Ravindra Dube
Ravindra Dube Aug 9, 2017

जय जय श्री राम

जय जय श्री राम

भरत का भरोसा और हनुमान

भगवान #श्रीराम और श्री #हनुमानजी का संवाद। बहुत सुन्दर और ज्ञानवर्धक प्रसंग, जरूर पढ़े :-

1..हनुमान जी जब संजीवनी बूटी का पर्वत लेकर लौटते हैं तो भगवान से कहते हैं।
प्रभु आपने मुझे संजीवनी बूटी लेने नहीं भेजा था, बल्कि मेरा भ्रम दूर करने के लिए भेजा था। और आज मेरा ये भ्रम टूट गया कि मै ही आपका राम नाम का जप करने वाला सबसे बड़ा भक्त हूँ।

भगवान बोले-कैसे ?

हनुमान जी बोले – वास्तव में मुझसे भी बड़े भक्त तो भरत जी है, मै जब संजीवनी लेकर लौट रहा था तब मुझे भरत जी ने बाण मारा और मै गिरा, तो भरत जी ने, न तो संजीवनी मंगाई, न वैद्य बुलाया. कितना भरोसा है उन्हें आपके नाम पर, उन्होने कहा कि यदि मन, वचन और शरीर से श्री राम जी के चरण कमलों में मेरा निष्कपट प्रेम हो, यदि रघुनाथ जी मुझ पर प्रसन्न हों तो यह वानर थकावट और पीड़ा से रहित होकर स्वस्थ हो जाए। उनके इतना कहते ही मै उठ बैठा। सच कितना भरोसा है भरत जी को आपके नाम पर।

शिक्षा
हम भगवान का नाम तो लेते हैं पर भरोसा नही करते, भरोसा करते भी हैं तो अपने पुत्रों एवं धन पर कि बुढ़ापे में बेटा ही सेवा करेगा, धन ही साथ देगा। उस समय हम भूल जाते हैं कि जिस भगवान का नाम हम जप रहे हैं वे हैं, पर हम भरोसा नहीं करते। बेटा सेवा करे न करे पर भरोसा हम उसी पर करते हैं.

2..दूसरी बात प्रभु!
बाण लगते ही मै गिरा, पर्वत नहीं गिरा, क्योकि पर्वत तो आप उठाये हुए थे और मै अभिमान कर रहा था कि मै उठाये हुए हूँ। मेरा दूसरा अभिमान भी टूट गया।

शिक्षा
हमारी भी यही सोच है कि अपनी गृहस्थी का बोझ को हम ही उठाये हुए हैं जबकि सत्य यह है कि हमारे नहीं रहने पर भी हमारा परिवार चलता ही है।

जीवन के प्रति जिस व्यक्ति की कम से कम शिकायतें हैं, वही इस जगत में अधिक से अधिक सुखी है।

Agarbatti Like Flower +132 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 51 शेयर

कामेंट्स

Manash Bhattacharjee Aug 9, 2017
জয় শ্রী রাম জয় বীর হনুমান জী কি জয়

Ravindra Dube Aug 10, 2017
कल न हम होंगे न गिला होगा। सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिललिसा होगा। जो लम्हे हैं चलो हंसकर बिता लें। जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा । 💐🌺🌹शुभ प्रभात मित्रों🌹🌺 💐

🚩🚩Jay Shree Ram🚩🚩

Dhoop Pranam Bell +23 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 1 शेयर
meena Dubey Dec 7, 2018

Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram Ram ji Jai Shree Hanuman Ji Maharaj Ji ki Jai H...

(पूरा पढ़ें)
Bell Pranam Dhoop +149 प्रतिक्रिया 66 कॉमेंट्स • 257 शेयर
Ravi Verma Ravi Dec 9, 2018

Pranam Dhoop Jyot +40 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 15 शेयर

श्रीरामचरितमानस सप्तम सोपान
(उत्तरकाण्ड) चतुर्थ दिवस
〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️🔸〰️〰️
चौपाई :

भरतानुज लछिमन पुनि भेंटे।
दुसह बिरह संभव दुख मेटे॥
सीता चरन भरत सिरु नावा।
अनुज समेत परम सुख पावा॥

अर्थ:-फिर लक्ष्मणजी शत्रुघ्नजी से गले लगकर मिले ...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Flower Like +38 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Vikram Singh Tomar Dec 9, 2018

Like Bell +4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 16 शेयर

💅🙏

Pranam Bell Flower +10 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 3 शेयर
vinod Dec 9, 2018

Dhoop Fruits Jyot +7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Anjana Gupta Dec 8, 2018

Bell Flower Pranam +378 प्रतिक्रिया 218 कॉमेंट्स • 274 शेयर
Anuradha Tiwari Dec 9, 2018

...
.. 🚩⛳ 💠 ⛳🚩


हनुमानजी, सीताजी की खोज में
लंका गए थे और लंका
त्रिकुटांचल पर्वत पर बसी हुई थी.
त्रिकुटांचल पर्वत यानी यहाँ 3 पर्वत थे.

पहला सुबैल पर्वत,
👉 जहाँ के मैदान में युद्ध हुआ था.
...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Like Belpatra +32 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 26 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB