Mahesh Malhotra
Mahesh Malhotra Apr 10, 2020

Jai Shree Krishna Good Evening

Jai Shree Krishna
Good Evening

+115 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 3 शेयर

कामेंट्स

Kamlesh Apr 10, 2020
जय श्री कृष्ण

Ansouya Ansouya Apr 10, 2020
जय श्री राधे कृष्ण जी शुभ संध्या वनदन भाई जी 🙏🙏🌹

MADHUBEN PATEL Apr 10, 2020
जय श्री राधे कृष्णा जी शुभसंध्या स्नेहवंदन भाईजी आपका हर पल मंगलमय हो भाईजी

madanpal singh Apr 10, 2020
jai shree radhe radhe kirisana jiii shubh Sandhya jiii 🌷🙏

Brajesh Sharma Apr 10, 2020
जय जय श्री राधे कृष्णा जी...

Pinu Dhiman Jai Shiva 🙏 Apr 10, 2020
Jai Shri krishna ji good night my dear brother 🌼🙏🌼🙏aap ka aane wala kal aap ke liye shubh ho manglemay ho god bless u bhai ji 🙏🙌☀️🌷☀️🌷☀️🌷☀️🌷☀️🌷☀️🌷☀️

Manoj manu Apr 10, 2020
🚩🙏🏵जय माता दी -राधे राधे जी ,माँ भगवती की अनंत सुंदर सदा - कल्याणी,करुणामयी एवं ममतामयी कृपा दृष्टि के साथ में शुभ रात्रि वंदन भाई जी ☘️🙏

Narayan Tiwari Apr 10, 2020
||ऊँ क्लीं कृष्णाय नम:||🚩जयश्रीकृष्णा माँई भय से मुक्ति का आश्वासन देते हुए, कहती है,"मुझ पर सभी कार्योंको सर्मपित करदो,मैं तुम्हे सभी मुसीबतों से बचा लुंगी। मांई दुर्गा तीन प्रकार के दुःख मिटाती है, शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक..!!

Neha Sharma, Haryana Apr 10, 2020
जय माता की🚩🙏माता रानी👣की असीम कृपा ✋ आप और आपके परिवार👨‍👩‍👧‍👦पर सदैव बनी रहे जी🙏आपका हर पल शुभ व मंगलमय🔯 हो आदरणीय भाई जी🙏 🥀🥀🙏 जय श्री राधेकृष्णा 🙏🥀🥀

Meena Sharma May 10, 2020

+60 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 134 शेयर
ǟռʝʊ ʝօֆɦɨ May 10, 2020

+544 प्रतिक्रिया 66 कॉमेंट्स • 153 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 41 शेयर
Raysang May 10, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 28 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
R.G.P.Bhardwaj May 10, 2020

+13 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 38 शेयर

[#चनों_का_रहस्य 👇 . एक ब्राह्मणी थी जो बहुत निर्धन थी। भिक्षा माँग कर जीवन-यापन करती थी। . एक समय ऐसा आया कि पाँच दिन तक उसे भिच्छा नहीं मिली। वह प्रति दिन पानी पीकर भगवान का नाम लेकर सो जाती थी। . छठवें दिन उसे भिक्षा में दो मुट्ठी चना मिले। कुटिया पे पहुँचते-पहुँचते रात हो गयी। . ब्राह्मणी ने सोंचा अब ये चने रात मे नही खाऊँगी प्रात:काल वासुदेव को भोग लगाकर तब खाऊँगी । . यह सोंचकर ब्राह्मणी ने चनों को कपडे़ में बाँधकर रख दिया और वासुदेव का नाम जपते-जपते सो गयी . देखिये समय का खेल... कहते हैं... . पुरुष बली नहीं होत है, समय होत बलवान । . ब्राह्मणी के सोने के बाद कुछ चोर चोरी करने के लिए उसकी कुटिया मे आ गये। . इधर उधर बहुत ढूँढा, चोरों को वह चनों की बँधी पुटकी मिल गयी। चोरों ने समझा इसमें सोने के सिक्के हैं । . इतने मे ब्राह्मणी जाग गयी और शोर मचाने लगी । . गाँव के सारे लोग चोरों को पकडने के लिए दौडे़। चोर वह पुटकी लेकर भागे। . पकडे़ जाने के डर से सारे चोर संदीपन मुनि के आश्रम में छिप गये। . संदीपन मुनि का आश्रम गाँव के निकट था जहाँ भगवान श्री कृष्ण और सुदामा शिक्षा ग्रहण कर रहे थे. . गुरुमाता को लगा कि कोई आश्रम के अन्दर आया है। गुरुमाता देखने के लिए आगे बढीं तो चोर समझ गये कोई आ रहा है, . चोर डर गये और आश्रम से भागे ! भागते समय चोरों से वह पुटकी वहीं छूट गयी। और सारे चोर भाग गये। . इधर भूख से व्याकुल ब्राह्मणी ने जब जाना ! कि उसकी चने की पुटकी चोर उठा ले गये । . तो ब्राह्मणी ने श्राप दे दिया कि... मुझ दीनहीन असहाय के जो भी चने खायेगा वह दरिद्र हो जायेगा। . उधर प्रात:काल गुरु माता आश्रम मे झाडू़ लगाने लगीं तो झाडू लगाते समय गुरु माता को वही चने की पुटकी मिली । . गुरु माता ने पुटकी खोल के देखी तो उसमे चने थे। . सुदामा जी और कृष्ण भगवान जंगल से लकडी़ लाने जा रहे थे। ( रोज की तरह ) गुरु माता ने वह चने की पुटकी सुदामा जी को दे दी। . और कहा बेटा ! जब वन मे भूख लगे तो दोनो लोग यह चने खा लेना । . सुदामा जी जन्मजात ब्रह्मज्ञानी थे। ज्यों ही चने की पुटकी सुदामा जी ने हाथ में लिया त्यों ही उन्हे सारा रहस्य मालुम हो गया । . सुदामा जी ने सोचा ! गुरु माता ने कहा है यह चने दोनों लोग बराबर बाँट के खाना। . लेकिन ये चने अगर मैंने त्रिभुवनपति श्री कृष्ण को खिला दिये तो सारी शृष्टी दरिद्र हो जायेगी। . नहीं-नहीं मैं ऐसा नही करुँगा। मेरे जीवित रहते मेरे प्रभु दरिद्र हो जायें मै ऐसा कदापि नही करुँगा । . मैं ये चने स्वयं खा जाऊँगा लेकिन कृष्ण को नहीं खाने दूँगा। . और सुदामा जी ने सारे चने खुद खा लिए। . दरिद्रता का श्राप सुदामा जी ने स्वयं ले लिया। चने खाकर। लेकिन अपने मित्र श्री कृष्ण को एक भी दाना चना नही दिया। ऐसे होते हैं मित्र.. . मित्रों ! आपसे निवेदन है कि अगर मित्रता करें तो सुदामा जी जैसी करें और कभी भी अपने मित्रों को धोखा ना दें.. #राधा_रमण ❣️❣️ #तुम्हारा_याद_आना_भी_बड़ा #कमाल_होता_है,,,💓 #कभी_देखना_आकर, #के,😭 #हमारा_क्या_हाल_होता_है!!😭 💞जय जय श्री राधे 💞 💞💗जय श्री कृष्णा💗💞

+215 प्रतिक्रिया 31 कॉमेंट्स • 168 शेयर

🌹🌹🌹🙏हैप्पी मदर्स डे 🙏🌹🌹🌹 जैसा कि हम जानते हैं कि मां हमारे लिए देवताओं से सबसे मधुर उपहार हैं और ऐसा कोई तरीका नहीं है कि हम कभी भी हमारी मां के लिए हमारी मां का धन्यवाद कर सकें। यह परिवार और समाज में उनके योगदान के लिए माताओं, दादी और दादी को सम्मानित करने का समय है। मातृ दिवस हम में से कई लोगों के लिए सबसे अधिक प्रतीक्षित दिन है क्योंकि यह हमारी प्यारी मां की ओर प्यार और देखभाल दिखाने का सबसे दिल-वार्मिंग अवसर है। आज के इस पोस्ट में हम आपको आँख खोलू तो चेहरा मेरी माँ का हो आँख बंद हो तो सपना मेरी माँ का हो मैं मर भी जाऊं तो भी कोई गम नहीं लेकिन कफ़न मिले तो दुपट्टा मेरी माँ का हो!! ऐ मेरे मालिक तूने गुल को गुलशन में जगह दी, पानी को दरिया में जगह दी, पंछियो को आसमान मे जगह दी, तू उस शख्स को जन्नत में जगह देना, जिसने मुझे “..नौ..” महीने पेट में जगह दी….!! ये कहकर मंदिर से फल की पोटली चुरा ली माँ ने…. तुम्हे खिलाने वाले तो और बहुत आ जायगे गोपाल… मगर मैने ये चोरी का पाप ना किया तो भूख से मर जायेगा मेरा लाल…!

+583 प्रतिक्रिया 75 कॉमेंट्स • 724 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB