suresh Chandra yadav
suresh Chandra yadav Mar 26, 2020

+16 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 19 शेयर

कामेंट्स

suresh Chandra yadav Mar 27, 2020

+18 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Master ji Mar 27, 2020

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

नवरात्रि का तीसरा दिन: मां चंद्रघंटा की आज होती है पूजा, ये है विधि और कथा 🔱🚩🐅 नवरात्रि का तीसरा दिन मां चंद्रघंटा को समर्पित है. इस दिन मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है. असुरों का संहार करने के लिए मां दुर्गा ने इस रूप को धारण किया था. आइए जानते हैं पूजन विधि और कथा. नवरात्रि का तीसरा दिन: मां चंद्रघंटा की आज होती है पूजा, ये है विधि और कथा 2020: नवरात्रि के तृतीय दिवस यानि तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है. मां चंद्रघंटा को परम शांतिदायक और कल्याणकारी माना गया है. इनके मस्तक पर घंटे के आकार का आधा चंद्र है. इसीलिए इन्हें मां चंद्रघंटा कहा जाता है. अन्य विशेषताओं की बात करें तो इनके शरीर का रंग स्वर्ण के समान है. मां चंद्रघंटा देवी के दस हाथ हैं. इनके हाथों में शस्त्र-अस्त्र विभूषित हैं. इनकी सवारी सिंह है. नवरात्रि में मां चंद्रघंटा की पूजा का विशेष महत्व बताया गया है. मान्यता है कि जो भी व्यक्ति नवरात्रि में मां चंद्रघंटा की पूजा विधि पूर्वक करता है उसे अलौकिक ज्ञान की प्राप्ति होती है. इस देवी की पूजा और उपासना से साहस और निडरता का बोध होता है. जो व्यक्ति मां चंद्रघंटा की पूजा करते हैं उन्में मां सौम्यता और विनम्रता का भी आर्शीवाद प्रदान करती हैं. मां चंद्रघंटा की पूजा करने से रोग से भी मुक्ति मिलती है. दुर्गा चालीसा का पाठ करने से भक्तों की हर मुराद होती है पूरी, मां दुर्गा होती हैं प्रसन्न पूजा विधि पूजा प्रारंभ करने से पहले मां चंद्रघंटा को केसर और केवड़ा जल से स्नान कराएं. इसके बाद उन्हें सुनहरे रंग के वस्त्र पहनाएं. इसके बाद मां को कमल और पीले गुलाब की माला चढ़ाएं. इसके उपरांत मिष्ठान, पंचामृत और मिश्री का भोग लगाएं. मां चंद्रघंटा को प्रसन्न करने का मंत्र या देवी सर्वभूतेषु मां चंद्रघंटा रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नम:। माता चंद्रघंटा की कथा पौराणिक कथा के अनुसार जब दैत्यों का आतंक बढ़ने लगा तो मां दुर्गा ने मां चंद्रघंटा का अवतार लिया. उस समय असुरों का स्वामी महिषासुर था जिसका देवताओं से भंयकर युद्ध चल रहा था. महिषासुर देव राज इंद्र का सिंहासन प्राप्त करना चाहता था. उसकी प्रबल इच्छा स्वर्गलोक पर राज करने की थी. उसकी इस इच्छा को जानकार सभी देवता परेशान हो गए और इस समस्या से निकलने का उपाय जानने के लिए भगवान ब्रह्मा, विष्णु और महेश के सामने उपस्थित हुए. देवताओं की बात को गंभीरता से सुनने के बाद तीनों को ही क्रोध आया. क्रोध के कारण तीनों के मुख से जो ऊर्जा उत्पन्न हुई. उससे एक देवी अवतरित हुईं. जिन्हें भगवान शंकर ने अपना त्रिशूल और भगवान विष्णु ने चक्र प्रदान किया. इसी प्रकार अन्य देवी देवताओं ने भी माता के हाथों मेें अपने अस्त्र सौंप दिए. देवराज इंद्र ने देवी को एक घंटा दिया. सूर्य ने अपना तेज और तलवार दी, सवारी के लिए सिंह प्रदान किया. इसके बाद मां चंद्रघंटा महिषासुर के पास पहुंची. मां का ये रूप देखकर महिषासुर को ये आभास हो गया कि उसका काल आ गया है. महिषासुर ने मां पर हमला बोल दिया. इसके बाद देवताओं और असुरों में भंयकर युद्ध छिड़ गया. मां चंद्रघंटा ने महिषासुर का संहार किया. इस प्रकार मां ने देवताओं की रक्षा की.

+209 प्रतिक्रिया 33 कॉमेंट्स • 134 शेयर
Vanita Kale Mar 27, 2020

🙏👣🌺👣 जय माता दी मां का तीसरा स्वरूप चंद्रघंटा 🌺🌾🌾 मां चंद्रघंटा 🔔की कृपा आप सभी पर बनी रहे मां आपकी हर मनोकामना पूरी करें माता रानी से विनती हैं🙏 हे माँ तु दया का सागर है तू👏🙏 पूरी दुनिया पर भारी संकट है मां अपने बच्चों को बचाने कुछ गलती हुई तो माफ कर देना ओ मां शेरोवाली आपकी शक्ति अपरंपार🇮🇳👣🌺👣👏🇮🇳🇮🇳 देश भारी संकट का सामना कर रहा है मेरे सभी भाई और बहनों सब मिलकर दुआ करे 😷😷😷😷😷🌟 👈की अपना देश लाेगाे अपनी हाेसला और सहानुभूति की जरूरत है 😪🙏मानवीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी जी का हौसला बढ़ाएं आपने अपने घर में रहे तभी तो भारत सुरक्षित रहेगा मोदी जी की आंख भर आई है जनता का हाल देख के मेरे भाई और बहन अग्नि परीक्षा में अपनी 😷😷👈 करोना वायरस को खत्म करना 😪🙏 चलो शपथ लेते हैं कोई घर से ना निकले अपने 🏡 घर पर ही रहे परिवार के साथ रहे👨‍👩‍👦 महाराष्ट्र की परिस्थिति ठीक नहीं हैं आंखों देखी बात हैं🙏😪😪🙏🙏 महाराष्ट्र में देखें इसे मजाक ना समझे कृपा करके सरकार का समर्थन करे🇮🇳🇮🇳🇮🇳जय हिंद जय भारत माता की की जय 🇮🇳🇮🇳👍👈जय माता दी 👣🌺👣🙏🙏🙏👨‍👩‍👦👨‍👩‍👦👨‍👩‍👦👈🙏🔔🔔🔔🙏🙋🙋

+300 प्रतिक्रिया 42 कॉमेंट्स • 37 शेयर
suresh Chandra yadav Mar 27, 2020

+4 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 30 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB