💐💐💐💐💐💐💐 💞✍एक बार एक सज्जन ने किसी सत्संगी से पूछा ,"तुमने पूरी जिंदगी सत्संग में गुजार दी , तुमने ऐसा क्या पाया" सत्संगी ने मुस्कराते हुए कहा ,"मैंने क्या पाया है ये तो पता नहीं , लेकिन मैंने कुछ खोया जरूर है" बोले क्या" , "बोले, वो है मेरा क्रोध , वो है मेरा तनाव , वो है मेरा घमण्ड , वो है मेरा लालच , वो है मेरा स्वार्थ , वो है मेरी ईर्ष्या , वो है मेरी भटकती सांसारिक इच्छाएँ और मौत का डर...!! 💐💐💐💐💐💐💐 🙏राम राम जी 🙏 💐💐💐💐💐💐💐 🙏🍁🙏

💐💐💐💐💐💐💐
💞✍एक बार एक सज्जन ने किसी सत्संगी से पूछा ,"तुमने पूरी जिंदगी सत्संग में गुजार दी , तुमने ऐसा क्या पाया"
सत्संगी ने मुस्कराते हुए कहा ,"मैंने क्या पाया है ये तो पता नहीं , लेकिन मैंने कुछ खोया जरूर है" बोले क्या" , "बोले, वो है मेरा क्रोध , वो है मेरा तनाव , वो है मेरा घमण्ड , वो है मेरा लालच , वो है मेरा स्वार्थ , वो है मेरी ईर्ष्या , वो है मेरी भटकती सांसारिक इच्छाएँ और मौत का डर...!!
💐💐💐💐💐💐💐
     🙏राम राम जी 🙏
💐💐💐💐💐💐💐
🙏🍁🙏

+8 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर

कामेंट्स

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB