 🔅 मकर चर शुरू: 06:34 AM समाप्त: 08:18 AM 🔅 कुम्भ स्थिर शुरू: 08:18 AM समाप्त: 09:46 AM 🔅 मीन द्विस्वाभाव शुरू: 09:46 AM समाप्त: 11:13 AM 🔅 मेष चर शुरू: 11:13 AM समाप्त: 12:49 PM 🔅 वृषभ स्थिर शुरू: 12:49 PM समाप्त: 02:46 PM 🔅 मिथुन द्विस्वाभाव शुरू: 02:46 PM समाप्त: 05:00 PM 🔅 कर्क चर शुरू: 05:00 PM समाप्त: 07:20 PM 🔅 सिंह स्थिर शुरू: 07:20 PM समाप्त: 09:37 PM 🔅 कन्या द्विस्वाभाव शुरू: 09:37 PM समाप्त: 11:52 PM 🔅 तुला चर शुरू: 11:52 PM समाप्त: अगले दिन 02:11 AM 🔅 वृश्चिक स्थिर शुरू: अगले दिन 02:11 AM समाप्त: अगले दिन 04:29 AM 🔅 धनु द्विस्वाभाव शुरू: अगले दिन 04:29 AM समाप्त: अगले दिन 06:34 AM 2⃣7⃣🔹0⃣1⃣🔹2⃣0⃣ *💐🙏जयश्रीराम🙏💐* *सुरेन्द्र चेजारा व्याख्याता* *(HKB) श्रीमाधोपुर राज.* 💌🌻💌🌻💌🌻💌🌻

+16 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 38 शेयर
Mahesh Bhargava Jan 26, 2020

+285 प्रतिक्रिया 35 कॉमेंट्स • 176 शेयर
white beauty Jan 26, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

🚩 *हर हर महादेव* 🚩 . 🌅 *सुप्रभातम्* 🌅 📜 *अथ् पंचांगम्* 📜 🚩💮💮💮💮💮🚩 *दिनाँक -: 27/01/2020,सोमवार* तृतीया, शुक्ल पक्ष माघ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि -------------तृतीया अहोरात्र तक पक्ष ---------------------------शुक्ल नक्षत्र -------शतभिषा 33:21:52 योग ----------वरियान 26:49:58 करण -----------तैतुल 19:15:40 वार -------------------------सोमवार माह -----------------------------माघ चन्द्र राशि --------------------कुम्भ सूर्य राशि --------------------- मकर रितु --------------------------शिशिर आयन --------------------उत्तरायण संवत्सर ----------------------विकारी संवत्सर (उत्तर) ----------परिधावी विक्रम संवत ----------------2076 विक्रम संवत (कर्तक)------2076 शाका संवत ----------------1941 वृन्दावन सूर्योदय -----------------07:09:38 सूर्यास्त -----------------17:54:19 दिन काल --------------10:44:41 रात्री काल -------------13:14:54 चंद्रोदय -----------------08:48:44 चंद्रास्त -----------------20:10:01 लग्न ----मकर 12°26' , 282°26' सूर्य नक्षत्र -------------------श्रवण चन्द्र नक्षत्र ----------------शतभिषा नक्षत्र पाया ---------------------ताम्र *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* गो ----शतभिषा 13:24:25 सा ----शतभिषा 20:02:23 सी ----शतभिषा 26:41:34 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मकर 12°22 ' श्रवण, 1 खी चन्द्र =कुम्भ 06°23 ' शतभिषा' 1 गो बुध = मकर 23°10 ' धनिष्ठा' 1 गा शुक्र= कुम्भ 21°55, पू o भा o ' 1 से मंगल=वृश्चिक 21°30' ज्येष्ठा ' 2 या गुरु=धनु 18°50 ' पू oषाo , 2 धा शनि=धनु 26°43' उ oषा o ' 1 भे राहू=मिथुन 12 °52 ' आर्द्रा , 2 घ केतु=धनु 12 ° 52 ' मूल , 4 भी *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 08:30 - 09:51 अशुभ यम घंटा 11:11 - 12:32 अशुभ गुली काल 13:53 - 15:13 अशुभ अभिजित 12:10 -12:53 शुभ दूर मुहूर्त 12:53 - 13:36 अशुभ दूर मुहूर्त 15:02 - 15:45 अशुभ 🚩पंचक अहोरात्र अशुभ 💮चोघडिया, दिन अमृत 07:10 - 08:30 शुभ काल 08:30 - 09:51 अशुभ शुभ 09:51 - 11:11 शुभ रोग 11:11 - 12:32 अशुभ उद्वेग 12:32 - 13:53 अशुभ चर 13:53 - 15:13 शुभ लाभ 15:13 - 16:34 शुभ अमृत 16:34 - 17:54 शुभ 🚩चोघडिया, रात चर 17:54 - 19:34 शुभ रोग 19:34 - 21:13 अशुभ काल 21:13 - 22:52 अशुभ लाभ 22:52 - 24:32* शुभ उद्वेग 24:32* - 26:11* अशुभ शुभ 26:11* - 27:51* शुभ अमृत 27:51* - 29:30* शुभ चर 29:30* - 31:09* शुभ 💮होरा, दिन चन्द्र 07:10 - 08:03 शनि 08:03 - 08:57 बृहस्पति 08:57 - 09:51 मंगल 09:51 - 10:45 सूर्य 10:45 - 11:38 शुक्र 11:38 - 12:32 बुध 12:32 - 13:26 चन्द्र 13:26 - 14:19 शनि 14:19 - 15:13 बृहस्पति 15:13 - 16:07 मंगल 16:07 - 17:01 सूर्य 17:01 - 17:54 🚩होरा, रात शुक्र 17:54 - 19:01 बुध 19:01 - 20:07 चन्द्र 20:07 - 21:13 शनि 21:13 - 22:19 बृहस्पति 22:19 - 23:26 मंगल 23:26 - 24:32 सूर्य 24:32* - 25:38 शुक्र 25:38* - 26:44 बुध 26:44* - 27:51 चन्द्र 27:51* - 28:57 शनि 28:57* - 30:03 बृहस्पति 30:03* - 31:09 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान-------------पूर्व* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 3 + 2 + 1 = 6 ÷ 4 = 2 शेष आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 3 + 3 + 5 = 11 ÷ 7 = 4 शेष सभायां = सन्ताप कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * द्विपुष्कर योग *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* अनागतविधाता च प्रत्युत्पन्नमतिस्तथा । द् वावेतौ सुखमेधेते यद्भविष्यो विनश्यति ।। ।।चा o नी o।। जो भविष्य के लिए तैयार है और जो किसी भी परिस्थिति को चतुराई से निपटता है. ये दोनों व्यक्ति सुखी है. लेकिन जो आदमी सिर्फ नसीब के सहारे चलता है वह बर्बाद होता है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: श्रद्धात्रयविभागयोग अo-17 तदित्यनभिसन्दाय फलं यज्ञतपःक्रियाः।, दानक्रियाश्चविविधाः क्रियन्ते मोक्षकाङ्क्षिभिः॥, तत्‌ अर्थात्‌ 'तत्‌' नाम से कहे जाने वाले परमात्मा का ही यह सब है- इस भाव से फल को न चाहकर नाना प्रकार के यज्ञ, तपरूप क्रियाएँ तथा दानरूप क्रियाएँ कल्याण की इच्छा वाले पुरुषों द्वारा की जाती हैं॥,25॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष व्यवसाय ठीक चलेगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। जुए-सट्टे व लॉटरी के चक्कर में न पड़ें। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। घर-परिवार की चिंता बनी रहेगी। विवाद से क्लेश हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। कोई बड़ा काम हो सकता है। प्रसन्नता रहेगी। 🐂वृष कोई बड़ा खर्च सामने आएगा। कर्ज लेना पड़ सकता है। वाणी पर नियंत्रण आवश्यक है। घर-परिवार की चिंता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। दूसरों पर अधिक भरोसा न करें। बनते कामों में विघ्न आ सकता है। धैर्य रखें। वरिष्ठजनों की सलाह मानें। 👫मिथुन व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। कुसंगति से हानि होगी। प्रतिष्ठित जनों का मार्गदर्शन तथा सहयोग मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। प्रमाद न करें। 🦀कर्क आर्थिक नीति में परिवर्तन से तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। मान-सम्मान में बढ़ोतरी होगी। रोजगार में वृद्धि होगी। कई दिनों से अटके कार्य अब पूरे होंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। क्रोध पर नियंत्रण रखें। 🐅सिंह कोई बाहरी वरिष्ठ व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। तंत्र-मंत्र में रुचि रहेगी। अपरिचित व्यक्ति की बातों में न आएं। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। पारिवारिक मांगलिक कार्य की योजना बन सकती है। प्रसन्नता रहेगी। 🙎कन्या पुरानी व्याधि उठ सकती है। चोट व दुर्घटना से बड़ी हानि हो सकती है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। बेचैनी रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें। घर-बाहर अशांति रहेगी। आय में कमी रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रयास करते रहें। ⚖तुला वैवाहिक प्रस्ताव प्राप्त हो सकता है। भागदौड़ की अधिकता स्वास्थ्य को प्रभावित करेगी। राजकीय कार्य मनोनुकूल रहेंगे। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। घर-बाहर जो रुके कार्य हैं, उनमें गति आएगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🦂वृश्चिक लेन-देन में सावधानी रखें। भूमि व भवन संबंधी कार्य मनोनुकूल लाभ देंगे। कष्ट, भय व तनाव का वातावरण बन सकता है। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। किसी बड़े कार्य को करने की योजना बनेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। लाभ होगा। 🏹धनु घर-बाहर मित्र व संबंधियों के साथ मनोरंजक समय व्यतीत होगा। यात्रा सफल रहेगी। अच्छे व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। रुके कार्यों में गति आएगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। अनावश्यक क्रोध करने से बचें। 🐊मकर उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। अनावश्यक विवाद हो सकता है। घर-बाहर सहयोग नहीं मिलेगा। बुरी खबर मिल सकती है। भागदौड़ रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। फालतू के आरोप लग सकते हैं। लेन-देन में सावधानी आवश्यक है, धैर्य रखें। 🍯कुंभ समाज में मान-सम्मान मिलेगा। थोड़ी मेहनत से बड़ा लाभ हो सकता है। रोजगार तथा आय में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। नौकरी में अधिकारीगण प्रसन्न रहेंगे। घर-बाहर सहयोग मिलेगा। पराक्रम व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। 🐟मीन पुराने भूले-बिसरे मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कोई बड़ा काम प्रारंभ करने की योजना बनेगी। भाइयों का सहयोग नहीं मिलेगा। मतभेद हो सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। थकान रहेगी। शुभ समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता रहेगी। दिव्य ज्योतिष केंद्र वाट्स्अप👉9450786998, 9454733160 ।। आपका दिन मंगलमय एवं उत्साहवर्धक हो।। 💮💮💮💮💮💮💮💮💮💮💮💮💮💮

+21 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 24 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB