Jasbir Singh nain
Jasbir Singh nain Dec 23, 2019

शुभ प्रभात जी 🙏🙏🙏🙏🙏 शिव चतुर्दशी व्रत  शिव चतुर्दशी का व्रत हर महीने की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन किया जाता है। इस दिन भगवान शिव और शिव परिवार माता पार्वती, गणेश जी, कार्तिकेय और शिवगणों की विधिवत पूजा की जाती है। जो भी व्यक्ति इस दिन व्रत करता है वह काम, क्रोध, लोभ, मोह आदि के बंधन से मुक्त हो जाता है और उसके माता- पिता के सारे पाप नष्ट हो जाते हैं। शिव चतुर्दशी व्रत विधि शिव चतुर्दशी के दिन व्रत का संकल्प करके भगवान शिव की धूप, दीप, नवेद्य, पुष्प, भांग, धतूरा और बेलपत्र आदि से आराधना करनी चाहिए। इस दिन व्रत करने वाले को एक ही समय भोजन करना चाहिए। किसी भी मंदिर में जाकर या अपने घर के मंदिर में बैठकर पंचाक्षरी मंत्र  “ऊँ नम: शिवाय” या “शिवाय नम:” शिव के इन मंत्रों का जाप करना चाहिए। महामृत्यंजय मंत्र का जाप प्रतिदिन करना चाहिए। इससे सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है। चतुर्दशी व्रत के उपरांत ब्राह्मणों को भोजन कराना चाहिए और स्वयं भी भोजन करना चाहिए। शिव चतुर्दशी का व्रत को पूरे श्रद्धाभाव से करने से सम्पूर्ण सुखों की प्राप्ति होती है। इस व्रत की महिमा से व्यक्ति दीर्घायु, ऐश्वर्य, आरोग्य, संतान एवं विद्या आदि प्राप्त कर अंत में शिवलोक जाता है। शिव चतुर्दशी पर किस चीज को चढ़ाने से कौन सा फल मिलता है शिव चतुर्दशी के दिन भगवान शिव को चावल चढ़ाने से धन की प्राप्ति होती है। शिव चतुर्दशी के दिन भगवान शिव को तिल चढ़ाने से सभी पापों का नाश होता है। शिव चतुर्दशी के दिन भगवान शिव को जों अर्पित करने से सुख समृधि में वृद्धि होती है। शिव चतुर्दशी के दिन भगवान शिव को गेहूं चढ़ाने से संतान में वृद्धि होती है। इन सभी वस्तुओं को पूजा के समय भगवान शिव को अर्पण करने के बाद गरीबों में अथवा जिस किसी को इन की सबसे ज्यादा आवश्यकता हो उन्हें दे देनी चाहिए। इससे भगवान शिव की कृपा तो बनी ही रहेगी साथ में आपके पूण्य कर्म से किसी का भला भी हो जायेगा।

शुभ प्रभात जी       🙏🙏🙏🙏🙏                   शिव चतुर्दशी व्रत 
शिव चतुर्दशी का व्रत हर महीने की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन किया जाता है। इस दिन भगवान शिव और शिव परिवार माता पार्वती, गणेश जी, कार्तिकेय और शिवगणों की विधिवत पूजा की जाती है। जो भी व्यक्ति इस दिन व्रत करता है वह काम, क्रोध, लोभ, मोह आदि के बंधन से मुक्त हो जाता है और उसके माता- पिता के सारे पाप नष्ट हो जाते हैं।


 

 
शिव चतुर्दशी व्रत विधि 
शिव चतुर्दशी के दिन व्रत का संकल्प करके भगवान शिव की धूप, दीप, नवेद्य, पुष्प, भांग, धतूरा और बेलपत्र आदि से आराधना करनी चाहिए। इस दिन व्रत करने वाले को एक ही समय भोजन करना चाहिए। किसी भी मंदिर में जाकर या अपने घर के मंदिर में बैठकर पंचाक्षरी मंत्र  “ऊँ नम: शिवाय” या “शिवाय नम:” शिव के इन मंत्रों का जाप करना चाहिए। महामृत्यंजय मंत्र का जाप प्रतिदिन करना चाहिए। इससे सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है।


चतुर्दशी व्रत के उपरांत ब्राह्मणों को भोजन कराना चाहिए और स्वयं भी भोजन करना चाहिए। शिव चतुर्दशी का व्रत को पूरे श्रद्धाभाव से करने से सम्पूर्ण सुखों की प्राप्ति होती है। इस व्रत की महिमा से व्यक्ति दीर्घायु, ऐश्वर्य, आरोग्य, संतान एवं विद्या आदि प्राप्त कर अंत में शिवलोक जाता है।

शिव चतुर्दशी पर किस चीज को चढ़ाने से कौन सा फल मिलता है
शिव चतुर्दशी के दिन भगवान शिव को चावल चढ़ाने से धन की प्राप्ति होती है।

शिव चतुर्दशी के दिन भगवान शिव को तिल चढ़ाने से सभी पापों का नाश होता है।

शिव चतुर्दशी के दिन भगवान शिव को जों अर्पित करने से सुख समृधि में वृद्धि होती है।

शिव चतुर्दशी के दिन भगवान शिव को गेहूं चढ़ाने से संतान में वृद्धि होती है।


 
इन सभी वस्तुओं को पूजा के समय भगवान शिव को अर्पण करने के बाद गरीबों में अथवा जिस किसी को इन की सबसे ज्यादा आवश्यकता हो उन्हें दे देनी चाहिए। इससे भगवान शिव की कृपा तो बनी ही रहेगी साथ में आपके पूण्य कर्म से किसी का भला भी हो जायेगा।

+122 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 125 शेयर

कामेंट्स

MADHUBEN PATEL Dec 23, 2019
जय श्री हनुमान जी की शुभप्रभात की मंगलकामना भाईजी आपका हर पल मंगलमय हो भाईजी

Shivsanker Shukala Dec 24, 2019
ओम नमः शिवाय सुप्रभात सुबह की राम राम जय हनुमान

Neha Sharma, Haryana Dec 24, 2019
Jai Shri Radhe Krishna bhai ji God bless you and your family ji Aapka har pal mangalmay ho bhai ji 🙏🙏

preeti Gidwani Dec 24, 2019
🌹जय श्री राधे राधे जी 🌹 🚩🌹जय श्री राम जी 🌹🚩 प्रणाम भैया जी 🙏🙏🌹🌹 आपका बहुत बहुत धन्यवाद जी 🙏🙏🌹🌹 हमेशा बहुत खुश हंसते मुस्कराते रहिए जी आप अपने पूरे परिवार के साथ जी 🌷भगवान जी 🌷की कृपा से जी 🙏🙏🌷🌷 बहुत सुंदर पोस्ट है जी 🙏🙏🌷🌷👌👍🌷🌷 शुभ रात्रि जी भैया जी

+562 प्रतिक्रिया 80 कॉमेंट्स • 343 शेयर

+111 प्रतिक्रिया 18 कॉमेंट्स • 251 शेयर

+144 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 141 शेयर

+29 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Pt Vinod Pandey 🚩 Jan 26, 2020

🌞 *~ आज का हिन्दू #पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 27 जनवरी 2020* ⛅ *दिन - सोमवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2076* ⛅ *शक संवत - 1941* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - शिशिर* ⛅ *मास - माघ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - तृतीया पूर्ण रात्रि तक* ⛅ *नक्षत्र - शतभिषा पूर्ण रात्रि तक* ⛅ *योग - वरीयान् 28 जनवरी रात्रि 02:52 तक तत्पश्चात परिघ* ⛅ *राहुकाल - सुबह 08:34 से सुबह 09:56 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:18* ⛅ *सूर्यास्त - 18:24* ⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - तृतीया क्षय तिथि* 💥 *विशेष - तृतीया को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 🌷 *मंगलवारी चतुर्थी* 🌷 ➡ *28 जनवरी 2020 (सुबह 08:23 से 29 जनवरी सूर्योदय तक )* 🌷 *मंत्र जप व शुभ संकल्प की सिद्धि के लिए विशेष योग* 🙏🏻 *मंगलवारी चतुर्थी को किये गए जप-संकल्प, मौन व यज्ञ का फल अक्षय होता है ।* 👉🏻 *मंगलवार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना ... जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है...* 🌷 *मंगलवारी चतुर्थी* 🌷 🙏 *अंगार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना …जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…* 🌷 *> बिना नमक का भोजन करें* 🌷 *> मंगल देव का मानसिक आह्वान करो* 🌷 *> चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें* 💵 *कितना भी कर्ज़दार हो ..काम धंधे से बेरोजगार हो ..रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा |* 🌐 http://www.vkjpandey.in 🌷 *मंगलवार चतुर्थी* 🌷 👉 *भारतीय समय के अनुसार 28 जनवरी 2020 (सुबह 08:23 से 29 जनवरी सूर्योदय तक) चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें,शुभ संकल्प करें तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते हैं..* *👉🏻मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-* 🌷 *1) ॐ मंगलाय नमः* 🌷 *2) ॐ भूमि पुत्राय नमः* 🌷 *3 ) ॐ ऋण हर्त्रे नमः* 🌷 *4) ॐ धन प्रदाय नमः* 🌷 *5 ) ॐ स्थिर आसनाय नमः* 🌷 *6) ॐ महा कायाय नमः* 🌷 *7) ॐ सर्व कामार्थ साधकाय नमः* 🌷 *8) ॐ लोहिताय नमः* 🌷 *9) ॐ लोहिताक्षाय नमः* 🌷 *10) ॐ साम गानाम कृपा करे नमः* 🌷 *11) ॐ धरात्मजाय नमः* 🌷 *12) ॐ भुजाय नमः* 🌷 *13) ॐ भौमाय नमः* 🌷 *14) ॐ भुमिजाय नमः* 🌷 *15) ॐ भूमि नन्दनाय नमः* 🌷 *16) ॐ अंगारकाय नमः* 🌷 *17) ॐ यमाय नमः* 🌷 *18) ॐ सर्व रोग प्रहाराकाय नमः* 🌷 *19) ॐ वृष्टि कर्ते नमः* 🌷 *20) ॐ वृष्टि हराते नमः* 🌷 *21) ॐ सर्व कामा फल प्रदाय नमः* 🙏 *ये 21 मन्त्र से भगवान मंगल देव को नमन करें ..फिर धरती पर अर्घ्य देना चाहिए..अर्घ्य देते समय ये मन्त्र बोले :-* 🌷 *भूमि पुत्रो महा तेजा* 🌷 *कुमारो रक्त वस्त्रका* 🌷 *ग्रहणअर्घ्यं मया दत्तम* 🌷 *ऋणम शांतिम प्रयाक्ष्मे* 🙏 *हे भूमि पुत्र!..महा क्यातेजस्वी,रक्त वस्त्र धारण करने वाले देव मेरा अर्घ्य स्वीकार करो और मुझे ऋण से शांति प्राप्त कराओ..* 🌐 http://www.vkjpandey.in 🙏🏻🌹🌻☘🌷🌺🌸🌼💐🙏

+38 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 55 शेयर
Kalpana bist Jan 26, 2020

+82 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 14 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB