।।।सुर्यदेव चालीसा।।।

।।।सुर्यदेव चालीसा।।।

सूर्य चालीसा (Surya Chalisa in Hindi)

सूर्य चालीसा चालीस दोहों से बनी एक भक्तिमय स्तुति है जिसमें सूर्यदेव का वर्णन है।

॥दोहा॥
कनक बदन कुण्डल मकर, मुक्ता माला अङ्ग,
पद्मासन स्थित ध्याइए, शंख चक्र के सङ्ग॥

॥चौपाई॥

जय सविता जय जयति दिवाकर!, सहस्त्रांशु! सप्ताश्व तिमिरहर॥
भानु! पतंग! मरीची! भास्कर!, सविता हंस! सुनूर विभाकर॥ 1॥

विवस्वान! आदित्य! विकर्तन, मार्तण्ड हरिरूप विरोचन॥
अम्बरमणि! खग! रवि कहलाते, वेद हिरण्यगर्भ कह गाते॥ 2॥

सहस्त्रांशु प्रद्योतन, कहिकहि, मुनिगन होत प्रसन्न मोदलहि॥
अरुण सदृश सारथी मनोहर, हांकत हय साता चढ़ि रथ पर॥3॥

मंडल की महिमा अति न्यारी, तेज रूप केरी बलिहारी॥
उच्चैःश्रवा सदृश हय जोते, देखि पुरन्दर लज्जित होते॥4

मित्र मरीचि, भानु, अरुण, भास्कर, सविता सूर्य अर्क खग कलिकर॥
पूषा रवि आदित्य नाम लै, हिरण्यगर्भाय नमः कहिकै॥5॥

द्वादस नाम प्रेम सों गावैं, मस्तक बारह बार नवावैं॥
चार पदारथ जन सो पावै, दुःख दारिद्र अघ पुंज नसावै॥6॥

नमस्कार को चमत्कार यह, विधि हरिहर को कृपासार यह॥
सेवै भानु तुमहिं मन लाई, अष्टसिद्धि नवनिधि तेहिं पाई॥7॥

बारह नाम उच्चारन करते, सहस जनम के पातक टरते॥
उपाख्यान जो करते तवजन, रिपु सों जमलहते सोतेहि छन॥8॥

धन सुत जुत परिवार बढ़तु है, प्रबल मोह को फंद कटतु है॥
अर्क शीश को रक्षा करते, रवि ललाट पर नित्य बिहरते॥9॥

सूर्य नेत्र पर नित्य विराजत, कर्ण देस पर दिनकर छाजत॥
भानु नासिका वासकरहुनित, भास्कर करत सदा मुखको हित॥10॥

ओंठ रहैं पर्जन्य हमारे, रसना बीच तीक्ष्ण बस प्यारे॥
कंठ सुवर्ण रेत की शोभा, तिग्म तेजसः कांधे लोभा॥11॥

पूषां बाहू मित्र पीठहिं पर, त्वष्टा वरुण रहत सुउष्णकर॥
युगल हाथ पर रक्षा कारन, भानुमान उरसर्म सुउदरचन॥12॥

बसत नाभि आदित्य मनोहर, कटिमंह, रहत मन मुदभर॥
जंघा गोपति सविता बासा, गुप्त दिवाकर करत हुलासा॥13॥

विवस्वान पद की रखवारी, बाहर बसते नित तम हारी॥
सहस्त्रांशु सर्वांग सम्हारै, रक्षा कवच विचित्र विचारे॥14॥

अस जोजन अपने मन माहीं, भय जगबीच करहुं तेहि नाहीं ॥
दद्रु कुष्ठ तेहिं कबहु न व्यापै, जोजन याको मन मंह जापै॥15॥
अंधकार जग का जो हरता, नव प्रकाश से आनन्द भरता॥

ग्रह गन ग्रसि न मिटावत जाही, कोटि बार मैं प्रनवौं ताही॥
मंद सदृश सुत जग में जाके, धर्मराज सम अद्भुत बांके॥16॥

धन्य-धन्य तुम दिनमनि देवा, किया करत सुरमुनि नर सेवा॥
भक्ति भावयुत पूर्ण नियम सों, दूर हटतसो भवके भ्रम सों॥17॥

परम धन्य सों नर तनधारी, हैं प्रसन्न जेहि पर तम हारी॥
अरुण माघ महं सूर्य फाल्गुन, मधु वेदांग नाम रवि उदयन॥18॥

भानु उदय बैसाख गिनावै, ज्येष्ठ इन्द्र आषाढ़ रवि गावै॥
यम भादों आश्विन हिमरेता, कातिक होत दिवाकर नेता॥19॥

अगहन भिन्न विष्णु हैं पूसहिं, पुरुष नाम रविहैं मलमासहिं॥20॥

॥दोहा॥

भानु चालीसा प्रेम युत, गावहिं जे नर नित्य,
सुख सम्पत्ति लहि बिबिध, होंहिं सदा कृतकृत्य॥

Pranam Agarbatti Jyot +203 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 151 शेयर

कामेंट्स

Asha Dave Nov 12, 2017
Jay Jay Shri Ravi Randal ki Jay ho pranam aashirwad Dena

M.S.Chauhan Nov 21, 2018

🔔🌻🙏🌻🔔
*शुभ प्रभात जी*
*श्री गणेशाय नमः*
🌇🌇🙏🌇🌇
श्री गणेश जी की भजन वंदना
🌞🌞🙏🌞🌞
शुभ दिन प्रथम गणेश मनाओ

कार्य सिद्धि की करो कामना ।
तुरत हि मन वान्छित फल पाओ ।

अन्तर मन हो ध्यान लगाओ ।
कृपा सिन्धु के दरशन पाओ ।

श्रद्धा भग...

(पूरा पढ़ें)
Like Pranam Dhoop +120 प्रतिक्रिया 21 कॉमेंट्स • 703 शेयर
Maya Rathore Nov 20, 2018

🎊🎊🎊🎊🎊🎊🎊🎊🎊🎊 🎊 🎊🎊🎊बधाई बधाई बधाई हो🎊🎊🎊
🎉🎉🎉🎉🎉🎉🎉🎉🎉🎉🎉🎉
💞💞💞💞💞💞💞💞💞💞💞💞
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

Pranam Flower +6 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 3 शेयर
M.S.Chauhan Nov 21, 2018

🔔🎉🙏🎉🔔
*शुभ प्रभात जी*
*जय श्री गणेश जी की*
🌞🌞🙏🌞🌞
जय बोलो जय बोलो
गणपति बप्पा की जय बोलो।

सिद्ध विनायक संकट हारी
विघ्नेश्वर शुभ मंगलकारी

सबके प्रिय सबके हितकारी
द्वार दया का खोलो

जय बोलो जय बोलो

पारवती के राज दुलारे
शिवजी की आंखों क...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Dhoop Lotus +16 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 79 शेयर
Manoj Singh Nov 20, 2018

Like +1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🙏GANESH JI 🙏 WHATSAPP STATUS 🙏🙏

Pranam Lotus Jyot +27 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 103 शेयर
uma prem singh verma Nov 20, 2018

Pranam Flower Milk +13 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 10 शेयर
D.R.Rajput Nov 21, 2018

🌿आप पर प्रभू कृपा बनी रहे। 🌿
🌾आपका हर पल शुभ हो। 🌾

Lotus Pranam Flower +35 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 115 शेयर
संकल्प Nov 20, 2018

Jyot Pranam Like +6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 102 शेयर
,OP JAIN (RAJ) Nov 21, 2018

om ganesaya namhay...... om ganesaya namhay...... om ganesaya namhay....... Have A NICE DAY.............. Happy Wednesday............

Jyot Like Pranam +68 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 162 शेयर
Abhai pareek Nov 20, 2018

Dhoop Pranam +2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB