माँ तारादेवी जी का आरती दर्शन।

काली घाट शक्तिपीठ के साथ ही पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में शक्तिपीठ स्थापित है जो माँ तारा देवी को समर्पित है।स्थानीय भाषा में तारा का अर्थ होता है आँख और पीठ का अर्थ है स्थल अत: यह मंदिर आँख के स्थल के रूप में पूजा जाता है।पुराण कथाओ के अनुसार माँ सती के नयन (तारा ) इसी जगह गिरे थे और इस शक्तिपीठ की स्थापना हुई। यह मंदिर तांत्रिक क्रियाकलापो के लिए भी जाना जाता है। प्राचीन काल में यह जगह चंदीपुर के नाम से जाना जाता था, अब इसे तारापीठ कहते है।

Flower Pranam Agarbatti +1179 प्रतिक्रिया 75 कॉमेंट्स • 211 शेयर

कामेंट्स

Rajeev Ranjan Sep 1, 2017
बिना शमशान मे लाश आये ...... नही खुलता मंदिर का पट नही खुलता .... जय मां तारा🚩

Shweta Dec 16, 2018

Pranam Jyot Flower +13 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 55 शेयर
Shweta Dec 16, 2018

Pranam Bell Dhoop +22 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 24 शेयर
Sudarshan Bhardwaj Dec 16, 2018

🌸🌸शुभ रात्रि वंदन 🌸🌸

Flower Pranam Lotus +80 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 39 शेयर

Jyot Flower Pranam +4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Meena Dhiman Dec 17, 2018

Pranam Jyot Flower +7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 23 शेयर
abhimanyu yadav Dec 16, 2018

Pranam +3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 27 शेयर
Uma. Shankar. Pandey Dec 16, 2018

Jyot Bell Pranam +17 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 12 शेयर
K. R. Gehlot. Dec 16, 2018

Like Lotus Dhoop +17 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
K. R. Gehlot. Dec 16, 2018

Like Lotus Dhoop +13 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Lakshy Singh Dec 16, 2018

Flower Pranam Like +21 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 45 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB