vandana
vandana Apr 8, 2021

+70 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 36 शेयर

कामेंट्स

Jai Mata Di Apr 8, 2021
Ram Ram Ji. Good Night Dear Sister. God Bless You And Your Family

Devendra Tiwari Apr 8, 2021
🙏🌹Jai Shree Radhe Krishna🌹 Subh Ratri Bandan Sister ji 🌹Sweet Dreams 💐💐🙏🙏

s.p sharma Apr 8, 2021
🌷🌷bahut sunder vandana ji radhey radhey jai shri krishna good night with sweet dreams 🌷🌷

MADAN LAL Apr 8, 2021
Jai Shri Krishna Radhe Radhe Ji 🙏🙏

Rajpal singh Apr 8, 2021
jai shree krishna Radhey Radhey ji good night ji 🙏🙏🙏🙏

ramkumarverma Apr 16, 2021

+29 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 84 शेयर

+18 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 18 शेयर
yogesh jani Apr 16, 2021

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 12 शेयर
shiv bhakte Apr 16, 2021

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 14 शेयर

आप के चले जाने का कुछ ऐसा असर हुआ हम पर, आपको ढूंढते ढूंढते हम ने खुद को खो दिया.... Good Night Everyone....*देश में अनेक विभिन्नताएं..... फिर भी... एकता* *सही कहा जाता है भारत देश विविधताओं में एकता वाला देश है* *कैसी भयानक विडंबना है, कहीं पर गरीबी छुपाने के लिए दीवार बनाई जा रही है। तो कहीं जलती चिताओं को छुपाने के लिए टीन लगाए जा रहे हैं।* *कैसा इंसानियत का जनाजा निकल रहा है। कहीं पर शवों को जलाने तक की जगह नहीं है।* *जबकि दूसरी ओर देश‌ के चुनावी रैलियों में लाखों लोगों की भीड़ जुटाने के लिए नोटों की बारिश की जा रही है।* *क्या सच में यही देश में विभिन्नता में एकता का नायाब नमूना है*😷😢🌹🌹🌹ਜੈ ਮਾਤਾ ਦੀ 🌹🌹🌹"ॐ जयंती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु‍ते।।" || ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै: || 🙏🌺#_जय_श्री_महाकाली_माँ सेवक भरत व्यास बांगा हिसार हरिद्वार वान_प्रस्थ ऋषिकेश,हरिद्वार ।

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 28 शेयर

+17 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Radhe Krishna Apr 16, 2021

+73 प्रतिक्रिया 19 कॉमेंट्स • 153 शेयर

भजन के पाॅइण्ट हम जो भी, जितना भजन करते हैं, उसके पाॅइण्ट इकट्ठे होते रहते हैं, जैसे क्रैडिट कार्ड में होते हैं । भजन का फल भजन के स्तर में वृद्धि है फिर भी हम भजन के बल पर कभी अपनी लौकिक कामनाओं की भी पूर्ति चाहते हैं, कामनाऐं पूर्ण होती भी, नहीं भी होती। ये निर्भर करता है कि हमारे कितने पाॅइण्ट इकट्ठे हुए हैं । माना हमारे चार हजार पाॅइण्ट हैं, और कामना तीन हजार की हुयी तो पूरी होगी, पाँच हजार पाॅइण्ट की हुयी तो नहीं होगी। साथ ही यदि कामना पूर्ण हुयी तो तीन हजार पाॅइण्ट कम हो जाऐंगे और भजन वृद्धि रुकी रहेगी। इसलिए कामना हेतु अपने नियमित भजन से अलग भजन कर लेना चाहिये। इससे नियमित भजन से भजन वृद्धि नहीं रुकेगी। वैसे कामना-पूर्ति की बजाय कामना-नाश पर जोर देना चाहिए हमें । समस्त वैष्णव जन को राधा दासी का प्रणाम जय श्री राधे ।। जय निताई

+13 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB