maya mishara
maya mishara Oct 7, 2017

माया मिश्रा

माया मिश्रा

जय श्री कृष्ण मित्रों भगवान श्री राम कहते हैं माता सीता से हे देवी बड़े भाग्य से यह मनुष्य शरीर मिला है सब ग्रंथों ने यही कहा है की यह शरीर देवताओं को भी दुर्लभ है यह साधना का धाम और मोक्ष का दरवाजा है इसे पाकर भी जिसने परलोक ना बना लिया तो वह प्राणी का मनुष्य रुप में जन्म लेना निष्फल हो गया मानव देह की नश्वरता के विषय में कोई संदेह नहीं है यह शरीर जीव को अपने पूर्वकृत कर्मों के अनुसार कुछ निश्चित समयावधि के लिए मिलता है जब भी यह समय सीमा समाप्त हो जाती है तो उसे इस भौतिक शरीर को त्यागना पड़ता है इसके लिए उसकी राय का कोई मूल्य नहीं है इसीलिए हे मनुष्य सत्य कर्म को स्वर्ग कर जो कर्म अब तक कर चुका है उन्हें भी स्मरण करें यह मंत्र हमें स्पष्ट आदेश देता है यह शरीर नश्वर है .
।।सत्यम माता पिता ज्ञानम्।।
।। धर्मो भ्राता दया सखा ।।
।।शांति:पत्नी क्षमा पुत्र :।।
।।षडेते मम बान्धवाः ।।

+99 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 35 शेयर

कामेंट्स

Omprakash Sahu Oct 7, 2017
बहुत ही सुन्दर शब्दौ का वर्णन किये है जी शुभ रात्री

pt bk upadhyay Oct 7, 2017
हरि ऊँ तत्सत् ।वचन सुंदर हैं पर प्रवचन न बने तो है ।शुभ कामनाएँ ।

+16 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 30 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Virtual Temple Mar 27, 2020

+5 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 3 शेयर

+19 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 33 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+13 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 45 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB