HAZARI  LAL JAISWAL
HAZARI LAL JAISWAL Oct 17, 2021

+28 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 6 शेयर

कामेंट्स

Anup Kumar Sinha Oct 17, 2021
जय श्री राधे कृष्ण 🙏🏻🙏🏻 शुभ रात्रि वंंदन, भाई जी । आनेवाला कल आपके लिए नयी खुशियाँ लाये । कान्हा जी आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी करें 🍁🍁🙏🏻🙏🏻🍁🍁

Ragni Dhiwer Oct 17, 2021
🥀शुभ रात्रि स्नेह वंदन जी 🌼 आपका हर पल सुन्दर एवं मंगलमय हो 🥀 राधे राधे 🥀🙏🥀

Renu Singh Oct 17, 2021
Jai Shree Radhe Krishna 🙏🌹 Shubh Ratri Vandan Bhai Ji Thakur ji ki kripa Se Aàpka Har Din Har Pal Shubh Avam Mangalmay ho 🌸🙏

Kailash Pandey Oct 17, 2021
राधे राधे जय श्री कृष्णा शुभ रात्रि वंदन भाई जी

Mansing bhai Sumaniya Oct 17, 2021
जय श्री कृष्ण राधे जी🌹 शुखमय शुभ रात्रि वंदन जी🌹 शिव शिव🙏

Rani Oct 17, 2021
jai shree radhe radhe 🙏🌹subh ratri vandan bhai ji🌿🌺shree Krishn kadhaiya ji ki kripa sadaiv aap ke pure pariwar pr bni rhe aap ka har pal subh magalmay ho🌺🌿aap hamesa khush rhe swasth rhe 🙏🌿🌺

1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
❤Neha❤ Nov 29, 2021

+7 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Pooja Rajpoot Nov 29, 2021

+5 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Anita Sharma Nov 29, 2021

एक बालक था बहुत ही सरल और दीन दुनिया के प्रपंचों से दूर था', 'कहा जाता है कि सरल हृदय व्यक्ति को ही सरलता से ईश्वर की प्राप्ति होती है', 'बालक (कृष्ण)यही कोई 11-12वर्ष की वर्ष का था', 'एक दिन जंगल में भटक रहा था', 'वहीं उसकी भेट यमराज से हो जाती है', 'यमराज किसान के वेश में थे,सो बालक उन्हें पहचान नहीं सका', 'दोनो के बीच वार्तालाप हुआ', 'यमराज जी ने उस बालक से कुछ प्रश्न किया अपने घर की स्थिति बतलाई', 'यम जी को बालक पर दया आ गई', 'उनने उस बालक से कहा मैं यमराज हूं', 'बालक ने कौतूहल वश पूछा कि क्या आप मुझसे दोस्ती करेंगे', 'यम ने उसके सरल स्वभाव के कारण दोस्ती स्वीकार कर ली', 'बालक ने पूछा कि हे प्रभु आप मेरी आयु बतला सकते हैं', 'यम बोले कि तुम्हारी उम्र 18 साल की अल्पायु है', 'बालक ने कहा कि जिसका मित्र स्वयं यमराज हो उसकी अल्पायु कैसे हो सकती है', 'यम ने पूछा कि तुम क्या चाहते हो', 'बालक ने कहा कि मैंने तो अभी दुनिया ही नही देखा है', 'मेरी उम्र बढ़ा दीजिये', 'यम ने कहा कि इससे यम नियमों का उल्लंघन होगा', 'बालक जिद करने लगा कि एक तो आप मुझे अपना मित्र मानते हो और मेरी छोटी सी बात /इच्छा भी पूरी नहीं कर सकते', 'साधारण देवताओं के लिये तो यह असंभव या कठिन हो सकता है ,पर आप तो सर्व शक्तिमान हैं', 'आपने कई बार अपने नियम स्वयं तोड़े हैं', 'सती सावित्री के पति के जीवन को तो आपने ही लौटाया था', 'नचिकेता को भी आपने जीवन दान दिया था', 'फिर मुझे क्यों वंचित कर रहे हैं', 'यम ने कुछ पल सोंच कर पूछा कि तुम अपनी उम्र कितना चाहते हो', 'बालक ने सोंचकर कहा कि मेरा विवाह होने और बच्चे होने उनके पालन करने तक की उम्र दीजिये', 'यम ने कहा तथास्तु', 'और गायब हो गए', 'समय बीतता गया', 'बालक युवा हुआ विवाह हुआ', '3 संताने हुई उनके बच्चे भी बड़े हो गए थे', '50 वर्ष बीतने के बाद एक दिन यम फिर प्रगट हुए', 'याद दिलाया कि मित्र अब तुम्हारा समय पूरा हो गया है', 'तुम्हें मृत्यु लोक त्यागना होगा', 'कृष्ण ने कहा कि ठीक है', 'यह मनुष्य जीवन तो आप समाप्त कर दीजिए', 'पर मेरा मन अभी मेरे बच्चों से भरा नहीं है', 'मुझे अगला जन्म भी इसी घर मे दें', 'continue', '2', 'भाग 2', 'यम ने कहा ,कृष्ण मैं तुम्हे इसी घर मे कुत्ते की योनि में जन्म देता हूँ', 'इस तरह कृष्ण कुत्ते का जन्म पाकर (राजा नामक )कुत्ता बना', 'अब कुत्ते के जन्म में वह दिन भर अपने नाती पोतों के साथ खेलता और मस्ती करता', 'आखिर कुत्ते की उम्र भी तो 18 साल ही हो सकती है', 'वह दिन भी आ गया जब इस जीवन को भी तो छोड़ना ही था', 'कुत्ते(राजा) की मृत्यु पश्चात यम पुनः आये और शरीर त्याग कर मृत्यु लोक छोड़ने कहा', 'मृतक ने कहा', 'कि आखिर कहीं न कहीं तो मुझे जन्म तो लेना ही होगा तो क्यों नहीं एक जन्म और इसी घर मे और मिल जाता', 'यम ने उसे उसी घर में सांप का योनि देकर कहा,कि सर्प की आयु लंबी होती है जब तक चाहो इस योनि (सर्प) में रह सकते हो', 'हाँ अब तुम स्वयं मुझे पुकार कर याद कर सकोगे, मैं आ जाऊंगा', 'अब सर्प रात को बिल से बाहर निकल कर घूमता और अपने पूर्व परिवार बेटे बेटी नाती पोतों को देखकर खुश होता', 'एक रात सर्प बाहर घूम रहा था कि अचानक उस घर का छोटा बालक बाहर निकल कर सर्प को देख भयभीत होकर सांप सांप चिल्लाने लगा', 'घर के दूसरे सदस्य भी बाहर निकल कर सांप को देखने लगे', 'तभी किसी ने कहा कि घर के पास सांप का रहना उचित नहीं किसी दिन घर के किसी सदस्य को डस सकता है अतः इसे मार डालना चाहिए', 'सबने लाठी डंडे बरछी निकाल कर बिल को खोदने लगे सर्प डर कर कांपने लगा', 'उसने भय वश यम को पुकारा', 'मित्र जल्द आओ मुझे घरवालों से बचाओ', 'यम प्रगट हुए तो सर्प ने कहा कि मित्र मुझे अब मुक्ति चाहिए', 'जिस परिवार के लिये मैंने 3 जन्म मोह वश खराब किया वही मेरे जान के दुश्मन बन बैठे हैं मुझे जल्द ले चलो', 'इस तरह उसकी मुक्ति हुई', 'इसलिये मोह उतना ही उचित है जितना ईश्वर एक जन्म में देता है', 'जीवन जीयें', 'और ज्यादा मोह से बचें'

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
ਦੇਵ ਸੋਤ Nov 29, 2021

+16 प्रतिक्रिया 39 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Panji Panchal Nov 29, 2021

2 कॉमेंट्स • 25 शेयर
💞Soni 💞 Nov 29, 2021

+12 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Gajendrasingh kaviya Nov 29, 2021

2 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Babita gupta Nov 29, 2021

+6 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 7 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB