बुधवार विशेष: श्री सिद्घिविनायक मन्दिर मुंबई, महाराष्ट्र।

बुधवार विशेष: श्री सिद्घिविनायक मन्दिर  मुंबई, महाराष्ट्र।

बुधवार विशेष श्री सिद्घिविनायक मन्दिर मुंबई, महाराष्ट्र,

सिद्घिविनायक #गणेशजी का सबसे लोकप्रिय रूप है। गणेश जी जिन प्रतिमाओं की सूड़ दाईं तरह मुड़ी होती है, वे सिद्घपीठ से जुड़ी होती हैं और उनके मंदिर सिद्घिविनायक #मंदिर कहलाते हैं। कहते हैं कि सिद्धि विनायक की महिमा अपरंपार है, वे भक्तों की मनोकामना को तुरंत पूरा करते हैं। मान्यता है कि ऐसे गणपति बहुत ही जल्दी प्रसन्न होते हैं और उतनी ही जल्दी कुपित भी होते हैं।

सिद्धि विनायक की दूसरी विशेषता यह है कि वह चतुर्भुजी विग्रह है। उनके ऊपरी दाएं हाथ में कमल और बाएं हाथ में अंकुश है और नीचे के दाहिने हाथ में मोतियों की माला और बाएं हाथ में मोदक (लड्डुओं) भरा कटोरा है। गणपति के दोनों ओर उनकी दोनो पत्नियां रिद्धि और सिद्धि मौजूद हैं जो धन, ऐश्वर्य, सफलता और सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करने का प्रतीक है।

मस्तक पर अपने पिता शिव के समान एक तीसरा नेत्र और गले में एक सर्प हार के स्थान पर लिपटा है। सिद्धि विनायक का विग्रह ढाई फीट ऊंचा होता है और यह दो फीट चौड़े एक ही काले शिलाखंड से बना होता है।

यूं तो सिद्घिविनायक के भक्त दुनिया के हर कोने में हैं लेकिन महाराष्ट्र में इनके भक्त सबसे ज्यादा हैं। समृद्धि की नगरी मुंबई के प्रभा देवी इलाके का सिद्धिविनायक मंदिर उन गणेश मंदिरों में से एक है, जहां सिर्फ हिंदू ही नहीं, बल्कि हर धर्म के लोग दर्शन और पूजा-अर्चना के लिए आते हैं। हालांकि इस मंदिर की न तो महाराष्ट्र के 'अष्टविनायकों ’ में गिनती होती है और न ही 'सिद्ध टेक ’ से इसका कोई संबंध है, फिर भी यहां गणपति पूजा का खास महत्व है।

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के सिद्ध टेक के गणपति भी सिद्धिविनायक के नाम से जाने जाते हैं और उनकी गिनती अष्टविनायकों में की जाती है। महाराष्ट्र में गणेश दर्शन के आठ सिद्ध ऐतिहासिक और पौराणिक स्थल हैं, जो अष्टविनायक के नाम से प्रसिद्ध हैं। लेकिन अष्टविनायकों से अलग होते हुए भी इसकी महत्ता किसी सिद्ध-पीठ से कम नहीं।

आमतौर पर भक्तगण बाईं तरफ मुड़ी सूड़ वाली गणेश प्रतिमा की ही प्रतिष्ठापना और पूजा-अर्चना किया करते हैं। कहने का तात्पर्य है कि दाहिनी ओर मुड़ी गणेश प्रतिमाएं सिद्ध पीठ की होती हैं और मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर में गणेश जी की जो प्रतिमा है, वह दाईं ओर मुड़े सूड़ वाली है। यानी यह मंदिर भी सिद्ध पीठ है।

किंवदंती है कि इस मंदिर का निर्माण संवत् १६९२ में हुआ था। मगर सरकारी दस्तावेजों के मुताबिक इस मंदिर का १९ नवंबर १८०१ में पहली बार निर्माण हुआ था। सिद्धि विनायक का यह पहला मंदिर बहुत छोटा था। पिछले दो दशकों में इस मंदिर का कई बार पुनर्निर्माण हो चुका है।

हाल ही में एक दशक पहले १९९१ में महाराष्ट्र सरकार ने इस मंदिर के भव्य निर्माण के लिए २० हजार वर्गफीट की जमीन प्रदान की। वर्तमान में सिद्धि विनायक मंदिर की इमारत पांच मंजिला है और यहां प्रवचन ग्रह, गणेश संग्रहालय व गणेश विापीठ के अलावा दूसरी मंजिल पर अस्पताल भी है, जहां रोगियों की मुफ्त चिकित्सा की जाती है। इसी मंजिल पर रसोईघर है, जहां से एक लिफ्ट सीधे गर्भग्रह में आती है। पुजारी गणपति के लिए निर्मित प्रसाद व लड्डू इसी रास्ते से लाते हैं।

नवनिर्मित मंदिर के 'गभारा ’ यानी गर्भग्रह को इस तरह बनाया गया है ताकि अधिक से अधिक भक्त गणपति का सभामंडप से सीधे दर्शन कर सकें। पहले मंजिल की गैलरियां भी इस तरह बनाई गई हैं कि भक्त वहां से भी सीधे दर्शन कर सकते हैं।

अष्टभुजी गर्भग्रह तकरीबन १० फीट चौड़ा और १३ फीट ऊंचा है। गर्भग्रह के चबूतरे पर स्वर्ण शिखर वाला चांदी का सुंदर मंडप है, जिसमें सिद्धि विनायक विराजते हैं। गर्भग्रह में भक्तों के जाने के लिए तीन दरवाजे हैं, जिन पर अष्टविनायक, अष्टलक्ष्मी और दशावतार की आकृतियां चित्रित हैं।

वैसे भी सिद्धिविनायक मंदिर में हर मंगलवार को भारी संख्या में भक्तगण गणपति बप्पा के दर्शन कर अपनी अभिलाषा पूरी करते हैं। मंगलवार को यहां इतनी भीड़ होती है कि लाइन में चार-पांच घंटे खड़े होने के बाद दर्शन हो पाते हैं। हर साल गणपति पूजा महोत्सव यहां भाद्रपद की चतुर्थी से अनंत चतुर्दशी तक विशेष समारोह पूर्वक मनाया जाता है

Flower Agarbatti Water +238 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 101 शेयर

कामेंट्स

indu Bhatia Aug 23, 2017
JAI SHREE GANESHA 👏 Good Evening Friends 🌹🌺🌹🌺🌹🌺

Sajjan Singh Aug 23, 2017
जय क्षी सिद्धि विनायक गँग गणपतेय नमोः नमः

Good morning 🙏🌹🌷🌲🌹💮🙏🌲🌹🍀🍂🌸🙏 Ganesh Deva sabka bhala karna 🙏 sabka kalyan karna Ganpati Maharaj ji 🙏 Ganpati Ganesh kato kalesh 🙏 sabki rakhsha karna Ganpati ji 🙏 aap sabhi per kirpa karein 🙏 Ganesh Deva 🙏🌹🌲🍀💮🌸🙏🍁🍂🍁🌷🍀🌸�...

(पूरा पढ़ें)
Flower Jyot Pranam +37 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 31 शेयर
Alka Devgan Aug 19, 2018

Good morning 🙏🌹🍀🏵💐🌾🙏🍀🌻🌳💐🏵🙏 Ganpati Maharaj aap sabhi per kirpa karein 🙏 sabki manokamna puri karna Ganpati Maharaj ji 🙏🌹🌸🌹🌺🍀🙏🌾🌴🌺🌷🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌷🙏 Happy Sunday 🙏🌹🌿🏵🌸🌳🌻🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌻🌻...

(पूरा पढ़ें)
Sindoor Fruits Dhoop +88 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 31 शेयर

Flower Dhoop Sindoor +7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 42 शेयर
jagdish bijarnia Aug 19, 2018

Flower Sindoor Pranam +14 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 14 शेयर

Flower Pranam Dhoop +19 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 41 शेयर

Jai shri Ganeshaya namah jai shri Ganeshaya

Milk Jyot Pranam +17 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 21 शेयर
Alka Devgan Aug 18, 2018

Good morning 🙏🌹🌻🌳💮🙏🌸🌷🌺🌿🌴🌹🙏 Ganpati Maharaj aap sabhi per kirpa karein 🙏 sabki rakhsha karna Ganpati ji 🙏🌹🌳🌻💮🌹🙏🌴🍀🌿🌾🌺🙏🌷💐🌸🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸

Pranam Like Flower +67 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Rajesh Rajput Aug 18, 2018

*_🌹जय गणेश🌹_*
🌹🙏🌹जहाँ हम नही होते है... वहाँ हमारे *_गुण_* व *_अवगुण_* हमारा *_प्रतिनिधित्व_* करते है।🌹🙏🌹 *_श्री गणेशजी महाराज खजराना इंदौर, श्रृंगार दर्शन 18 अगस्त 2018🌹🙏🌹_*

Pranam Jyot Sindoor +9 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Mrs. Bajaj. Aug 18, 2018

Dhoop Flower Pranam +14 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Shri Banke Bihari Aug 20, 2018

Belpatra Dhoop Pranam +23 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 91 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB