Sn Vyas
Sn Vyas Oct 1, 2017

हमारी संस्कृति हमारी विरासत

हमारी संस्कृति हमारी विरासत
हमारी संस्कृति हमारी विरासत
हमारी संस्कृति हमारी विरासत

धर्म यात्रा
भद्रकाली शक्तिपीठों
भारत के तमिलनाडु प्रांत में तीन सागर हिन्द महासागर , अरब सागर तथा बंगाल की खाड़ी के संगम स्थल पर कन्याकुमारी मंदिर है ।
------------------
तंत्र चूड़ामणि में निर्दिष्ट स्थान -- कण्यकाश्रम
अंग. -- पृष्ठभाग
शक्ति -- शर्वाणि
भैरव. -- निमिष
वर्तमान स्थान --कन्याकुमारी में कुमारी देवी के मंदिर में ही भद्रकाली मंदिर |
-----------------
कन्याकुमारी मंदिर के उत्तरी भाग के बीच में भद्रकाली का मंदिर है।भद्रकाली , कुमार देवी की सहेली है।वस्तुतः यह 51 शक्तिपीठों में, एक शक्तिपीठ है ।यहाँ सती के देह का पृष्ठभाग गिरा था ।यह मंदिर ही कण्यकाश्रम शक्तिपीठ है। यहाँ की शाक्ति *शर्वाणि या नारायणी* तथा भैरव निमिष या स्थाणु हैं। कन्याकुमारी एक अंतरीप तथा भारत की अंतिम दक्षिणी सीमा है , जिसके बारे में कहा जाता है कि यहाँ स्नानार्थी समस्त पापों से मुक्त हो जाता है।

+74 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 39 शेयर

कामेंट्स

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB