Mukesh Dhaka
Mukesh Dhaka Dec 31, 2016

Baba ramdev mandir ramgarh shekhawati

Baba ramdev mandir ramgarh shekhawati

Baba ramdev mandir ramgarh shekhawati

+11 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Anupama Shukla Oct 20, 2020

+34 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 9 शेयर
Amar Singh Oct 20, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Mohan prakash Sharma Oct 20, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+16 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर

*🙏🌹🙇‍♀️जय श्री कृष्ण🙇‍♀️🌹🙏j* *🌹चतुर्थ विलास की खुब खुब बधाई🌹* *चतुर्थ विलास* *चौथौ विलास कियौ श्यामाजू,* *परासौली बन माँई।।j* *ताके वृक्षलता द्रुमवेली,* *तन पुलकित आनंद न समाईं।।१।।j* *चंद्रभगा मुख्य यथावलि,* *अपनी सखी सब न्यौति बुलाई।।j* *खंडमंडा,जलेबी लडुआ,* *प्रत्येक अंगकौ भाव जनाई।।२।।j* *साज कियौ पूजन देविकौ,* *बहू उपहार भेट लै आई ।।j* *खेलन चली बनी तिहिंशोभा,* *ज्यों धनमें चपला चमकाई।।३।।j* *पोहोंची जाय दरस देवी तब है,* *गये श्यामकिशोर कन्हाई।।* *मनकौ चीत्यौ भयौ लालनकौ,* *हास बिलास करत किलकाई।।४।।j* *श्यामाश्याम भुज भर भेटे,* *तृण तोरत,और लेत बलाई।।j* *कही न जाय शोभा ता सुख की.* *कुंजन दुरे रसिक निधिपाई ।।५।।j* *भावार्थ* *पारासोली के वन में चोथा विलास श्रु श्यामाजी ने किया हैं। यहां वृक्ष लताओं का मनोहरी द्श्य देखकर प्रसन्नता,मनमें समा नहीं रही हे।अपनी सारी सखियाँ को मुख्य सखी श्री चंद्रभगाजी ने निमंत्रण देकर बुला लिया हैं। प्रत्येक अंगों के भाव से सामग्री के भाव को प्रकट किया है।j* *उनमें मुख्य खंडमढा,जलेबी एवं लड्डु हैं।j* *देवीका पूजन बहुत से उपहारों द्वारा किया है । तदउपरांत विलास के लीये प्रस्थान किया है,जेसे बादल में बीजली की शोभा बढी हुई होती है,ठीक ईसी प्रकार शोभा बढ रही हैःजब सभी पहोंच गये,तब दर्शन के लिये श्रीश्याम-किशोर स्वरुपमें शोभायमान हो रहे है।लालन ने अपने मनका जो संकल्प विचार वही संकल्प पुरा हो गया है।j* *🏵️👣🙌🚩👁️🐾🐄🎪🔥🛕💐🍃👀🎺🎶✍🏻🌱⛩️🙏🌹🦚🙇‍♀🦚🌹🙏⛩️🌱✍🏻🎶🎺👀🍃💐🛕🔥🎪🐄🐾👁️🚩🙌👣🏵️ jgs.*

+9 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB