मनसा माता मंदिर हसामपुर

मनसा माता मंदिर हसामपुर
मनसा माता मंदिर हसामपुर
मनसा माता मंदिर हसामपुर
मनसा माता मंदिर हसामपुर

श्री मनसा देवी कि उत्पति महार्षि कश्यम कि मानसी कन्या रुप में है!इस कि उत्पति राजा जनमेजय के सर्प यग से सर्प जाति का जीवन बचाने के लिये किई गये!धार्मिक मान्यता अनुसार सूर्यवंशी महाराजा अग्रेशन कि शादी नागवंश राजा`नागराज कुमुद' कि कन्या से हुई!यह कन्या अग्रेशन वंश कि कुल देवी व माता कहलाई!पाण्डु वंशी अर्जुन ने महाभारत के युध्द में विजय प्राप्त करने के लिए योगमाया को प्रसन्न किया!मनोकामना पूरी करने के कारण ही यह देवी मंशा देवी के रुप मे जानी गयी!आज भी पाण्डुवंशी तोमर,जाटू तोमर व कुंतल जाट अपनी कुल देवी के रुप मे पुजा करते है!मथुरा जिले की गोवर्धन तहसील मे रसूलपुर पचाँयत के गोपालपुर अवशेषो से यह मालूम होता है दिल्ली सम्राट अनंगपाल के सड़ दादा राजा गोपाल सिहँ ने ९७६ई.में योगमाया मंशा देवी का मन्दिर बनवाया!हसामपुर मन्सा मन्दिर तोरावाटी का इतिहास के अनुसार पाटन-तोरावाटी (बेवा पाटन)से प्राप्त १०-११वीं सदी मे पुरातात्विक की खोज से प्राचीन चीजें मिली है,वे सैंकड़ों वर्ष पूर्व पाषाण युग की है जिसमें गणेश प्रतिमा(पाटन के राव के निवास के बाहर पडी़ है)तथा मनसा माता की प्रतिमा ने उस समय की जिऩ्दावली की गवा है!यह मन्दिर राजस्थान राज्य के सीकर जिला कि अरावली पर्वत सखला कि कांसावती नदी के पुर्व में हसामपुर पहाड़ी पर स्थीत है!यहा आज भी तोमर वंशी राजपुतो व अग्रेशन वंशी महाजनो के गेठ जोड़ा व जडुला कि जात दिई जाती है!यहा चैत्र व आशिवन नवरात्रि को बहुत भारी मेला जागरण व भण्डारा का आयोजन होता है!
जय माँ मनसा जय माँ सारँगी जय नाग माता

Agarbatti Milk Flower +225 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 40 शेयर

कामेंट्स

Narender Kumar Rosa Dec 15, 2018

Tulsi Like Belpatra +9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 24 शेयर

भारत ही केवल एक ऐसा देश है जिसकी संस्कृति की जड़े बहुत प्राचीन है। इससे जुड़े किस्से व कहानिया जगह-जगह पर बने मंदिरो में देखने को मिलते है। हिमालय के पहाड़ी इलाकों से लद्दाख के पहाड़ों तक, तमिलनाडु के गांवों से लेकर महाराष्ट्र की गुफाओं तक, यहाँ तक ...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Belpatra Flower +49 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Narender Kumar Rosa Dec 15, 2018

Bell Flower Jyot +4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

हमारे धर्म शास्त्रों के अनुसार महापापी मृतआत्मा को सिर्फ श्रीमद्भागवत कथा से मुक्ति मिलती है
जीनके घर में हर वक्त भय और मृत आत्माओं का वास होता है उस घर में साप्ताहिक श्रीमद्भागवत कथा करवाने से मृतआत्माओं को मुक्ति मिलती है

....जय श्री कृष्ण.......

(पूरा पढ़ें)
Like +2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
anju joshi Dec 15, 2018

Flower Fruits Like +38 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 233 शेयर
Har Har Mahadev Dec 15, 2018

Like Flower Jyot +18 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 170 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB