💥Radha Sharma💥
💥Radha Sharma💥 Feb 26, 2021

🌹जय माता दी🌹🙏 🌹जय श्री राधे कान्हा जी🙏🌹 🌹जय श्री संतोषी माता जी 🌹🙏 Good morning ji and have a nice day ji..

🌹जय माता दी🌹🙏
🌹जय श्री राधे कान्हा जी🙏🌹
🌹जय श्री संतोषी माता जी 🌹🙏
Good morning ji and have a nice day ji..

+509 प्रतिक्रिया 229 कॉमेंट्स • 423 शेयर

कामेंट्स

Shivsanker Shukla Feb 28, 2021
सादर सुप्रभात बहन राधे-राधे

K L Tiwari Feb 28, 2021
🌼🌷🌼राम राम बहन जय श्री माता की बहन, आपका दिन शुभ हो,शुभप्रभात वन्दन बहन🌹🙏🌹

sanjay choudhary Feb 28, 2021
🙏🙏 जय सुर्येदेव् 🙏🙏 ।।।। शुभ प्रभात जी।।।। 🌹 *असली दोस्त गणितज्ञ* *होना चाहिए,.........* 🌹 *जो खुशियों में गुणा* *कर दें................,* 🌹 *दुःखों में भाग दें,बुराइयों* *को घटा दें,..........* 🌹 *और गुणों को जोड़ दें !!* *जय शिव संभू* *आज का दिन* *आपका शुभ हो…!!*

RAJ RATHOD Feb 28, 2021
🙏जय श्री सुर्यदेव 🙏 नई सुबह, नई किरणें, नई आशा, नई उम्मीदें नए रास्ते, इन सबके साथ आपको..शुभ दिन रविवार की सुबह का सप्रेम नमस्कार 🙏🙏 🌹🌹आपका दिन मंगलमय हो 🌹🌹

RAJ RATHOD Feb 28, 2021
एक अच्छा "रिश्ता हमेंशा हवा" की तरह होना चाहिए खामोश" मगर हमेशा "आसपास"

Kailash Prasad Feb 28, 2021
पृथ्वी पर कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं, जिसको समस्या न हो और पृथ्वी पर कोई समस्या ऐसी नहीं, जिसका कोई समाधान न हो, मंजिल चाहें कितनी भी ऊँची क्यों न हो, रास्ते हमेशा पैरों के नीचे ही होते है। *शुभ प्रभात 🙏* 🌻🌻🌻🌻🌻 🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

K L Tiwari Feb 28, 2021
🌷🌹ॐ दिवाकर नमस्तुभ्यं🌷🌹🌷 🌷🌹राम राम बहन 🌹🌷जय श्रीमाता की बहन🌷🌺प्यारी बहना के चरणों में सादर प्रणाम करता हूँ🙏🌼🌺🌹हे जगतजननी माँ मेरी प्यारी बहना को सदैव स्वस्थ और सुंदर बनाये रखना🌺सदासुहागिन करना🌹🙏🌹श्री सूर्यदेव की कृपा दृष्टि आप पर सदैव बनी रहे सदा स्वस्थ रखें🌻🌻आप हमेशा हँसती रहें मुस्कराती रहें गुनगुनाती रहें बहन🌼🌷आपका हर पल शुभ और मंगलमय हो बहन🌸🌺प्रभु आपको सदा सुखी और प्रसन्न रखें बहन🌼जुग जुग जियो मेरी रानी बहना🌹🌹🙏💝🙏🌹🌹

deraj Sharma Feb 28, 2021
आप का बहुत बहुत आभार 🙏 आप का दिन मंगलमय हो 🌺🌺🌺

BK WhatsApp STATUS Feb 28, 2021
जय माता संतोषी माता नमो नमः शुभ प्रभात स्नेह वंदन धन्यवाद 🌹🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

Sukanya Sharan Feb 28, 2021
Happy sunday have a wonderful day 🌹God Bless You My Cutie 🌹☕☕☕👈😊😊

Renu Singh Feb 28, 2021
🌹 Shubh Prabhat Vandan Meri Pyari Bahena 🙏🌹 Surya Bhagwan Aapko aur Aàpke Pariwar ko sda Sukhi aur Swasth rakhein Bahena Ji 🙏🌹🙏

Sonu Pathak (Jai Mata Di) Feb 28, 2021
🙏🌹राधे राधे जी जय श्री राधे जय माता रानी दी 🌹🙏 प्रभु श्री की कृपा दृष्टि आप व आपके परिवार पर सदैव बनी रहे आपका हर पल शुभ व मंगलमय हो बहना जी 🌹🙏🌹 नमस्कार सुप्रभात वंदन जी 🌷🙏🌷

Ravi Kumar Taneja Feb 28, 2021
🌹🌹🌹ॐनमो सुर्य देवाय नमः 🙏🌻🙏 शुभ प्रभात स्नेह वंदन 🙏🌸🙏 रविवार मंगलमय हो आपका🙏🌹🙏 🕉️ जिस तरह पतझड़ के बिना पेड़ पर नये पते नहीं आते ठीक उसी तरह कठिनाई और संघर्ष के बिना अच्छे दिन भी नहीं आते🕉 ✡🦋🙏🌷🙏🌷🙏✡

A mishra ji Feb 28, 2021
शुभ रात्री वंदन good night ji Jay shree krishna राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे राधे 🏵️ 🌷 🌷 🌷 🌷 🌷 🌷 🌷 🌷 🌷 🌷 🌷

Mamta Chauhan Apr 19, 2021

+200 प्रतिक्रिया 45 कॉमेंट्स • 501 शेयर
dhruv wadhwani Apr 19, 2021

+238 प्रतिक्रिया 48 कॉमेंट्स • 362 शेयर
Amar jeet mishra Apr 19, 2021

+52 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 255 शेयर

*सुख दुख आते जाते रहेंगे* घुप्प अंधेरी रात में एक व्यक्ति नदी में कूद कर आत्महत्या करने का विचार कर रहा था. वर्षा के दिन थे और नदी पूरे उफान पर थी. आकाश में बादल घिरे थे और रह-रहकर बिजली चमक रही थी. वह उस देश का बड़ा धनी व्यक्ति था लेकिन अचानक हुए घाटे से उसकी सारी संपत्ति चली गई. उसके भाग्य का सूरज डूब गया था. चारों ओर निराशा ही निराशा. भविष्य नजर नहीं आ रहा था. उसे कुछ सूझता न था कि क्या करे. उसने स्वयं को समाप्त करने का विचार कर लिया था. नदी में कूदने के लिए जैसे ही चट्टान के छोर पर खड़ा होकर वह अंतिम बार ईश्वर का स्मरण करने लगा तभी दो बुजुर्ग परंतु मजबूत बांहों ने उसे रोक लिया. बिजली की चमक में उसने देखा कि एक वृद्ध साधु उसे पकड़े हुए है ! उस वृद्ध ने उससे निराशा का कारण पूछा. किनारे लाकर उसकी सारी कथा सुनी फिर हंसकर बोला- तो तुम यह स्वीकार करते हो कि पहले तुम सुखी थे. सेठ बोला- हाँ मेरे भाग्य का सूर्य पूरे प्रकाश से चमक रहा था. सब ओर मान-सम्मान संपदा थी. अब जीवन में सिवाय अंधकार और निराशा के कुछ भी शेष नहीं है. वृद्ध फिर हंसा और बोला- दिन के बाद रात्रि है और रात्रि के बाद दिन. जब दिन नहीं टिकता तो रात्रि भी कैसे टिकेगी ? परिवर्तन प्रकृति का नियम है ठीक से सुनो और समझ लो. जब तुम्हारे अच्छे दिन हमेशा के लिए नहीं रहे तो बुरे दिन भी नहीं रहेंगे. जो इस सत्य को जान लेता है वह सुख में सुखी नहीं होता और दुख में दुखी नहीं होता ! उसका जीवन उस अडिग चट्टान की भांति हो जाता है जो वर्षा और धूप में समान ही बनी रहती है ! सुख और दुख को जो समभाव से ले, समझ लो कि उसने स्वयं को जान लिया. सुख-दुख तो आते-जाते रहते हैं. यही प्रकृति की गति है. ईश्वर का इंसाफ. जो न आता है और न जाता है वह है स्वयं का अस्तित्व. इस अस्तित्व में ठहर जाना ही समत्व है. सोचो यदि किसी ने जीवन में एक जैसा ही भाव देखा. हमेशा सुख का ही. जिस चीज की आवश्यकता हुई उससे पहले वह मिल गई. तो क्या वह कुछ उपहार पाने की खुशी का अनुभव कैसे कर सकता है ? *दुख न आए तो सुख का स्वाद क्या होता कोई कैसे जाने ? जो इस शाश्वत नियम को जान लेता है, उसका जीवन बंधनों से मुक्त हो जाता है..!!*

+378 प्रतिक्रिया 95 कॉमेंट्स • 464 शेयर
ramkumarverma Apr 19, 2021

+40 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 187 शेयर

+23 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 101 शेयर

+18 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 85 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB