Ansouya M
Ansouya M Feb 26, 2021

🌹🌹🙏🌹🌹जय श्री राधे कृष्ण 🙏🌹🙏🌹🙏ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः 🌹🙏🌹🌹🙏🌹🌹श्री गणेशाय नमः 🌹🙏🌹 🙏🌹🙏🌹🌹जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 🙏🌹🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🌹🙏🙏*शांति सन्देश* मानवीय प्रेम , प्रेम है और हृदय का प्रेम भक्ति है । इस शरीर के खत्म हो जाने पर वह मानवीय प्रेम भी खत्म हो जाता है लेकिन जो हृदय का प्रेम है , जो भक्ति है वह शरीर खत्म भी हो जाए , फिर भी रहेगी । 🙏 ***प्रेम रावत***🌹🙏 श्री कृष्ण: शरणम् मम 🌹🙏🌹🌹 कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। प्रणत क्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नमः॥ जिनके हृदय में निरन्तर प्रेमरूपिणी भक्ति निवास करती है, वे शुद्धान्त:करण पुरुष स्वप्नमें भी यमराजको नहीं देखते ॥ जिनके हृदयमें भक्ति महारानीका निवास है, उन्हें प्रेत, पिशाच, राक्षस या दैत्य आदि स्पर्श करनेमें भी समर्थ नहीं हो सकते ॥ भगवान्‌ तप, वेदाध्ययन, ज्ञान और कर्म आदि किसी भी साधनसे वशमें नहीं किये जा सकते; वे केवल भक्तिसे ही वशीभूत होते हैं। इसमें श्रीगोपीजन प्रमाण हैं ॥ मनुष्योंका सहस्रों जन्मके पुण्य-प्रतापसे भक्तिमें अनुराग होता है। कलियुगमें केवल भक्ति, केवल भक्ति ही सार है। भक्तिसे तो साक्षात् श्रीकृष्णचन्द्र सामने उपस्थित हो जाते हैं ॥ येषां चित्ते वसेद्‌भक्तिः सर्वदा प्रेमरूपिणी । नते पश्यन्ति कीनाशं स्वप्नेऽप्यमलमूर्तयः ॥ न प्रेतो न पिशाचो वा राक्षसो वासुरोऽपि वा । भक्तियुक्तमनस्कानां स्पर्शने न प्रभुर्भवेत् ॥ न तपोभिर्न वेदैश्च न ज्ञानेनापि कर्मणा । हरिर्हि साध्यते भक्त्या प्रमाणं तत्र गोपिकाः ॥ नृणां जन्मसहस्रेण भक्तौ प्रीतिर्हि जायते । कलौ भक्तिः कलौ भक्तिः भक्त्या कृष्णः पुरः स्थितः ॥ ………. (श्रीमद्भागवतमाहात्म्य २|१६-१९)

🌹🌹🙏🌹🌹जय श्री राधे कृष्ण 🙏🌹🙏🌹🙏ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः 🌹🙏🌹🌹🙏🌹🌹श्री गणेशाय नमः 🌹🙏🌹 🙏🌹🙏🌹🌹जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 🙏🌹🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🌹🙏🙏*शांति सन्देश*

मानवीय प्रेम , प्रेम है और हृदय का प्रेम भक्ति है । इस शरीर के खत्म हो जाने पर वह मानवीय प्रेम भी खत्म हो जाता है लेकिन जो हृदय का प्रेम है , जो भक्ति है वह शरीर खत्म भी हो जाए , फिर भी रहेगी ।

      🙏 ***प्रेम रावत***🌹🙏
श्री कृष्ण: शरणम् मम 🌹🙏🌹🌹
कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। 
प्रणत क्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नमः॥

जिनके हृदय में निरन्तर प्रेमरूपिणी भक्ति निवास करती है, वे शुद्धान्त:करण पुरुष स्वप्नमें भी यमराजको नहीं देखते ॥ जिनके हृदयमें भक्ति महारानीका निवास है, उन्हें प्रेत, पिशाच, राक्षस या दैत्य आदि स्पर्श करनेमें भी समर्थ नहीं हो सकते ॥ भगवान्‌ तप, वेदाध्ययन, ज्ञान और कर्म आदि किसी भी साधनसे वशमें नहीं किये जा सकते; वे केवल भक्तिसे ही वशीभूत होते हैं। इसमें श्रीगोपीजन प्रमाण हैं ॥ मनुष्योंका सहस्रों जन्मके पुण्य-प्रतापसे भक्तिमें अनुराग होता है। कलियुगमें केवल भक्ति, केवल भक्ति ही सार है। भक्तिसे तो साक्षात् श्रीकृष्णचन्द्र सामने उपस्थित हो जाते हैं ॥ 

येषां चित्ते वसेद्‌भक्तिः सर्वदा प्रेमरूपिणी ।
नते पश्यन्ति कीनाशं स्वप्नेऽप्यमलमूर्तयः ॥ 
न प्रेतो न पिशाचो वा राक्षसो वासुरोऽपि वा ।
भक्तियुक्तमनस्कानां स्पर्शने न प्रभुर्भवेत् ॥ 
न तपोभिर्न वेदैश्च न ज्ञानेनापि कर्मणा ।
हरिर्हि साध्यते भक्त्या प्रमाणं तत्र गोपिकाः ॥ 
नृणां जन्मसहस्रेण भक्तौ प्रीतिर्हि जायते ।
कलौ भक्तिः कलौ भक्तिः भक्त्या कृष्णः पुरः स्थितः ॥ 

………. (श्रीमद्भागवतमाहात्म्य २|१६-१९)
🌹🌹🙏🌹🌹जय श्री राधे कृष्ण 🙏🌹🙏🌹🙏ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः 🌹🙏🌹🌹🙏🌹🌹श्री गणेशाय नमः 🌹🙏🌹 🙏🌹🙏🌹🌹जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 🙏🌹🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🌹🙏🙏*शांति सन्देश*

मानवीय प्रेम , प्रेम है और हृदय का प्रेम भक्ति है । इस शरीर के खत्म हो जाने पर वह मानवीय प्रेम भी खत्म हो जाता है लेकिन जो हृदय का प्रेम है , जो भक्ति है वह शरीर खत्म भी हो जाए , फिर भी रहेगी ।

      🙏 ***प्रेम रावत***🌹🙏
श्री कृष्ण: शरणम् मम 🌹🙏🌹🌹
कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। 
प्रणत क्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नमः॥

जिनके हृदय में निरन्तर प्रेमरूपिणी भक्ति निवास करती है, वे शुद्धान्त:करण पुरुष स्वप्नमें भी यमराजको नहीं देखते ॥ जिनके हृदयमें भक्ति महारानीका निवास है, उन्हें प्रेत, पिशाच, राक्षस या दैत्य आदि स्पर्श करनेमें भी समर्थ नहीं हो सकते ॥ भगवान्‌ तप, वेदाध्ययन, ज्ञान और कर्म आदि किसी भी साधनसे वशमें नहीं किये जा सकते; वे केवल भक्तिसे ही वशीभूत होते हैं। इसमें श्रीगोपीजन प्रमाण हैं ॥ मनुष्योंका सहस्रों जन्मके पुण्य-प्रतापसे भक्तिमें अनुराग होता है। कलियुगमें केवल भक्ति, केवल भक्ति ही सार है। भक्तिसे तो साक्षात् श्रीकृष्णचन्द्र सामने उपस्थित हो जाते हैं ॥ 

येषां चित्ते वसेद्‌भक्तिः सर्वदा प्रेमरूपिणी ।
नते पश्यन्ति कीनाशं स्वप्नेऽप्यमलमूर्तयः ॥ 
न प्रेतो न पिशाचो वा राक्षसो वासुरोऽपि वा ।
भक्तियुक्तमनस्कानां स्पर्शने न प्रभुर्भवेत् ॥ 
न तपोभिर्न वेदैश्च न ज्ञानेनापि कर्मणा ।
हरिर्हि साध्यते भक्त्या प्रमाणं तत्र गोपिकाः ॥ 
नृणां जन्मसहस्रेण भक्तौ प्रीतिर्हि जायते ।
कलौ भक्तिः कलौ भक्तिः भक्त्या कृष्णः पुरः स्थितः ॥ 

………. (श्रीमद्भागवतमाहात्म्य २|१६-१९)
🌹🌹🙏🌹🌹जय श्री राधे कृष्ण 🙏🌹🙏🌹🙏ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः 🌹🙏🌹🌹🙏🌹🌹श्री गणेशाय नमः 🌹🙏🌹 🙏🌹🙏🌹🌹जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 🙏🌹🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🌹🙏🙏*शांति सन्देश*

मानवीय प्रेम , प्रेम है और हृदय का प्रेम भक्ति है । इस शरीर के खत्म हो जाने पर वह मानवीय प्रेम भी खत्म हो जाता है लेकिन जो हृदय का प्रेम है , जो भक्ति है वह शरीर खत्म भी हो जाए , फिर भी रहेगी ।

      🙏 ***प्रेम रावत***🌹🙏
श्री कृष्ण: शरणम् मम 🌹🙏🌹🌹
कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। 
प्रणत क्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नमः॥

जिनके हृदय में निरन्तर प्रेमरूपिणी भक्ति निवास करती है, वे शुद्धान्त:करण पुरुष स्वप्नमें भी यमराजको नहीं देखते ॥ जिनके हृदयमें भक्ति महारानीका निवास है, उन्हें प्रेत, पिशाच, राक्षस या दैत्य आदि स्पर्श करनेमें भी समर्थ नहीं हो सकते ॥ भगवान्‌ तप, वेदाध्ययन, ज्ञान और कर्म आदि किसी भी साधनसे वशमें नहीं किये जा सकते; वे केवल भक्तिसे ही वशीभूत होते हैं। इसमें श्रीगोपीजन प्रमाण हैं ॥ मनुष्योंका सहस्रों जन्मके पुण्य-प्रतापसे भक्तिमें अनुराग होता है। कलियुगमें केवल भक्ति, केवल भक्ति ही सार है। भक्तिसे तो साक्षात् श्रीकृष्णचन्द्र सामने उपस्थित हो जाते हैं ॥ 

येषां चित्ते वसेद्‌भक्तिः सर्वदा प्रेमरूपिणी ।
नते पश्यन्ति कीनाशं स्वप्नेऽप्यमलमूर्तयः ॥ 
न प्रेतो न पिशाचो वा राक्षसो वासुरोऽपि वा ।
भक्तियुक्तमनस्कानां स्पर्शने न प्रभुर्भवेत् ॥ 
न तपोभिर्न वेदैश्च न ज्ञानेनापि कर्मणा ।
हरिर्हि साध्यते भक्त्या प्रमाणं तत्र गोपिकाः ॥ 
नृणां जन्मसहस्रेण भक्तौ प्रीतिर्हि जायते ।
कलौ भक्तिः कलौ भक्तिः भक्त्या कृष्णः पुरः स्थितः ॥ 

………. (श्रीमद्भागवतमाहात्म्य २|१६-१९)
🌹🌹🙏🌹🌹जय श्री राधे कृष्ण 🙏🌹🙏🌹🙏ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः 🌹🙏🌹🌹🙏🌹🌹श्री गणेशाय नमः 🌹🙏🌹 🙏🌹🙏🌹🌹जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 जय माता दी 🙏🌹 🙏🌹🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🌹🙏🙏*शांति सन्देश*

मानवीय प्रेम , प्रेम है और हृदय का प्रेम भक्ति है । इस शरीर के खत्म हो जाने पर वह मानवीय प्रेम भी खत्म हो जाता है लेकिन जो हृदय का प्रेम है , जो भक्ति है वह शरीर खत्म भी हो जाए , फिर भी रहेगी ।

      🙏 ***प्रेम रावत***🌹🙏
श्री कृष्ण: शरणम् मम 🌹🙏🌹🌹
कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने। 
प्रणत क्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नमः॥

जिनके हृदय में निरन्तर प्रेमरूपिणी भक्ति निवास करती है, वे शुद्धान्त:करण पुरुष स्वप्नमें भी यमराजको नहीं देखते ॥ जिनके हृदयमें भक्ति महारानीका निवास है, उन्हें प्रेत, पिशाच, राक्षस या दैत्य आदि स्पर्श करनेमें भी समर्थ नहीं हो सकते ॥ भगवान्‌ तप, वेदाध्ययन, ज्ञान और कर्म आदि किसी भी साधनसे वशमें नहीं किये जा सकते; वे केवल भक्तिसे ही वशीभूत होते हैं। इसमें श्रीगोपीजन प्रमाण हैं ॥ मनुष्योंका सहस्रों जन्मके पुण्य-प्रतापसे भक्तिमें अनुराग होता है। कलियुगमें केवल भक्ति, केवल भक्ति ही सार है। भक्तिसे तो साक्षात् श्रीकृष्णचन्द्र सामने उपस्थित हो जाते हैं ॥ 

येषां चित्ते वसेद्‌भक्तिः सर्वदा प्रेमरूपिणी ।
नते पश्यन्ति कीनाशं स्वप्नेऽप्यमलमूर्तयः ॥ 
न प्रेतो न पिशाचो वा राक्षसो वासुरोऽपि वा ।
भक्तियुक्तमनस्कानां स्पर्शने न प्रभुर्भवेत् ॥ 
न तपोभिर्न वेदैश्च न ज्ञानेनापि कर्मणा ।
हरिर्हि साध्यते भक्त्या प्रमाणं तत्र गोपिकाः ॥ 
नृणां जन्मसहस्रेण भक्तौ प्रीतिर्हि जायते ।
कलौ भक्तिः कलौ भक्तिः भक्त्या कृष्णः पुरः स्थितः ॥ 

………. (श्रीमद्भागवतमाहात्म्य २|१६-१९)

+292 प्रतिक्रिया 46 कॉमेंट्स • 60 शेयर

कामेंट्स

🔴 Suresh Kumar 🔴 Feb 26, 2021
राधे राधे जी 🙏 शुभ प्रभात वंदन मेरी बहन।

🏵️Minakshi Tiwari🏵️ Feb 26, 2021
🌼🌼 जय माता दी 🌼🌼 ख़ुशी जल्दी में थी रुकी नहीं, ग़म फुरसत में थे ठहर गए...! लोगों की नज़रों में फर्क अब भी नहीं है . पहले मुड़ कर देखते थे .... अब देख कर मुड़ जाते हैं आज परछाई से पूछ ही लिया क्यों चलती हो , मेरे साथ उसने भी हँसके कहा, दूसरा कौन है तेरे साथ ईश्वर के फैसलों पर क्यों करते हो गिले-शिकवे सजा मिल रही है तो गुनाह भी जरूर हुए होंगे

Kailash Pandey Feb 26, 2021
जय माता दी सुप्रभात वंदन बहन जी माता रानी की कृपा दृष्टि आप पर सदैव बनी रहे

बृंदाबन सवामी 9178010443 Feb 26, 2021
राधे राधे जय श्री राधे सुभ प्रभात की हार्दिक सृभकामनाए और धन्यवाद कीश्री आदरणीय श्री अनू बेहेन श्री

BK WhatsApp STATUS Feb 26, 2021
जय माता महालक्ष्मी नमो नमः शुभ प्रभात स्नेह वंदन धन्यवाद 🌹🙏🙏

Hemant Kasta Feb 26, 2021
Shree Ganeshay Namah, Shree Laxmi Matay Namah, Shree Sherowali Matay Namah, Jai Mata Rani Di, Jai Shree Krishna Ji Namah, Beautiful Post, Anmol Massage, Shanti Sandesh, Devi Vandana, Dhanywad Vandaniy Gyani Bahena Ji Pranam, Subahka Ram Ram, Aap Aur Aapka Parivar Har Din Har Pal Khushiyo Se Bhara Rahe, Aap Sadaiv Hanste Muskurate Rahiye, Vandan Sister Ji, Jai Shree Radhe Krishna Ji, Suprabhat.

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Feb 26, 2021
Good Morning My Sister ji 🙏🙏 Jay Mata di 🙏🙏🌹💐🌷🌹Mata Rani 🙏🙏🌹🌹 Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Pal Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷.

Renu Singh Feb 26, 2021
Jai Mata Di 🌹🙏 Shubh Prabhat Meri Pyari Bahena Ji 🙏🌹 Mata Rani ki Anant kripa Aap aur Aàpke Pariwar pr hamesha Bni rhe Aàpka Din Shubh V Mangalmay ho Bahena 🌹🙏🌹

Shivsanker Shukla Feb 26, 2021
सादर सुप्रभात आदरणीय अनु जी

Ragni Dhiwar Feb 26, 2021
🥀सुंदर हो सुबह, और हो संस्कार, अर्चना युक्त मंगल दिवस की खुशी मिले🥀 श्री संतोषी माता के आशीर्वाद से आप सदैव प्रसन्न रहें 🥀

🙋🅰NJALI 😊ⓂISHRA 🙏 Feb 26, 2021
🚩🌹शुभ शुक्रवार🌹🚩 जय माता दी प्यारी दीदी जी🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸 जिस प्रभात से,* परमात्मा का स्मरण हो जाये,* *वह प्रभात,* *सुप्रभात हो जाता है।* 🌴🌺🌸🌹🌸🌺🌴 आज आप का दिन शुभ एवं *मंगलमय हो*👌 मेरी प्यारी आदरणीय दीदी जी माता रानी आपको सुखी और स्वस्थ रखें आपके सभी मनोरथ पूर्ण करें आप हमेशा खुश रहें हंसते मुस्कुराते रहें😄🙏 जय माता दी🙏🚩☕☕👈

s.r.pareek rajasthan Feb 26, 2021
🥀जय मातादी ⚘ आप पर माता लक्ष्मी की क्रपा रहे 🌿सदा खुश रहें जी सुखी रहें जी दोपहर वंदन जी प्यारी बहना जी 🙏🏻🙏🏻🥀🍒🍁🌻🌠

Sanjay Rastogi Feb 26, 2021
jai shri Radhe krishna subh dophar vandan didi Radhe Radhe

हरे कृष्ण शर्मा Feb 26, 2021
@हरेकृष्णशर्मा जय माता दी 🙏 जय मा भवानी 🙏👣🙏 शुभ संध्या वंदन बहन जी 🌿 माता रानी कि कृपा आप और आपके सभी परिवार पर बना रहे 🙏 आप हमेशा खुश रहे स्वस्थ रहे 🌿 आज का दिन शुभ मंगलमय हो 👣🌿

Ashwinrchauhan Feb 26, 2021
जय माता दी जय माँ संतोषी शुभ शुक्रवार माता रानी की कृपा आप पर आप के पुरे परिवार पर सदेव बनी रहे मेरी आदरणीय बहना जी आप का हर पल मंगल एवं शुभ रहे माता लक्ष्मीजी आप की हर मनोकामना पूरी करे आप का आने वाला दिन शुभ रहे शुभ संध्या वंदन बहना जी

Krishna Mar 2, 2021
एक ही नारा एक ही नाम जय श्रीराम जय श्रीराम🚩🙏🙏🙏

+101 प्रतिक्रिया 30 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Gajendrasingh kaviya Apr 12, 2021

+9 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Mamta Chauhan Apr 12, 2021

+175 प्रतिक्रिया 37 कॉमेंट्स • 25 शेयर

+123 प्रतिक्रिया 25 कॉमेंट्स • 23 शेयर
Gajendrasingh kaviya Apr 12, 2021

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+153 प्रतिक्रिया 28 कॉमेंट्स • 84 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB