यह मूर्ति भारतीय वास्तुकला की उत्कृष्ट रचना है इसमे भगवान श्री कृष्ण अपने पिता वासुदेव जी की गोद में

यह मूर्ति भारतीय वास्तुकला की उत्कृष्ट रचना है
इसमे भगवान श्री कृष्ण अपने पिता वासुदेव जी की गोद में बैठे हैं
इस कटोरे के तले में एक छेद ही
इसमे पानी भरने पर वह जब तक नीचे नहीं गिरता जब तक वह श्री कृष्ण के पाँव न छु ले और जैसे ही पानी भगवान् के पाँव छूता है
तुरंत ही सारा पानी कटोरे से निकल जाता है।
जब तक कटोरे में पानी भगवान के चरणों तक नहीं पहुंचता तब तक इस कटोरे में से एक बूँद पानी नीचे नहीं गिरता।
यह आज के उन इंजीनियर के लिए भी एक आश्चर्य है कि उस समय की भारत की कारीगरी क्या थी और भार के भगवान् में कितनी शक्तियां है यह उसका एक उत्कृष्ट नमूना है।

+14 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 16 शेयर

कामेंट्स

Pawan Saini Mar 29, 2020

+34 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Kamala Maheshwari Mar 29, 2020

+18 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Lali Sharma Mar 29, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Kamlesh Mar 29, 2020

+13 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Kumarpal Shah Mar 29, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB