॥ श्री सरस्वत्यष्टोत्तर शतनामस्तोत्रम् ॥ *************************** सरस्वती महाभद्रा महामाया वरप्रद

॥ श्री सरस्वत्यष्टोत्तर शतनामस्तोत्रम् ॥ *************************** सरस्वती महाभद्रा महामाया वरप्रद

॥ श्री सरस्वत्यष्टोत्तर शतनामस्तोत्रम् ॥
***************************
सरस्वती महाभद्रा महामाया वरप्रदा ।
श्रीप्रदा पद्मनिलया पद्माक्षी पद्मवक्त्रगा ॥ १॥
शिवानुजा पुस्तकधृत् ज्ञानमुद्रा रमा परा ।
कामरूपा महाविद्या महापातकनाशिनी ॥ २॥
महाश्रया मालिनी च महाभोगा महाभुजा ।
महाभागा महोत्साहा दिव्याङ्गा सुरवंदिता ॥ ३॥
महाकाली महापाशा महाकारा महाङ्कुशा ।
सीता च विमला विश्वा विद्युन्माला च वैष्णवी ॥ ४॥
चंद्रिका चंद्रवदना चंद्रलेखाविभूषिता ।
सावित्री सुरसा देवी दिव्यालंकारभूषिता ॥ ५॥
वाग्देवी वसुधा तीव्रा महाभद्रा महाबला ।
भोगदा भारती भामा गोविंदा गोमती शिवा ॥ ६॥
जटिला विंध्यवासा च विंध्याचलविराजिता ।
चंडिका वैष्णवी ब्राह्मी ब्रह्मज्ञानैकसाधना ॥ ७॥
सौदामिनी सुधामूर्तिस्सुभद्रा सुरपूजिता ।
सुवासिनी सुनासा च विनिद्रा पद्मलोचना ॥ ८॥
विद्यारूपा विशालाक्षी ब्रह्मजाया महाफला ।
त्रयीमूर्ती त्रिकालज्ञा त्रिगुणा शास्त्ररूपिणी ॥ ९॥
शुंभासुरप्रमथिनी शुभदा च सर्वात्मिका ।
रक्तबीजनिहंत्री च चामुण्डा चांबिका तथा ॥ १०॥
मुण्डकाय प्रहरणा धूम्रलोचनमर्दना ।
सर्वदेवस्तुता सौम्या सुरासुरनमस्कृता ॥ ११॥
कालरात्री कलाधारा रूप सौभाग्यदायिनी ।
वाग्देवी च वरारोहा वाराही वारिजासना ॥ १२॥
चित्रांबरा चित्रगंधा चित्रमाल्यविभूषिता ।
कांता कामप्रदा वंद्या विद्याधरा सूपूजिता ॥ १३॥
श्वेतासना नीलभुजा चतुर्वर्गफलप्रदा ।
चतुराननसाम्राज्या रक्तमध्या निरंजना ॥ १४॥
हंसासना नीलजङ्घा ब्रह्मविष्णुशिवात्मिका ।
एवं सरस्वती देव्या नाम्नामष्टोत्तरशतम् ॥ १५॥
इति श्री सरस्वत्यष्टोत्तरशतनामस्तोत्रम् सम्पूर्णम् ॥



+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Arti Aug 11, 2022

+6 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 3 शेयर
saritachoudhary Aug 11, 2022

+3 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Radha bansal Aug 11, 2022

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

‼️Ⓜ️🅿️हैप्पी रक्षाबंधन 11 अगस्त 2022 शुभकामनाएं!! 🎡☘️ कहते_ हैं_ राखी _के_ये _धागे_लेके..........🎡☘️🎡 मेरे सभी भाई बहनों को हैप्पी रक्षाबंधन की ढेरों।। बधाइयां जी मेरे भैया आपका☘️ 🎡☘️ 🎡☘️ 🎡 ☘️🎡☘️🎡☘️🎡☘️हर पल हर दिन शुभ मंगलमय हो।। इस रक्षाबंधन के पावन पर्व🎡 त्यौहार की आप सभी को! बहुत-बहुत शुभकामनाएं और बधाइयां जी आने वाला पल खुशियों से भरा हो//. सदैव खुशियां ही ☘️🎡☘️🎡☘️🎡☘️🎡☘️🎡☘️🎡☘️खुशियां बरसती!! रहे🎡☘️☘️🎡 शुभ गुरुवार अगस्त महीने के दूसरे गुरुवार की ☘️🎡☘️🎡☘️🎡 ☘️शुभकामनाएं☘️🎡☘️🎡☘️🎡 ☘️🎡☘️🎡☘️🎡ॐ नमः शिवाय हर हर महादेव जय भोलेनाथ जय हैप्पी श्रावण शुभ सावन 🥀🤱🥀🌹🥀 🎡🎡 रक्षाबंधन स्पेशल शुभकामनाएं 🎡🎡 🌺🌹🥀🌹🥀🌹🥀🌹🥀🌹🥀🌹🥀🌹🌺

+14 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Ragni Dhiwer Aug 11, 2022

🌹🌹🌹 *रक्षाबंधन शंका समाधान 2022* 🌹🌹🌹 पंडित आशीष शर्मा (छत्तीसगढ़) 7587246456, 8519008149. https://chat.whatsapp.com/GreFH5f19L12AeX3BKz6sI *शुभ मुहूर्त👉 निर्णय सिंधु के अनुसार 11 .08.2022 गुरुवार श्रावण मास शुक्ल पक्ष पूर्णिमा तिथि है 10 .38 से लेकर 12 तारिक सुबह 07.05 तक पूर्णिमा तिथि है* । ♦️ *रक्षाबंधन का मुहूर्त* -: 🔸 *अभिजीत मुहूर्त 11.30 बजे से 02:09 बजे तक* 🔸 *दोपहर 02:09 बजे से 3:47 बजे तक* 🔸 *सायंकाल 5:24 बजे से 7:01 बजे तक* 🔸 *रात्रि 7:01 बजे से 8:24 बजे तक* 🔸 *रात्रि 8:24 बजे से 9:47 बजे तक* *पूजन विधि* 👉एक तांबे के लोटे में जल दूर्वा सहित रखकर (ताम्र,कांसे,स्टील) की थाल में चंदन, पीला चावल, पुष्प, दीपक बत्ती सहित, अगरबत्ती,मिठाई, रक्षा सूत्र( राखी) रखकर सर्वप्रथम अपने घर के देवस्थान देवताओ अर्पित करें,पूर्वजों के छायाचित्र (फोटो)में रक्षा सूत्र अर्पित करें ,गृह के मुख्य द्वार में बाँधे तब बहन जो हैं अपने भाई की बड़े ही भावपूर्वक हर्षोल्लास के साथ पूजन कर राखी बाँधे मिठाई खिलाएं भाई भी अपना कर्तव्य का निर्वाहन करते हुए बहन को अपने तरफ से उपहार प्रदान करें । *मंत्र* 👉येन बद्धो बलि राजा, दानवेन्द्रो महाबलः । तेन त्वाम रक्ष बध्नामि, रक्षे माचल माचल: । *भद्रा क्या है* 👉पुराणों के अनुसार भद्रा भगवान सूर्यदेव की पुत्री और राजा शनि की बहन है ,शनि की तरह ही इसका स्वभाव भी है। उनके स्वभाव को नियंत्रित करने के लिए ही भगवान ब्रह्मा ने उन्हें कालगणना या पंचांग के एक प्रमुख अंग विष्टि करण में स्थान दिया, भद्रा की स्थिति में कुछ शुभ कार्य जैसे रक्षा बंधन को निषेध माना गया। भद्रा का तीन निवास स्थान होता है स्वर्ग लोक, पृथ्वीलोक, पाताल लोक । *निराकरण* - इस वर्ष रक्षाबंधन के दिन भद्रा हैै परंतु मुहूर्त चिंतामणि के अनुसार भद्रा का निवास यदि पाताल लोक में हो तो उसका पृथ्वी लोक में कोई दोष नहीं लगता है कोई अशुभ प्रभाव नहीं पड़ता बल्कि भद्रा पाताल लोक में होने के कारण इनका शुभ प्रभाव है जिस पर कोई भी शुभ कार्य किया जा सकता है साथ ही दिन भर राखी बांधी जा सकती है । व्यवहारिक रूप से भी रक्षा बंधन हेतु यदि आप देखे तो भारत सरकार द्वारा मूर्धन्य विद्वानों की अनुशंसा में शासकीय अवकाश 11अगस्त को ही है घोषित किया गया है *अफवाह* 👉 मोबाईल यंत्र द्वारा भ्रामक प्रचार किया जा रहा है कि भद्रा लगा है , ग्रहण लगा है अरे पता तो कर लो कि कहा लगा है और आपको ये भी पता होना चाहिए कि आप पृथ्वी लोक में निवास कर रहे न कि पाताल लोक और यदि आपको लगता है कि आप पाताल लोक में है तब भले ही भद्रा को दोष आपको लगेगा अब आपके स्वयं का विवेक इतने में भी यदि नहीं समझे तो फिर अकल्याण होने से कोई रोक नहीं सकता । कोई भी स्थिति में रक्षाबंधन का पवित्र त्यौहार 2 दिन न हो यह प्रयास करें 11 अगस्त गुरुवार को ही दिनभर रक्षाबंधन हम सब हर्षोल्लास से मनाएं। *निवेदन* 👉किसी भी तरह की शंका न रखें तथा किसी ज्योतिषी या पण्डित पुजारियों के बिना नाम पता लिखे संदेश प्राप्त हो रहे हो तो उन्हें आगे फॉरवर्ड न् करे इससे केवल भ्रांति व शंका ही फैलती है। *टीप* 👉यह संदेश अपने सभी परिचितों को भेजकर सही मार्गदर्शन प्रदान करें

+39 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 76 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB