शंख का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व

शंख का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व
शंख का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व
शंख का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व

पुराणों में बताया गया है कि शंख की उत्पत्ति समुद्र मंथन से हुई थी, जिसके बाद उसे भगवान विष्णु ने धारण किया था।
शंख के आगे के हिस्से में सूर्य और वरूण देव का वास होता है जो घर में सकारात्मक उर्जा फैलाते हैं. साथ ही उसके पिछले हिस्से को गंगा का रूप माना जाता है जो शुद्धता का प्रतीक होता है।
शंखनाद करने से जो ध्वनी उत्पन्न होती है उससे कई तरह के लाभ है।

आइये जानते हैं कि पूजा में शंख बजाने और इसके इस्तेमाल से क्या-क्या फायदे होते हैं:

1. ऐसी मान्यता है कि जिस घर में शंख होता है, वहां लक्ष्मी का वास होता है. धार्मिक ग्रंथों में शंख को लक्ष्मी का भाई बताया गया है, क्योंकि लक्ष्मी की तरह शंख भी सागर से ही उत्पन्न हुआ है. शंख की गिनती समुद्र मंथन से निकले चौदह रत्नों में होती है।

2. शंख को इसलिए भी शुभ माना गया है, क्योंकि माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु, दोनों ही अपने हाथों में इसे धारण करते हैं।

3. पूजा-पाठ में शंख बजाने से वातावरण पवित्र होता है. जहां तक इसकी आवाज जाती है, इसे सुनकर लोगों के मन में सकारात्मक विचार पैदा होते हैं. अच्छे विचारों का फल भी स्वाभाविक रूप से बेहतर ही होता है।

4. शंख के जल से श‍िव, लक्ष्मी आदि का अभि‍षेक करने से ईश्वर प्रसन्न होते हैं और उनकी कृपा प्राप्त होती है।

‍5. ब्रह्मवैवर्त पुराण में कहा गया है कि शंख में जल रखने और इसे छ‍िड़कने से वातावरण शुद्ध होता है।

6. शंख की आवाज लोगों को पूजा-अर्चना के लिए प्रेरित करती है. ऐसी मान्यता है कि शंख की पूजा से कामनाएं पूरी होती हैं. इससे दुष्ट आत्माएं पास नहीं फटकती हैं।

7. वैज्ञानिकों का मानना है कि शंख की आवाज से वातावरण में मौजूद कई तरह के जीवाणुओं-कीटाणुओं का नाश हो जाता है. कई टेस्ट से इस तरह के नतीजे मिले हैं।

8. आयुर्वेद के मुताबिक, शंखोदक के भस्म के उपयोग से पेट की बीमारियां, पथरी, पीलिया आदि कई तरह की बीमारियां दूर होती हैं. हालांकि इसका उपयोग एक्सपर्ट वैद्य की सलाह से ही किया जाना चाहिए।

9. शंख बजाने से फेफड़े का व्यायाम होता है. पुराणों के जिक्र मिलता है कि अगर श्वास का रोगी नियमि‍त तौर पर शंख बजाए, तो वह बीमारी से मुक्त हो सकता है।

10. शंख में रखे पानी का सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती हैं. यह दांतों के लिए भी लाभदायक है. शंख में कैल्श‍ियम, फास्फोरस व गंधक के गुण होने की वजह से यह फायदेमंद है।

11. वास्तुशास्त्र के मुताबिक भी शंख में ऐसे कई गुण होते हैं, जिससे घर में पॉजिटिव एनर्जी आती है. शंख की आवाज से 'सोई हुई भूमि' जाग्रत होकर शुभ फल देती है।


शंखनाद करते वक़्त कुछ बातों का ध्यान रखना काफ़ी महत्वपूर्ण होता है:

1. जिस शंख को बजाया जाता है उसे पूजा के स्थान पर कभी नहीं रखा जाता ।

2. जिस शंख को बजाया जाता है उससे कभी भी भगवान को जल अर्पण नहीं करना चाहिए।

3. एक मंदिर में या फ़िर पूजा स्थान पर कभी भी दो शंख नहीं रखने चाहिए।

4. पूजा के दौरान शिवलिंग को शंख से कभी नहीं छूना चाहिए।

5. भगवान शिव और सूर्य देवता को शंख से जल अर्पण कभी भी नहीं करना चाहिए।

Like Bell Pranam +252 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 277 शेयर

कामेंट्स

Chandralata Tiwari Sep 16, 2017
बहुत हीलाभ कारी जानकारी हे राधे राधेजी

मैं भगवान का हूँ। Sep 16, 2017
@chandralata.tiwari धन्यवाद। हमारे पूर्वजों द्वारा अर्जित ज्ञान आज भी उतना ही प्रासंगिक है, इसलिए इसे घर घर पहुचना उचित प्रतीत होता है। इस कार्य को आगे बढ़ाने हेतु mymandir team ने एक बहुत ही सुंदर मंच दिया है।

Nisha Kuthey Aug 15, 2018

🌸🌸🌹🌹💞💞 very nice thought jay Shree Krishna Radhe Radhe 💞💞🌹🌹🌸🌸

Water Pranam Like +54 प्रतिक्रिया 18 कॉमेंट्स • 396 शेयर
Sunil upadhyaya Aug 16, 2018

सुप्रभात

Like Pranam Jyot +15 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 275 शेयर
Nisha Kuthey Aug 15, 2018

🌸🌸🌹🌹💞💞🍁🍁 Very nice thought jay Shree Krishna Radhe Radhe 🍁🍁💞💞🌹🌹🌸🌸

Flower Belpatra Jyot +37 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 221 शेयर

Like Flower Pranam +161 प्रतिक्रिया 35 कॉमेंट्स • 1230 शेयर
Nisha Kuthey Aug 15, 2018

🌸🌸🌹🌹💞💞 Very nice thought jay Shree Krishna Radhe Radhe 💞💞🌹🌹🌸🌸

Pranam Flower Sindoor +150 प्रतिक्रिया 55 कॉमेंट्स • 416 शेयर
Anuradha Tiwari Aug 15, 2018

आपको सपरिवार इष्टमित्रों सहित स्वतंत्रता दिवस एवं नाग पंचमी की मंगलमय हार्दिक शुभकामनाएं... विजयी विश्व तिरंगा प्यारा झण्डा ऊँचा रहें हमारा।।

*जो सुमिरत सिधि होइ गन नायक करिबर बदन।
करउ अनुग्रह सोइ बुद्धि रासि सुभ गुन सदन॥

भावार्थ:-जिन्हें स्मरण ...

(पूरा पढ़ें)
Sindoor Flower Pranam +265 प्रतिक्रिया 32 कॉमेंट्स • 490 शेयर
Ashish shukla Aug 15, 2018

Pranam Like Bell +104 प्रतिक्रिया 28 कॉमेंट्स • 508 शेयर

🙏🌹जय श्री महाकाल 🌹🙏
श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का आज का संध्या आरती श्रृंगार दर्शन
१५ अगस्त 2018 ( बुधवार )
नागपंचमी ( राष्ट्रीय महापर्व )

Dhoop Agarbatti Water +157 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 106 शेयर
Laxman Choudhary Aug 15, 2018

Milk Pranam Like +52 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 335 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB