शंख का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व

शंख का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व
शंख का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व
शंख का आध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व

पुराणों में बताया गया है कि शंख की उत्पत्ति समुद्र मंथन से हुई थी, जिसके बाद उसे भगवान विष्णु ने धारण किया था।
शंख के आगे के हिस्से में सूर्य और वरूण देव का वास होता है जो घर में सकारात्मक उर्जा फैलाते हैं. साथ ही उसके पिछले हिस्से को गंगा का रूप माना जाता है जो शुद्धता का प्रतीक होता है।
शंखनाद करने से जो ध्वनी उत्पन्न होती है उससे कई तरह के लाभ है।

आइये जानते हैं कि पूजा में शंख बजाने और इसके इस्तेमाल से क्या-क्या फायदे होते हैं:

1. ऐसी मान्यता है कि जिस घर में शंख होता है, वहां लक्ष्मी का वास होता है. धार्मिक ग्रंथों में शंख को लक्ष्मी का भाई बताया गया है, क्योंकि लक्ष्मी की तरह शंख भी सागर से ही उत्पन्न हुआ है. शंख की गिनती समुद्र मंथन से निकले चौदह रत्नों में होती है।

2. शंख को इसलिए भी शुभ माना गया है, क्योंकि माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु, दोनों ही अपने हाथों में इसे धारण करते हैं।

3. पूजा-पाठ में शंख बजाने से वातावरण पवित्र होता है. जहां तक इसकी आवाज जाती है, इसे सुनकर लोगों के मन में सकारात्मक विचार पैदा होते हैं. अच्छे विचारों का फल भी स्वाभाविक रूप से बेहतर ही होता है।

4. शंख के जल से श‍िव, लक्ष्मी आदि का अभि‍षेक करने से ईश्वर प्रसन्न होते हैं और उनकी कृपा प्राप्त होती है।

‍5. ब्रह्मवैवर्त पुराण में कहा गया है कि शंख में जल रखने और इसे छ‍िड़कने से वातावरण शुद्ध होता है।

6. शंख की आवाज लोगों को पूजा-अर्चना के लिए प्रेरित करती है. ऐसी मान्यता है कि शंख की पूजा से कामनाएं पूरी होती हैं. इससे दुष्ट आत्माएं पास नहीं फटकती हैं।

7. वैज्ञानिकों का मानना है कि शंख की आवाज से वातावरण में मौजूद कई तरह के जीवाणुओं-कीटाणुओं का नाश हो जाता है. कई टेस्ट से इस तरह के नतीजे मिले हैं।

8. आयुर्वेद के मुताबिक, शंखोदक के भस्म के उपयोग से पेट की बीमारियां, पथरी, पीलिया आदि कई तरह की बीमारियां दूर होती हैं. हालांकि इसका उपयोग एक्सपर्ट वैद्य की सलाह से ही किया जाना चाहिए।

9. शंख बजाने से फेफड़े का व्यायाम होता है. पुराणों के जिक्र मिलता है कि अगर श्वास का रोगी नियमि‍त तौर पर शंख बजाए, तो वह बीमारी से मुक्त हो सकता है।

10. शंख में रखे पानी का सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती हैं. यह दांतों के लिए भी लाभदायक है. शंख में कैल्श‍ियम, फास्फोरस व गंधक के गुण होने की वजह से यह फायदेमंद है।

11. वास्तुशास्त्र के मुताबिक भी शंख में ऐसे कई गुण होते हैं, जिससे घर में पॉजिटिव एनर्जी आती है. शंख की आवाज से 'सोई हुई भूमि' जाग्रत होकर शुभ फल देती है।


शंखनाद करते वक़्त कुछ बातों का ध्यान रखना काफ़ी महत्वपूर्ण होता है:

1. जिस शंख को बजाया जाता है उसे पूजा के स्थान पर कभी नहीं रखा जाता ।

2. जिस शंख को बजाया जाता है उससे कभी भी भगवान को जल अर्पण नहीं करना चाहिए।

3. एक मंदिर में या फ़िर पूजा स्थान पर कभी भी दो शंख नहीं रखने चाहिए।

4. पूजा के दौरान शिवलिंग को शंख से कभी नहीं छूना चाहिए।

5. भगवान शिव और सूर्य देवता को शंख से जल अर्पण कभी भी नहीं करना चाहिए।

Like Bell Pranam +252 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 277 शेयर
🌿ॐ नमः शिवाय 🌿 हर हर महादेव🌿 *आइये आज जानेंगे पूर्वजन्मों के आधार से हम सबको क्या - क्या मिलता है...
Jagdish Prasad.Delhi
153 प्रतिक्रिया • 405 शेयर
शुभ संध्या भक्तो आज का सुविचार ओर ज्ञान
टीकारामसूर्यवंशीतांत्रिक
11 प्रतिक्रिया • 32 शेयर
"ज़माना" कल भी ख़राब था और आज भी ख़राब है,...||Best motivational thoughts in hindi 2018 ||
sateeshp andey
4 प्रतिक्रिया • 44 शेयर
Happy Fathers day
Simpal Srivastava
4 प्रतिक्रिया • 39 शेयर
रिश्ते और बर्फ के गोले
एक समान ही होते हैं...
जिसे बनाना तो आसान होता है
लेकिन बनाए रखना
बहुत मुश...
Subhash Ora Jain Barnagar (M.P
8 प्रतिक्रिया • 16 शेयर
जरूरी सूचना निपाह बीमारी से केैसे बचे क्या क्या चीजो से बचना है बिडीयो देखें
Phul chand Prasad gupta
1 प्रतिक्रिया • 18 शेयर
🙏🙏Hare Krishna 🙏🙏
sagar Vilas jadhav
1 प्रतिक्रिया • 8 शेयर
पंच परमेश्वर
DharmaRam Gehlot
2 प्रतिक्रिया • 2 शेयर
पप्पू कार्की की मधुर स्मृतियां।
Jeewan Joshi
1 प्रतिक्रिया • 3 शेयर
🍀Hamsafar ka mahatwa🍀
Vikash Vikram srivastava
13 प्रतिक्रिया • 372 शेयर

कामेंट्स

Chandralata Tiwari Sep 16, 2017
बहुत हीलाभ कारी जानकारी हे राधे राधेजी

मैं भगवान का हूँ। Sep 16, 2017
@chandralata.tiwari धन्यवाद। हमारे पूर्वजों द्वारा अर्जित ज्ञान आज भी उतना ही प्रासंगिक है, इसलिए इसे घर घर पहुचना उचित प्रतीत होता है। इस कार्य को आगे बढ़ाने हेतु mymandir team ने एक बहुत ही सुंदर मंच दिया है।

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB