Nandkishore Chauhann
Nandkishore Chauhann Jan 2, 2017

Dada Mahesar Mandir Madan Pur Dabas Me New Year ke awsar par Hawan ka aayojan

Dada Mahesar Mandir Madan Pur Dabas Me New Year ke awsar par Hawan ka aayojan
Dada Mahesar Mandir Madan Pur Dabas Me New Year ke awsar par Hawan ka aayojan

Dada Mahesar Mandir Madan Pur Dabas
Me New Year ke awsar par Hawan ka aayojan

+21 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

श्रीराम ने दी थी इस गिलहरी को एक अद्भुत देन........ गिलहरी की पीठ पर धारियां देखीं आपने? इनके बारे में एक बड़ी ही प्यारी कहानी सुनी है मैंने – आप में से कुछ लोगों ने शायद सुनी होगी – पर यहाँ शेयर करने को जी चाहा मेरा … तो कहानी पेश है – जब श्री राम अपनी पत्नी व अनुज के साथ वन वास पर थे – तो रास्ते चलते हर तरह के धरातल पर पैर पड़ते रहे – कहीं नर्म घास भी होती, कहीं कठोर धरती भी, कही कांटे भी | ऐसे ही चलते हुए श्री राम का पैर एक नन्ही सी गिलहरी पर पडा – और वे ना जान पाए कि ऐसा हुआ है (यह सिर्फ एक कहानी है – हकीकत में तो प्रभु को कोई बात पता ना चले – यह संभव ही नहीं है | ) श्री राम के चरणों को कठोर धरती की अपेक्षा मखमली सी अनुभूति हुई – तो उन्होने एक पल को अपना चरण टेके रखा – फिर नीचे की ओर देखा तो चौंक पड़े | उन्हें दुःख हुआ कि इस छोटी सी गिलहरी को मेरे वजन से कितना दर्द महसूस हुआ होगा | उन्होंने उस नन्ही गिलहरी को उठा कर प्यार किया और बोले – अरे – मेरा पाँव तुझ पर पड़ा – तुझे कितना दर्द हुआ होगा ना? गिलहरी ने कहा – प्रभु – आपके चरण कमलों के दर्शन कितने दुर्लभ हैं – संत महात्मा इन चरणों की पूजा करते नहीं थकते – मेरा सौभाग्य है कि मुझे इन चरणों की सेवा का एक पल मिला – इन्हें इस कठोर राह से एक पल का आराम मैं दे सकी | प्रभु ने कहा – फिर भी – दर्द तो हुआ होगा ना ? तू चिल्लाई क्यों नहीं ? गिलहरी बोली – प्रभु , कोई और मुझ पर पाँव रखता, तो मैं चीखती “हे राम!! राम राम !!! ” , किन्तु , जब आप का ही पैर मुझ पर पडा – तो मैं किसे पुकारती? श्री राम ने गिलहरी की पीठ पर बड़े प्यार से उंगलिया फेरीं – जिससे उसे दर्द में आराम मिले | अब वह इतनी नन्ही है कि तीन ही उंगलियाँ फिर सकीं | तब से गिलहरियों के शरीर पर श्री राम की उँगलियों के निशान होते हैं | {{ अब यह मुझसे न पूछियेगा अद्वैतवाद वाली पोस्ट की तरह , कि क्या इससे पहले गिलहरियों की पीठ पर धारियां न थीं 🙂 , क्योंकि यह एक कहानी है, और राम जी ने यह रेखाएं सृष्टि के आरम्भ में खींची या अब, इससे कोई फर्क पड़ता भी नहीं | श्री राम सेतु और डूबते पत्थर ……… जब श्री राम की वानर सेना लंका जाने के लिए सेतु बना रही थी, तब का एक वाकया है … श्री राम का नाम लिख कर वानर भारी भारी पत्थरों को समुद्र में डालते – और वे पत्थर डूबते नहीं – तैरने लगते | श्री राम ने सोचा कि मैं भी मदद करूँ – ये लोग मेरे लिए इतना परिश्रम कर रहे हैं | तो प्रभु ने भी एक पत्थर को पानी में छोड़ा | लेकिन वह तैरा नहीं , डूब गया | फिर से उन्होंने एक और पत्थर छोड़ा – यह भी डूब गया | यही हाल अगले कई पत्थरों का भी हुआ | प्रभु ने हैरान हो कर किसी से पूछा (मुझे याद नहीं किससे – यदि आपमें से किसी को पता हो तो बताएं ) – तो सेवक ने जवाब दिया : ” हे प्रभु | आप इस जगत रुपी भवसागर के तारणहार हैं | आपके “नाम” के सहारे कोई कितना भी बड़ा और (पाप के बोझ से) भारी पत्थर हो, वह भी इस भवसागर पर तैर कर तर जाएगा | किन्तु प्रभु – जिसे आप ही छोड़ दें – वह तो डूब ही जाएगा ना जय श्रीराम

+231 प्रतिक्रिया 61 कॉमेंट्स • 83 शेयर
Dr.ratan Singh Aug 8, 2020

🚩💐🦚 जय श्री गोपाल 🦚💐🚩 💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥 🥀🌲🌹 शुभ शनिवार 🌹🌲🥀 🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯 🌻 🧿💌 शुभरात्रि 💌🧿🙏 🌌🌌🌌🌌🌌🌌🌌🌌🌌 🌷मेरे नयनो मे दर्शन हो🌷 🤹नयनो मे इतने चाह देना🤹 💐मेरे हृदय मे वास हो💐 💥हृदय मे इतना प्रेम देना💥 🌹मेरे मस्तक मे भाव हो🌹 🎎मस्तक मे इतना ज्ञान देना🎎 🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚 🎭आप और आपके पूरे परिवार पर श्री लड्डू गोपाल जी की हनुमान जी और शनिदेव जी की आशिर्वाद हमेशा बनी रहे और सभी मनोकमनाएं पूर्ण हो🌸 🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿 🎭आपका की रात्रि शुभ अतिसुन्दर शांतिमय और मंगल ही मंगलमय व्यतीत हो 🍑 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 🎎🐚🌹श्री कृष्ण🌹🐚🎎 🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚🦚 🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮🇨🇮

+15 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Mahesh Malhotra Aug 8, 2020

+33 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Bhagat ram Aug 8, 2020

+22 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+19 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 5 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
B K Patel Aug 8, 2020

+16 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 20 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB