*सुंदरकांड में एक प्रसंग अवश्य पढ़ें !* *“मैं न होता, तो क्या होता ?”* “अशोक वाटिका" में *जिस समय, रावण क्रोध में भरकर, तलवार लेकर, सीता माँ को मारने के लिए दौड़ पड़ा* तब हनुमान जी को लगा, कि इसकी तलवार छीन कर, इसका सर काट लेना चाहिये! किन्तु, अगले ही क्षण, उन्हों ने देखा *"मंदोदरी" ने रावण का हाथ पकड़ लिया !* यह देखकर वे गदगद हो गये! वे सोचने लगे, यदि मैं आगे बढता तो मुझे भ्रम हो जाता कि *यदि मै न होता,तो सीता जी को कौन बचाता?* ✍️बहुधा हमको ऐसा ही भ्रम हो जाता है, मैं न होता,तो क्या होता ? परन्तु ये क्या हुआ? सीताजी को बचाने का कार्य प्रभु श्रीराम ने रावण की पत्नी को ही सौंप दिया! तब हनुमान जी समझ गये, *कि प्रभु, जिससे जो कार्य लेना चाहते हैं, वह उसी से लेते हैं!* आगे चलकर जब "त्रिजटा" ने कहा कि "लंका में बंदर आया हुआ है, और वह लंका जलायेगा!" तो हनुमान जी बड़ी चिंता मे पड़ गये, कि प्रभु ने तो लंका जलाने के लिए कहा ही नहीं है *और त्रिजटा कह रही है कि उन्होंने स्वप्न में देखा है,एक वानर ने लंका जलाई है! अब उन्हें क्या करना चाहिए?* *जो प्रभु इच्छा!* जब रावण के सैनिक तलवार लेकर हनुमान जी को मारने के लिये दौड़े, तो हनुमान ने अपने को बचाने के लिए तनिक भी चेष्टा नहीं की, और जब "विभीषण" ने आकर कहा कि दूत को मारना अनीति है, तो *हनुमान जी समझ गये कि मुझे बचाने के लिये प्रभु ने यह उपाय भी कर दिया है!* *आश्चर्य की पराकाष्ठा तो तब हुई*, जब रावण ने कहा कि बंदर को मारा नहीं जायेगा, पर पूंछ मे कपड़ा लपेट कर, घी डालकर, आग लगाई जाये, 🤔तो हनुमान जी सोचने लगे कि लंका वाली त्रिजटा की बात सच थी, वरना लंका को जलाने के लिए मै कहां से घी, तेल, कपड़ा लाता और कहां आग ढूंढता? पर वह प्रबन्ध भी प्रभु आपने रावण से ही करा दिया! जब आप रावण से भी अपना काम करा लेते हैं, तो *मुझसे करा लेने में आश्चर्य की क्या बात है !* ✍️इसलिये *सदैव याद रखें* कि *संसार में जो हो रहा है, वह सब ईश्वरीय विधान* है! *हम और आप तो केवल निमित्त मात्र हैं!* इसीलिये *कभी भी ये भ्रम न पालें* कि... 👉 *मै न होता, तो क्या होता✍️?* *ना मैं श्रेष्ठ हूँ,* *ना ही मैं ख़ास_हूँ,* *मैं तो बस छोटा सा,* *भगवान का दास हूँ🙏॥ Good Morning 🙏

*सुंदरकांड में एक प्रसंग अवश्य पढ़ें !*
*“मैं न होता, तो क्या होता ?”*

“अशोक वाटिका" में *जिस समय, रावण क्रोध में भरकर, तलवार लेकर, सीता माँ को मारने के लिए दौड़ पड़ा*
तब हनुमान जी को लगा, कि इसकी तलवार छीन कर, इसका सर काट लेना चाहिये!
               किन्तु, अगले ही क्षण, उन्हों ने देखा 
*"मंदोदरी" ने रावण का हाथ पकड़ लिया !*
यह देखकर वे गदगद हो गये! वे सोचने लगे, यदि मैं आगे बढता तो मुझे भ्रम हो जाता कि
 *यदि मै न होता,तो सीता जी को कौन बचाता?*

✍️बहुधा हमको ऐसा ही भ्रम हो जाता है, मैं न होता,तो क्या होता ? 

परन्तु ये क्या हुआ?
सीताजी को बचाने का कार्य प्रभु श्रीराम ने रावण की पत्नी को ही सौंप दिया! तब हनुमान जी समझ गये,
 *कि प्रभु, जिससे जो कार्य लेना चाहते हैं, वह उसी से लेते हैं!*

आगे चलकर जब "त्रिजटा" ने कहा कि "लंका में बंदर आया हुआ है, और वह लंका जलायेगा!" तो हनुमान जी बड़ी चिंता मे पड़ गये, कि प्रभु ने तो लंका जलाने के लिए कहा ही नहीं है
*और त्रिजटा कह रही है कि उन्होंने स्वप्न में देखा है,एक वानर ने लंका जलाई है! अब उन्हें क्या करना चाहिए?* 
*जो प्रभु इच्छा!*
जब रावण के सैनिक तलवार लेकर हनुमान जी को मारने के लिये दौड़े, तो हनुमान ने अपने को बचाने के लिए तनिक भी चेष्टा नहीं की, और जब "विभीषण" ने आकर कहा कि दूत को मारना अनीति है, तो
 *हनुमान जी समझ गये कि मुझे बचाने के लिये प्रभु ने यह उपाय भी कर दिया है!*

*आश्चर्य की पराकाष्ठा तो तब हुई*, जब रावण ने कहा कि बंदर को मारा नहीं जायेगा, पर पूंछ मे कपड़ा लपेट कर, घी डालकर, आग लगाई जाये,
 🤔तो हनुमान जी सोचने लगे कि लंका वाली त्रिजटा की बात सच थी, वरना लंका को जलाने के लिए मै कहां से घी, तेल, कपड़ा लाता और कहां आग ढूंढता? पर वह प्रबन्ध भी प्रभु आपने रावण से ही करा दिया! जब आप रावण से भी अपना काम करा लेते हैं, तो
 *मुझसे करा लेने में आश्चर्य की क्या बात है !*

✍️इसलिये *सदैव याद रखें* कि *संसार में जो हो रहा है, वह सब ईश्वरीय विधान* है! 
*हम और आप तो केवल निमित्त मात्र हैं!* 
इसीलिये *कभी भी ये भ्रम न पालें* कि...
👉 *मै न होता, तो क्या होता✍️?*

*ना मैं श्रेष्ठ हूँ,*
       *ना ही मैं ख़ास_हूँ,*
*मैं तो बस छोटा सा,*
      *भगवान का दास हूँ🙏॥
Good Morning 🙏

+248 प्रतिक्रिया 100 कॉमेंट्स • 196 शेयर

कामेंट्स

Harpal bhanot Mar 6, 2021
jai Shree radhe Krishna ji 🌷🌷🌷 Beautiful good Night ji

Ajit sinh Parmar Mar 6, 2021
गुड न।इट र।धेकृषण 🌹🎋🌹🎋🌹🎋🌹

radhika Mar 8, 2021
नारी तुम महान हो धारणी धरा प्रकृति यौवन तुम वात्सल्य की पारावार हो नारी तुम महान हो।। कभी गृहणी कभी कर्मस्वरुपा नये नये तेरे रूप अनूपा कभी तनुजा कभी मां है रुपा परिणय बन्ध तू स्त्री स्वरुपा।। नारी तुम महान हो। नारी तुम महान हो ‌‌।। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं।💐💐 सुप्रभात💐💐💐🙏🙏 Jay mata di 💐💐🤗

A mishra ji Mar 8, 2021
@rachanasingh Har Har Mahadev ji namo namah om namah shivaya good afternoon ji have a beautiful nice happy day to you ji 🙏 🌹thank you so much ji

Madhuben patel Mar 8, 2021
ॐ नमः शिवाय जी शुभ सोमवार की शिववंदना मेरी प्यारी बहना जी देवाधिदेव महादेव और माता पार्वती के आशीर्वाद से आप और आपका परिवार सदैव सुखी,स्वस्थ एव खुश रहो मेरी प्यारी बहना जी मेरी प्यारी बहना को आंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएं प्यारी बहना जी

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Mar 8, 2021
Good Evening My Sweet Sister ji 🙏🙏 Aapko Happy Women's day 🙏🙏🌹🌹🌹 Ki Hardik Shubhkamnaye ji 🙏🙏🌹🌹 Om Namah Shivay 🙏🙏🌹🌹 Har Har Mahadev 🙏🙏🌹🌹 Jay Bholenath 🙏🙏🌹🌹🌹 Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Pal Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷.

R K Jangid Mar 8, 2021
@rajenderjala धन्यवाद जी महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं आप इसी तरह अपना नाम रोशन करती रहे शुभकामनाओं के साथ शुभ संध्या वंदन जी🙏

A mishra ji Mar 8, 2021
@miradevi जय श्री राम जी जय भोले नाथ हर हर महादेव जी शुभ रात्री नमस्ते 🙏

A mishra ji Mar 8, 2021
@rachanasingh शुभ रात्री वंदन जी जय श्री राधे राधे जी 🏵️

BIJAY PANDAY Mar 9, 2021
🙏सुप्रभात सादर प्रणाम सर जी 🚩जय श्री राधे कृष्णा राधे राधे जी 🚩🕉जय श्री सीताराम राम राम जी 🚩विजया एकादशी के शुभ अवसर पर श्री हरिविष्णु /लक्ष्मीनारायण जी एवं प्रभु श्री राम भक्त हनुमानजी की कृपा आप पर व परिवार पर सदैव बनी रहे तथा हमेशा स्वस्थ व खुश रहे यहीं विनती के साथ आपका हर दिन मंगलमय हो 🚩🙏जय हिंद सर 🇪🇬🇪🇬🇪🇬

radhika Mar 10, 2021
*✍..सब कुछ मिला है हमको ,* *फिर भी सबर नहीं है......* *बरसों की सोचते है ,* *पल की ख़बर नहीं है.......* *मनुष्य न तो मौसम है...* *...और न ही तापमान..,* *फिर भी न जाने..* *क्यों बदल जाता है...।* *🌾🍁🌻सुप्रभात जी🌻🍁🌾*

Harpal bhanot Mar 10, 2021
jai Shree radhe Krishna ji 🌷🌷🌷 Beautiful good morning ji have a happy Wadnesday ji 🙏🌻🙏

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Arun Kumar Sharma Apr 11, 2021

पुण्य लाभ लिए इस पंचांग को औरों को भी अवश्य भेजिए 🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग ⛅ *दिनांक 11 अप्रैल 2021* ⛅ *दिन - रविवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - वसंत* ⛅ *मास - चैत्र (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार - फाल्गुन)* ⛅ *पक्ष - कृष्ण* ⛅ *तिथि - अमावस्या पूर्ण रात्रि तक* ⛅ *नक्षत्र - उत्तर भाद्रपद सुबह 08:58 तक तत्पश्चात रेवती* ⛅ *योग - इन्द्र दोपहर 01:53 तक तत्पश्चात वैधृति* ⛅ *राहुकाल - शाम 05:22 से शाम 06:57 तक* ⛅ *सूर्योदय - 06:24* ⛅ *सूर्यास्त - 18:55* ⛅ *दिशाशूल - पश्चिम दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - दर्श अमावस्या, अमावस्या वृद्धि तिथि* 💥 *विशेष - अमावस्या और रविवार के दिन ब्रह्मचर्य का पालन करें तथा तिल का तेल खानाऔर लगाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)* 💥 *रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)* 💥 *रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)* 💥 *स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *सोमवती अमावस्याः दरिद्रता निवारण* 👉🏻 *12 अप्रैल 2021 सोमवार सूर्योदय से सुबह 08:01 तक सोमवती अमावस्या है ।* 🙏🏻 *सोमवती अमावस्या के पर्व में स्नान-दान का बड़ा महत्त्व है।* ☺ *इस दिन भी मौन रहकर स्नान करने से हजार गौदान का फल होता है।* 🌳 *इस दिन पीपल और भगवान विष्णु का पूजन तथा उनकी 108 प्रदक्षिणा करने का विधान है। 108 में से 8 प्रदक्षिणा पीपल के वृक्ष को कच्चा सूत लपेटते हुए की जाती है। प्रदक्षिणा करते समय 108 फल पृथक रखे जाते हैं। बाद में वे भगवान का भजन करने वाले ब्राह्मणों या ब्राह्मणियों में वितरित कर दिये जाते हैं। ऐसा करने से संतान चिरंजीवी होती है।* 🌿 *इस दिन तुलसी की 108 परिक्रमा करने से दरिद्रता मिटती है।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *ग़रीबी - दरिद्रता मिटाने के लिए* 🌷 🙏🏻 *सोमवती अमावस्या के दिन 108 बार अगर तुलसी की परिक्रमा करते हो, ॐकार का थोड़ा जप करते हो, सूर्य नारायण को अर्घ्य देते हो; यह सब साथ में करो तो अच्छा है, नहीं तो खाली तुलसी को 108 बार प्रदक्षिणा करने से तुम्हारे घर से दरिद्रता भाग जाएगी |* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *समृद्धि बढ़ाने के लिए* 🌷 🌙 *कर्जा हो गया है तो अमावस्या के दूसरे दिन से पूनम तक रोज रात को चन्द्रमा को अर्घ्य दे, समृद्धि बढेगी ।* 🙏🏻 *दीक्षा मे जो मन्त्र मिला है उसका खूब श्रध्दा से जप करना शुरू करें,जो भी समस्या है हल हो जायेगी ।* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🙏🏻🌷💐🌸🌼🌹🍀🌺💐🙏🏻 पंचक 7 अप्रैल दोपहर 3 बजे से 12 अप्रैल प्रात: 11.30 बजे तक एकादशी 23 अप्रैल: कामदा एकादशी प्रदोष 24 अप्रैल- शनि प्रदोष व्रत मेष  आज का दिन आपके लिए कुछ खास रहने वाला है। आज आपकी नौकरी में आपके शत्रु भी आपकी तरक्की से जल सकते हैं, लेकिन आपको उनके ऊपर ध्यान नहीं देना है और अपने कार्य पर फोकस करके अपने काम में लगे रहना है क्योंकि इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। आज का पूरा दिन आप दूसरों की सेवा में व्यतीत करेंगे, जिससे आपके मन को सुकून मिलेगा। नौकरी मे आज आपके ऊपर कुछ भार हो सकता है। सायंकाल के समय आज आपके जीवनसाथी के स्वास्थ्य में कुछ गिरावट आ सकती है। इस वजह से आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए सावधान रहें। विद्यार्थियों यदि कोई नया कोर्स करना चाहते हैं, तो उस में दाखिला ले सकते है। वृष  आज का दिन आपके लिए मिलाजुला रहेगा। आज आपके परिवार में आप अपने परिवार के सदस्यों के साथ खुशी के माहौल में समय व्यतीत करेंगे। आज दोपहर के समय आपको कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है, लेकिन फिर भी आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है। समाज में आज आपका मान सम्मान बढ़ेगा और आपके मन में संतोष की भावना रहेगी। आज आपकी किसी ऐसे प्रिय व्यक्ति से भेंट हो सकती है, जिसके हाथ पर लंबे समय से प्रतीक्षा कर रहे थे। विद्यार्थियों को आज अपने गुरुजनों का आशीर्वाद प्राप्त होगा मिथुन आज का दिन आपके लिए उत्तम फलदायक रहेगा। माता-पिता के आशीर्वाद मिलेगा, जिससे आपका दिन आज हंसी खुशी मे बीतेगा। नौकरी में उच्च अधिकारियों की कृपा से आज आपको प्रमोशन मिलने की संभावना देख रही है। आज आपको किसी बहुमूल्य वस्तु की प्राप्ति हो सकती है, लेकिन सायं काल के समय आज आपको शीघ्रगामी वाहनों के प्रयोग से सावधानी बरतनी होगी क्योंकि चोट लगने की आशंका बन रही है। जीवनसाथी से भी आज आपको सहयोग और लाभ की प्राप्ति हो सकती है। आज का दिन व्यवसाय के कार्यों में व्यस्तता व भागदौड़ में व्यतीत होगा। कर्क आज का दिन आपके लिए उत्तम संपत्ति के संकेत दे रहा है। आज यदि आप साझेदारी में कोई व्यापार करने की सोच रहे हैं, तो उसके दिन उत्तम रहेगा, लेकिन यदि किसी बैंक के संस्था से ऋण लेने का विचार है, तो वह भी आसानी से मिल जाएगा। आज आपकी मान पद व प्रतिष्ठा में वृद्धि होती दिख रही है। शीघ्रता और भावुकता में आज कोई भी निर्णय न ले, नहीं तो भविष्य में आपको इससे नुकसान उठाना पड़ सकता है। सायंकाल का समय आप अपने परिवार के सदस्यों के साथ किसी मंदिर या तीर्थ स्थान के दर्शन कराने के लिए जा सकते हैं। आज आपको आपने पिताजी के स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना होगा और उनके खान-पान पर ध्यान देना होगा। सिंह आज का दिन आपके लिए विशेष रूप से सफलता देने वाला होगा। खासतौर से जो लोग राजनीति से जुड़े हैं, उनके लिए तो दिन उत्तम रहेगा। आज उनको उनकी इच्छा के अनुरूप परिणाम प्राप्त होंगे। यदि आपको कोई दिक्कत लंबे समय से परेशान कर रही थी, तो वह आज ज्यादा पीड़ा दे सकता है। सायंकाल का समय आप अपने दोस्तों के साथ बिताएंगे, लेकिन अपने खान-पान पर नियंत्रण रखें, नहीं तो पेट से संबंधित समस्या भी हो सकती है। आज नौकरी व व्यवसाय दोनों में ही आपके लिए कड़ी प्रतिस्पर्धा रहेगी और आपके रुके हुए कार्य भी संपन्न होंगे। कन्या आज का दिन आपके लिए मिलाजुला रहेगा। परिवार के सदस्यों के साथ आज सुखद समय व्यतीत होगा। मंगललिक कार्यक्रमो में शामिल होने का भी अवसर आज आपको मिल सकता है। यदि घर गृहस्थी में कोई समस्या लंबे समय से पैर पसारे हुए थी, तो वे आज समाप्त हो सकती है। विपरीत परिस्थितियों में आपको अपने क्रोध पर नियंत्रण रखना होगा। किसी धार्मिक कार्य में भी शामिल हो सकते हैं। सायंकाल के समय अचानक से धन लाभ हो सकता है और आप अपने मित्रों के साथ मौज मस्ती करने में व्यतीत करेंगे। तुला आज विद्यार्थियों को प्रतियोगिता के क्षेत्र में विशेष उपलब्धि मिलने के घर पर कोई योग बन रहे हैं। आय के नए स्त्रोत आज आपको मिल सकते हैं, जिससे आप लाभ उठाने की पूरी कोशिश करेंगे। अधिक भागदौड़ होने के कारण आज आपके ऊपर मौसम का विपरीत प्रभाव पड़ सकता है और आपके स्वास्थ्य में कुछ गिरावट आ सकती है, इसलिए ध्यान रखें, जो लोग विदेश से व्यापार करते हैं, उनको आज कोई शुभ सूचना प्राप्त हो सकती है। संतान के विवाह संबंधी कोई मुद्दा आज फिर से सिर उठा सकता है। वृश्चिक आज का दिन आपके लिए मिश्रित फलदायक रहेगा। आज आपको कहीं से अपने रुके हुए धन की प्राप्ति हो सकती है, जिससे आप अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत कर लेंगे और अपने किसी परेशान मित्र की भी मदद करने की सोच सकते है। आज दिन में किसी प्रियजन से भेंट होने से मन में हर्ष की भावना रहेगी। आज आपको अपने आस पड़ोस में किसी से भी विवाद में पड़ने से बचना होगा और अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना होगा, तभी विपरीत परिस्थितियों का सामना कर पाएंगे। सायंकाल का समय आज आप अपने परिजनों के साथ आमोद प्रमोद में व्यतीत करेंगे। धनु आज का दिन आपके लिए खर्चो का रहेगा। आज आप अपने घर की जरूरत की चीजों पर धन खर्च करेंगे और भौतिक सुख सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। यदि आज किसी से रुपए का लेनदेन करने की सोच रहे हैं, तो बिल्कुल ना करें क्योंकि इससे आपका धन फस सकता है। यदि कोई मामला कोर्ट कचहरी में चल रहा है,तो उसमें आज आप को चक्कर काटने पड़ सकते हैं, तभी आपको विजय प्राप्त होती दिख रही है। आज आपके कुछ शत्रु प्रबल रहेंगे और आप के खिलाफ कुछ रणनीति बनाने की कोशिश करेंगे, लेकिन वह उसमें ना कामयाब रहेंगे। नौकरी में आज आपको अपने किसी सहयोगी से बहस में पढ़ने से बचना होगा। मकर आज का दिन आपको आपकी नौकरी और व्यापार में आपके मन के मुताबिक परिणाम देगा, जिससे आपके मन में हर्ष की भावना रहेगी। आज आपको सायंकाल के समय अपने किसी मित्र से उपहार की प्राप्ति हो सकती है। विद्यार्थी को आज प्रतियोगिता परीक्षा में भी सफलता प्राप्त होगी। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। आज आप अपने व्यवसाय में कुछ जरूरी बदलाव करने की बारे में सोच सकते हैं, जिससे आपको लाभ होगा। परिवार के प्रति सभी दायित्व को आप जिम्मेदारी से निभाएंगे। सामाजिक कार्यों में भी आज आप पर चढ़कर हिस्सा लेंगे। कुंभ आज का दिन आपके लिए मिलाजुला रहेगा। शाम के समय आज अपको कोई शारीरिक कष्ट परेशान कर सकता है। यदि आज आपनी संपत्ति का क्रय विक्रय करने की सोच रहे हैं, तो उसके सभी वैधानिक पहलुओं को जांच ले। आज आपको अपने फालतू के खर्चों पर लगाम लगानी होगी, नहीं तो आप भविष्य में मुसीबत में आ जाएंगे। संतान के संबंधित आज कोई फैसला ले सकते हैं। इसमें जीवनसाथी का भरपूर सहयोग मिलेगा। ससुराल पक्ष से भी आज आपको सम्मान मिलता दिख रहा है। मीन आज का दिन आपके लिए निश्चित परिणाम लेकर आएगा। आज आप अपने वैवाहिक जीवन मैं आनंद उठायेगे और आपके साथ मिलने से आपके सभी का काम आसानी से पूरे हो जाएंगे। बिजनेस की बढ़ती सफलता आपको खुशी हो गई और आप कुछ विदेश की यात्रा भी कर सकते हैं। सायंकाल के समय घूमने फिरने के दौरान आपको कोई महत्वपूर्ण जानकारी भी मिल सकती है। माता पिता की सलाह आपके लिए उपयोगी रहेगी। विद्यार्थियों को मानसिक व बौद्धिक भार से आज छुटकारा मिलता दिख रहा है। यदि आज कहीं निवेश करने का सोच रहे हैं, तो भविष्य में आपको उसका लाभ होगा। जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई दिनांक 11 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। इस मूलांक को चंद्र ग्रह संचालित करता है। चंद्र ग्रह मन का कारक होता है। आप अत्यधिक भावुक होते हैं। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस तरह आपका मूलांक दो होगा। आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दु:ख दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है। चंद्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं। आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता। चंद्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में बहुत सफल होते हैं। आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शारीरिक रूप से आप कमजोर हैं। शुभ दिनांक : 2, 11, 20, 29 शुभ अंक : 2, 11, 20, 29, 56, 65, 92 शुभ वर्ष : 2027, 2029, 2036 ईष्टदेव : भगवान शिव, बटुक भैरव शुभ रंग : सफेद, हल्का नीला, सिल्वर ग्रे कैसा रहेगा यह वर्ष किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी। लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी।

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Ramesh Agrawal Apr 11, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+345 प्रतिक्रिया 70 कॉमेंट्स • 613 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB