प्रभु को पाना है तो प्रेम की गली में से गुजरना है। और प्रेम की गली इतनी पतली है कि दो उसमें चल ही नहीं सकते हमें एक होना ही है। यह प्रसंग एक राजा की जिन्दगी का है, उसका नाम था राजा पीपा। 🌹👇🌹👇🌹👇🌹👇🌹👇🌹👇🌹👇🌹👇 उसने दुनिया में जो कुछ इन्सान पाना चाहता है, वो सब कुछ पाया था, महल, हीरे-जवाहरात, नौकर-चाकर, सब उसका आदेश मानते थे। इतना सब कुछ पाने के बावजूद अचानक एक दिन उसे लगा कि कुछ कमी है, कुछ ऐसा है जो नहीं है। अंदर एक तलब-सी जग गई प्रभु को पाने की। अब राजा कभी एक महापुरुष के पास जाएं, कभी दूसरे के पास, पर प्रभु को पाने का रास्ता मिले ही नहीं। राजा बड़ा निराश था तब किसी ने बताया कि एक संत हैं रविदास जी महाराज! आप उनके पास जाएं। राजा पीपा संत रविदास जी के पास पहुँचे। वहाँ देखा कि वो एक बहुत छोटी-सी झोपड़ी में रहते थे-भयानक गरीबी, उस झोपड़ी में तो कुछ था ही नहीं। राजा को लगा, ये तो खुद ही झोपड़ी में जी रहे हैं, यहाँ से मुझे क्या मिलेगा। लेकिन वहाँ पहुँच ही गए थे तो अन्दर भी गए और राजा ने संत रविदास जी को प्रणाम किया। संत रविदास जी ने पूछा, किस लिए आए हो? राजा ने इच्छा बता दी, प्रभु को पाना चाहता हूँ। उस समय संत रविदास महाराज एक कटोरे में चमड़ा भिगो रहे थे-मुलायम करने के लिए, तो उन्होंने कहा, ठीक है, अभी बाहर से आए हो थके होगे, प्यास लगी होगी लो तब तक यह जल पियो। कह कर वही चमड़े वाला कटोरा राजा की ओर बढ़ा दिया। राजा ने सोचा, ये क्या कर दिया कटोरे में पानी है, उसमें चमड़ा डला हुआ है, वो गन्दगी से भरा हुआ है, उसको कैसे पी लूँ? फिर लगा कि अब यहाँ आ गया हूँ, सामने बैठा हूँ तो करूँ क्या? इन संत जी का आग्रह कैसे ठुकराऊँ ? उस समय बिजली होती नहीं थी, झोपड़ी में अन्धेरा था, सो राजा ने मुँह से लगाकर सारा पानी अपने कपडो के अन्दर उडेल दिया और पीये बगैर वहाँ से चला आया। वापस घर आ कर उसने कपडे उतारे धोबी को बुलाया और कहा कि इसको धो दो। धोबी ने राजा का वो कपडा अपनी लड़की को दे दिया धोने के लिए। लड़की उसे ज्यों-ज्यों धोने लगी, उस पर प्रभु का रंग चढ़ना शुरू हो गया। उसमें मस्ती आनी शुरू हो गई और इतनी मस्ती आनी शुरू हो गई कि आस-पास के दूसरे लोग भी उसके साथ आ कर प्रभु के भजन मे गाने-नाचने लगे। धोबी की लड़की बड़ी मशहूर भक्तिन हो गई। अब धीरे-धीरे खबर राजा के पास भी पहुँची। राजा उससे भी मिलने पहुँचा, बोला कि कुछ मेरी भी मदद कर दो। धोबी की लड़की ने बताया कि जो कपडा आपने भेजा था, मैं तो उसी को साफ कर रही थी, तभी से लौ लग गई है, मेरी रूह अन्दर की ओर उड़ान कर रही है। राजा को सारी बात याद आ गई और राजा भागा- भागा फिर संत रविदास जी महाराज के पास गया और उनके पैरों में पड़ गया। फिर रविदास महाराज ने उसको नाम की देन दी। जब तक इन्सान अकिंचन न बन जाए, छोटे से भी छोटा, तुच्छ से भी तुच्छ न हो जाये, तब तक नम्रता नहीं आती। और जब तक विनम्र न हो जायें, प्रभु नहीं मिल सकते। 🌷🌷🌷🌹🌷🌷🌷🌹🌷🌷🌷🌹🌷🌷🌷

+418 प्रतिक्रिया 108 कॉमेंट्स • 92 शेयर

कामेंट्स

🔴 Suresh Kumar 🔴 May 3, 2021
राधे राधे जी 🙏 शुभ रात्रि वंदन ठाकुर जी की कृपा से आपका दामन हमेशा खुशियों से भरा रहे मेरी प्यारी बहन 🍑🙏🍑

Brajesh Sharma May 3, 2021
शुभ रात्रि जय जय श्री राधे कृष्णा जी ॐ नमः शिवाय.. हर हर महादेव

ललन कुमार-8696612797 May 3, 2021
शुभ रात्रि वंदन जी। जय श्री राधे कृष्णा जी।आपका हर सपना साकार हो जी।

RAJ RATHOD May 3, 2021
🌷🌷🚩🚩जय भोलेनाथ.. जय शिव शंभू... हर हर महादेव 🙏🙏🙏🌹🌹

PAWAN GUPTA May 3, 2021
जय श्री राधे कृष्णा जी शुभ रात्रि🙏

Mkmm79 May 3, 2021
मिल जाता है दो पल का सुकून बंद आँखों की बंदगी में वरना थोड़ा-थोड़ा परेशां तो हर शख़्स है अपनी जिंदगी में। 🌹🙏🏻 *शुभ रात्रि*🙏🏻 🌹 🌹🌹जय श्री कृष्णा 🌹🌹

Shivbrat divedi rewa mp Kaaku May 3, 2021
*अशान्त मन से लोग ...* *उजाले में भी खो जाते हैं।* *जबकि शान्त चित्त वाला व्यक्ति ...* *अन्धेरे में भी रास्ता ढूँढ़ लेता है।* *!! शांत रहे, सुखी रहे !!* 🌹सुख मय रात्रि हो आपकी 🌹 आप हर पल मुस्कुराती रहिये जी ✍️ 🌹 🌿 🌹 🌿 🌹 🌿 🌹 💞💞 💞💞

🌹🍒 preeti Jain 🍒🌹✍️ May 3, 2021
जैसे फल और फूल, किसी की प्रेरणा के बिना ही, अपने समय पर वृक्षों में लग जाते है, उसी प्रकार किये हुए अच्छे और बुरे कर्म भी, अपने आप जीवन में स्वतः फल देने आते रहते हैं !!! ।। ओम शान्ति ।। good night sweet dreams ji 🙏🙏 om shanti jai jinendra ji ✍️✍️🌹🙏🍹🍧

Gita Ram sharma May 3, 2021
जय श्री राधे राधे जी जय श्री राधे कृष्णा जी हरिओम नमो भगवते वासुदेवाय नमो नमः ओम् नमः शिवाय नमो नमः हर हर महादेव जी जय श्री राधे कृष्णा गोविन्दाय नमो नमः जी शुभ रात्रि वंदन जी श्री भोलेशंकर भोलेनाथ जी माता पार्वती जी की असीम कृपा आपके घर परिवार मे बनी रहे जी आप सभी का आनेवाला वाला दिन हरपल खुशियों से भरा हुआ शुभ सुखद सुखमय सुखदाई मधुर मंगलमय हो जी ईश्वर से यही प्रार्थना करते हैं जी आप के घर परिवार मे सुख शांति समृद्धि खुशियां वैभव बना रहे जी भोलेभंडारी जी की असीम कृपा से आप के घर परिवार मे सुख शांति समृद्धि वैभव खुशियों के भंडार भरे रहे जी आप सपरिवार स्वस्थ रहे खुश रहे हंसते मुस्कुराते रहे जी आप सभी का आनेवाला वाला दिन हरपल खुशियों से भरा हुआ शुभ सुखद सुखमय सुखदाई मधुर मंगलमय रहे जी आप सभी हमेशा ही खुश रहे जी ईश्वर से यही प्रार्थना करते हैं जी समय नहीं मिल पा रहा है दिन रात एक सी लगती है सरकारी कार्य पुरे कराने पढ़ते हैं जी इस में समय नहीं मिल पा रहा था जी आप कभी भी गलत मत समझना जी जय श्री राधे राधे जी जय श्री राधे कृष्णा जी राम राम जी जय राम जी की जी आप सभी को जी

Archana Singh May 3, 2021
🙏🌹Om namah shivay 🌹🙏 subh ratri vandan meri pyari bahna ji 🌹🙏 bholenath ji ki kripa aap sabhi par nirantar bni rhe bahna ji 🙏🌹🌹🙏

Mamta Chauhan May 3, 2021
Radhe radhe ji🌷🙏 Shubh ratri vandan ji aapka har pal mangalmay ho kushion bhra ho 🌷🌷🌷🙏🙏🙏

🙏🐅SOM DUTT SHARMA🐅🙏 May 3, 2021
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 Sri Radhey 🙏 Radhey g very very sweet good night ji sweet dreams ji nice 👍🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

subodh kumar May 3, 2021
जिन्दगी खुबसूरत है इसे बचाएं। फिलहाल दूरियों से ही इसे सजाएं। radhe radhe. mere pyare wali Didi. good night.

S K Pandey 🌺🙏🏻🌺 May 3, 2021
🌹सोमवार स्नेह वंदन जी शुभ रात्रि🌹 आपका समय शुभ एवं मंगलमय हो!💐 🙏🏻घर पर रहें,स्वस्थ व सुरक्षित रहें! 🙏🏻

shyam moryani May 4, 2021
jai shree Radhey Radhey Radhey Radhey Radhey Krishna Ji 🌹🌹🙏 good afternoon 🌞

जय श्री राधे कृष्णा राधे राधे जीश्याम शुभ संध्याकी सबको राम राम जी राम राम🙏 महामारी बीमारी कोरोना वायरसने सबको बहुत परेशान😇 किया है 🙏😌 प्रार्थना है उस परमपिता परमात्मा इस महामारी कोरोना☠️👹🦠🦠 वायरस को जल्दी से पूरी🌎🔭🌍 📡🌎दुनिया से समाप्त करें सभी हंसी खुशी फिर से मुस्कुराए जय श्री हरि 🙏 कभी कभी हंस भी लिया करो आदरणीय भाइयों बहनों श्रीमती श्री मानवों क्योंकि हंसना 🏋️भी योग 💪😊से कम नहीं और इस कोरोना महामारी में इतना दम नहीं कि वह😬😀 हिंदुस्तानियों को हंसने 😳☺️से रोक दें 🙊हमारे हिंदुस्तान में हर बीमारी के ऊपर मजाक बना ही लेते हैं और वैसे भी जो होनी को मंजूर होता है होता तो वही है जैसे हमारे हिंदुस्तान में कहावत है दुख आता है हाथी की चाल 🐘🐘जाता है चींटी 🐜🐜की चाल 🦠🦠🐛वायरस भी अपने वारिसों 👹👺☠️🦠🐛🦠को लेकर ऐसे ही चला जाएगा एक दिन पर पता नहीं तब तक किस-किस को अपनी चपेट में लेकर जाएगा इसलिए😷😷👈 सावधानी हटी दुर्घटना😷😇 घटी अपनी सेफ्टी अपने हाथ🙏 सरकार भी अब इससेज्यादानहीं कर सकती हैlock-down 👈सेसभी सुरक्षित रहें अपनों को सुरक्षित रखें जय राम जी की 🙏😊😊🌹🌹🕉️🌹🌹⛳⛳⛳

+8 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 1 शेयर
arvind sharma May 6, 2021

🐇इस दुनिया मे जो है🍁 वह विश्वास है 🐇 निराश न होकर भगवान की और बढ चले🚩 भगवान श्रीहरि जगतपालनहार हमारी आपकी सदा रक्षा करेगे 🌾💠🌾 बिल्कुल भी निराश न होकर श्रीकृष्ण भगवान की और बढ चले सचमुच बढने की एच्छा रखने वाले को प्रभु बुला लेते है! 🌱जगत के किसी हेर-फेर से चकित होने कि आवश्यकता नही🌱 जो कुछ होता है !!🌱भगवान का रचा हुआ होता है!!🌱 आपके न चाहने पर भी वह होकर रहगा !!🌱उसे कोई भी टाल नही सकता!🌱 इसलिए यहा से अपनी दुष्टि स्वार्थ मोड लेनी चाहिए !🌱और अधिक से अधिक भगवान का चिन्तन करते रहना चाहिए 🌱अन्यथा इस जगत को देखकर कभी हसना और कभी रोना पडेगा 🌱अगर भगवान पर भरोसा रखा तो सब कुछ ठीक हो जायेगा !!🪶🪶🪶🪶 🍁उनके होकर हम दुखी हो तो उनको दुख पहुचाते हम🍁 🍁उनके सुखमे यो बाधक बन उनपर ही कलक लगाते!🍁 🍁हम उनपर यदि है विश्वास हमे तो क्यो इतना सकुचाते🍁

+27 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+11 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर
🌷Dev... 🌷 May 6, 2021

+12 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Ravi Kumar Taneja May 6, 2021

🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉 🌹श्रीमन नारायण नारायण हरि हरि🌹 🔯 *हमें ऐसा क्यों लगता है कि आज के समय मंत्र असरकारक नही है*🔯 🏹🔥🏹🔥🏹🔥🏹🔥🏹 🕉हम सभी किसी न किसी मन्त्र का जप करते हैं, पुराणों से लेकर ग्रन्थ तक मे लिखा है कि मन्त्र जप से हर समस्या दूर होती है लेकिन क्या कारण है कि हमारी समस्या अनवरत बनी हुई है ,आइये इस कथा के माध्य्म से समझे।🕉 🌴 *माधवाचार्य जी गायत्री के घोर उपासक थे वृंदावन मे उन्होंने तेरह वर्ष तक गायत्री के समस्त अनुष्ठान विधिपूर्वक किये।*🌴 🌲लेकिन उन्हे इससे न भौतिक न आध्यायत्मिकता लाभ दिखा।🌲 🌲वो निराश हो कर काशी गये वहां उन्हें एक आवधूत मिला जिसने उन्हें एक वर्ष तक काल भैरव की उपासना करने को कहा।🌲 🌲उन्होंने एक वर्ष से अधिक ही कालभैरव की आराधना की एक दिन उन्होंने आवाज सुनी🌲 🏹 *मै प्रस्ंन्न हूं वरदान मांगो*🏹 🌲उन्हें लगा कि ये उनका भ्रम हे क्योंकि सिर्फ आवाज सुनायी दे रही थी कोइ दिखाई नहीं दे रहा था। उन्होंने सुना अनसुना कर दिया लेकिन वही आवाज फिर से उन्हें तीन बार सुनायी दी।🌲 🏹 *तब माधवाचार्य जी ने कहा आप सामने आ कर अपना परिचय दे मै अभी काल भैरव की उपासना मे व्यस्त हूं।*🏹 🌲सामने से आवाज आयी तूं जिसकी उपासना कर रहा है वो मै ही काल भैरव हूँ🌲 *माधवाचार्य जी ने कहा तो फिर सामने क्यो नहीं आते?* काल भैरव जी ने कहा* 🕉 *"माधवा तुमने तेरह साल तक जिन गायत्री मंत्रों का अखंड जाप किया है* *उसका तेज तुम्हारे सर्वत्र चारो ओर व्याप्त है।*🕉 🌲मनुष्य रूप मै उसे मै सहन नहीं कर सकता, इसीलिए सामने नहीं आ सकता हूँ।🌲 🏹 *माध्वाचार्य ने कहा जब आप उस तेज का सामना नहीं कर सकते है तब आप मेरे किसी काम के नहीं आप वापस जा सकते है।*🏹 🌴 *लेकिन मै तुम्हारा समाधान किये बिना नहीं जा सकता हूं।*🌴 *🌴तब फिर ये बताइये कि मेने पिछले तेरह वर्षों से किया गायत्री अनुष्ठान मुझे क्यों नहीं फला?*🌴 *🕉काल भैरव ने कहा* *वो अनुष्ठान निष्फल नहीं हुए है उससे तुम्हारे जन्म जन्मांतरो के पाप नष्ट हुए है।*🕉 *🌲तो अब मै क्या करू?* 🕉"फिर से वृंदावन जा कर ओर एक वर्ष गायत्री का अनुष्ठान कर इस से तेरे इस जन्म के भी पाप नष्ट हो जायेंगे फिर गायत्री मां प्रसन्न होगी।"🕉 *आप या गायत्री कहां होते है हम यहीं रहते है पर अलग रुपों मे ये मंत्र जप जाप और कर्म कांड तुम्हें हमे देखने की शक्ति, सिध्दि देते है जिन्हें तुम साक्षात्कार कहते हो।* 🌲 *माधवाचार्य वृंदावन लौट आये अनुष्ठान शुरु किया* *एक दिन बृह्म मूहुर्त मे अनुष्ठान मे बैठने ही वाले थे कि उन्होंने आवाज सुनी*🌲 🕉 *"मै आ गयी हूँ माधव वरदान मांगो"*🕉 *🕉मां !!!!! 🕉माधवाचार्य फूटफूट कर रोने लगे।* 🌴*मां !!!!पहले बहुत लालसा थी कि वरदान मांगू लेकिन अब् कुछ मांगने की इच्छा रही नही, मां!!! *आप जो मिल गयी हो*🌴 🌹 *माधव!तुम्हें मांगना तो पडेगा ही*🌹 🙏 *मां ये देह,शरीर भले ही नष्ट हो जाये लेकिन इस शरीर से की गयी भक्ति अमर रहे।*🙏 🙏इस भक्ति की आप सदैव साक्षी रहो। यही वरदान दो!!!🙏 🕉तथास्तु🕉 आगे तीन वर्षों मै माधवाचार्य जी नै माधवनियम नाम का आलौकिक ग्रंथ लिखा। 🌹 *याद रखिये*🌹 आपके द्वारा शुरू किये गये मंत्र जाप पहले दिन से ही काम करना शुरू कर देतै है। *लेकिन सबसे पहले प्रारब्ध के पापों को नष्ट करते है।* *देवताओं की शक्ति इन्हीं पापों को नष्ट करने मे खर्च हो जाती है।* *और जैसे ही ये पाप नष्ट होते है आपको एक आलौकिक तेज एक आध्यायात्मिक शक्ति और सिध्दि प्राप्त होने लगती है।*🙏🌴🙏 🎻🎷🎻🎷🎻🎷🎻🎷🎻 श्री लक्ष्मी नारायण भगवान जी की कृपा दृष्टि आप सभी पर बनी रहे 👏🌹👏 जय श्री लक्ष्मी नारायण हरि हरि 🙏🌷🙏 ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमो नमः🙏🌷🙏 🌟 *सदैव प्रसन्न रहिये।* *जो प्राप्त है, पर्याप्त है।।*🌟 शुभ संध्या वंदना🙏🌸🙏 🕉🦚🦢🙏🌹🙏🌹🙏🦢🦚🕉

+110 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 74 शेयर
Malti Bansal May 6, 2021

0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Vandana Singh May 6, 2021

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 3 शेयर
hemlata May 6, 2021

+8 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 4 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB