शिव उठत,शिव चलत,शिव शाम-भोर है शिव बुद्धि,शिव चित्त,शिव मन विभोर है शिव रात्रि,शिव दिवस,शिव स्वप्न शयन है शिव काल,शिव कला,शिव मास-अयन है शिव शब्द,शिव अर्थ,शिवहि परमार्थ है शिव कर्म,शिव भाग्य,शिवहि पुरुषार्थ है शिव स्नेह,शिव राग,शिव ही अनुराग है 🌞 ॐ नमः शिवाय 🌿🙏 🌷आज का सद्विचार 🌷

शिव उठत,शिव चलत,शिव शाम-भोर है
शिव बुद्धि,शिव चित्त,शिव मन विभोर है
शिव रात्रि,शिव दिवस,शिव स्वप्न शयन है
शिव काल,शिव कला,शिव मास-अयन है
शिव शब्द,शिव अर्थ,शिवहि परमार्थ है
शिव कर्म,शिव भाग्य,शिवहि पुरुषार्थ है
शिव स्नेह,शिव राग,शिव ही अनुराग है
🌞 ॐ नमः शिवाय 🌿🙏

🌷आज का सद्विचार 🌷

+628 प्रतिक्रिया 133 कॉमेंट्स • 463 शेयर

कामेंट्स

🙏🌹राजकुमार राठोड🌹🙏 Dec 2, 2019
@queen1 शिव उठत,शिव चलत,शिव शाम-भोर है शिव बुद्धि,शिव चित्त,शिव मन विभोर है शिव रात्रि,शिव दिवस,शिव स्वप्न शयन है शिव काल,शिव कला,शिव मास-अयन है शिव शब्द,शिव अर्थ,शिवहि परमार्थ है शिव कर्म,शिव भाग्य,शिवहि पुरुषार्थ है शिव स्नेह,शिव राग,शिव ही अनुराग है 🌞 ॐ नमः शिवाय 🌿🙏

🙏🌹राजकुमार राठोड🌹🙏 Dec 2, 2019
@shyamasaksena शिव उठत,शिव चलत,शिव शाम-भोर है शिव बुद्धि,शिव चित्त,शिव मन विभोर है शिव रात्रि,शिव दिवस,शिव स्वप्न शयन है शिव काल,शिव कला,शिव मास-अयन है शिव शब्द,शिव अर्थ,शिवहि परमार्थ है शिव कर्म,शिव भाग्य,शिवहि पुरुषार्थ है शिव स्नेह,शिव राग,शिव ही अनुराग है 🌞 ॐ नमः शिवाय 🌿🙏

🙏🌹राजकुमार राठोड🌹🙏 Dec 2, 2019
@जयजलाराम शिव उठत,शिव चलत,शिव शाम-भोर है शिव बुद्धि,शिव चित्त,शिव मन विभोर है शिव रात्रि,शिव दिवस,शिव स्वप्न शयन है शिव काल,शिव कला,शिव मास-अयन है शिव शब्द,शिव अर्थ,शिवहि परमार्थ है शिव कर्म,शिव भाग्य,शिवहि पुरुषार्थ है शिव स्नेह,शिव राग,शिव ही अनुराग है 🌞 ॐ नमः शिवाय 🌿🙏

🙏🌹राजकुमार राठोड🌹🙏 Dec 2, 2019
@kamala शिव उठत,शिव चलत,शिव शाम-भोर है शिव बुद्धि,शिव चित्त,शिव मन विभोर है शिव रात्रि,शिव दिवस,शिव स्वप्न शयन है शिव काल,शिव कला,शिव मास-अयन है शिव शब्द,शिव अर्थ,शिवहि परमार्थ है शिव कर्म,शिव भाग्य,शिवहि पुरुषार्थ है शिव स्नेह,शिव राग,शिव ही अनुराग है 🌞 ॐ नमः शिवाय 🌿🙏

🙏🌹राजकुमार राठोड🌹🙏 Dec 2, 2019
@surajrajput8 शिव उठत,शिव चलत,शिव शाम-भोर है शिव बुद्धि,शिव चित्त,शिव मन विभोर है शिव रात्रि,शिव दिवस,शिव स्वप्न शयन है शिव काल,शिव कला,शिव मास-अयन है शिव शब्द,शिव अर्थ,शिवहि परमार्थ है शिव कर्म,शिव भाग्य,शिवहि पुरुषार्थ है शिव स्नेह,शिव राग,शिव ही अनुराग है 🌞 ॐ नमः शिवाय 🌿🙏

🙏🌹राजकुमार राठोड🌹🙏 Dec 2, 2019
@dheerajpatel शिव उठत,शिव चलत,शिव शाम-भोर है शिव बुद्धि,शिव चित्त,शिव मन विभोर है शिव रात्रि,शिव दिवस,शिव स्वप्न शयन है शिव काल,शिव कला,शिव मास-अयन है शिव शब्द,शिव अर्थ,शिवहि परमार्थ है शिव कर्म,शिव भाग्य,शिवहि पुरुषार्थ है शिव स्नेह,शिव राग,शिव ही अनुराग है 🌞 ॐ नमः शिवाय 🌿🙏

Sanjay Tiwari Dec 2, 2019
राधे-राधे भाई जी जय श्री कृष्णा नाइस पोस्ट अति सुंदर सत्संग शुभ संध्या भाई जी 🙏🌹👌🇮🇳👌

Dr.ratan Singh Dec 2, 2019
🚩ॐ नमः शिवाय वन्दन भाई🚩 🙏आपऔरआपके पूरे परिवार पर काशी विश्वनाथ जी की कृपा दृष्टि सदा बनी रहे और सभी मनोकामनाएं पूर्ण होजी🍑 🎭आपका सोमवार का दिन शुभ अतिसुन्दर शिवमय और मंगलमय व्यतीत हो जी🍑

Preeti jain Dec 2, 2019
om namah shivaya shivji ka Kripa 🚩 🙏🏻 sada aap aur aap ke family pe bana rahe aap ka har pal shubh aur maglamye ho good afternoon ji

सुधा Dec 2, 2019
हर हर महादेव 🙏🌹🙏 शुभदोपहर वन्दन प्यारे भाई जी 🌹🙏🌹

sitaram pareek Dec 2, 2019
🌾Good evening ji sada shiv kripa se khush rahe jiii have a great day & night God bless you my dear brother shree Har Har mahadev🙏🏻🙏🏻🌾🌼🌸💮🍁🍫🌠

Shivsanker Shukala Dec 2, 2019
p ओम नमः शिवाय शुभ संध्या भैया जी हर हर महादेव

दिनकर महाराज लटपटे Dec 2, 2019
राम राम जी 🙏🌹आप और आपके परिवारपर भगवान श्री शिवशंकर जी की कृपा हमेशा बनी रहे🌹आपका हर पल शुभ और मंगलमय हो🌹शुभ रात्री जी🙏🙏🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹

Manoj manu Dec 2, 2019
🚩🙏ऊँ नमः शिवाय राधे राधे जी 🌺🙏प्रभु श्री की सुंदर-मधुर-मंगल-अनंत- कोटी कृपा के साथ आप सभी का हर एक पल शुभ,सुंदर,उन्नति,दायक एवं मंगलमय हो जी, शुभ साँझ,विनम्र वंदन जी 🌿🌺🙏

Anita Mittal Dec 2, 2019
जय भोलेनाथ जी भोलेनाथ का आशीर्वाद व स्नेह आपके साथ बना रहे भाईजी आपका हर पल मंगलमय हो जी

Mita Vadiwala Dec 2, 2019
Om Namah Shivay🌿Har Har Mahadev🌿Shubh Ratri Vandan Bhai ji Aapka har pal shubh evam mangalmay ho Bholenath ji ki aseem krupa aap aur aapke pariwar par sadaiv bani rahe 🌹🌹🙏🙏

Neha Sharma, Haryana Dec 3, 2019
Om Namah Shivaye Shubh Sandhya Vandan bhai ji God bless you and your family ji Aapka har pal mangalmay ho bhai ji 🙏🌹

+88 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 206 शेयर

+37 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 120 शेयर
PARSHOTAM YADAV Jan 26, 2020

+29 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 94 शेयर

+51 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 89 शेयर
Durga Pawan Sharma Jan 26, 2020

+30 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 39 शेयर
jatan kurveti Jan 26, 2020

+25 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 20 शेयर
Neha Sharma, Haryana Jan 27, 2020

*ओम् नमः शिवाय*🥀🥀🙏 *शुभ प्रभात् वंदन*🥀🥀🙏 भगवान शिव ने मातापार्वती को बताए थे जीवन के ये पांच रहस्य भगवान शिव ने देवी पार्वती को समय-समय पर कई ज्ञान की बातें बताई हैं। जिनमें मनुष्य के सामाजिक जीवन से लेकर पारिवारिक और वैवाहिक जीवन की बातें शामिल हैं। भगवान शिव ने देवी पार्वती को 5 ऐसी बातें बताई थीं जो हर मनुष्य के लिए उपयोगी हैं, जिन्हें जानकर उनका पालन हर किसी को करना ही चाहिए- 1. क्या है सबसे बड़ा धर्म और सबसे बड़ा पाप देवी पार्वती के पूछने पर भगवान शिव ने उन्हें मनुष्य जीवन का सबसे बड़ा धर्म और अधर्म मानी जाने वाली बात के बारे में बताया है। भगवान शंकर कहते है- श्लोक- नास्ति सत्यात् परो नानृतात् पातकं परम्।। अर्थात- मनुष्य के लिए सबसे बड़ा धर्म है सत्य बोलना या सत्य का साथ देना और सबसे बड़ा अधर्म है असत्य बोलना या उसका साथ देना। इसलिए हर किसी को अपने मन, अपनी बातें और अपने कामों से हमेशा उन्हीं को शामिल करना चाहिए, जिनमें सच्चाई हो, क्योंकि इससे बड़ा कोई धर्म है ही नहीं। असत्य कहना या किसी भी तरह से झूठ का साथ देना मनुष्य की बर्बादी का कारण बन सकता है। 2. काम करने के साथ इस एक और बात का रखें ध्यान श्लोक- आत्मसाक्षी भवेन्नित्यमात्मनुस्तु शुभाशुभे। अर्थात- मनुष्य को अपने हर काम का साक्षी यानी गवाह खुद ही बनना चाहिए, चाहे फिर वह अच्छा काम करे या बुरा। उसे कभी भी ये नहीं सोचना चाहिए कि उसके कर्मों को कोई नहीं देख रहा है। कई लोगों के मन में गलत काम करते समय यही भाव मन में होता है कि उन्हें कोई नहीं देख रहा और इसी वजह से वे बिना किसी भी डर के पाप कर्म करते जाते हैं, लेकिन सच्चाई कुछ और ही होती है। मनुष्य अपने सभी कर्मों का साक्षी खुद ही होता है। अगर मनुष्य हमेशा यह एक भाव मन में रखेगा तो वह कोई भी पाप कर्म करने से खुद ही खुद को रोक लेगा। 3. कभी न करें ये तीन काम करने की इच्छा श्लोक-मनसा कर्मणा वाचा न च काड्क्षेत पातकम्। अर्थात- आगे भगवान शिव कहते है कि- किसी भी मनुष्य को मन, वाणी और कर्मों से पाप करने की इच्छा नहीं करनी चाहिए। क्योंकि मनुष्य जैसा काम करता है, उसे वैसा फल भोगना ही पड़ता है। यानि मनुष्य को अपने मन में ऐसी कोई बात नहीं आने देना चाहिए, जो धर्म-ग्रंथों के अनुसार पाप मानी जाए। न अपने मुंह से कोई ऐसी बात निकालनी चाहिए और न ही ऐसा कोई काम करना चाहिए, जिससे दूसरों को कोई परेशानी या दुख पहुंचे। पाप कर्म करने से मनुष्य को न सिर्फ जीवित होते हुए इसके परिणाम भोगना पड़ते हैं बल्कि मारने के बाद नरक में भी यातनाएं झेलना पड़ती हैं। 4. सफल होने के लिए ध्यान रखें ये एक बात संसार में हर मनुष्य को किसी न किसी मनुष्य, वस्तु या परिस्थित से आसक्ति यानि लगाव होता ही है। लगाव और मोह का ऐसा जाल होता है, जिससे छूट पाना बहुत ही मुश्किल होता है। इससे छुटकारा पाए बिना मनुष्य की सफलता मुमकिन नहीं होती, इसलिए भगवान शिव ने इससे बचने का एक उपाय बताया है। श्लोक-दोषदर्शी भवेत्तत्र यत्र स्नेहः प्रवर्तते। अनिष्टेनान्वितं पश्चेद् यथा क्षिप्रं विरज्यते।। अर्थात- भगवान शिव कहते हैं कि- मनुष्य को जिस भी व्यक्ति या परिस्थित से लगाव हो रहा हो, जो कि उसकी सफलता में रुकावट बन रही हो, मनुष्य को उसमें दोष ढूंढ़ना शुरू कर देना चाहिए। सोचना चाहिए कि यह कुछ पल का लगाव हमारी सफलता का बाधक बन रहा है। ऐसा करने से धीरे-धीरे मनुष्य लगाव और मोह के जाल से छूट जाएगा और अपने सभी कामों में सफलता पाने लगेगा। 5. यह एक बात समझ लेंगे तो नहीं करना पड़ेगा दुखों का सामना श्लोक-नास्ति तृष्णासमं दुःखं नास्ति त्यागसमं सुखम्। सर्वान् कामान् परित्यज्य ब्रह्मभूयाय कल्पते।। अर्थात- आगे भगवान शिव मनुष्यो को एक चेतावनी देते हुए कहते हैं कि- मनुष्य की तृष्णा यानि इच्छाओं से बड़ा कोई दुःख नहीं होता और इन्हें छोड़ देने से बड़ा कोई सुख नहीं है। मनुष्य का अपने मन पर वश नहीं होता। हर किसी के मन में कई अनावश्यक इच्छाएं होती हैं और यही इच्छाएं मनुष्य के दुःखों का कारण बनती हैं। जरुरी है कि मनुष्य अपनी आवश्यकताओं और इच्छाओं में अंतर समझे और फिर अनावश्यक इच्छाओं का त्याग करके शांत मन से जीवन बिताएं। *🌻कान दर्द से राहत पाने के लिए घरेलू उपाय* *🌻लहसुन की 10-12 कलियों को छीलकर रख लें। इन कलियों को अच्छी तरह पीस या कूट लें। पीसते या कूटते समय इसमें 10-12 बूंद पानी मिला लें। अब इसे किसी कपड़े या महीन छन्नी से छान या निचोड़ लें। दर्द बाली कान में उस रस के 2 बून्द रस कान में डालने से दर्द से राहत मिलता है ।* *🌻लहसुन की कलियों को 2 चम्‍मच तिल के तेल में तब तक गरम करें जब तक कि वह काला ना हो जाए। फिर इसे तेल की 2-3 बूंदे कानों में टपका लें।* *🌻जैतून के पत्तों के रस को गर्म करके बूंद-बूंद करके कान में डालने से कान का दर्द ठीक हो जाता है।* *🌻तुलसी के पत्तों का रस गुनगुना कर दो-दो बूंद सुबह-शाम डालने से कान के दर्द में राहत मिलती है।* *🌻प्याज का रस निकाल लें,अब रुई के फाये या किसी वूलेन कपडे के टुकडे को इस रस में डुबायें अब इसे कान के ऊपर निचोड़ दें ,इससे कान में उत्पन्न सूजन,दर्द ,लालिमा एवं संक्रमण को कम करने में मदद मिलती है।* *🌻कान में दर्द हो रहा है तो अदरक का रस निकालकर दो बूंद कान में टपका देने से भी दर्द और सूजन में काफी आराम मिलता है।*

+442 प्रतिक्रिया 45 कॉमेंट्स • 224 शेयर
Durga Pawan Sharma Jan 26, 2020

+12 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 35 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB